7 लक्षण खराब ब्लड सर्कुलेशन के जिन्हें अक्सर अनदेखा किया जाता है

अक्टूबर 26, 2018
कई बार जरूरत से ज्यादा फिजिकल एक्टिविटी या आपके इम्यून सिस्टम की कमजोरी की वजह से बहुत ज्यादा थकान हो सकती है। हालांकि इसका एक इशारा आपके खराब सर्कुलेशन की तरफ भी हो सकता है।

खराब ब्लड सर्कुलेशन की समस्या बड़ी आबादी को प्रभावित करती है। जब तक लोग 60 पर पहुंचते हैं, स्थिति ज्यादा खराब हो चुकी होती है। इस उम्र के लगभग 80% लोगों को इस परेशानी के साथ जीना पड़ता है।

एक पल के लिये जरा सोचिये, आपका शरीर कैसे सड़कों और हाईवे का एक बहुत ही जटिल लेकिन बेहतरीन नेटवर्क है, जो नसों और धमनियों से बना है। उनके अन्दर गतिविधियाँ जारी रहती हैं।

इस नेटवर्क के जरिये आपके पूरे शरीर में पांच लीटर से भी ज्यादा खून ट्रांसपोर्ट और डिस्ट्रीब्यूट किया जाता है।

आपके शरीर के लिए कई अलग-अलग जरूरी पोषक तत्व, हार्मोन, और “जिन्दा” रहने के लिये जरूरी दूसरी चीजों को लाने और ले जाने के काम को आपका खून ही अंजाम देता है। इसकी बदौलत आपका पूरा शरीर, उसके अंग-प्रत्यंग ठीक से काम कर पाते हैं।

इसे दुरुस्त रखने के लिए जरूरी है कि आप उन आदतों में बदलाव करें जो इसके काम में रुकावट डालती हैं।क्योंकि खराब रक्त संचार सिर्फ बुढ़ापे से जुड़ी समस्या नहीं है।

चाहे आप जवान हों या न हों, आपको इस समस्या से लड़ने के लिए कोई न कोई तरीका जरूर निकालना चाहिये

खराब ब्लड सर्कुलेशन हार्ट अटैक, खून के थक्के जमने, वेरीकोस वेंस या स्ट्रोक जैसी बड़ी समस्याओं की वजह बन सकता है।

इससे बचने के लिए आपको अपनी लाइफस्टाइल में सुधार करना चाहिये। लेकिन पहले यह जान लीजिये कि इसके मुख्य लक्षण क्या-क्या हैं। यहाँ हम आपको खराब सर्कुलेशन से जुड़े सात लक्षणों के बारे में बतायेंगे।

1. त्वचा पर धब्बे खराब ब्लड सर्कुलेशन के संकेत

डॉक्टर हमें दिखाई देने वाले और दिखाई न देने वाले (साइलेंट), दोनों तरह के लक्षणों के बारे में बताते हैं। धब्बे, स्किन के रंग में बदलाव या ड्राई एपिडर्मिस जैसे लक्षण बताते हैं, आपके शरीर में खून ठीक तरह से आवागमन नहीं कर पा रहा है।

खराब सर्कुलेशन से जुड़े शुरुआती लक्षणों में लाल या बैंगनी धब्बे हैं हो सकते हैं, जो एड़ियों या पैर के निचले हिस्सों में दिखाई देते हैं।

पहले ये छोटे-छोटे बैंगनी धब्बों के रूप में दिखाई देते हैं जो बाद में धीरे-धीरे अल्सर में बदल सकते हैं।

इसे भी पढ़ें: एस्पिरिन के 6 उपयोग, जिनके बारे में आपको किसी ने नहीं बताया होगा

2. पैरों में सूजन (Swollen feet)

ऑक्सीजन और पोषक तत्वों से भरपूर खून को पाने वाले सबसे आखिरी अंग आपके हाथ और पैर होते हैं। लेकिन जब आपका ब्लड ठीक तरह से उन तक आवागमन नहीं कर रहा हो, तो इस स्थिति में उन पर क्या असर होगा?

  • ख़ून की जरूरी मात्रा नहीं मिल पाने पर आपका शरीर फ्लूइड रिटेंशन यानी तरल को अपने अपनी भीतर रोक कर इस असंतुलन को कम करने की कोशिश करता है। इसे एडिमा (Edema) कहा जाता है।
  • खून की यह कमी साइनोसिस का कारण बनती है। आप देखेंगे कि आपकी एड़ियाँ हल्की नीली दिखने के अलावा लगातार सूजी हुई महसूस होती हैं।
  • पंजों में भी हल्का सा नीलापन दिखाई दे सकता है, जैसे कि उन पर किसी चीज से मारा गया है।
खराब ब्लड सर्कुलेशन: पैरों में सूजन

3. बालों का झड़ना और नाखूनों का टूटना

बालों का झड़ना और नाखूनों का टूटना खराब खान-पान या स्ट्रेस के लक्षण हो सकते हैं।

इसके अलावा इसका एक और कारण है जिसे कई लोग अनदेखा करते हैं। इसका मतलब कुछ और भी हो सकता है। जैसे आपको अपने खून से पोषक तत्वों की जरूरी मात्रा नहीं मिल पा रही है।

  • खराब ब्लड सर्कुलेशन का नतीजा रूखे और टूटते बाल होते हैं जो गुच्छों के रूप में झड़ना शुरू कर देते हैं।
  • आप यह भी देख सकते हैं कि आपके नाखून “बर्न” हो जाते हैं। कभी-कभी बस किसी चीज को छू लेना ही उनके टूटने का कारण बन सकता है।

4. धीमा पाचन खराब ब्लड सर्कुलेशन का लक्षण

गैस, एसिड रिफ्लक्स के साथ-साथ धीमी, भारी पाचन क्रिया और यहां तक कि कब्ज भी खराब सर्कुलेशन का एक लक्षण हो सकती है।

5. सर्दी, इन्फेक्शन और एक के बाद एक वायरस

बेशक यह जानने लायक बात है जिसका आपको ख़ास ध्यान रखना चाहिये। कमजोर और धीमा इम्यून सिस्टम का ताल्लुक आपके खराब या अधूरे ब्लड फ्लो से भी हो सकता है।

  • जब आपका ब्लड फ्लो धीमा होता है, तो आपका शरीर इस तरह के पैथोजेन का पता लगाना और उनसे लड़ना बंद कर देता है।
  • आप देखेंगे कि दूसरे लोगों की तुलना में बीमारियां आपको बहुत जल्दी और बहुत आसानी से अपना शिकार बना लेती हैं।
  • ये लक्षण आपके शरीर के काम करने के तरीके और धीमे काम करने वाली एंटीबॉडी के साथ जुड़े हुये हैं। ये आपकी सुरक्षा के मामले में बेअसर होते हैं।

इसे भी पढ़ें: ये 9 खाद्य खाकर प्राकृतिक तरीके से अपनी धमनियों की सफ़ाई करें

खराब ब्लड सर्कुलेशन: लाल रक्त कणिकाएं

6. ठंडे हाथ और एड़ियाँ (Cold hands and feet)

यह वास्तव में एक बहुत ही आम लक्षण है। जब आपका ब्लड सामान्य रफ़्तार से बहता है तो आपका शरीर अपने तापमान के सबसे बेहतर लेवल को बनाए रखने में सफल रहता है।

  • अगर सर्कुलेशन धीमा रहता है, तो आपके शरीर के अंदरूनी तापमान में गड़बड़ी हो सकती है और यह कम-ज्यादा होने लग जाएगा।
  • बेशक आपके हाथ और एड़ियाँ आपके शरीर के वे हिस्से हैं जहां इसका असर सबसे ज्यादा दिखाई देगा। वे ठंडे महसूस होंगे।
  • फिर भी इस नतीजे को स्वीकार करने से पहले एक बार अपने डॉक्टर से संपर्क जरूर करें।
  • ठंडे हाथ और एड़ियाँ अक्सर हाइपोथायरॉइडिज़म, रेनोड सिंड्रोम या कभी-कभी एनीमिया की वजह से भी होते हैं।

7. हमेशा बनी रहने वाली थकान

जब सर्कुलेशन धीमा हो जाता है, तो समस्याएं पैदा होने लगती हैं। इसके कई सटीक लक्षणों में से एक थकान भी है।

आप जानते हैं, थकान बहुत ज्यादा शारीरिक मेहनत करने, स्ट्रेस या कभी-कभी किसी तरह की बीमारी के कारण हो सकती है। लेकिन खराब ब्लड सर्कुलेशन मांसपेशियों को मिलने वाले ईंधन में कमी ला देता है।

खराब ब्लड सर्कुलेशन: थकान

आपके शरीर को मिलने वाले जरूरी ऑक्सीजन और पोषक तत्वों के बिना आपकी मांसपेशियां बहुत ज्यादा थकान महसूस करेंगी। काम शुरू करने, सीढ़ियों पर चढ़ने या थोड़ी एक्सरसाइज करने के तुरंत बाद आपको दर्द, थकान और अन्य तकलीफें महसूस होने लगेंगी।

अगर आपके साथ ऐसा कुछ होता है, तो इंतजार मत कीजिये। अपने डॉक्टर के पास जाइये, जांच कराइए और पता कीजिये कि कौन-कौन सी गाइड-लाइन हैं जो आपको अपनानी चाहिये। यह साइलेंट शत्रु हर साल हजारों लोगों को शिकार बनाता है। आपके पास अभी भी इससे बचने की ताकत है।

खराब ब्लड सर्कुलेशन को दुरुस्त करने वाली लाइफस्टाइल अपनाकर आज ही से अपना ख्याल रखना शुरू कीजिये!