वज़न घटाने का सबसे असरदार तरीका: अपना मेटाबोलिज्म तेज़ करें

10 अगस्त, 2018
सोडा और अन्य फेनिल ड्रिंक की जगह ठंडा पानी पीना मेटाबोलिज्म को तेज़ करने का बहुत असरदार माध्यम है। इसकी वजह यह है कि ठंडा पानी पीने के बाद शारीरिक तापमान को सामान्य स्तर पर लाने के लिए शरीर ज़्यादा एनर्जी खर्च करेगा।
 

बात जब वज़न घटाने के बेहतरीन विकल्पों की आती है तो हर किसी की राय अलग-अलग होती है। कुछ लोगों को लगता है, खाना न खाना या कठोर डाइट प्लान पर रहना ही सर्वश्रेष्ठ होता है। कुछ अन्य लोग अपने न्यूट्रिशनिस्ट के बताए आहार का सेवन करते हैं। इस पोस्ट में, हम आपको इन विकल्पों के अलावा आपके मेटाबोलिज्म को तेज़ कर देने वाले एक दिलचस्प और आसान विकल्प के बारे में बताएँगे।

यह बहुत ही अच्छा विकल्प है। क्योंकि कोई भी जोखिम उठाये बगैर या अपने शरीर को भूखे मारे बिना ही यह उसे अपने ऊपर काबू रखना सिखा देता है। है न रोचक? क्या आप इसे आज़माना चाहेंगे? अगर आपका जवाब हाँ है तो अपने मेटाबोलिज्म को तेज़ कर देने वाले इन विकल्पों को आज़माकर कम प्रयास में ही जबरदस्त तंदरुस्ती पा सकते हैं।

मेटाबोलिज्म क्या है?

इससे पहले कि हम आपको बताएं कि आप अपने मेटाबोलिज्म को कैसे तेज़ कर सकते हैं, यह जानना ज़रूरी है कि वह आखिर होता क्या है। हमारे शरीर की सक्रिय अवस्था में उसके अंदर होने वाली सभी रासायनिक क्रिया-प्रतिक्रियाओं को ही इकट्ठे तौर पर मेटाबोलिज्म कहा जाता है।

इन प्रतिक्रिओं की गति ही यह निर्धारित करती है कि आप कितनी कैलोरी जलाएंगे। मेटाबोलिज्म के तेज़ होने पर ज़्यादा ऊर्जा खर्च होती है। इसलिए आपके शरीर में वसा कम जमा होगी व आपका वज़न ज़्यादा तेज़ी से घटेगा।

पर्याप्त प्रोटीन का सेवन करें

पर्याप्त प्रोटीन के सेवन से एक तेज़ मेटाबोलिज्म पाएं

अपने मेटाबोलिज्म को चुस्त बनाने का सबसे आसान तरीका है, अपने शरीर को ऐसा पोषक आहार देना, जिसे तोड़ने में उसे मेहनत करनी पड़े। ऐसे में, थर्मल इफ़ेक्ट वाले खाद्य पदार्थ सबसे अच्छे विकल्प होते हैं, जैसे कि प्रोटीन।

प्रोटीन में वसा की न्यूनतम मात्रा होती है। शरीर में सोखे जाने के लिए ये खाद्य अपने पाचन के लिए शरीर से कड़ी मेहनत की मांग करते हैं। इसीलिए आपको ज़्यादा समय तक भूख नहीं लगती और आपका शरीर ज्यदा मेहनत करता है

 

अच्छी क्वालिटी वाले प्रोटीन का सेवन कर आप ऐसा कर सकते हैं। अगर संभव हो तो प्रीज़र्वेटिव-मुक्त कम चरबी वाले मांस-मछली और ऑर्गेनिक दानों का सेवन करें। यह साबित किया जा चुका है कि 30% ज़्यादा प्रोटीन का सेवन कर आप अपने भोजन में 441 कैलोरीज कम कर सकते हैं।

इसे भी आज़माएँ: 8 खाद्य पदार्थ जो 30 दिन में लीवर को देंगे नया जीवन, घटाएंगे वज़न

ठंडा पानी पियें

आप अपनी प्यास कैसे बुझाते हैं? बदकिस्मती से, ज़्यादातर लोग कोल्ड ड्रिंक और केमिकल युक्त दूसरे मीठे पेय पीते हैं। अगर आप भी उन्हीं लोगों में से एक हैं तो आपको यह समझ लेना चाहिए कि वज़न कम करने की अपनी कोशिशों पर पानी फेरकर आप अपने मेटाबोलिज्म को धीमा कर रहे हैं।

ठंडा पानी पीने से आपका मेटाबोलिज्म तेज़ हो जाता है

रसायन या चीनी वाले सभी प्रकार के ड्रिंक में शरीर को प्रभावित करने वाली कैलोरी की बड़ी मात्रा होती है। अपने मेटाबोलिज्म को तेज़ बनाने के लिए आपको अपने सामान्य पेय पदार्थों की जगह एक गिलास ठंडा पानी पीना चाहिए।

इससे आपका मेटाबोलिज्म एकदम से तेज़ हो जाएगा क्योंकि आपके शरीर को अपने तापमान को पुनः स्थिर करने के लिए ज़्यादा ऊर्जा की ज़रूरत होगी। लेकिन यह असर स्थायी नहीं होता। एक बार आपका शरीर अपना तापमान वापस प्राप्त कर ले तो आपका मेटाबोलिज्म भी सामान्य हो जाता है।

इसीलिए यह ज़रूरी है कि आप सारा दिन ठंडा पानी पीते रहें। सर्दी-गर्मी की चिंता न करें। आपका शरीर जल्द ही इसका आदी हो जाएगा व आप सर्दी या किसी और बीमारी की चपेट में नहीं आएंगे।

इसे भी आज़माएँ:  अदरक और हल्दी वाली स्वादिष्ट चाय पीकर अपना वज़न घटाएं

हाई-इंटेंसिटी एक्सरसाइज़ करें

हाई-इंटेंसिटी एक्सरसाइज़ कर अपने मेटाबोलिज्म को तेज़ बनाएं
 

यह बात आपको पहले से ही पता है कि स्वस्थ रहने के लिए आपको रोज़ाना कसरत करनी चाहिए। लेकिन आपको इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि सभी शारीरिक व्यायाम आपके मेटाबोलिज्म को तेज़ नहीं बनाते। ऐसे में, आपके लिए सर्वश्रेष्ठ कसरत हाई-इंटेंसिटी इंटरवल्स वाली एक्सरसाइज़ ही होती है।

ये एक्सरसाइज आपके शरीर के फैट को जलाने की क्षमता को तेज़ करके कसरत के बाद भी आपके मेटाबोलिज्म को चुस्त बनाए रखती हैं। लेकिन अपनी अस्वस्थ शारीरिक अवस्था की वजह से कुछ लोगों के लिए यह कसरत मुश्किल हो सकती है।

तो आप अपने आपको एक चुनौती देकर क्यों नहीं देखते? अगर आप इसे रोज़ाना नहीं कर सकते तो हफ्ते में कम से कम दो बार तो करें। बाकी दिन हल्की-फुल्की कसरतों से अपना काम चला सकते हैं। इससे भी बेहतर विकल्प है, हर रोज़ 30 मिनट की अपनी कसरत में 5 मिनट की हाई-इंटेंसिटी एक्सरसाइज़ को शामिल कर लेना। जल्द ही आप यह महसूस करेंगे, आपका स्टैमिना धीरे-धीरे बढ़ रहा है।

हमेशा बैठे रहने से बचें

दिन में आप कितने घंटे बैठे रहते हैं? सच तो यह है कि ज़्यादातर लोग कई घंटों तक बैठे रहते हैं। बैठना भले ही बहुत आरामदायक क्यों न हो, लेकिन आपकी सेहत को निरंतर गतिविधि की ज़रूरत होती है

अगर आपको बहुत सारा काम होता है तो कम से कम कुछ घंटों तक खड़े रहकर उसे करने की कोशिश करें। शुरू में यह थोड़ा अजीब भले ही लगे, लेकिन बात जब आपके मेटाबोलिज्म को तेज़ करने की हो तो यह कोई बुरा ख्याल भी नहीं है। एक और विकल्प है हर आधे घंटे बाद खड़े होकर 2-5 मिनट के लिए थोड़ी स्ट्रेचिंग करना।

 
  • Ting R., Dugré N., Allan GM., Lindblad AJ., Ketogenic diet for weight loss. Can Fam Physician, 2018.
  • Au Yeung F., Jovanovski E., Jenkins AL., Zurbau A., et al., The effects of gelled konjac glucomannan fibre on appetite and energy intake in healthy individuals: a randomised cross over trial. Br J Nutr, 2018. 119: 109-116.
  • Wewege M., Den Berg R., Ward RE., Keech A., The effects of high intensity interval training vs moderate intensity continuous training on body compositioin in overweight and obese adutls: a systematic review and meta analysis. Obes Rev, 2017. 18 (6): 635-646.