5 घरेलू उपाय थकान पर काबू पाने के लिए

25 अगस्त, 2018
आप कुछ नेचुरल फूड खाकर थकान पर काबू पाने और शरीर को एक्स्ट्रा एनर्जी दे सकते हैं। आपको दूसरे जटिल रासायनिक विटामिन का उपयोग नहीं करना पड़ेगा।

थकान एक आम लक्षण है। यह चैन से न सोने, वर्कप्लेस पर बहुत ज्यादा मेहनत करने या एक थकाऊ यात्रा के कारण हो सकती है।

यह एक शारीरिक और मानसिक कमजोरी है जो आपके दिन को बाधित कर सकती है। इसकी वजह से शारीरिक दुर्बलता और ध्यान केंद्रित करने में कठिनाई होती है।

ज्यादातर मामलों में यह आने-जाने वाली होती है और पर्याप्त आराम करने और सेहतमंद भोजन खाने से गायब हो जाती है।

लेकिन बाकी समय शरीर का किसी तरह की बीमारी के प्रति रिएक्शन होता है जिसके कारण किसी व्यक्ति को बार-बार थकान महसूस होती है।

सौभाग्य से थकान पर कम लागत वाले सेहतमंद घरेलू उपायों के जरिये काबू पाया जा सकता है।

आज हम आपके साथ इनमें से 5 उपायों को शेयर करने जा रहे हैं जिनके बारे में आपको बाजार में बिकने वाले ऊर्जा बढ़ाने के उत्पादों का उपयोग करने से पहले जरूर विचार करना चाहिए।

1. थकान पर काबू पाने के लिए अदरक की चाय

अदरक की जड़ अपने सूजनरोधी और एनेल्जेसिक यौगिकों के लिए मशहूर है जो मांसपेशियों के दर्द और पीड़ा के खिलाफ गजब का काम करते हैं।

इसकी उच्च एंटीऑक्सीडेंट सामग्री शरीर से जहरीले पदार्थों को हटाने में मदद करती है, साथ ही फ्री रेडिकल्स के प्रभाव को भी अवरुद्ध करती है।

इसका नर्वस सिस्टम पर एक उत्तेजक असर होता है, जो बेहतर काम करने के लिए ऊर्जा को बढ़ाने में मदद करता है।

सामग्री

  • 1 छोटा चम्मच कद्दूकस की हुई अदरक (5 ग्राम)
  • 1 कप पानी (250 मिलीलीटर)

दिशा-निर्देश

  • एक कप पानी उबालें और फिर कद्दूकस की हुई अदरक डालें।
  • 10 मिनट तक यूंही रहने दें, फिर छानें और पियें।
  • एक दिन में तीन कप तक पियें।

इसे भी पढ़ें: भावनात्मक थकान: खोयी एनर्जी को वापस कैसे पायें

2. ओटमील ड्रिंक

जई या ओट्स में कार्बोहाइड्रेट और फाइबर होते हैं जो थकान को कम करते हुए शारीरिक ऊर्जा को बढ़ाते हैं।

इन्हें सबसे सेहतमंद खाने की चीजों में से एक माना जाता है क्योंकि ये पाचन और हृदय संबंधी स्वास्थ्य में सुधार करते हैं।

सामग्री

  • 2 बड़े चम्मच जई का दलिया या ओटमील (20 ग्राम)
  • 1 ग्लास ओट मिल्क (200 मिलीलीटर)
  • शहद (वैकल्पिक)

दिशा-निर्देश

  • ओटमील को दूध के साथ मिलाएं और थोड़ा सा शहद डालें अगर आप इसे ज्यादा मीठा बनाना चाहते हैं।
  • सभी चीजों को कुछ सेकंड के लिए ब्लेंड करें, फिर बिना छानें इसे परोसें।
  • दिन में किसी भी समय इसका आनंद लें।

3. सेब, संतरा और नींबू का रस

यह स्वादिष्ट पेय न केवल एक टॉनिक है बल्कि शरीर की सुरक्षा को मजबूत करने और बीमारी से बचने के लिए भी बहुत बढ़िया है।

इसमें विटामिन C और फाइबर की काफी मात्रा होती है, जो एक स्वस्थ शरीर के लिए टॉक्सिन की सफ़ाई को बढ़ावा देने में मदद करती है।

सामग्री

  • 2 सेब
  • 5 संतरे
  • 1 नींबू
  • 1/2 ग्लास पानी (100 मिलीलीटर)

दिशा-निर्देश

  • छिलका हटाये बिना सेब को धोएं और काटें।
  • संतरे और नींबू का रस निचोड़ें।
  • सब कुछ ब्लेंडर में पानी के साथ डालें और एक समरूप मिश्रण बनायें।
  • इसे ताजा परोसें, नाश्ते से पहले परोसना अच्छा है।

4. जिन्सेंग अर्क

जिन्सेंग की जड़ अपनी उच्च विटामिन और खनिज सामग्री के कारण सेहत के लिए अच्छी है। नियमित रूप से इसका उपभोग करने से बीमारी दूर रहेगी और तनाव या काम करने की वजह से होने वाली थकान कम हो जाएगी।

सामग्री

  • 1 टुकड़ा जिन्सेंग की जड़
  • 1 कप पानी (250 मिलीलीटर)
  • शहद (वैकल्पिक)

दिशा-निर्देश

  • पानी को उबालें। जब यह उबलने लगे तो जिन्सेंग की जड़ डालें और धीमी आंच पर 2 मिनट के लिए पकने दें।
  • आंच पर से हटायें और यूंही रहने दें। तरल को छानें।
  • ज्यादा असरदार बनाने के लिए इसमें थोड़ा शहद डालें और पियें।
  • जब भी आपको थकान का मुकाबला करने की जरूरत महसूस हो तो दिन में एक बार पियें।

5. दही और केले की स्मूदी

यह दही और केले की स्मूदी अपने फाइबर, खनिज और विटामिन की वजह से एक सेहतमंद पेय है जो शारीरिक और मानसिक थकान को कम करता है।

इसमें स्ट्रॉबेरीज़ और दूध के साथ गेहूं  भी है। इन अवयवों में कार्बोहाइड्रेट्स और गुणवत्ता वाले एंटीऑक्सीडेंट होते हैं जो भूख और कमजोरी को कम करते हुए ऑक्सीडेटिव क्षति को रोकते हैं।

सामग्री

  • 1 कप सादा दही (240 ग्राम)
  • 1 केला
  • 3 बड़े चम्मच गेहूं (30 ग्राम)
  • 5 स्ट्रॉबेरीज़
  • 1/2 छोटा चम्मच वैनिला अर्क (5 ग्राम)
  • 1 बड़ा चम्मच स्किम्ड मिल्क (10 मिलीलीटर)

दिशा-निर्देश

  • केले को काटें और स्ट्रॉबेरीज़ को धोएं।
  • इनको बाकी घटकों के साथ ब्लेंडर में डालें और कुछ मिनटों के लिए ब्लेंड करें जब तक एक स्मूद और क्रीमी पेय बन जाये।
  • इसे फौरन पियें।

इन घरेलू उपायों में से कोई भी आपको चुस्ती-फुर्ती के साथ ज्यादा सक्रिय होने के लिए थकान पर काबू पाने में मदद करेगा।

लेकिन आपको इन पेयों के पूरक के रूप में आराम, संतुलित भोजन और रिलैक्सेशन की तकनीकों का नियमित अभ्यास भी करना होगा।

  • Enoka, R. M., & Duchateau, J. (2008, January 1). Muscle fatigue: What, why and how it influences muscle function. Journal of Physiology. https://doi.org/10.1113/jphysiol.2007.139477
  • Ament, W., & Verkerke, G. (2009). Exercise and fatigue. Sports Medicine. https://doi.org/10.2165/00007256-200939050-00005
  • Meeusen, R. (2014). Exercise, nutrition and the brain. Sports Medicine44(SUPPL.1). https://doi.org/10.1007/s40279-014-0150-5
  • Costill, D. L., & Hargreaves, M. (1992). Carbohydrate Nutrition and Fatigue. Sports Medicine: An International Journal of Applied Medicine and Science in Sport and Exercise13(2), 86–92. https://doi.org/10.2165/00007256-199213020-00003