स्वस्थ मन

इस खंड में आपको एक व्यक्ति के रूप में विकसित होने, स्वयं को जानने, आत्मविश्वास बढ़ाने और अपना सर्वश्रेष्ठ व्यक्तित्व पाने के लिए अनमोल युक्तियां मिलेंगी। हम यह भी समझाएंगे कि अपने रिश्तों का आनंद कैसे लें और कैसे उस चीज के रहस्यों को समझें जो वास्तव में हमें इंसान बनाती है : वह है मन

अपने फेफड़ों को डिटॉक्सीफाई करने के नेचुरल तरीके

फेफड़ों को डिटॉक्सीफाई करना जरूरी है। क्योंकि ऐसे कई फैक्टर हैं जो उन्हें ठीक से काम करने से रोकते हैं। इनमें एक्सरसाइज की कमी, पर्यावरण प्रदूषण और तंबाकू का धुआँ है। ध्यान दीजिए! रोज़ाना अपने फेफड़ों की सफाई करने के…

दस खाद्य जो शरीर में ख़ून की कमी दूर करने में मददगार हैं

एनीमिया यानी शरीर में ख़ून की कमी (Anemia) खानपान से संबंधित स्वास्थ्य समस्या है। अक्सर इसका कारण पोषक तत्वों से भरपूर भोजन न करना है। यहां यह बताना ज़रूरी है कि जिस तरह खराब डाइट इस समस्या को बढ़ावा देती…

क्या बियर डाइट एक हेल्दी डाइट है?

सभी नशीले पेय पदार्थों की तरह बियर पीना कोई बहुत अच्छा नहीं माना जाता हैं। हालांकि यह बात पूरी तरह सही नहीं है। सच तो यह है कि यह ड्रिंक आपके शरीक को कई तरह के फ़ायदे पहुंचा सकता है।…

बिना सर्जरी के अपनी दृष्टि को बेहतर बनाने के 6 टिप्स

अपनी दृष्टि में सुधार संभव है, लेकिन अक्सर लोगों को यकीन नहीं होता कि इसे कैसे संभव करें। आप कुछ बेहतर सलाह और अभ्यास के साथ स्वाभाविक रूप से अपनी दृष्टि में सुधार कर सकते हैं। इस तरह, आप अपनी…

दही, केले और नींबू की मदद से मेलास्मा का इलाज कैसे करें

क्या आपने अपने चेहरे पर काले धब्बे (dark spots) देखे हैं और आप नहीं जानते कि इनसे छुटकारा कैसे पाया जाए? ये धब्बे मेलास्मा (melasma) हो सकते हैं। इसका इलाज करने के लिए बाजार पर कुछ क्रीम उपलब्ध हैं। हालांकि,…

वजन कम करने के लिए हॉर्सटेल कैसे पिएं

क्या आप जानते हैं, अपना वजन घटाने के लिए हॉर्सटेल (horsetail) यानी अश्व पुच्छा को कैसे पीना है? हाल के वर्षों में, कई स्लिमिंग हॉर्सटेल रेसिपी पॉपुलर हुई हैं। इस पौधे का उपयोग प्राचीन काल से औषधीय प्रयोजनों के लिए…

पांच जड़ी-बूटियां जिनसे आप हाइपरटेंशन का इलाज कर सकते हैं

हाइपरटेंशन (Hypertension) या हाई ब्लडप्रेशर तब होता है जब रक्तचाप का स्तर सामान्य से ज्यादा हो जाए। विज्ञान ने भले ही इसके कुछ ट्रिगर का निर्धारण किया है, लेकिन मेडिकल ग्रंथों में इसके किसी ज्ञात कारणं के बारे में नहीं…

इंटरनेशनल फैमिली डे: जिंदगी का दिया हुआ सबसे बेहतरीन गिफ्ट

संयुक्त राष्ट्र द्वारा 15 मई को इंटरनेशनल फैमिली डे यानी अंतर्राष्ट्रीय परिवार दिवस के रूप में मनाया जाता है। हर साल, यह हॉलिडे एक खास मुद्दे पर केंद्रित रहता है जो परिवार के सदस्यों के बीच जादुई रिश्तों से जुड़ा…

स्त्री गुप्तांग से जुड़ी 10 बातें जिनके बारे में शायद आप नहीं जानतीं

स्त्री गुप्तांग (वेजाइना) महिलाओं के रिप्रोडक्टिव सिस्टम का एक अंग है जो गर्भाशय को शरीर के बाहरी हिस्से से जोड़ती है। यह एक नाजुक म्यूकस मेम्ब्रेन से ढके हिस्से से बनी होती है जो इन्फेक्शन को रोकने के लिए नेचुरल…

15 दिनों में अपनी चिंता को सही दिशा देकर उससे छुटकारा पाने की 5 पर्सनल टिप्स

चिंता का रूप कोई भी हो, अपने शिकार के लिए वह किसी कठोर, भयानक और अप्रत्याशित भाव जैसी ही होती है। कुछ लोगों के लिए तो वह किसी राक्षस जैसी होती है। समय-समय पर हमारे मन के आँगन में आकर…

इन तीन बौद्ध सिद्धांतों की मदद से अपने भावनाओं का रखें ख़याल

सुनने में यह बात भले ही कितनी भी अजीब क्यों न लगे पर बात जब मानव भावनाओं की आती है तो बौद्ध सिद्धांतों और पश्चिमी मनोविज्ञान में कई समानतायें पायी जाती हैं। उदाहरण के तौर पर, इन दोनों ही दर्शनों…

5 बुनियादी बातें अपने भीतर एक मजबूत मनोवैज्ञानिक इम्यून सिस्टम विकसित करने के लिए

अपने लेखों में, हम अक्सर आपसे इस बारे में चर्चा करते हैं कि वायरस, संक्रमण और कई किस्म की बीमारियों से निपटने के लिए हर दिन अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता (immune system) की देखभाल आप कैसे कर सकते हैं। अब अगर…

स्ट्रेस से लड़ने के लिए 4 शानदार ब्रीदिंग टेक्नीक सीखिए

क्या आप जानते हैं, जब आप स्ट्रेस अर्थात तनाव में होते हैं तो साँस लेने का आपका तरीका बदल जाता है? तनाव और चिंता दोनों ही जिन्दा रहने की प्रक्रियाएं हैं। दरअसल ये हमें उन सभी चीजों से पलायन करने के…

हर किसी को खुश करने की जरूरत नहीं: सबकी रुचि भी स्वस्थ नहीं होती

हमारी यह सोच कि हर कोई हमें पसंद करे, बेवजह की तकलीफों का एक बड़ा कारण है। क्योंकि इसमें हमारी रुचि का टकराव दूसरों की रुचियों से होता है। मुमकिन है, अभी आप खुद को समझा रहे हों, यह बात…

7 अदृश्य प्रभाव मनोवैज्ञानिक शोषण के

मनोवैज्ञानिक शोषण निस्संदेह सबसे क्रूर हिंसा में से एक है। इस प्रकार की हिंसा से पीड़ित इंसान को संदेह होता है कि उसके साथ वास्तव में दुर्व्यवहार किया भी जा रहा है या नहीं। सबसे बुरी बात यह है कि…