7 प्राकृतिक फेशियल ट्रीटमेंट चेहरे की झाइयां दूर करने के

18 जून, 2018
चेहरे की झाइयां बदतर हाल में न पहुँचें, इसलिए इन नुस्ख़ों का इस्तेमाल रात में ही करें। नींबू से बने हुए नुस्ख़े धूप में नुकसान पहुंचा सकते हैं।

चेहरे की झाइयां दरअसल चेहरे पर ऐसे दाग़-धब्बे हैं जिनको “मेलाज़्मा” भी कहते हैं। यह त्वचा से जुड़ी समस्या है जो महिलाओं में ज्यादा आम है क्योंकि यह महिला-हॉर्मोन (एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टेरॉन) से संबंधित है। लेकिन आप परेशान न हों, सनस्पॉट को दूर करने में कई नेचुरल ट्रीटमेंट आपकी बहुत मदद कर सकते हैं।

इस पोस्ट में हम आपको झाइयां दूर करने के बेहतरीन प्राकृतिक नुस्ख़ों के बारे में बताएंगे।

झाइयां क्या हैं और ये किस कारण होती हैं?

चेहरे की झाइयों का कारण ज्यादा मेलानिन का बनना है।

जब त्वचा को उसका विशिष्ट रंग देने वाले इस पिगमेंट का स्तर बहुत बढ़ जाता है तो त्वचा (विशेषकर चेहरे) पर ‘दाग़-धब्बे’ बन जाते हैं।

वैसे यह समस्या किसी को भी हो सकती है, लेकिन यह युवा और सांवली महिलाओं में सबसे आम है।

चेहरे की झाइयां गाल, ठोड़ी, माथे और ऊपरी होंठ के आसपास ज़्यादा उभरती हैं।

चेहरे की झाइयां होने के कुछ कारण ये हैंः

  • गर्भावस्था
  • गर्भ-निरोधक दवाओं का इस्तेमाल
  • बहुत ज़्यादा देर तक धूप में रहना
  • तनाव या बेचैनी
  • जेनेटिक कारण
  • कुछ विशेष मेडिकल या स्टेरॉयड ट्रीटमेंट
  • थाइराइड ग्रंथि की जटिलताएं

प्रसव के बाद, किसी अन्य गर्भ-निरोधक तरीके के इस्तेमाल या अल्ट्रा वायलेट किरणों के संपर्क में आने के घंटे कम करने जैसे कुछ मामलों में त्वचा “फिर से सामान्य” हो जाती है।

बाकी मामलों में ट्रीटमेंट करवाना आवश्यक है जो कि प्राकृतिक या गैर-प्राकृतिक हो सकता है।

झाइयां दूर करने के घरेलू फेशियल ट्रीटमेंट

एक बार जब हम मेलाज़्मा के कारण का पता लगा लेते हैं तो सही ट्रीटमेंट का चुनाव आसान हो जाता है।

हमारी ओर से यहाँ नीचे बताए गए किसी भी घरेलू नुस्ख़े के साइड-इफेक्ट नहीं हैं।

इन्हें त्वचा पर बाहर से लगाते हैं। इनका इस्तेमाल क्रीम या चीर-फाड़ प्रक्रियाओं के स्थान पर होता है।

1. केले का मास्क

चेहरे की झाइयां: केला

केला या केले का पेड़ यहां तक कि इसके छिलके में भी ढेर सारे पोषक तत्व होते हैं।

  • स्वस्थ चेहरा पाने का एक अच्छा तरीका यह है कि नहाने के बाद छिलके के अंदरूनी भाग को अपने चेहरे पर रगड़ें।
  • इसे 15 मिनट तक सूखने दें और फिर गरम पानी से धो दें।

दूसरा विकल्प एक मास्क तैयार करना है:

  • यह बहुत आसान है। फॉर्क से एक केला स्मैश करके अपने चेहरे पर लगाएं।
  • 20 मिनट बाद इसे पानी से धो दें और मॉइस्चराइज़र लगा लें।

2. नींबू और हरी धनिया का मास्क

इस खट्टे फल का एसिड त्वचा के हर तरह के दाग़-धब्बे को दूर करने में उम्दा है। इसलिए यह चेहरे की झाइयां या मेलाज़्मा से पीड़ित व्यक्तियों के लिए शानदार विकल्प हो सकता है।

हरी धनिया भी इस समस्या के कारण पैदा हुए दाग़-धब्बों को कम करती है। याद रखें, इस ट्रीटमेंट को रात में ही करना है, क्योंकि धूप पाकर नींबू दाग़-धब्बों को और उभारता है।

समाग्री

  • 1 नींबू का रस
  • 1 मुट्ठी हरी धनिया

प्रक्रिया

  • नींबू का रस निकालें और हरी धनिया को धोएं
  • धनिया की पत्तियों को चुन लें और उन्हें ब्लेंडर में डालें
  • नींबू का रस मिलाएं और दोनों का मिश्रण बना लें
  • चेहरे के प्रभावित हिस्से को पहले धोने और सुखाने के बाद उस पर इस मिश्रण को लगाएं।
  • 15 मिनट के बाद गुनगुने पानी से चेहरे को धो लें।

3. बैंगन का मास्क

स्वस्थ त्वचा के लिए आप इस सब्जी का कई तरह से लाभ उठा सकते हैं। उदाहरण के लिए इसका मास्क बना लीजिये।

सामग्री

  • 1 बैंगन
  • 4 कप पानी (1 लीटर)

प्रक्रिया

  • बैंगन को धोकर उसके चार टुकड़े कर लें।
  • सॉस पैन में इसके साथ पानी मिलाएं और मुलायम होने तक पकाएं।
  • सॉस पैन को स्टोव से हटा लें और बैंगन के गूदे को निकालकर पेस्ट बना लें।
  • हल्का गरम या ठंडा होने पर इसे अपने चेहरे पर लगाएं।
  • इसे 15 मिनट तक लगा रहने दें। फिर बैंगन पकाने के लिए इस्तेमाल किए गए पानी से धोयें।

4. हाइड्रोजन पेरॉक्साइड ट्रीटमेंट

यह सामग्री हर घर में अक्सर मिल जायेगी। घावों और दुर्घटनाओं के मामले में आवश्यक उपचार के उपयुक्त होने के अलावा भी यह त्वचा के दाग़-धब्बों का उभार कम करने में मददगार होती है।

इस कारण हम इसका इस्तेमाल चेहरे की झाइयां दूर करने के लिए भी कर सकते हैं। यह बहुत आसान हैः

  • कॉटन बॉल को हाइड्रोजन पेरॉक्साइड में भिगोएं और सोने से पहले अपने चेहरे पर लगाएं।
  • इसे धोएं नहीं।
  • यह ट्रीटमेंट रोज़ाना करें।

5. अंगूर का मास्क

चेहरे की झाइयां: अंगूर

इसे छोटे से फल में ढेर सारे एंटीऑक्सीडेंट और पोषक तत्व होते हैं जो त्वचा का स्वास्थ्य और रूप-रंग सुधारते हैं

सामग्री

  • 10 अंगूर
  • 1/2 कप पानी (125 मिली.)

प्रक्रिया

  • अंगूर को धो लें और उन्हें दो हिस्सों में काटकर बीज हटा दें।
  • उन्हें ब्लेंडर में डालें और पानी मिलाएं।
  • पेस्ट बनने तक दोनों को मिलाएं।
  • न्यूट्रल साबुन से अपना चेहरा धोएं और गोल-गोल घुमाते हुए मास्क लगाएं
  • इसे 25 मिनट तक लगा रहने दें और फिर ठंडे पानी से धोएं।

6. दूध, नींबू और शहद का मास्क

इस मास्क को बनाने के लिए पाउडर वाले दूध का इस्तेमाल ज़्यादा अच्छा रहता है ताकि गाढ़ापन एकदम बराबर रहे।

नींबू दाग़-धब्बे हटाता है, शहद अच्छे ढंग से एक्सफोलिएट करता है और दूध त्वचा को नम करता है– इस कारण इकट्ठे होकर ये एक शानदार सामग्री बनाते हैं।

सामग्री

  • 1/2 नींबू का रस
  • 2 चम्मच पाउडर दूध (20 ग्राम)
  • 4 चम्मच शहद (100 ग्राम)

प्रक्रिया

  • नींबू का रस निकालें।
  • पाउडर दूध को एक कटोरे में डालें और उसमें नींबू का रस मिलाएं।
  • इसमें शहद डालें और पेस्ट बनने तक इन्हें मिलाते रहें।
  • पेस्ट को चेहरे पर लगाएं और 20 मिनट तक लगा छोड़ दें
  • पानी से अच्छी तरह धोएं और मॉइस्चराइज़र लगाएं।

7. गाजर और अंडे का मास्क

यह अंडों में पाए जाने वाले अधिकतर पोषक तत्वों और गाजर से मिलने वाले एंटीऑक्सीडेंट को पाने का एक शानदार तरीका है। यह ट्रीटमेंट सप्ताह में 3 बार दोहराएं।

सामग्री

  • 1 गाजर
  • 2 अंडे

प्रक्रिया

  • गाजर छीलकर उसके क्यूब बना लें।
  • उसे अंडों के साथ ब्लेंडर में डालें।
  • इन्हें अच्छी तरह मिलाकर एक समान पेस्ट बना लें।
  • पेस्ट को साफ़ चेहरे पर गोल-गोल घुमाकर लगाएं।
  • पेस्ट को चेहरे पर आधे घंटे के लिए लगा छोड़ दें और फिर गरम पानी से धोएं।