रीफ्लक्स से राहत पाने के लिए घर का बने चार एन्टैसिड

22 मार्च, 2019
एक अच्छा आहार हमेशा यह सुनिश्चित करने का सबसे अच्छा तरीका होता है कि आपका शरीर सही ढंग से काम करे। हालांकि, कुछ घरेलू नुस्खे भी हैं जिनका इस्तेमाल आप रीफ्लक्स (reflux) की रोकथाम करने के लिए कर सकते हैं।

रीफ्लक्स एक बहुत ज्यादा परेशान करने वाली स्थिति हो सकती है। यह भोजन नली में आख़िरी मांसपेशियों के ठीक से काम नहीं करने के कारण होती है।

भोजन नली (oesophagus) वह नली है जो मुंह को पेट से जोड़ती है। भोजन इसी नली से होते हुए गुजरता है और पेट में मौजूद एसिड तक पहुँचता है, जहां इसका पाचन होता है और पोषक तत्वों को शरीर के बाकी हिस्सों के लिए भेजा जाता है।

यही अम्ल (acids) कभी-कभी भोजन-नली में वापस ऊपर की ओर प्रवाहित हो सकते हैं क्योंकि भोजन नली पेट की तरफ से ठीक से बंद नहीं रहती है। यह दर्द और जलन का कारण हो सकता है।

इस आर्टिकल में, हम आपको इस स्थिति के बारे में विस्तार से बतायेंगे और साथ ही कुछ घरेलू नुस्खे भी बतायेंगे जिनसे आप इसका इलाज कर सकते हैं।

एसिड रीफ्लक्स के लक्षण (Symptoms of Acid Reflux)

इस स्थिति के कुछ बहुत सामान्य और जाने-माने लक्षण हैं। उन पर ठीक से ध्यान दें ताकि आप समय रहते उनका इलाज कर सकें:

  • सीने में जलन (Heartburn)
  • उल्टी
  • अनिद्रा
  • भूख की कमी
  • सीने में दर्द
  • घरघराहट (Wheezing)
  • बोलने में कठिनाई
  • गले का दर्द
  • सांस लेने मे कठिनाई

रीफ्लक्स के कारण (The Causes of Reflux)

भोजन नली में अंतिम पेशी के ठीक से काम न करने के साथ साथ, कुछ खाद्य पदार्थों को भी इस स्थिति से जोड़ कर देखा जा सकता है।

इस मामले में:

  • मसालेदार भोजन (Spicy foods): ये सीने में जलन (हार्ट्बर्न) और रिफ्लक्स को बढ़ाते हैं। अगर आप सावधानी नहीं रखते हैं और समस्या को बने रहने देते हैं, तो आप क्रोनिक गैस्ट्राइटिस की समस्या से पीड़ित हो सकते हैं।
  • कॉफी: समस्या इसमें मौजूद कैफीन है। यह रीफ्लक्स को पैदा करता है और पेट में एसिड के उत्पादन को बढ़ाता है।
  • नशीले पेय (Alcoholic drinks): ये भोजन की नली में इन्फीरियर और सुपीरियर स्फिंक्टर कमजोर करते हैं, जो पेट के एसिड को बढ़ने देता है और नतीजा रिफ्लक्स (reflux) के रूप में सामने आता है।
  • चॉकलेट: क्योंकि इसमें फैट, कैफीन और थियोब्रोमाइन होता है, यह पेट में एसिड (stomach acids) के उत्पादन को बढ़ाता है।
  • वसायुक्त खाद्य पदार्थ (Fatty foods): ये गैस्ट्रिक म्यूकोस में जलन पैदा करते हैं और इन्फिरीअर एसोफेजियल स्फिंक्टर को प्रभावित करते हैं। ये सभी चीजें बहुत ज्यादा हार्ट्बर्न का कारण बनती हैं।
  • एसिडिक फूड्स: ये पेट में pH के लेवल को कम करते हैं, जो एसिड रिफ्लक्स और हार्ट्बर्न का कारण बनता है।

इलाज की जा सकने वाली किसी भी ऐसी बीमारी में एक अच्छी डाइट हमेशा फ़ायदेमंद साबित होगी। फल, सब्ज़ियाँ, फलियां, अनाज और फाइबर से भरपूर एक स्वस्थ डाइट हमेशा स्वस्थ शरीर के लिए सबसे अच्छा विकल्प रहेगी।

इसे भी पढ़ें : घर पर हार्टबर्न शांत करने के लिए 6 प्राकृतिक नुस्खे

रीफ्लक्स से मुकाबला करने के लिए चार नेचुरल ऐन्टैसिड

नीचे, हम एसिडिक रीफ्लक्स को हमेशा के लिये अलविदा कहने के लिए ऐन्टैसिड के सबसे अच्छे और सरल नुस्खे बतायेंगे!

1. आलू का जूस (Potato Juice)

आलू का जूस

कच्चे आलू का रस एक शानदार ऐल्कलाइन होता है। इसका स्वाद और बनावट आपको चौंका सकते हैं, लेकिन आप तेजी से इसके फ़ायदों को देख सकेंगे।

ज़रूरी चीजें:

  • 3 बड़े चम्मच बारीक़ कटा (grated) आलू (45 ग्राम)
  • 1 कप पानी (250 मिली)

बनाने का तरीका:

  • बारीक़ कटे हुए आलू को एक कप पानी के साथ उबालें और इसे 10 मिनट के लिए ठंडा होने के लिए छोड़ दें।
  • इस मिश्रण को ब्लेंडर में डालें और ब्लेंड करें जब तक कि आपको एक मुलायम (smooth) घोल न मिल जाए।
  • हमारी सलाह है कि आप इसे हर बार रिफ्लक्स होने पर पिएं।

2. नींबू का रस (Lemon Juice)

एसिडिक फल होने के बावजूद, जब नींबू पेट में पहुँचता है, तो यह फ़ालतू एसिड को बेअसर कर देता है।

ज़रूरी चीजें:

बनाने का तरीका:

  • पानी को उबालें और आंच से हटा दें।
  • उसमें नींबू का रस मिलायें।
  • जब तक गर्म है इसे पी लें।

इसे भी पढ़ें : 9 चेतावनी देने वाले संकेत, आपके लीवर में जमे टॉक्सिन की

3. सेब का सिरका (Apple Cider Vinegar)

सेब का सिरका

सेब का सिरका गैस्ट्रिक रीफ्लक्स के कारण होने वाली जलन, दबाव और हार्ट्बर्न को कम करने के लिए सबसे ज्यादा इस्तेमाल होने वाला नेचुरल ऐन्टैसिड है।

ज़रूरी चीजें:

बनाने का तरीका:

  • पानी से बनने वाली (water-based) किसी भी रेसिपी को तैयार करते समय, हमेशा पानी को शुद्ध करने के लिए उसे उबाल लेना सबसे अच्छा रहता है
  • पानी को उबालने और ठंडा करने के बाद, सेब का सिरका मिलायें।
  • इसे अच्छी तरह से मिलाएं और अपने अगले भोजन से 30 मिनट पहले इसे पी लें।

4. केले का जूस (Banana Juice)

केले म्यूकोस के स्राव को बढ़ाते हैं, जो पेट की झिल्ली (lining) को गैस्ट्रिक एसिड से बचाता है। इसके अलावा, इस फल में बहुत अधिक पोटेशियम होता है। यह ऐल्कलाइन मिनरल पेट के pH लेवल को बनाये रखने में मदद करता है।

ज़रूरी चीजें:

  • 4 कप पानी (1 लीटर)
  • 4 केले

बनाने का तरीका:

  • केले का छिलका निकालें और दोनों चीजों को एक ब्लेंडर में डालें। तब तक ब्लेंड करें जब तक आपको एक मुलायम घोल (smooth mixture) न मिल जाए।
  • हमारी सलाह है कि आप इसे पूरे दिन भर पियें।