4 घरेलू नुस्ख़े से करें घट्टों का इलाज

जुलाई 3, 2018
अपने सूजनरोधी आरोग्यकर गुणों की वजह से ये नुस्खे घट्टों के इलाज में बहुत असरदार होते हैं। इसके साथ यह भी निश्चित कर लें कि आपके जूते आपको ठीक से फिट आते हों, और हाथ से काम करते वक़्त उनमें ग्लव्स हों।

घट्टों का इलाज समझने से पहले ज़रा यह भी जान लीजिये कि हमें घट्टे (calluses) क्यों होते हैं ? दरअसल वे हमें प्रोटेक्ट करने के लिए उभरते हैं। घट्टे तब होते हैं, जब हमारी त्वचा जूते के मटेरियल या काम करते वक्त किसी शवल या पेन जैसे टूल्स से रगड़ खाती है

हमारा शरीर इस बात को जानता है कि ऐसी स्थिति में बाहरी त्वचा (एपिडर्मिस) को खतरा हो सकता है, उसमें कष्टदायक छाले हो सकते हैं । इसी खतरे की वजह से हमारा शरीर अत्यधिक घर्षण वाली जगह को मोटा कर देता है।

यह नेचुरल रिएक्शन दिखने में थोड़ा भद्दा भले ही हो, इससे काम ज़रूर बन जाता है। लेकिन हर चीज़ की एक सीमा होती है, घट्टे बनने की भी है। असल में, घट्टों से खून तो निकल ही सकता है। ये उस रगड़ जितने ही दर्दनाक भी हो सकते हैं, जिससे बचने की कोशिश में ये बनते हैं।

इनकी कई प्रकार की थेरेपी हैं, लेकिन हमेशा की तरह घट्टों का इलाज करने के लिए भी हम घरेलू उपायों को ही तरजीह देना चाहेंगे। घरेलू नुस्खों के प्रयोग का यह फायदा है कि हमें पता रहता है, हम किन-किन चीज़ों का इस्तेमाल कर रहे हैं।

यह बात हमें अनचाही समस्याओं या अवांछनीय साइड इफ़ेक्ट से बचा लेती है। वैसे भी, ऐसी चीज़ों के लिए सामग्री का चुनाव करते समय हम सबसे अच्छे विकल्पों में से चुन सकते हैं।

लेकिन अगर आप चाहते हैं कि घट्टे हो ही नहीं, तो हमारा सुझाव है कि आप अपने जूतों को ज़रा एडजस्ट करें और दस्तानों का इस्तेमाल करें, खासकर अगर आप अपनी त्वचा में जलन पैदा करने वाले टूल्स से काम करते हैं।

अच्छे से फिट होने वाले जूते और ग्लव्स, दोनों ही घट्टों को अलविदा कहने के लिए ज़रूरी होते हैं।

घट्टों का इलाज करने वाले 4 घरेलू नुस्खे

1. लहसुन का रस

घट्टों का इलाज: लहसुन का रस

लहसुन के अनेक फायदे हैं। जहाँ तक बात घट्टों के इलाज की है, तो हम लहसुन का इस्तेमाल उसके एंटी-इन्फ्लेमेटरी, एंटीसेप्टिक और आरोग्यकर गुणों के लिए करते हैं

सामग्री

  • लहसुन की एक कली
  • एक चम्मच जैतून का तेल (ऑलिव ऑइल, 5 ग्राम)

तैयारी व उपयोग

  • लहसुन को चार टुकड़ों में काट लें।
  • मॉर्टर में डालकर उनके छोटे-छोटे टुकड़े कर लें।
  • उसमें तेल डालकर उसका पेस्ट बना लें।
  • मिश्रण को प्रभावित जगह पर लगाकर उसे पट्टी से ढक दें।

2. हरा प्याज़ (leek) और सिरका

घट्टों का इलाज: कैमोमाइल

सेहतमंद बने रहने के लिए अपने विटामिन C लेवल की वजह से हरा प्याज़ हमारी त्वच के लिए सच्चे दोस्त की तरह है।

वाइन सिरका एक कमाल का कीटाणुनाशक होता है, और यही बात उसे हरे प्याज़ का परफेक्ट मैच बनाती है।

सामग्री

  • एक चम्मच वाइन सिरका (200 मिलीलीटर)
  • ½ हरा प्याज़

बर्तन

  • रबड़ स्पैचुल

तैयारी व उपयोग

  • सिरके को एक कप में डालकर हरे प्याज़ को छील लें।
  • हरे प्याज़ को सिरके में डालकर उसे 24 घंटे तक ऐसे ही छोड़ दें
  • घट्टे को धीरे-धीरे मुलायम बनाने के लिए हरे प्याज़ के पत्तों से प्रभावित जगह को साफ़ करें।
  • स्पैचुल का प्रयोग आराम से करें: ध्यान रखें कि मिश्रण से घट्टा सहज रूप से, बिना किसी दर्द के नरम हो जाए
  • इन्फेक्शन से बचने के लिए उसे ढकना न भूलें।

3. कैमोमाइल (Chamomile) में भिगोना भी करता है घट्टों का इलाज

घट्टों का इलाज

लहसुन की तरह, कैमोमाइल भी बहुत अहम सूजनरोधी है। इसका प्रमुख कारण यह है कि यह सून्न करने वाले एनेस्थेटिक की तरह काम करता है। अगर आपको दर्द कुछ ज्यादा ही होता है तो यह ट्रीटमेंट आपके लिए ही है।

सामग्री

  • पानी के बारह कप (3 लीटर)
  • कैमोमाइल फूलों के दो कप या फिर बारह टी बैग (120 ग्राम)

बर्तन

  • पैरों को भिगोने के लिए एक बाल्टी

नोट: यह उपाय पैरों में होने वाले घट्टों का इलाज करने के लिए है। अगर घट्टे शरीर के किसी और भाग में हैं तो आप सामग्रियों की मात्रा को घटा-बढ़ा सकते हैं।

तैयारी व उपयोग

  • टी बैग्स या कैमोमाइल के फूलों वाले पानी को गरम करें।
  • मिश्रण के तैयार हो जाने पर टी बैग्स को बाहर निकाल लें या फूलों को छान लें ।
  • तरल को बाल्टी में डालकर उसमें अपने पैर भिगो लें: यह गरम होना चाहिए लेकिन ध्यान रखें कि कहीं आपके पैर न जलने लगें।
  • पानी के ठंडा हो जाने पर अपने पैर बाहर निकाल सकते हैं।
  • इस प्रक्रिया को हर रोज़ तब तक दोहराएं, जब तक आपके घट्टे गायब न हो जाएँ

अगर आप अपने हाथों या शरीर के किसी अन्य अंग को उस मिश्रण में भिगोना चाहते हैं तो किसी जाली की मदद से उसे ढक सकते हैं।

4. गेंदे के फूल की पत्तियां (Marigold petals)

घट्टों के इलाज में गेंदे के फूल भी मददगार साबित हो सकते हैं

गेंदे के फूल न सिर्फ त्वचा को हाइड्रेट कर उसे मुलायम बनाते हैं, बल्कि उनमें सूजनरोधी आरोग्यकर गुण भी होते हैं

यह मिश्रण कील-मुहांसों या त्वचा के अन्य दाग-धब्बों के इलाज में भी कारगर होता है। इसीलिए हम आपको उसका एक अच्छा-ख़ासा बैच बनाने की सामग्री व विधि बताएँगे।

सामग्री

  • तीन कप जैतून का तेल (ओलिव ऑइल) (600 ग्राम)
  • एक कप गेंदे के फूल (60 ग्राम)
  • तीन चम्मच मोम (45 ग्राम)

बर्तन

  • छलनी
  • कांच का जार

तैयारी व उपयोग

  • गेंदे की पत्तियों को तेल में 40 दिनों तक भिगोकर रखें
  • 40 दिनों के बाद, पत्तियों को छानकर तेल को एक डबल बायलर में गरम कर लें।
  • गरम हो जाने पर उसमें मोम को डालकर तब तक गरम करते रहें, जब तक कि मोम उसमें घुल न जाए।
  • उसके बाद मिश्रण को फ़ौरन कांच के एक या कई जारों में डालकर रख लें ताकि वह ठोस न हो जाए।
  • उसे ठंडा होने दें।
  • घट्टों के इलाज के लिए उन पर धीरे-धीरे क्रीम को मलें।

ये घरेलू उपाय पूरी तरह से प्राकृतिक हैं। अगर आपको उपर्युक्त पदार्थों से कोई एलर्जी नहीं है तो इन नुस्खों के प्रयोग का कोई साइड-इफ़ेक्ट भी नहीं होगा।

इनके फायदे आपकी त्वचा को बेहतर बना देंगे। क्या आपको इनमें से कोई घट्टों का इलाज पसंद आया ?