चमत्कारिक घरेलू एंटीवायरल: अदरक वाली चाय ऐसे बनायें

25 जून, 2019
अगर आप अदरक के एंटीवायरल गुणों का ज़्यादा फायदा उठाना चाहते हैं तो उसे अन्य औषधीय सामग्री के साथ मिलाकर किसी चाय की तरह उसका सेवन कर सकते हैं। ऐसा करने से आप उसका पूरा लाभ उठा पाएंगे।

प्रकृति में कई आम बीमारियों का इलाज छिपा है। अदरक भी उन्हीं में से एक है। इससे घरेलू एंटीवायरल बनाने के लिए अदरक वाली चाय आप कई तरह से बना सकते हैं।

अपने गुणों की बदौलत प्राचीन काल से ही अदरक का इस्तेमाल कई रोगों का इलाज करने वाली किसी प्राकृतिक औषधि के रूप में किया जा रहा है। कार्डियोवैस्कुलर परेशानियों और मांसपेशियों की समस्याओं के इलाज में, विशेषतः सर्दी, खांसी और ज़ुकाम के आम लक्षणों के ट्रीटमेंट में यह बहुत ही कारगर है।

इसकी खूबियों का पूरा फायदा उठाने के लिए आप अपने घर पर उससे एक असरदार एंटीवायरल चाय बना सकते हैं।

आपकी सेहत को अदरक से होते हैं ये फायदे

अदरक के सामान्य लाभ

अदरक सेहत के लिए काफ़ी फायदेमंद ट्यूबर है। इसके कुछ फायदे हम यहाँ बता रहे हैं:

  • मेटाबोलिज्म में सुधार: यह पौधा पोषक तत्वों को सोखने में हमारे शरीर की मदद करता है। खाने से कुछ मिनट पहले इसे खा लेने से आपकी भूख भी बढ़ जाती है।
  • चक्कर आने और जी मचलने का मुकाबला: अलग-अलग तरह की दवाइयों का सेवन करने के बजाय आपको अदरक की विशेषताओं का लाभ उठाना चाहिए। इस ट्यूबर के एक छोटे-से टुकड़े को चबाने से आपको चक्कर कम आएंगे। इसके कसैले स्वाद का प्रतिकार करने के लिए हम आपको इसे शहद के साथ खाने की सलाह देंगे।
  • जी मचलने पर भी अदरक खा सकते हैं: देखने में आता है कि गर्भावस्था के आम लक्षणों के इलाज के एक प्राकृतिक विकल्प के तौर पर गर्भवती महिलाओं को अक्सर अदरक खाने की सलाह दी जाती है। इसे सुबह-सुबह खा लेना हमारी सेहत के लिए सबसे ज़्यादा फायदेमंद रहता है
  • मांसपेशियों के दर्द से आराम: अपनी सूजनरोधी खूबियों की वजह से यह ट्यूबर वृद्धावस्था या काफ़ी ज़्यादा कसरत कर लेने की वजह से जोड़ों और मांसपेशियों में उठने वाले दर्द से भी आराम दिलाती है
  • कंजेशन से लड़ती है: अदरक वाली चाय का एक कप कंजेशन से आराम दिलाकर रात को अच्छी नींद लेने में मददगार होती है। कुछ लोगों का मानना है कि अदरक के आसव की महक को अंदर खींचने से हमारी बंद नाक खुल जाती है।
  • आपके दिल के लिए सहायक: ह्रदय रोगियों के इलाज के लिए भी अदरक का सेवन करने की सलाह दी जाती है। दिल की परेशानियों से जूझते कई लोग स्वस्थ रहने के लिए अदरक को अपने आहार का हिस्सा बना लेते हैं।

इसे भी आजमायें:  अनन्नास-अदरक स्मूदी से घटाएं अपना वजन

अदरक कमाल की एंटीवायरल नुस्खा क्यों है?

अदरक वाली चाय पीकर सर्दी-ज़ुकाम भगाएं

अदरक के पौधे का सबसे ज़्यादा इस्तेमाल किया जाना वाला हिस्सा उसकी जड़ होती है। उसमें मौजूद विटामिन C, कुरक्यूमिन, कई तरह के एमिनो एसिड, ऑक्जेलिक एसिड और फ्लैवोनोइड उसे एक शानदार एंटीवायरल नुस्खा बना देते हैं।

अपनी सूजनरोधी, एंटीवायरल, एंटीऑक्सीडेंट, एंटीबैक्टीरियल व बलगम हटाने वाली अपनी खूबियों की वजह से खांसी व सर्दी-ज़ुकाम के लिए यह बेहद कारगर उपाय होता है।

अदरक वाली एंटीवायरल चाय ऐसे बनाएं

ज़्यादा से ज़्यादा स्वास्थ्य-लाभ पाने के लिए अदरक का कई तरह से सेवन किया जा सकता है। खांसी-ज़ुकाम के लक्षणों के इलाज के लिए आप उसकी स्लाइस काटकर या फिर उसे कद्दूकस कर अपने भोजन में मिला सकते हैं।

लेकिन इसके सेवन के तमाम तरीकों में अदरक वाली चाय भी एक है।

अदरक वाली चाय

नीचे हमने अदरक वाली चाय बनाने के एक आसान तरीके के बारे में जानकारी दी है। इसमें बस कुछ ही एक्स्ट्रा चीज़ें डालकर आप एक मधुर स्वाद प्राप्त कर सकते हैं।

सामग्री

  • अदरक की जड़ की दो स्लाइस
  • दो कप पानी (500 मिलीलीटर)
  • शहद (स्वादानुसार)

बनाने की विधि

  • सबसे पहले तो अदरक को धोकर उसे मझौले आकार के मोटे-मोटे टुकड़ों में काट लें।
  • फिर पानी को किसी प्याले में उबालें।
  • उबलते पानी में अदरक की जड़ डालकर उसे लगभग 10 मिनट तक ऐसे ही छोड़ दें। जितनी देर तक आप उसे पानी में रखेंगे, आपकी चाय भी उतनी ही गाढ़ी होगी।
  • फिर उबलती चाय को बैठ जाने दें व उसमें चीनी डालें।
  • बेहतरीन नतीजों के लिए हम आपको दिन में 2-3 बार इसे पीने का सुझाव देंगे।

इसे भी आजमायें:  वजन घटाने वाला अदरक का पानी कैसे बनाएं?

दालचीनी-युक्त अदरक वाली चाय

दालचीनी और अदरक वाली चाय

दालचीनी शरीर के तापमान को नियंत्रित करने वाली एक शानदार सूजनरोधी व एंटीबैक्टीरियल एजेंट होती है। सर्दी-ज़ुकाम का मुकाबला करने के लिए आप अदरक के साथ मिलाकर इसका सेवन कर सकते हैं।

सामग्री

  • अदरक की एक स्लाइस
  • दालचीनी की एक डंठल
  • आधे नींबू का रस
  • एक कप पानी (250 मिलीलीटर)
  • शहद (स्वादानुसार)

बनाने की विधि

  • अदरक को अच्छी तरह से धोकर उसे उबलते पानी में डाल दें।
  • फिर उसमें दालचीनी डालकर उसे करीब 10 मिनट तक उबलने दें
  • मिश्रण को गैस से हटाकर उसे एक गिलास में डाल लें। उसमें नींबू का रस डालें व मिठास के लिए थोड़ी शहद भी डाल दें।
  • अच्छे से मिलाकर पीने से पहले उसे पूरी तरह से बैठ जाने व ठंडा हो जाने दें। हमारा सुझाव है कि आप रोज़ाना एक या दो गिलास पिएं

चाय में कितनी मिठास होनी चाहिए, यह तो आपके स्वाद पर ही निर्भर करता है, लेकिन उसमें शहद डालने से उसकी एंटीवायरल खूबियों में वृद्धि हो जाती है। क्योंकि शहद का एंटीबायोटिक एक्शन बैक्टीरिया-वायरस से छुटकारा दिलाने में मददगार होता है।

शहद की बलगम-रोधी विशेषताएं दमे और श्वास की अन्य बीमारियों के इलाज में मदद करती हैं।

आप देख सकते हैं, अदरक में बेहद असरदार एंटीवायरल खूबियाँ होती हैं। इसका सेवन करने से आप रासायनिक दवाओं के आम दुष्प्रभावों से भी बचे रह सकते हैं