8 खाद्य पदार्थ जो 30 दिन में लीवर को देंगे नया जीवन, घटाएंगे वज़न

सही तरीके से वज़न कम करने के लिए यह आवश्यक है कि हम अपने लीवर की अच्छी देखभाल करें और नियमित अंतराल पर उसकी सफाई यानी डिटोक्सिफाई करते रहें, क्योंकि यही हमारे पाचनतंत्र को नियंत्रित करता है और हमारे शरीर से अतिरिक्त फैट को हटाने का कार्य करता है।
8 खाद्य पदार्थ जो 30 दिन में लीवर को देंगे नया जीवन, घटाएंगे वज़न

आखिरी अपडेट: 12 जून, 2018

यह सुनने में अजीब लग सकता है, लेकिन लीवर ही हमारे शरीर का वह अंग है जो वज़न कम करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है

आपका अमाशय फैट को पचाने में मदद करता है लेकिन इसके सही तरह से कार्य करने के लिए लीवर और पित्ताशय यानी गॉल ब्लैडर के मदद की ज़रूरत होती है।

यदि आपका लीवर सही ढंग से कार्य नहीं कर रहा है तो आपके शरीर में फैट ठीक तरह से नहीं पचेगा और न ही सही ढंग से निष्पादित होगा, जो वज़न कम करने के लिए अतिआवश्यक है। स्थिति और भी दुष्कर हो सकती है क्योंकि यह आपके मेटाबोलिज्म को प्रभावित कर उसे धीमा कर देगा जिसके कारण आपके शरीर में विषाक्त पदार्थों की मात्रा बढ़ सकती है।

अतः एक स्वस्थ लीवर स्वस्थ जीवन और सही जीवनशैली का पर्याय है।

शरीर के सबसे बड़े अंग की सही तरह से देखभाल करने के लिए आवश्यक है कि आप स्वस्थ भोजन करें और अपनी दैनिक आदतों का ध्यान रखें।

आज हम आपको एक छोटे से डाइट प्लान के बारे में बताएँगे। हम आपको सुझाव देंगे कि इन 8 खाद्य पदार्थों को अपने दैनिक आहार में शामिल करें ताकि आप धीरे-धीरे अपने लीवर को पुनर्जीवन दे सकें।

यदि आप कम फैट वाला आहार लेते हैं, नियमित रूप से कसरत करते हैं और धूम्रपान जैसे नशों से दूर रहते हैं तो अपेक्षित परिणाम 30 दिनों के भीतर ही पा सकते हैं।

1. स्वस्थ लीवर के लिए नाश्ते से पहले लहसुन की एक कली खाएं

खाली पेट लहसुन की एक कली खाना प्राकृतिक इलाजों का सबसे ज्यादा प्रचलित नुस्खा है।

हालाँकि हम सब यह जानते हैं कि यह कितना मुश्किल है। एक तो इसका स्वाद बिलकुल भी अच्छा नहीं है और दूसरा, इसको खाने से अक्सर मुंह से बदबू आती रहती है।

मुंह की बदबू से बचने के लिए हम आपको सलाह देंगे कि इसे खाने के बाद पुदीने की कुछ ताज़ी पत्तियां चबा लें।

इस मामूली असुविधा के बावजूद यदि आप चाहते हैं कि आपका लीवर सही ढंग से काम करता रहे तो नियमित रूप से हर सुबह खाली पेट लहसुन की एक कली खाएं।

इसका फायदेमंद पहलू यह है कि लहसुन में ऑलिसिन और सेलेनियम नाम के तत्व होते हैं जो लीवर को साफ़ करने में मदद करते हैं।

2. हर रोज एक ऑर्गेनिक ग्रेप फ्रूट

ग्रेपफ्रूट लीवर के लिए बहुत ही बेहतरीन फल है। इसमें विटामिन C और एंटी-ऑक्सीडेंट की प्रचुर मात्रा होती है जो लीवर को प्राकृतिक रूप से ठीक करने के लिए सहायक होते हैं।

अपने नाश्ते में हमेशा ताज़ा निचोड़े हुए ग्रेप फ्रूट का जूस लें। इसके लिए आपका पाचनतंत्र और इम्यून सिस्टम आपके आभारी रहेंगे।

3. कॉफ़ी या ग्रीन टी

स्वस्थ लीवर और वज़न काम के लिए ग्रीन टी

अपने नाश्ते में आप ये दो चीज़ें शामिल कर सकते हैं। हालांकि इनमें मिलाई जाने वाली शुगर का हमेशा ध्यान रखें (बेहतर होगा कि रिफाइंड शुगर की जगह शहद या स्टेविया का प्रयोग करें)।

चाय और कॉफ़ी दोनों में ही एंटी-ऑक्सीडेंट, जैसे कटेचिन और पोलीफेनोल्स की भरपूर मात्रा होती है। ये आपके यकृत का ध्यान रखने के लिए काफी अच्छे तत्व हैं।

यह ध्यान में रखें कि आपको ये दोनों वस्तुएं सीमित मात्रा में ही लेनी है, क्योंकि संयम ही सुख की कूंजी है।

4. एवोकेडो को हाँ कहिये

एवोकेडो एक ऐसा फल है जिसकी हम यहाँ सबसे ज़्यादा सिफारिश करेंगे।

एवोकेडो ओमेगा-3 से परिपूर्ण है जो आपके ह्रदय के लिए बेहद अच्छा है। इसके अलावा यह आपके लीवर को ग्लुटाथिओन बनाने में प्रोत्साहित करता है जो फैट और जहरीले पदार्थों को शरीर से दूर रखने में मदद करता है।

5. वज़न कम करने में कुटू बेजोड़ है

स्वस्थ लीवर और वज़न कम करने के लिए कुटू लाभकारी

आपको कुटू किसी भी नेचुरल फ़ूड प्रोडक्ट की दुकान पर आसानी से मिल जायेगा। इससे आप ब्रेड, मिठाई आदि भी बना सकते हैं। उत्तर भारत के पारम्परिक खाने में कुटू की पकौड़ियाँ भी खाई जाती हैं।

कुटू में मौजूद इनोसिटोल आपके मेटाबोलिज्म को तेजी देता है, और यह पदार्थ यकृत को हॉर्मोन बनाने के लिए प्रोत्साहित करता है।

यह दवाइयों और ग्लूकोस से पैदा हुए विषाक्त कणों को हटाने में भी सहायक होता है।

इन सबके अतिरिक्त यह सबसे पोषक अनाजों में से एक है और प्रोटीन और बुनियादी एमिनो एसिड से परिपूर्ण है जो आपको पर्याप्त ऊर्जा प्रदान करते हैं।

6. चुकंदर

चुकंदर हम सभी का प्रिय है। इसका स्वाद तो अच्छा होता ही है यह वज़न कम करने में भी आपकी सहायता कर सकता है।

  • चुकंदर को हमेशा अपने आहार में रखना चाहिए। यह न केवल आपके लीवर के लिए अच्छा है बल्कि यह आपकी पाचक ग्रंथि के लिए भी लाभदायक हैं।
  • चुकंदर में मौजूद एंजाइम फैट को पचाने के मामले में रक्षण, पुनर्जीवन और संरक्षण में अहम भूमिका निभाते हैं।

हर हफ्ते कुछ चुकंदर ज़रूर खाएं।

7. लीवर के लिए गोल्डन स्पाइस हल्दी

हल्दी यकृत के लिए विशेष रूप से फायदेमंद है है।

यदि आप इसे नियमित रूप से चावल और हल्के मांस के साथ खाते हैं, या शहद के साथ लेते हैं, तो यह आपके यकृत के लिए जहरीले तत्वों को हटाने वाला बेहतरीन माध्यम बन सकती है।

हल्दी प्रभावी रूप से सूजन घटाती है। इसे “गोल्डन स्पाइस” के नाम से भी जाना जाता है जो इसके सुनहरे रंग के कारण दिया गया है। यह नाम इसके कई गुणों और इसमें मौजूद एंटी-ऑक्सीडेंट की प्रचुर मात्रा को भी सही तरह से परिभाषित करता है।

8. स्वस्थ लीवर के लिए चुकंदर और मुनक्के का मिश्रण

लीवर के लिए चुकंदर

यह पेय आपके लीवर के लिए काफी लाभदायक है और वज़न कम करने में सहायता करता है। इसके अतिरिक्त यह विटामिन, मिनरल और एंटी-ऑक्सीडेंट का भी अच्छा स्रोत है।

आइये देखते हैं कि इसे कैसे बनाया जाए।

सामग्री

  • 2 1/2 कप पानी (625 मिली लीटर)
  • 2 1/2 कप चुकंदर (300 ग्राम)
  • 2 1/2 कप मुनक्का (65 ग्राम)
  • 2 नींबू

बर्तन

  • कप
  • मर्तबान
  • जूसर
  • सॉस पैन
  • ब्लेंडर

निर्देश

  • पहले पानी को उबाल लें।
  • चुकंदर को छोटे टुकड़ों में काट लें।
  • पानी में उबाल आने पर उसे आंच पर से हटा लें।
  • मुनक्के और चुकंदर को पानी में डालकर मर्तबान को ढँक दें, और लगभग 45 मिनट तक इसे ऐसे ही ठंडा होने दें।
  • फिर इस मिश्रण को ब्लेंडर में डाल कर पीस लें। मिश्रण को मुलायम और क्रीमी होने तक पीसें।
  • इसमें नींबू का रस डालकर मिलाएं।

तैयार होने पर इसे पांच दिन तक रोज सुबह के समय लें।



  • Clifford T, Howatson G, et al. The potential benefits of red beetroot supplementation in health and disease. Nutrients. Abril 2015. 7 (4): 2801-22.
  • Di Pierro F, Bressan A, et al. Potential role of bioavailable curcumin in weight loss and mental adipose tissue decrease: preliminary data of a randomized controlled trial in overweight people with metabolic syndrome. Preliminary Study. European Review for Medical and Pharmacological Sciences. 2015. 19: 4195-4202.
  • Gupta V, Mah X-J, et al. Oily fish, coffee and walnuts: dietary treatment for nonalcoholic fatty liver disease. World Journal of Gastroenterology. Octubre 2015. 21 (37): 10621-10635.
  • Imai, K., & Nakachi, K. (1995). Cross sectional study of effects of drinking green tea on cardiovascular and liver diseases. BMJ. https://doi.org/10.1136/bmj.310.6981.693
  • Madrigal-Santillán, E., Madrigal-Bujaidar, E., Álvarez-González, I., Sumaya-Martínez, M. T., Gutiérrez-Salinas, J., Bautista, M., … Morales-González, J. A. (2014). Review of natural products with hepatoprotective effects. World Journal of Gastroenterology. https://doi.org/10.3748/wjg.v20.i40.14787
  • Mayo Clinic. Enfermedad hepática. Abril 2022.
  • Morisco F, Lembo V, et al. Coffe and liver health. Journal of Clinical Gastroenterology. Noviembre-Diciembre 2014. 48 (Suppl 1): S87-90.
  • National Institute of Diabetes and Digestive and Kidney Disease. Eating, diet and nutrition for NAFLD & NASH. U. S. Department of Health and Human Services. Abril 2021.
  • Panahi Y, Kianpour P, et al. Efficacy of artichoke leaf extract in non-alcoholic fatty liver disease: a pilot double-blind randomized controlled trial. Phytotherapy Research. Julio 2018. 32 (7): 1382-1387.
  • Wadhawan, M., & Anand, A. C. (2016). Coffee and Liver Disease. Journal of Clinical and Experimental Hepatology. https://doi.org/10.1016/j.jceh.2016.02.003.
  • Wang Y-P, Cheng M-L, et al. Effects of blueberry on hepatic fibrosis and transcription factor Nrf2 in rats. World Journal of Gastroenterology. Junio 2010. 16 (21): 2657-63.
  • Zou L, Zhang R, et al. Garlic and liver diseases. The liver. Oxidative stress and dietary antioxidants. 2018. 337-347.