जूतों की बदबू को कहें अलविदा, आजमायें ये 6 घरेलू टिप्स

मई 24, 2018
इन उपायों को अपनाने के साथ-साथ जूते में खराब बदबू पैदा होने से रोकने के लिए पैरों की सफाई का ख़ास ख़याल रखें। बिना मोज़े के जूते न पहनें। पसीना बढ़ते ही बिना मोज़े वाला जूता बदबू का घर बन जाता है।

कभी-कभी एक अजीब सी बदबू हमारा पीछा करती है। हम जहाँ भी जाते हैं हमारे साथ जाती है और नाक में दम कर देती है। कई बार इस बदबू की वजह से हमें दूसरों के सामने शर्मिंदा होना पड़ता है। अगर आपके साथ भी ऐसा कुछ हो रहा है तो अपने जूतों की जाँच करें। कहीं जूतों की बदबू के कारण ही तो आपकी नाक नहीं कट रही है?

चिंता न करें, हम यहाँ आपको कुछ सीधे-सादे तरीके बतायेंगे ताकि आप जूतों की बदबू से छुटकारा पाकर चैन की साँस ले सकें।

जूतों में बदबू आना आम समस्या है जो पैरों को साफ न रखने की वजह से होती है।

लगातार बैक्टीरिया, पसीना और सिंथेटिक फैब्रिक्स के संपर्क में आने से यह स्थिति और खराब हो जाती है।

ज्यादातर लोग इस समस्या को और इससे बचने के आसान उपायों को नज़रअंदाज़ करने की कोशिश करते हैं। इससे बदबू बढ़ती जाती है और एक समय ऐसा आता है जब उससे छुटकारा पाना मुश्किल हो जाता है।

खुशखबरी यह है कि कुछ ऐसी चीजें उपलब्ध हैं जिनमें बदबू हटाने की क्षमता होती है और एंटी बैक्टीरियल गुण मौजूद होते हैं। इनको लगाने से जूतों की बदबू बेअसर हो जाती है।

इससे पहले कि आप इस काम के लिए बाज़ार में बिकने वाली महेंगी चीजों को खरीदने के बारे में सोचें हम आपके साथ 6 घरेलू नुस्खे शेयर करना चाहते हैं। आप इन युक्तियों को इसी समय इस्तेमाल कर सकते हैं।

क्या आप शुरू करने के लिए तैयार हैं?

1. जूतों की बदबू हटाने के लिए नींबू का छिलका

इस साइट्रस यानी खट्टे फल के छिलके में तेज महक के अलावा जबरदस्त एंटी माइक्रोबियल गुण भी होते हैं। इनकी वजह से यह आपके पसंदीदा स्नीकर्स में बिन बुलाया मेहमान बनकर घर बना लेने वाकी बदबू से छुटकारा दिलाने के लिए एक बेहतरीन साधन है।

अगर आप इसे हफ्ते में कई बार इस्तेमाल करेंगे तो आपके जूतों की दुर्गन्ध दूर हो जायेगी और जूतों के अंदर का हिस्सा कीटाणुओं से मुक्त हो जायेगा। यह बदबू उत्पन्न करने वाले हानिकारक बैक्टीरिया और फंगस को बढ़ने से रोकेगा।

इस्तेमाल करने का तरीका

  • कई नींबू, संतरे या दूसरे साइट्रस फलों के छिलके लें और उनको कई टुकड़ों में काटें।
  • फिर जिन जूतों की बदबू हटाना चाहते हैं उनमें इन टुकड़ों को रखें और रात भर असर करने के लिए छोड़ दें।
  • इसे हफ्ते में कई बार दोहरायें जब तक पूरी तरह से बदबू न हट जाये।

2. टी ट्री ऑयल

टी ट्री ऑयल एक जोरदार एंटी फंगल और एंटी बैक्टीरियल उत्पाद है। बहुत जरा सा तेल इस्तेमाल करके हम अपने जूतों की अवांछित गंध को अलविदा कह सकते हैं।

इतना ही नहीं, यह लाजवाब तेल जूतों में रहने वाले हानिकारक कीटाणुओं को भी नष्ट कर देता है। इससे भी अच्छी बात यह है कि यह पीएच लेवल को फिर से ठीक कर देता है जो पैरों में से ज्यादा पसीना निकलने के कारण असंतुलित हो जाता है।

इस्तेमाल करने का तरीका

  • अपने जूतों के अंदर के हिस्से में 5 – 6 बूंद टी ट्री ऑयल लगायें और रात भर के लिए छोड़ दें ताकि जूते का मटीरियल उसको सोख ले।
  • अगर अगले दिन भी जूतों में से बदबू आये तो इस प्रक्रिया को आने वाले दिन फिर दोहरायें।
  • यदि आपको तीव्र गंध को हटाना है तो तेल को बेकिंग सोडा के साथ मिलाकर लगायें।

3. बेकिंग सोडा

शायद आप जानते होंगे कि बेकिंग सोडा एक शक्तिशाली, प्रभावशाली और सबसे ज्यादा पॉपुलर नेचुरल गंधहारक है।

अपनी एंटी माइक्रोबियल और एंटी फंगल खूबियों की वजह से ये जूतों में गंदी बदबू पैदा करने वाले बैक्टीरिया और फंगस को हटाता है।

इस्तेमाल करने का तरीका

  • थोड़ा सा बेकिंग सोडा लें और दोनों जूतों में रखें।
  • इसे रात भर के लिए छोड़ दें ताकि यह नमी और कीटाणुओं को नष्ट कर सके जो इस अवांछित गंध को उत्पन्न करते हैं।
  • इस प्रक्रिया को रोज दोहराते रहें जब तक पूरी तरह बदबू से छुटकारा नहीं मिल जाता है।

4. लैवेंडर एसेंशियल ऑयल

लैवेंडर पौधे के एसेंशियल ऑयल में एंटी माइक्रोबियल यौगिक प्रचुर मात्रा में मौजूद होते हैं। वे जूतों में से आने वाली तेज गंध से निपटने में हमारा साथ देते हैं।

इसके अलावा यह अपनी एरोमैटिक खूबियों के लिए मशहूर है। लैवेंडर ऑयल अवांछित गंध और बेहद पसीना आने की समस्याओं को दूर करने में बेजोड़ है।

इस्तेमाल करने का तरीका

  • दोनों जूतों में 5 – 6 बूंद लैवेंडर एसेंशियल ऑयल डालें और रात भर के लिए छोड़ दें ताकि इसका असर हो सके।
  • जूतों को साफ और कीटाणुओं से मुक्त रखने के लिए इस प्रक्रिया को हफ्ते में 2 या 3 बार दोहरायें।

5. एप्पल साइडर विनेगर या सेब का सिरका

इस नेचुरल प्रोडक्ट में मैलिक एसिड नाम का एक पदार्थ होता है। इसमें पीएच को नियमित करने की क्षमता होती है। इसलिए यह बदबू पैदा करने वाले बैक्टीरिया और फंगस से निपटता है।

ये यौगिक जूतों में से आने वाली तेज महक को रोकते हैं। साथ ही ये पैरों को संक्रमण से भी बचाते हैं।

इस्तेमाल करने का तरीका

  • कोशिश करके ऑर्गेनिक एप्पल साइडर विनेगर खरीदें। जिस दुकान से रोजाना की चीजें खरीदते हैं शायद यह आपको वहां मिल जाये।
  • इसे रूई से अपने जूतों के अंदरूनी हिस्से में लगायें।
  • फिर 10 – 12 घंटे के लिए छोड़ दें और असर करने दें। अगर इसके बाद भी बदबू आये तो इस प्रक्रिया को दोहरायें।

6. नींबू का रस

जैसा कि हमने पहले देखा कि नींबू का छिलका गंदी बदबू को बेअसर करने के लिए गजब की चीज है। लेकिन इसका रस भी इस समस्या से निपटने में हमारा बहुत अच्छा साथी है।

यह अपनी एंटी बैक्टीरियल और एंटी फंगल क्रिया के जरिये गंदी बदबू पैदा करने वाले सूक्ष्मजीवों को बढ़ने से रोकता है।

इस्तेमाल करने का तरीका

  • थोड़ा सा ताज़ा नींबू का रस निचोड़ें और आप जिन जूतों की बदबू हटाना चाहते हैं उनके अंदर लगायें।
  • पूरी तरह से सूखने दें। इसे रोज करते रहें जब तक बदबू पूरी तरह से निकल न जाये।

क्या आप इन आसान और उपयोगी युक्तियों को आजमाने के लिए तैयार हैं? अगर आपको अपने पसंदीदा फैशनेबल जूतों की बदबू की वजह से शर्मिंदा होना पड़ रहा है तो इन पारंपरिक उपायों को अपनायें। ढेर सारे पैसे खर्च किये बिना इस समस्या से आप आसानी से छुटकारा पा सकते हैं!

  • Rouseff, R. L., Perez-Cacho, P. R., & Jabalpurwala, F. (2009). Historical review of citrus flavor research during the past 100 years. Journal of Agricultural and Food Chemistry. https://doi.org/10.1021/jf900112y
  • Viuda-Martos, M., Ruiz-Navajas, Y., Fernández-López, J., & Perez-Álvarez, J. (2008). Antibacterial activity of lemon (Citrus lemon L.), mandarin (Citrus reticulata L.), grapefruit (Citrus paradisi L.) and orange (Citrus sinensis L.) essential oils. Journal of Food Safety. https://doi.org/10.1111/j.1745-4565.2008.00131.x
  • Larson, D., & Jacob, S. E. (2012). Tea tree oil. Dermatitis. https://doi.org/10.1097/DER.0b013e31823e202d
  • Cavanagh, H. M. A., & Wilkinson, J. M. (2002). Biological activities of lavender essential oil. Phytotherapy Research. https://doi.org/10.1002/ptr.1103
  • Budak, N. H., Aykin, E., Seydim, A. C., Greene, A. K., & Guzel-Seydim, Z. B. (2014). Functional Properties of Vinegar. Journal of Food Science. https://doi.org/10.1111/1750-3841.12434
  • Dhanavade, M., Jalkute, C., … J. G.-B. J. of, & 2011, U. (2011). Study antimicrobial activity of lemon (Citrus lemon L.) peel extract. British Journal of Pharmacology and Toxicology. https://doi.org/10.1002/ajp.21003