पैर पर लगे फंगस और घट्ठे को इस अद्भुत घरेलू ट्रीटमेंट से दूर करें

29 मई, 2018
पैर पर लगे फंगस के संक्रमण का इलाज करने के अलावा एस्पिरिन न सिर्फ सूजन से राहत दिलाने में कारगर है बल्कि दागों को कम करने में भी बहुत असरदार है।

पैर पर लगे फंगस और घट्ठे अच्छे-भले पैरों का रंग-रूप छीन लेते हैं। दरअसल आपके पैर भले ही हर दिन आपके शरीर को सपोर्ट करते हों, लेकिन ज्यादातर लोग तब तक उनकी अहमियत नहीं समझते जब तक उनमें तकलीफ न शुरू हो जाए।

जूतों से लगातार घर्षण और तमाम तरह के सूक्ष्म जीवों से संपर्क आपकी त्वचा को प्रभावित कर सकता है। यह धीरे-धीरे बिवाई यानी क्रैकिंग, घट्ठे और यहाँ तक कि संक्रमण का कारण बन सकता है।

हालांकि सभी के ऊपर इनका समान असर नहीं होता। देखभाल और सही ट्रीटमेंट के अभाव में बेहद असुविधाजनक लक्षण पैदा हो सकते हैं।पैर पर लगे फंगस और घट्ठे ऐसे ही लक्षण हैं।

सौभाग्य से, त्वचा को घट्ठे, फंगस और दूसरी तकलीफों से मुक्त रखने के लिए हमेशा महंगे उपचार पर पैसा खर्च करना जरूरी नहीं होता है।

वास्तव में, आप सस्ते और सहज-सुलभ सामग्री को मिलाकर अपने पैरों को नरम, मुलायम और स्वस्थ रखने के लिए उत्कृष्ट घरेलु उपचार कर सकती हैं। घरेलू उपचार का मतलब यह नहीं है कि इसे आप कम महत्व दें। जी नहीं, कई मामलों में यह आपके बाज़ार के ट्रीटमेंट से ज्यादा बेहतर होगा।

इस लेख में, हम सिर्फ दो सामग्रियों से अपने पैरों की देखभाल करने का एक दिलचस्प नुस्खा बताएँगे। ज़रा इन चीजों के बारे में जान तो लीजिये, शायद इनके गुणों को समझकर आप इन्हें आज़माना चाहें!

पैर पर लगे फंगस और घट्ठे का घरेलू उपचार

पैर पर लगे फंगस और घट्ठे

पैर पर लगे फंगस और घट्ठे के लिए घरेलू ट्रीटमेंट की बड़ी रेंज है, जो फंगस से निपटने, मृत कोशिकाओं को साफ़ करने और पैरों को गंदा और बदसूरत बनाने वाली दूसरी समस्याओं से निजात पाने की कई युक्तियाँ देती हैं।

इनमें हमें एक ऐसा ट्रीटमेंट मिला है जिसमें सिर्फ एस्पिरिन और नींबू के रस का उपयोग होता है। ये दोनों त्वचा के सबसे कठोर भागों को एक्सफोलिएट करने, उन्हें साफ-सुथरा, नरम और मुलायम बनाने की अपनी के लिए जाने जाते हैं।

एस्पिरिन एक दर्दनाशक एंटीकोगुलेटर यानी थक्कारोधी दवा है जिसका उपयोग अक्सर सिरदर्द, बुखार, और रक्त-संचार की समस्याओं से छुटकारा पाने के लिए किया जाता है। इसके बावजूद, आजकल त्वचा को स्वस्थ रखने और बेहतर दिखने के लिए भी इसका उपयोग  किया जाता है। त्वचा पर दिखाई देने वाले मुँहासे, दाग-धब्बे और अन्य दोषों से छुटकारा पाने के लिए भी आप इसका उपयोग कर सकती हैं।

इसके अतिरिक्त, यह आपके पैरों और नाखूनों पर फंगस के संक्रमण को रोकने में भी बहुत प्रभावी है। ऐसा इसलिए है क्योंकि यह फंगस की ग्रोथ को कम करता है और खुजली की जलन को घटाता है।

पैर पर लगे फंगस और घट्ठे का घरेलू ट्रीटमेंट

इसके अलावा, इसमें बीटा-हाइड्रॉक्सी एसिड की उच्च सांद्रता है। बीटा-हाइड्रॉक्सी एसिड फैट सोल्युबल विटामिन है जिसे आम तौर पर क्रीम और एक्सफोलिएटिंग लोशन बनाने में कॉस्मेटिक कंपनियां इस्तेमाल करती हैं।

यह सुखद होता है और सूजन रोधी भी। जद्दोजेहद से भरे दिन के बाद शरीर के इस हिस्से में तनाव और दर्द को कम करने में यह मदद करता है।

इसके इतने गुण भी आपमें इसके प्रति आकर्षण नहीं जगा रहे हैं। तो जानिये, यह सूरज की रोशनी और जहरीले पदार्थों के संपर्क से पांवों में बनने वाले काले धब्बों को हल्का करने में आपकी मदद कर सकता है।

पैर पर लगे फंगस और घट्ठे के लिए घरेलू ट्रीटमेंट की तैयारी कैसे करें

पैर पर लगे फंगस और घट्ठे: नींबू

अगर आप देखें कि आपके पैर पर घट्ठे, दरार, या किसी तरह की स्किन से जुड़ी खामियां हैं, तो कुछ समय के भीतर उनमें में सुधार लाने के लिए इस अद्भुत इलाज को आज़माने में कोई संकोच न करें।

इसके लिए जरूरी सामग्री हासिल करना बहुत आसान है। ये कठोर न होने के कारण सभी प्रकार की त्वचा के लिए उपयुक्त हैं।

वास्तव में, नियमित रूप से इसे लगाना फंगस और बैक्टीरिया के फैलाव को कम कर देता है। यह आपकी त्वचा में पीएच का संतुलन कायम रखता है और दुर्गन्ध को रोकता है।

सामग्री

  • 5 एस्पिरिन की गोलियाँ
  • 1 नींबू का रस
  • 1 प्यूमिक स्टोन

दिशानिर्देश 

  • एस्पिरिन को पाउडर के रूप में पीस लें।
  • पाउडर को एक कटोरे में रखें और एक नींबू का रस मिलाएं।
  • कुछ समय के लिए इन्हें मिलाते रहें जब तक एक गाढ़ा, चिकना पेस्ट न बन जाए।
  • यदि आप देखते हैं कि मिश्रण बहुत शुष्क है, तो बड़े चम्मच से नींबू या पानी मिला दें।

कैसे इस्तेमाल करे

  • पहले गंदगी साफ़ करने के लिए अपने पैरों को अच्छी तरह धोएं।
  • फिर घट्ठों र फंगस से प्रभावित क्षेत्रों में इस पेस्ट की पतली परत का लेप करें।
  • 20 से 30 मिनट के लिए इसे असर करने के लिए छोड़ दें और फिर गर्म पानी से धोएं।
  • मृत और कठोर त्वचा को हटाने के लिए एक प्यूमिक स्टोन से रगड़ें।
  • मृत कोशिकाओं को गर्म पानी से हटा दें और अपने पैरों को अच्छी तरह सूखने दें।
  • बेहतर नतीजे के लिए हफ़्ते में दो या तीन बार यह प्रक्रिया दोहराएं।

पैर पर लगे फंगस और घट्ठे दूर करके, दाग-धब्बों की सफाई से, क्या आप अपने पैरों को सुघड़, सुंदर और आकर्षक बनाने के लिए तैयार हैं? अपने ब्यूटी रूटीन में इस आसान ट्रीटमेंट को शामिल करें और इसके सभी लाभों का फायदा उठायें। इस ट्रीटमेंट के बाद एक अच्छे मॉइस्चराइज़र का इस्तेमाल करें, क्योंकि पैर अत्यधिक सूखेपन के शिकार हो सकते हैं।

  • Acido salicílico Dra. L. Cuellar, Dr. A. Sehtman, Dra. L. Donatti y col. Act Terap Dermatol 2008; 31: 108. Disponible en: http://www.atdermae.com/pdfs/atd_31_02_06.pdf
  • Dhanavade, Dr. Maruti & Jalkute, Dr. Chidambar & Ghosh, Jai & Sonawane, Kailas. (2011). Study Antimicrobial Activity of Lemon (Citrus lemon L.) Peel Extract. British J. of Pharmacology and Toxicology. 2. 119-122.