6 बेहतरीन नेचुरल एक्सफोलिएंट

अगर आपकी त्वचा संवेदनशील है तो उसे किसी भी नुकसान से बचाने के लिए आपको इन नेचुरल एक्सफोलिएंट्स का इस्तेमाल सावधानी से करना चाहिए। आपको सामग्री भी वही चुननी चाहिए जो आपकी ज़रूरत के अनुसार सबसे अच्छी हो।
6 बेहतरीन नेचुरल एक्सफोलिएंट

आखिरी अपडेट: 22 सितम्बर, 2018

एक्सफोलिएशन एक कॉस्मेटिक प्रक्रिया है जिसकी मदद से त्वचा की सतह पर मौजूद मृत कोशिकाओं और अन्य अशुद्धिओं को हटाया जाता है।

प्राकृतिक रूप से हर 28 दिन में त्वचा अपने आप यह काम करती है। हालांकि अगर आप ऐसे वातावरण में रहती हैं जहां टॉक्सिन की मात्रा अधिक है तो आपके लिए विभिन्न चीज़ों की मदद से अपनी त्वचा की देखभाल करना ज़रूरी हो जाता है।

नियमित रूप से त्वचा की देखभाल न करने के कारण आपकी कोशिकाओं तक ऑक्सीजन की सप्लाई नहीं हो पाती है। नतीजतन, आपका चेहरा और शरीर अपनी प्राकृतिक चमक खो बैठते हैं। त्वचा खुरदरी हो जाती है और कील-मुंहासे होने की आशंका बढ़ जाती है।

सौभाग्यवश, ऐसे कई प्राकृतिक नुस्ख़े उपलब्ध हैं जिनका इस्तेमाल आप घर में एक्सफोलिएशन के लिए कर सकती हैं। आपको बाहर ब्यूटी पार्लर में जाकर पैसे खर्च करने की भी ज़रूरत नहीं पड़ेगी।

आज हम टॉप 6 नेचुरल एक्सफोलिएंट के बारे में बताएंगे। आप इनका इस्तेमाल घर पर बेझिझक कर सकती हैं। इन्हें आज ही आजमाएं!

1. नेचुरल एक्सफोलिएंटः नींबू का छिलका

कद्दूकस किए गए नींबू के छिलके में शक्तिशाली एंटी ऑक्सीडेंट होते हैं जो हमें असमय अधिक उम्र का दिखने और त्वचा के बदसूरत दाग़-धब्बों से बचाते हैं।

इसके इस्तेमाल से अत्यधिक तेल उत्पादन में कमी आती है, त्वचा का pH संतुलित रहता है और त्वचा के सूक्ष्म छिद्रों की गहराई से सफ़ाई होती है। इससे मुंहासे निकलने से बचाव होता है।

सामग्री

  • 1 नींबू का छिलका
  • 1 चम्मच कद्दूकस किया हुआ नारियल (10 ग्राम)
  • 3 चम्मच शहद (75 ग्राम)

आपको क्या करना चाहिए?

  • नींबू के छिलके को सूख जाने दें। फिर इसे कद्दूकस कर लें और कद्दूकस किए गए नारियल और शहद के साथ मिलाएं।
  • जब आप इसका गाढ़ा पेस्ट बना लें तो इसे धीरे-धीरे गोल-गोल घुमाकर मसाज करते हुए अपनी त्वचा पर लगाएं और कुछ मिनट के लिए लगा रहने दें।
  • गर्म पानी से धोएं और इसका सप्ताह में दो बार इस्तेमाल करें।
  • इस एक्सफोलिएंट का इस्तेमाल केवल रात में ही करें ताकि धूप के संपर्क में आने वाले नकारात्मक प्रभावों से बचा जा सके।

2. कॉफी और नारियल के तेल का इस्तेमाल

बची हुई कॉफी का चूरा और नारियल के तेल के मिश्रण से हमें एक शानदार एक्सफोलिएटिंग ट्रीटमेंट मिलता है। यह हमें सेलुलाइट से भी बचाता है।

आम तौर पर इसका इस्तेमाल चेहरे पर किया जाता है। आप इससे अपनी टांगों और कूल्हों की मालिश करके उनमें रक्त संचार सुधार सकती हैं।

सामग्री

  • 1 चम्मच बचा हुआ कॉफी का चूरा (10 ग्राम)
  • 2 चम्मच नारियल का तेल (30 ग्राम)

आपको क्या करना चाहिए?

  • कॉफी का चूरा और नारियल का तेल मिलाकर गाढ़ा पेस्ट न बना लें।
  • इसे धीरे-धीरे गोल-गोल घुमाकर मसाज करते हुए अपनी त्वचा पर लगाएं और 2 मिनट के लिए लगा रहने दें।
  • इसे धो लें और इसका इस्तेमाल सप्ताह में दो बार करें।

इसे भी पढ़ें: नेचुरल तरीकों से केलोइड निशान का इलाज कैसे करें

3. जई (Oat) और ऑलिव ऑयल

आपकी त्वचा को खराब करने वाली मृत कोशिकाओं को हटाने में जई का दलिया (Oatmeal) सबसे अच्छे नेचुरल एक्सफोलिएंट में से एक है।

इसकी सफ़ाई करने की शक्ति छिद्रों से अशुद्धियां हटाती है और सूखापन रोकने के लिए प्राकृतिक नमी बनाए रखती है।

हम आपको जई के दलिया को जैतून के तेल के साथ मिलाने की सलाह देंगे ताकि इसके मॉइस्चराइजिंग और सेल ग्रोथ के गुण का असर बढ़ सके।

अगर आपकी त्वचा तैलीय है तो आप इसके स्थान पर दूध या रोज़वाटर का इस्तेमाल कर सकती हैं।

सामग्री

  • 1 चम्मच जई का आटा (10 ग्राम)
  • 1 चम्मच जैतून का तेल (16 ग्राम)

आपको क्या करना चाहिए?

  • जई का आटा थोड़े से पानी में भिगो दें और उसमें एक चम्मच जैतून का तेल मिला दें।
  • इस पेस्ट को अपनी त्वचा पर धीरे-धीरे गोल-गोल घुमाकर रगड़ें और 5 मिनट तक लगा रहने दें।
  • इसके बाद इसे धो डालें और सप्ताह में तीन बार तक इस्तेमाल करें।

4. तेजपत्ता और शहद का इस्तेमाल

ये दोनों चीज़ें मिलाने से हमें एक ऐसा उप्रोडक्ट मिलता है जो त्वचा की अच्छी तरह सफ़ाई करता है और रक्त संचार बढ़ाता है।

इनके एंटीऑक्सीडेंट और मुलायम करने वाले यौगिक असमय झुर्रियां दिखने की रोकथाम करते हैं। साथ ही, अन्य समस्याओं जैसे कि स्ट्रेच मार्क्स और वेरीकोज वेंस के उपचार में भी मददगार होते हैं।

सामग्री

  • 1 चम्मच पिसा हुआ तेजपत्ता (10 ग्राम)
  • 3 चम्मच शुद्ध शहद (75 ग्राम)

आपको क्या करना चाहिए?

  • इन दोनों चीज़ों को मिलाकर पेस्ट बना लें और शरीर के जिस हिस्से को आप एक्सफोलिएट करना चाहती हैं, उस पर धीरे-धीरे गोल-गोल घुमाकर लगाएं।
  • इसे 5 मिनट तक लगा रहने दें और फिर धो डालें। प्रत्येक तीन दिन बाद यही प्रक्रिया दोहराएं।

इसे भी पढ़ें: 6 सर्वश्रेष्ठ उपाय सिर के फंगस को ख़त्म करने के लिए

5. चीनी और नींबू

यह संयोजन सबसे कम खर्चीला लेकिन चेहरे और शरीर के अन्य हिस्सों की चमक लौटाने में सबसे ज़्यादा प्रभावशाली है।

नींबू एक शक्तिशाली एस्ट्रिंजेंट है। यह ऊतकों को आपस में जोड़े रखता है और दाग़दार त्वचा को चमकदार बनाकर तेलों का उत्पादन नियंत्रित करता है।

हालांकि इसका इस्तेमाल सावधानी से करना चाहिए क्योंकि इससे आपकी त्वचा पर झाइयां बन सकती हैं।

सामग्री

  • 2 चम्मच चीनी (20 ग्राम)
  • 1 नींबू का रस

आपको क्या करना चाहिए?

  • नींबू के रस को चीनी में मिलाकर गीला पेस्ट बना लें।
  • अपने चेहरे को अच्छी तरह धो लें और फिर इसे अपने चेहरे पर धीरे-धीरे लगाएं।
  • इसे 5 मिनट तक लगा रहने दें और फिर धो डालें।
  • इसका इस्तेमाल केवल रात में ही करें। सप्ताह में अधिकतम दो बार।

6. नमक और हैवी क्रीम का इस्तेमाल

किसी हैवी व्हिपिंग क्रीम में मौजूद लैक्टिक एसिड आपके चेहरे की त्वचा की pH को नियंत्रित करता है और सूक्ष्म छिद्रों में एकत्र अशुद्धियां हटाता है।

इसे नमक के साथ मिलाने पर आपको सेड सेल्स और अतिरिक्त तेल को हटाने के लिए एक संपूर्ण नेचुरल एक्सफोलिएंट मिलता है।

सामग्री

  • 3 चम्मच हैवी व्हिपिंग क्रीम (30 मिलीलीटर)
  • 1 चम्मच नमक (5 ग्राम)

आपको क्या करना चाहिए?

  • क्रीम को नमक के साथ मिलाएं और इस उत्पाद को अपनी त्वचा पर लगाएं।
  • 5 मिनट तक इंतजार करें ताकि यह अपना प्रभाव दिखा सके और फिर धो डालें।
  • सप्ताह में दो से तीन बार इसका इस्तेमाल करें।

इनमें से अपना पसंदीदा एक्सफोलिएंट चुनें और उसका अधिकतम लाभ उठाने के लिए दी गई सलाह का पालन करें।

ध्यान रखें, आपको अपनी त्वचा को ज़रूरत से ज़्यादा एक्सफोलिएट नहीं करना चाहिए क्योंकि उसे नुकसान पहुंच सकता है।

यह आपकी रुचि हो सकती है ...
गुलाब जल से कैसे घटाएँ झुर्रियाँ
स्वास्थ्य की ओरइसमें पढ़ें स्वास्थ्य की ओर
गुलाब जल से कैसे घटाएँ झुर्रियाँ

क्या आप एक प्राकृतिक लेकिन बड़े ही कारगर ढंग से झुर्रियां घटाना चाहती हैं? तब तो आपको यह पता होना ही चाहिए कि ऐलो वेरा बढ़ती उम्र के संकेतों को कुछ बार के इस्तेमाल के बाद ही उलट सकता है।



  • Dr. Lupo. (2015). Evaluate before you exfoliate | American Academy of Dermatology.
  • Proksch, E., Brandner, J. M., & Jensen, J. M. (2008). The skin: An indispensable barrier. Experimental Dermatology. https://doi.org/10.1111/j.1600-0625.2008.00786.x