घरेलू उपायों से हार्ट बर्न और गैसट्राईटिस का मुकाबला करें

अक्टूबर 4, 2018
बिना किसी संभावित साइड इफेक्ट के आप हार्ट बर्न और गैसट्राईटिस को कम करने के लिए इन नेचुरल नुस्खों को आजमा सकते हैं। अपने मुख्य भोजन के बाद इन्हें जरूर आजमायें।

हार्ट बर्न और गैसट्राईटिस पर चर्चा से पहले बता दें कि आपका पेट पाचन क्रियाओं में अहम भूमिका निभाता है। आप जो कुछ भी खाते हैं उसकी जिम्मेदारी इसी पर होती है ताकि बाद में आपकी आंतें इससे पोषक तत्वों को अवशोषित कर सकें और बची-खुची नुकसानदेह चीजों को बाहर निकाल सकें।

यह उन अंगों में से एक है जो शरीर के समग्र स्वास्थ्य को बनाये रखने में सबसे ज्यादा मेहनत करते हैं। यह अक्सर विभिन्न प्रकार की गड़बड़ियों और बीमारियों का शिकार होता है।

इनमें हार्ट बर्न और गैसट्राईटिस की समस्याएं आम हैं। इनकी वजह से पेट के ऊपरी हिस्से में जलन होती है। आम तौर पर इसके साथ सूजन और दर्द होता है।

इन दोनों को ट्रिगर करने वाले कारण बहुत से हैं। इनमें जो सबसे आम हैं, वे स्ट्रेस, ख़ास किस्म के खाद्यों, या जलन पैदा करने वाले खाद्य पदार्थों का उपभोग करने से जुड़े हुए हैं।

कई किस्म के घरेलू ट्रीटमेंट उपलब्ध हैं जो दवाओं के विपरीत किसी भी साइड इफ़ेक्ट के बिना बहुत कम समय में आपके लक्षणों को शांत कर सकते हैं।

हार्ट बर्न और गैसट्राईटिस का मुकाबला करने के तरीके के बारे में जानने के लिए तैयार हैं? पढ़ते रहिये!

हार्ट बर्न और गैसट्राईटिस के लिए सेब का सिरका

हार्ट बर्न और गैसट्राईटिस का मुकाबला करें: सेब का सिरका

ऑर्गनिक सेब का सिरका एक एल्केलाइन नुस्खा है जो जल्दी हार्ट बर्न और गैसट्राईटिस से मुक्त होने और अल्सर को ठीक करने के लिए आपके पेट में एसिड के स्राव को संतुलित करता है।

एसिडिक कम्पाउंड आपके पेट के पीएच को नियंत्रित करते हैं और उस असुविधाजनक रिफ्लक्स को कम करते हैं जो खाने के बाद हो सकता है।

सामग्री

  • 1 बड़ा चम्मच सेब का सिरका (10 मिलीलीटर)
  • 1 कप पानी (200 मिलीलीटर)

आपको क्या करना चाहिये?

  • सेब के सिरके को पानी में डालकर पतला करें और इसे हार्ट बर्न या गैसट्राईटिस के पहले संकेत पाते ही पियें।
  • कोशिश करके इसे दिन में तीन से ज्यादा बार न लें।

इसे भी पढ़ें: क्रोन्स रोग के इलाज के सिलसिले में आपको क्या मालूम होना चाहिए

शहद के साथ ऑर्गनिक एलो वेरा (aloe vera)

एलो वेरा एक नेचुरल एंटासिड है जो अपनी ख़ास संरचना के कारण पेट की गड़बड़ी को शांत कर सकता है। यह दस्त और गैस्ट्रोइंटेस्टिनल बीमारी के अन्य लक्षण, जैसे अल्सरेटिव कोलाइटिस और गैसट्राईटिस का मुकाबला कर सकता है।

इसकी पत्तियों के अंदर मौजूद पारदर्शी जेल स्वस्थ बॉवेल मूवमेंट को बढ़ावा देने में मदद करता है और पाचन प्रक्रिया को सहारा देता है।

पेट की जलन और हार्ट बर्न को कम करने के लिए आप इसे थोड़े से शहद के साथ मिला सकते हैं।

सामग्री

  • 2 बड़े चम्मच एलो वेरा (30 ग्राम)
  • 1 बड़ा चम्मच शहद (25 ग्राम)
  • 1/2 कप पानी (100 मिलीलीटर)

आपको क्या करना चाहिये?

  • सभी चीजों को ब्लेंडर में डालें और उन्हें कुछ मिनटों तक ब्लेंड करें।
  • एक बार जब आपको एक समरूप मिश्रण मिल जाये तो तुरंत सर्व करें और इसका सेवन करें।
  • इसे दिन में दो बार से ज्यादा लेने से बचें क्योंकि इसका हल्का लैक्जेटिव असर हो सकता है।

बेकिंग सोडा से हार्ट बर्न और गैसट्राईटिस का ट्रीटमेंट

बेकिंग सोडा से हार्ट बर्न और गैसट्राईटिस का मुकाबला करें

सबसे अच्छा नेचुरल एल्केलाइन घटक माना जाने वाला बेकिंग सोडा एक ऑर्गनिक पदार्थ है जो हार्ट बर्न और गैसट्राईटिस और अन्य पाचन समस्याओं के लक्षणों को शांत करता है।

यदि आपको उच्च रक्तचाप की तकलीफ है या आहार में कम सोडियम खाते हैं तो एक्सपर्ट इसका उपयोग न करने की सलाह देते हैं।

सामग्री

  • 1 छोटा चम्मच बेकिंग सोडा (5 ग्राम)
  • 1 कप पानी (200 ग्राम)

आपको क्या करना चाहिये?

  • पानी के साथ बेकिंग सोडा मिलायें और इसे बुलबुले बनने से पहले पियें।
  • इसे ज्यादा से ज्यादा दिन में दो बार पियें।

चावल का पानी (Rice water)

चावल का पानी एक नेचुरल टॉनिक है जो पेट की अतिरिक्त अम्लता को शांत करता है और आपको अल्सर और घावों से पुनः स्वस्थ होने में मदद करता है।

कई संस्कृतियों में इसका उपयोग दस्त से निपटने के लिए किया जाता है, लेकिन यह रिफ्लक्स, गैस और पेट दर्द का मुकाबला करने में भी सहायक होता है।

सामग्री

  • 1/2 कप चावल (100 ग्राम)
  • 1 लीटर पानी

आपको क्या करना चाहिये?

  • आधे कप चावल को एक लीटर पानी में उबालें, इसे ठंडा होने दें और तरल को कपड़े के माध्यम से छानें।
  • इसे दिन में एक या दो बार असुविधा के पहले संकेत पर पियें।

इसे भी आजमायें: 5 प्राकृतिक नुस्खे नर्वस गैस्ट्राइटिस के लिए

अलसी के बीज का पानी (Flaxseed water)

अलसी के बीज से हार्ट बर्न और गैसट्राईटिस का मुकाबला करें

अलसी के बीज के फैटी एसिड और नेचुरल जेल पाचन समस्याओं के इलाज में बहुत सहायक हैं।

सामग्री

  • 1 बड़ा चम्मच पिसे हुए अलसी के बीज (10 ग्राम)
  • 1 कप पानी (200 मिलीलीटर)

आपको क्या करना चाहिये?

  • एक कप पानी में एक चम्मच पिसे हुए अलसी के बीज डालें और इसे 12 घंटे तक यूं ही रहने दें।
  • चिपचिपे तरल को छानें और इसका खाली पेट सेवन करें।

कैमोमाइल की चाय (Chamomile tea)

कैमोमाइल की चाय पेट की सूजन, हार्ट बर्न और गैसट्राईटिस के अन्य लक्षणों से राहत दिलाने में सबसे अच्छे उपचारों में से एक है।

सामग्री

  • 1 बड़ा चम्मच कैमोमाइल के फूल (10 ग्राम)
  • 1 कप पानी (250 मिलीलीटर)

आपको क्या करना चाहिये?

  • एक कप पानी उबालें। जब वह उबलने लगे तो कैमोमाइल के फूल डालें।
  • इसे पीने से पहले 10 मिनट तक यूं ही रहने दें।
  • प्रत्येक मुख्य भोजन के बाद इस खुराक को दोहरायें।

हमने यहां जो उपचार बताये हैं उनमें से किसी को भी चुनें। आपको पता चलेगा, वे हार्ट बर्न और गैसट्राईटिस के लक्षणों को नियंत्रित करने में बहुत उपयोगी हैं।

हालांकि कुछ कमर्शियल प्रोडक्ट आपके लक्षणों को जल्दी से कम करने का दावा करते हैं, लेकिन नेचुरल विकल्पों का चयन करना ज्यादा सुविधाजनक है।

  • CARPENTER HA, TALLEY NJ. Gastroscopy is incomplete without biopsy: clinical relevance of distinguishing gastropathy from gastritis. Gastroenterology, 1995; 108: 917 – 924.
  • MARSHALL BJ, WARREN JR. Unidentified curved bacilli in the stomach of patients with gastritis and peptic ulceration. Lancet 1984:1;1311
  • MARY KAY WASHINGTON; RICHARD M. PEEK JR. TADATAKA YAMADA. Texbook of gastroenterology. Fifth edition 2009. Cap 42. Gastritis and gastropathy pag 1005 – 1025.
  • STEPHEN J. MCPHEE, MAXINE A. PAPADAKIS, LAWRENCE M, TIERNEY, JR. Current Medical Diagnosis & treatment.2008, 47 Edition. Gastritis & Gastropathy. Pag 514 – 518.