5 प्राकृतिक नुस्खे नर्वस गैस्ट्राइटिस के लिए

जुलाई 13, 2018
अपने पेट पर पड़ने वाले बुरे असर से बचने के लिए यह ज़रूरी है कि आप यहां बताये गये प्राकृतिक नुस्खों की मदद लेने के साथ-साथ, अपने नर्वस सिस्टम को काबू करना और उसे आराम देना सीखें।

नर्वस गैस्ट्राइटिस को इमोशनल गैस्ट्राइटिस भी कहा जाता है। यह ऐसी स्थिति है जो हमारे नर्वस सिस्टम पर पड़ने वाले स्ट्रेस की वजह से पेट में होने वाले दर्द और जलन के रूप में सामने आती है।

नर्वस गैस्ट्राइटिस का कारण पेट में बैक्टीरिया के होने, एसिडिक खाना खाने या कोई अन्य परेशानी नहीं है।

इसका मुख्य कारण है कोई इमोशनल शॉक ( भावनात्मक सदमा ) जो कि, पाचन क्रिया पर असर डालता है, पेट में सूजन पैदा करता है और पेट के एसिड (जठर रस) के काम-काज में गड़बड़ी पैदा करता है।

यह अचानक भी हो सकता है और धीरे-धीरे भी हो सकता है। इसके लक्षण इस तरह से होते हैं कि आप एसिडिटी या आँतों के रोग तथा इसमें अंतर ढूंढ पाने में दिक्कत महसूस कर सकते हैं।

इसमें पेट के ऊपरी हिस्से में बहुत ही तेज दर्द होता है, साथ ही गैस, पेट फूलना और कभी-कभी ज्यादा गंभीर मामलों में तो, मलद्वार से खून भी आ सकता है।

किस्मत से, आप घरेलू नुस्खों की मदद से इसका ईलाज कर सकते हैं। क्योंकि कुछ प्राकृतिक चीजों में ऐसे गुण होते हैं कि वे तेजी से आपको ठीक कर सकते हैं।

यहाँ पर, हम 5 प्राकृतिक नुस्खों के बारे में विस्तार से जानकारी शेयर करना चाहते हैं, ताकि जब भी आपका सामना ऐसी किसी समस्या से हो तो आप इनका इस्तेमाल करने में हिचकिचाएं नहीं।

1. सौंफ़ वाली चाय

नर्वस गैस्ट्राइटिस: सौंफ़ वाली चाय

सौंफ़ के दानों का रस पाचन के लिये बहुत ही बढ़िया औषधि है जो पेट के दर्द में मांसपेशियों को आराम देने के लिये बहुत ही फायदेमंद है। साथ ही यह नर्वस गैस्ट्राइटिस के कारण पेट में होने वाली सूजन को भी घटाता है।

इसके सूजन कम करने वाले और दर्दनाशक यौगिक दर्द को कम करते हैं और पेट में गैस को बनने से भी रोकते हैं।

सामग्री

  • 1 कप पानी (250 मिलीलीटर)
  • ½ बड़े चम्मच सौंफ़ के दाने (5 ग्राम)
  • 1 बड़ा चम्मच शहद (25 ग्राम)

बनाने का तरीका

  • एक कप पानी उबालें और उसमें सौंफ़ के बीज डाल दें।
  • इसे 10 मिनट तक ठंडा होने के लिये रख दें। अब एक चम्मच शहद मिलकर इसे मीठा कर लें।

इस्तेमाल करने का तरीका

  • जैसे ही नर्वस गैस्ट्राइटिस के शुरुआती लक्षण दिखाई दें, इसका एक कप पियें।
  • यदि आपको जरूरी लगे तो दिन में 2 या 3 बार फिर से पियें।

इसे भी पढ़ें:

फैटी लीवर की बीमारी का इलाज करने में मदगार 5 नेचुरल अर्क

2. नाशपाती और केले की स्मूदी

नाशपाती और केले में मौजूद एंजाइम और नेचुरल फाइबर नर्वस गैस्ट्राइटिस के के दौरान पेट में होने वाले दर्द को कम करने के लिए बहुत ही असरदार है।

इनमें मौजूद विटामिन और खनिजों के अलावा, यह जरूरत से ज्यादा एसिड बनने से रोकता है और स्ट्रेस को कम करता है

सामग्री

  • नाशपाती
  • पका हुआ केला
  • एक गिलास पानी (200 मिलीलीटर)

बनाने का तरीका

  • फलों को काटें और उन्हें ब्लेंडर में डाल दें, साथ में एक गिलास पानी भी मिलायें।

इस्तेमाल करने का तरीका

  • जब भी आप पेट में जलन या नर्वस गैस्ट्राइटिस का कोई भी लक्षण महसूस करें तो तुरंत इसके ताजा-ताजा तैयार किए गए शेक को पियें।
  • इसे दिन में एक बार इसका इस्तेमाल करें, जब तक कि समस्या कम न हो जाए।

3. चावल का पानी

नर्वस गैस्ट्राइटिस: चावल का पानी कैसे तैयार

इसके पोषक फाइबर और एंटीऑक्सीडेंट के कारण, चावल का पानी जिसे स्थानीय जबान में माड़ भी कहा जाता है, नर्वस गैस्ट्राइटिस से पेट में होने वाली जलन और दर्द को ख़त्म करने के लिए इस्तेमाल होने वाले सबसे अच्छे तरीकों में से एक है।

इसके सेवन से नर्वस सिस्टम को आराम मिलता है और इससे जुड़े तनाव और चिंता में भी कमी आती है।

सामग्री

  • 1 कप पानी (250 मिलीलीटर)
  • 2 बड़े चम्मच चावल (40 ग्राम)

बनाने का तरीका

  • एक कप पानी गरम करें और जब यह उबलने लग जाए, तो इसे दो चम्मच चावल के डाल दें।
  • इसे कमरे के ताप पर 2 या 3 घंटे के लिए ठंडा होने के लिये छोड़ दें और फिर इसके पानी को एक छलनी से छान लें।

इस्तेमाल करने का तरीका

  • जब तक इसके लक्षण पूरी तरह ख़त्म नहीं हो जाते हैं, तब तक दिन में दो बार इसे पीते रहें।

4. शहद के साथ पानी

यह नेचुरल उपाय हमें इस समस्या के इलाज में दोगुना फायदा देता है। साथ ही यह स्ट्रेस और पेट के दर्द को भी कम करता है।

इसके अलावा, इसमें मौजूद नेचुरल एंजाइम पाचन में मददगार होते हैं, जबकि इसमें मौजूद शुगर एनर्जी लेवल को बढ़ाता है

सामग्री

  • 1 कप पानी (250 मिलीलीटर)
  • 2 बड़ा चम्मच शहद (50 ग्राम)

बनाने का तरीका

  • एक कप पानी गरम करें और उसमे कुछ चम्मच शहद के मिला लें।

इस्तेमाल करने का तरीका

  • इस ड्रिंक को खाली पेट पियें। या फिर, जब आप नर्वस गैस्ट्राइटिस के कारण पेट में दर्द महसूस करें तो इसका इस्तेमाल करें।

इसे भी पढ़ें:

11 अनूठे फायदे पारदर्शी जिलेटिन के

5. अनफ्लेवर्ड जिलेटिन

अनफ्लेवर्ड जिलेटिन: नर्वस गैस्ट्राइटिस

अनफ्लेवर्ड जिलेटिन से बनाया गया नेचुरल ड्रिंक पेट में होने वाले दर्द को कम करने के लिए एक बहुत ही असरदार नुस्खा है।

इसमें जरूरी एमिनो एसिड, एंटीऑक्सीडेंट और सूजन घटाने वाले तत्व मौजूद होते हैं, जो पेट की जलन को शांत करने के अलावा, नर्वस सिस्टम के काम-काज को भी नियंत्रित करते हैं।

सामग्री

  • ½ कप पानी (125 मिलीलीटर)
  • 1 बड़ा चम्मच अनफ्लेवर्ड जिलेटिन (9 ग्राम)

बनाने का तरीका

  • आधा कप पानी गर्म करें और इसमें अनफ्लेवर्ड जिलेटिन डालें।
  • इसे 10 मिनट तक ठंडा होने के लिये रख दें और फिर इसे पी लें।

इस्तेमाल करने का तरीका

  • खाली पेट होने पर और खाना खाने से पहले जिलेटिन खाएं।
  • जब तक आप नर्वस गैस्ट्राइटिस का कोई भी लक्षण महसूस करते हैं तब तक इसका सेवन करते रहें।

क्या स्ट्रेस के कारण आपके पेट दर्द होता है? जब आप नर्वस होते हैं तो क्या आपके पेट में दर्द या जलन होती है? अगर ऐसा है तो, हो सकता है कि आप इस समस्या से पीड़ित हैं।

अगर आप इसे पहचान पाये हैं, तो ऊपर बताये गये किसी भी प्राकृतिक नुस्खे का इस्तेमाल करें और इससे निपटें।

  • Gore, S. M., Fontaine, O., & Pierce, N. F. (1996). Efficacy of rice-based oral rehydration. The Lancet, 348(9021), 193–194.
    Luo, J., Wang, T., Liang, S., Hu, X., Li, W., & Jin, F. (2013). Experimental gastritis leads to anxiety- and depression-like behaviors in female but not male rats. Behavioral and Brain Functions : BBF, 9, 46. https://doi.org/10.1186/1744-9081-9-46
  • Owen, D. A. (1996). The morphology of gastritis. The Yale Journal of Biology and Medicine, 69(1), 51–60.
  • Selviana, B. Y. (2015). Effect of coffee and stress with the incidence of gastritis. Majority. https://doi.org/J MAJORITY|Volume 4 Nomor2|Januari 2015|