स्किन टैग हटाने के 6 नेचुरल तरीके

मई 22, 2018

स्किन टैग बैलूननुमा चमड़ी होती है जो एक डंठलनुमा पतली संरचना से त्वचा से जुड़ी रहती है। मस्से या मोल और वार्ट से यह थोड़ा अलग होती है। एक ख़ास वायरस के संक्रमण के कारण यह गर्दन और पलकों समेत शरीर के दूसरे अंगों पर उग आती है। अनन्नास के रस में सूजनरोधी और वायरसरोधी गुण होते हैं। यह स्किन टैग को हटाने में सहायता करता है, उनको दूसरे अंगों तक फैलने से रोकता है।

स्किन टैग त्वचा की फैट सेल्स में कोलेजेन जमा हो जाने की वजह से होती हैं

आम तौर पर ये कोई स्वास्थ्य संबंधी समस्या उत्पन्न नहीं करती हैं। लेकिन स्किन टैग में बहुत आसानी से चोट लगती है। इनमें सूजन भी आ जाती है।

ज्यादातर लोग इनसे छुटकारा पाना चाहते हैं। क्योंकि इनके कारण वे देखने में अच्छे नहीं लगते। खुशी की बात यह है कि इनसे छुटकारा पाया जा सकता है। वह भी बिना तकलीफ के और बिना ज्यादा पैसे खर्च किये।

इसके लिए हम कुछ प्राकृतिक तत्वों के गुणों का लाभ उठाते हैं। इनका उपयोग करके स्किन टैग के घरेलू इलाज किये जा सकते हैं। इनसे आसपास की त्वचा को नुकसान पहुंचाए बिना स्किन टैग के अतिरिक्त टिश्यू को नष्ट किया जाता है।

आइये ज़रा विस्तार से देखें!

1. स्किन टैग को हटाने के लिए सेब का सिरका

स्किन टैग के उपचार के लिए एप्पल साइडर विनेगर

एप्पल साइडर विनेगर यानी सेब के सिरका में एसिटिक एसिड होता है। यह स्किन टैग और मस्सों को हटाने के लिए उत्तम है।

इस उपचार से स्किन टैग को पूरी तरह से हटाने में कुछ हफ्ते लगते हैं।

सामग्री

  • 1 बड़ा चम्मच एप्पल साइडर विनेगर
  • 1 टूथपिक
  • 1 रुई का गोला
  • मेडिकल टेप

विधि

  • गुनगुना पानी और एक कम क्षारीय साबुन लें। इससे स्किन टैग के चारों ओर की त्वचा को धोएं।
  • धोने के बाद अच्छी तरह सुखाएं। एक टूथपिक से हलके से कुरेदें।
  • रुई के गोले को एप्पल साइडर विनेगर से गीला करें और प्रभावित जगह पर लगायें।
  • अगले दिन सुबह धोएं। रात को सोने से पहले फिर लगायें।
  • जब तक स्किन टैग निकल न जाये तब तक इसे दोहराते रहें।

2. कैस्टर ऑयल और ब्रूअर्स यीस्ट

रेंड़ी का तेल (कैस्टर ऑयल) और ब्रूअर यीस्ट को मिलाकर एक लेप बनाया जाता है। इस लेप से इन भद्दे उभारों से छुटकारा पाया जा सकता है।

सामग्री

  • 1 बड़ा चम्मच कैस्टर ऑयल
  • 1/2 छोटा चम्मच पिसी हुई यीस्ट
  • मेडिकल टेप

विधि

  • कैस्टर ऑयल और ब्रूअर्स यीस्ट को मिलाकर एक चिपचिपा लेप बनायें।
  • स्किन टैग पर लगायें और मेडिकल टेप से ढकें।
  • रात भर लेप को लगा हुआ छोड़ दें और सुबह उठकर धोएं।
  • उत्तम परिणाम के लिए इसका 2 – 4 हफ्तों तक उपयोग करें।

3. स्किन टैग से छुटकारा पाने के लिए अनन्नास का रस

स्किन टैग से छुटकारा पाने के लिए अनन्नास का रस

अनन्नास के रस में ब्रोमेलैन एंजाइम होता है। यह इन उभारों को हटाने के लिए बहुत उपयोगी है।

इसकी सूजनरोधी और वायरसरोधी क्रिया स्किन टैग को घटाती है, उनको शरीर के अन्य भागों में फैलने से रोकती है।

सामग्री

  • 1 अनन्नास का टुकड़ा
  • 3 बूंद नींबू का रस
  • 1 रुई का गोला

विधि

  • अनन्नास के टुकड़े को पीस लें। उसमें 3 बूंद नींबू का रस मिलाएं।
  • रुई के गोले को उसमें भिगोयें। इसे प्रभावित जगह पर लगायें।
  • यह प्रतिदिन 3 बार करें।

4. टी ट्री एसेंशियल ऑयल

यह स्किन टैग और छोटे मस्सों को हटाने के सबसे अच्छे उपचारों में से एक है।

इसमें एंटीबायोटिक और वायरसरोधी गुण होते हैं। ये रोग पैदा करने वाले कारकों को नष्ट करते हैं और लोगों को बीमार होने से बचाते हैं।

सामग्री

  • 3 बूंद टी ट्री एसेंशियल ऑयल
  • पानी
  • 1 रुई का गोला

विधि

  • रुई के गोले को पानी से गीला करें। उससे स्किन टैग के आसपास की जगह साफ करें।
  • प्रभावित जगह पर 2 या 3 बूंद टी ट्री एसेंशियल ऑयल लगायें।
  • उसे ऐसे ही रहने दें। प्रतिदिन दो बार लगायें जब तक स्किन टैग पूरी तरह न निकल जाये।

5. ऑरेगैनो ऑयल (अजवायन की पत्तियों का तेल)

स्किन टैग से छुटकारा पाने के लिए ऑरेगैनो ऑयल

इस तेल को त्वचा के संक्रमण, वायरस के दुष्प्रभाव और सूजन के उपचार के लिए इस्तेमाल किया जाता है।  

इसमें पाए जाने वाले यौगिक तंतु विषयक सूजन को हटाते हैं। ये उनको शरीर के अन्य अंगों में उत्पन्न होने से रोकते हैं।

सामग्री

  • 1/2 छोटा चम्मच ऑरेगैनो ऑयल
  • 1 रुई का गोला

विधि

  • रुई के गोले को ऑरेगैनो ऑयल में भिगोयें। फिर उसे प्रभावित जगह पर लगायें।
  • प्रतिदिन दो बार करें।

6. नींबू और प्याज का रस

प्याज में सल्फर कम्पाउंड होते हैं। इनमें एंटीबैक्टीरियल गुण होता है। इस गुण को स्किन टैग का उपचार करने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है।

सामग्री

  • 1 प्याज
  • 1 बड़ा चम्मच समुद्री नमक
  • 1 पट्टी

विधि

  • प्याज को बारीक काटें। उसमें समुद्री नमक मिलाएं।
  • अगले दिन प्याज का रस निकालें। उसे स्किन टैग का उपचार करने के लिए इस्तेमाल करें।
  • प्रभावित जगह पर लगायें और पट्टी से ढक दें। रात को इसे ऐसे ही छोड़ दें।
  • 10 – 12 दिन तक रोज रात को इसे दोहराएं।

यहाँ पर बताये गए तरीकों में से कोई भी एक तरीका अपनाएं और स्किन टैग से छुटकारा पायें। ध्यान रखें, परिणाम दिखाई देने में कुछ समय लग सकता है। अलग-अलग लोगों के लिए अलग-अलग उपचार उपयुक्त हो सकता है।

  • Guerra, C., Ramos, W., Obregón, L., Garragorry, E., Aliaga, F., Heracles, J., & Véliz, J. (2006). Enfermedades metabólicas asociadas a la presencia de acrocordones. Folia Dermatológica Peruana.

  • Ahsan, U., Jamil, A., & Rashid, S. (2014). Cutaneous manifestations in obesity. Journal of Pakistan Association of Dermatologists.

  • Saraiya, A., Al-Shoha, A., & Brodell, R. (2013). Hyperinsulinemia Associated with Acanthosis Nigricans, Finger Pebbles, Acrochordons, and the Sign of Leser-Trélat. Endocrine Practice. https://doi.org/10.4158/EP12192.RA