दही, केले और नींबू की मदद से मेलास्मा का इलाज कैसे करें

मई 11, 2019
यूं तो, मेलास्मा यानी चेहरे की झाईयों को पूरी तरह से खत्म करना मुश्किल है, लेकिन आप इसको कम करने के लिए दही, केला और नींबू का इस्तेमाल कर सकते हैं। इस घरेलू नुस्खे को बनाने का तरीका जानें।

क्या आपने अपने चेहरे पर काले धब्बे (dark spots) देखे हैं और आप नहीं जानते कि इनसे छुटकारा कैसे पाया जाए? ये धब्बे मेलास्मा (melasma) हो सकते हैं। इसका इलाज करने के लिए बाजार पर कुछ क्रीम उपलब्ध हैं।

हालांकि, डर्मटॉलॉजिकल ट्रीटमेंट आमतौर पर काफी महंगे होते हैं। मगर, इस प्राकृतिक विकल्प के साथ, बस आपको सुपरमार्केट जाना पड़ेगा और ये तीन सस्ती चीजें खरीदनी पड़ेंगी।

मेलास्मा क्या है और इसके होने का क्या कारण है? (What Is Melasma and What Causes It?)

प्रेग्नेंट औरत

मेलास्मा चेहरे की त्वचा पर एक हाइपर-पिग्मन्टैशन की समस्या है। यह माथे (forehead), गाल, ठोड़ी या यहां तक कि गर्दन पर भूरे या काले धब्बों के रूप में दिखाई देता है।

यह पुरुषों की तुलना में महिलाओं में बहुत ज्यादा होता है। ऐसा इसलिए क्योंकि महिलाओं में फीमेल-हार्मोन की मात्रा बढ़ने से मेलेनिन बढ़ जाता है। इसलिए, महिलाओं के लिये मेलास्मा बहुत आम है।

मेलास्मा के होने का कोई स्पष्ट कारण अभी तक सामने नहीं आया है। हालाँकि, आमतौर पर यह लगातार बिना सनस्क्रीन के धूप में निकलने के बाद दिखाई देता है। महिलाओं में होने वाली हार्मोन्स की गड़बड़ी और साथ ही साथ जेनेटिक फैक्टर्स भी इसके कारणों में से हैं।  इसलिये, यह गर्भवती महिलाओं में बहुत आम है।

प्रोजेस्टेरोन और एस्ट्रोजन के साथ गर्भ-निरोधक गोलियों और हार्मोनल ट्रीटमेंट का इस्तेमाल भी मेलास्मा का कारण होता है। इस तरह, ये सब भी इसके संभावित कारणों में से हैं।

इसे भी पढ़ें : 8 शानदार मॉइस्चराइजिंग हेयर मास्क बनाइये शहद से

त्वचा के लिए दही, केले और नींबू से मिलने वाले फायदे (The Benefits of Yogurt, Bananas and Lemons for the Skin)

  • दही स्किन को हाइड्रेट करने, उसे एक्सफोलिएट (exfoliate) करने और मुहांसों से लड़ने के लिए एक बहुत ही बेहतरीन प्राकृतिक सामग्री है। ऐसा इसमें मौजूद जिंक, लैक्टिक एसिड, कैल्शियम और एसिडिक pH की उच्च मात्रा के कारण है ।
  • केले में त्वचा के लिए मैंगनीज और विटामिन B6, C और E जैसे कई सारे फ़ायदेमंद पोषक तत्व होते हैं। इसके अलावा, उनमें एंटीऑक्सिडेंट गुण और भरपूर मात्रा में पानी होता है। इसलिए, वे एक बहुत अच्छे स्किन मॉइस्चराइज़र होते हैं।
  • नींबू विटामिन C से भरपूर एक खट्टे फल हैं। ये डेड स्किन सेल्स को हटाने, कोशिकाओं के पुनर्निर्माण (regeneration) में तेजी लाने, कोलेजन की पैदावार को बढ़ाने और त्वचा के दाग-धब्बे को खत्म करने में मदद करते हैं।

यह सभी गुण दही, केले, और नींबू को मेलास्मा के उपचार के लिए एक प्राकृतिक नुस्खा तैयार करने के लिए आदर्श सामग्री बनाते हैं। क्या आप जानना चाहते हैं कैसे? ध्यान दीजिए!

इसे भी पढ़ें : 5 घरेलू उपाय थकान पर काबू पाने के लिए

दही, केले और नींबू से मेलास्मा का इलाज (Melasma Treatment with Yogurt, Bananas, and Lemons)

इस नुस्खे को बनाने से पहले, यह बात ध्यान में रखना जरूरी है कि इसका प्रभाव तुरंत नहीं होता है। असरदार नतीजे देखने के लिए, आपको इसे कुछ महीनों तक लगातार लगाते रहना होगा।

जरुरी चीजें:

  • 1 केला
  • 2 बड़े चम्मच सादा दही (30 मिली)
  • 3 बड़े चम्मच नींबू का रस(45 मिली)

बनाने का तरीका:

  • केले को छीलें, एक कटोरे में डालें, और इसे अच्छी तरह से मैश करें जब तक कि इसका प्यूरी न बन जाये।
  • इसमें 2 बड़े चम्मच सादा दही जोड़ें।
  • फिर, इसे तब तक मिलाएं जब तक कि यह क्रीमी पेस्ट न बन जाए।
  • अंत में, नींबू का रस डालें और फिर से मिलाएं।

इस्तेमाल करने का तरीका:

सनस्क्रीन लगाये महिला

  • हम इसे रात लगाने की सलाह देते हैं
  • अपने चेहरे और गर्दन को अच्छी तरह से धोने और सुखाने के बाद, तैयार किए गये नुस्खे को समान रूप से प्रभावित हिस्से पर लगायें।
  • इसे 20 मिनट तक काम करने के लिये छोड़ दें।
  • फिर, अपने चेहरे को अच्छे से धो लें।

यह जरुरी है कि आप इस ट्रीटमेंट को लगाने के बाद धूप में न निकलें। इसका कारण है नींबू की एसिडिटी। अगर आपकी स्किन पर नींबू के अवशेष रहते हैं और आप धूप में निकलते हैं, तो यह एक केमिकल रिएक्शन का कारण बनेगा। जिससे, आप अपनी त्वचा के इलाज किये गए हिस्से को फिर से जला बैठेंगे।

यह भी जरुरी है कि आप अपने चेहरे को पानी से खूब अच्छी तरह धोयें और नुस्खे को बताये गये समय से ज्यादा न रखें। सबसे महत्वपूर्ण बात हमेशा स्वस्थ त्वचा का होना और इसका गलत तरीके से इलाज नहीं करना है।

इसके अलावा, इसे लगाने के बाद, अगर आप घर से बाहर निकलते हैं तो आपको मॉइस्चराइज़र या सनस्क्रीन लगाना चाहिए। आपकी स्किन अधिक संवेदनशील (sensitive) होगी। भले ही, आप इसे अच्छी तरह से धो चुके हैं और नींबू के कोई भी अवशेष नहीं बचे हैं, फिर भी आपको इसकी सुरक्षा करनी होगी।

हम आपको 2 से 3 हफ्ते तक दिन में 3 बार इस नुस्खे का इस्तेमाल करने की सलाह देते हैं। फिर आपको नतीजे दिखने शुरू होंगे।

याद रखें, जैसे ही आप अपने चेहरे पर काले धब्बे देखते हैं और आपको लगता है कि यह मेलास्मा हो सकता है, अपने डर्मटालजिस्ट से संपर्क करें। वह इस बात की पुष्टि करेगा/करेगी कि यह त्वचा की बीमारी (skin disorder) है या नहीं। इसकी जाँच के लिए, आपका डॉक्टर वुड’स लैंप (Wood’s lamp) का इस्तेमाल करेगा। इस लाइट को आपकी त्वचा पर डालकर, डॉक्टर देख सकते हैं कि क्या यह मेलास्मा है।

अंत में, अगर आप गर्भवती (pregnant) हैं, तो अपनी त्वचा की अच्छी तरह से देखभाल करना सुनिश्चित करें। पर्याप्त मात्रा में सनस्क्रीन लगाए बिना घर से बाहर न निकलें। इसके अलावा, अपने चेहरे की खास देख-भाल करना न भूलें।

American Academy of Dermatology. (2017). Melasma. Retrieved from https://www.aad.org/public/diseases/color-problems/melasma

DoctorNDTV. (2018). Melasma: Simple And Effective Home Remedies To Deal With It. Retrieved from https://doctor.ndtv.com/skin/melasma-simple-and-effective-home-remedies-to-deal-with-it-1905523