पैरों के तकलीफदेह कैलस से छुटकारा पाने के बेहतरीन विकल्प

07 जनवरी, 2019
रगड़ने या बहुत ज्यादा टाइट जूते पहनने से फूट कैलस किसी को भी हो सकते हैं। पैरों की सुंदरता बनाए रखने और आराम पाने के लिए इनसे छुटकारा पाने की सलाह दी जाती है।
 

फूट कैलस (foot calluse) अर्थात गोखरू या पैरों के घट्ठे बहुत ही आम समस्या हैं। ये अपने विकास के अलग-अलग चरणों में दिखाई दे सकते हैं और इनकी स्थिति हर इंसान में अलग-अलग हो सकती है।

सभी मामलों में इसकी शुरुआत एक जैसी होती है। जूते से लगातार होने वाली रगड़ या पैरों के किसी बिंदु पर लगातार पड़ने वाले दबाव के खिलाफ यह त्वचा का एक किस्म का डिफेन्स मेकेनिज्म है।

देखा जाये तो, यह पादचकित्सा से जुड़ी एक सामान्य समस्या है और इसका कोई गंभीर मेडिकल परिणाम नहीं भुगतना पड़ता है। फिर भी अगर इसका इलाज ठीक से न हो तो समय बीतने के साथ इसमें बहुत दर्द हो सकता है। यह चलने-फिरने में मुश्किल पैदा करता हैडायबिटीज के रोगियों को अपने पैरों पर खास ध्यान देना चाहिए ताकि कैलस से होने वाले संक्रमण या दूसरी बड़ी तकलीफ़ों से बचा जा सके।

फुट कैलस अक्सर शंकुनुमा (conical) होते हैं और आम तौर पर पैर की उंगलियों के ऊपरी हिस्से में दिखाई देते हैं। इसके साथ ही, कैलस छितरे हुए अपेक्षाकृत ज्यादा चौड़े हिस्से में, खासतौर पर पैर के तलवों में फैलते हैं।

इसे भी पढ़ें: 5 हर्बल ट्रीटमेंट जो गोखरू का मुकाबला करने में मदद करते हैं

कारण

जैसा कि हमने पहले ही बताया था, पैरों में होने वाले कैलस के कारण हैं:

  • रगड़ और पैरों में पड़ने वाले दबाव से स्किन का बचाव करने वाला मेकनिज्म।
  • बन्यन (bunion) से पीड़ित लोगों के पैरों की उंगलियों के ऊपर जूते की रगड़ लगने  से कैलस होना आम बात है।
  • पैरों की उंगलियों और हड्डियों की बनावट से जुडी समस्या (हैमर टोस, बन्यन)।
  • ऐसे जूते-चप्पल पहनना जो बहुत ज्यादा टाइट हों या पैरों की कुछ खास जगहों पर बहुत ज्यादा दबाव डालते हों।
  • बायो-मैकेनिकल गड़बड़ियाँ जो चलने में मुश्किल पैदा करती हैं, जिससे पैरों के खास हिस्सों पर बहुत ज्यादा दबाव पड़ता है।

लक्षण

फुट कॉलस

पैरों में होने वाले कैलस के कुछ सबसे आम लक्षण हैं:

 
  • पैरों के किसी हिस्से में स्किन का सामान्य से ज्यादा कठोर होना।
  • पैरों की उंगलियों के बीच स्किन में मुलायम गांठ बनना।
  • चलने या  जूते पहनते समय दर्द होना या कभी-कभी कोई काम करते समय कुछ हिस्सों में दर्द होना।

जोखिम की बातें

कोई भी ऐसी स्थिति या काम जो पैरों में बहुत ज्यादा रगड़ या दबाव पैदा करता है, फूट कैलस होने का कारण बन सकते हैं।

यह कहा गया है कि पैरों में गट्ठे किसी को भी हो सकते हैं, फिर भी, कुछ खास तरह के जोखिम हैं जिन्हें ध्यान में रखना बहुत जरूरी है:

  • पैरों की बनावट में बदलाव
  • चाल में गड़बड़ी
  • बन्यन
  • जबरन वे काम करना जो पैरों पर दबाव डालती हैं।
  • ऐसे टूल्स का इस्तेमाल या काम करना जो पैरों के खास हिस्सों पर ज्यादा रगड़ लगाते हैं। उदाहरण के लिए, साइकिल चलाना या स्केटिंग करना।

इसे भी पढ़ें: 4 घरेलू नुस्ख़े से करें घट्टों का इलाज

फूट कैलस का इलाज करने के प्राकृतिक नुस्खे और दूसरे विकल्प

प्यूमिक स्टोन (Pumice stone)

घर बैठे पैर के छोटे घट्ठों से छुटकारा पाने के लिए प्यूमिक स्टोन या फाइल (रेती) बहुत अच्छे विकल्प हैं। आजकल जाने-माने प्यूमिक स्टोन के बहुत से नए वर्जन आ चुके हैं।

एक प्यूमिक पत्थर से फुट कॉलस को हटाती महिला

और हर वर्जन में, इस्तेमाल करने का तरीका एक जैसा ही है।

आपको क्या चाहिये?

  • प्यूमिक स्टोन

आपको क्या करना होगा?

  • सबसे पहले पैरों को 15 से 20 मिनट तक गर्म पानी में भिगो कर रखें।
  • इसके बाद, प्यूमिक स्टोन को पैरों के एक किनारे से दूसरे किनारे तक गोल-गोल घुमाते हुये रगड़ें।
  • बीच-बीच में डेड स्किन की परतों को साफ करने के लिए अपने पैरों को वापस पानी में भिगोयें।
  • आपको यह तब तक जारी रखना है जब तक स्किन मुलायम ना महसूस होने लगे।

इसे भी आजमायें: पैर पर लगे फंगस और घट्ठे को इस अद्भुत घरेलू ट्रीटमेंट से दूर करें

एस्परिन और नींबू (Aspirin and lemon)

लगातार दबाव पड़ने के कारण बनने वाली मोटी त्वचा और पैरों की फंगस के इलाज में एस्परिन का बहुत फायदेमंद असर देखा गया है। इसमें फैट में घुलने वाला बीटा-हाइड्रोक्सी एसिड मौजूद होता है जिसका इस्तेमाल कंपनियां क्रीम और डेड स्किन हटाने वाले प्रोडक्ट बनाने के लिए करती है।

 

नींबू अपने एंटीऑक्सीडेंट, शुद्धता और कीटाणुनाशक गुणों के लिए जाना जाता है। यह कैलस का इलाज करने और इसके लगातार इस्तेमाल से उन्हें बढ़ने से रोकने के लिए एक अच्छा विकल्प है।

आपको क्या-क्या चाहिये?

  • 7 पिसे हुए एस्परिन
  • 1 नींबू का रस
  • 1 पट्टी

आपको क्या करना होगा?

  • सबसे पहले एक छोटे डब्बे में एस्परिन के 7 टुकड़ों को पीस कर रखें। इसमें एक नींबू का रस मिलाएं और इससे तब तक मिलायें जब तक यह पेस्ट ना बन जाए।
  • अब इसे उन हिस्सों पर लगाएं जहां फुट कैलस है और पट्टी बांध दें।
  • यह जरूरी है कि आप इस प्रक्रिया को रात को सोने से पहले करें। इसे लगातार करने से गट्ठे पूरी तरह से खत्म हो जाएंगे।

सफेद सिरका (White vinegar)

सफेद सिरका आमतौर पर हमारे घर में मौजूद होता है या हमें आसानी से बाजार से मिल सकता है। इसमें कोई हैरानी की बात नहीं कि यह फुट कैलस को ख़त्म करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। पहले इसका इस्तेमाल पैरों को आराम देने और फंगस से लड़ने के लिए किया जाता था।

आपको क्या चाहिये?

  • 2 चम्मच सफेद सिरका (30 मिलीलीटर)

आपको क्या करना होगा?