आँख फड़कने के 7 संभावित कारण

01 मार्च, 2019
हमारी आँख फड़कने के कई कारण हो सकते हैं। अपनी आदतें बदलने व तनाव को कम करने के बाद भी अगर आपकी आँख लगातार फड़कती है तो किसी विशेषज्ञ की राय ज़रूर ले लें।

अगर आप नहीं जानते कि आपकी आँख क्यों फड़कती है, तो उसकी अनदेखी न कीजिए। आँख फड़कने के सात संभावित कारणों की वजह से आपको बार-बार इस समस्या का सामना करना पड़ सकता है

इस अवस्था के लिए भले ही हम थकान को ज़िम्मेदार ठहराते हों पर दरअसल इसके पीछे किसी और समस्या का हाथ भी हो सकता है। विशेषज्ञ इस बात पर एकमत हैं कि आँख फड़कने से हमारे शरीर में कभी-कभी कोई गंभीर समस्या भी पैदा हो सकती है

आँख फड़कने के 7 कारण

नसों के फड़कने के लक्षण

आँख फड़कने के लक्षण

आँख फड़कने समेत हमारी तंत्रिकाओं का फड़कना एक अनैच्छिक व बार-बार होने वाली ऐंठन होती है।

यह ऐंठन आपकी पलक की मांसपेशी में होती है। यह कुछ सेकंड से लेकर दो मिनट तक या फ़िर कई दिनों तक रुक-रुककर हो सकती है।

ज़्यादातर मामलों में इस ऐंठन की वजह से हमारी निचली पलक ही फड़कती है

कभी-कभी आपकी ऊपरी पलक भी सिकुड़ सकती है। सिकुड़ने के साथ-साथ आपको उसमें अन्य प्रकार की दिक्कत भी महसूस हो सकती है।

इस बात का ध्यान रखें कि तंत्रिकाओं के फड़कने के पीछे कई कारण हो सकते हैं। इस लेख में हम उनमें से सबसे आम कारणों के बारे में चर्चा करेंगे।

लेकिन अगर आपकी आँख काफ़ी लंबे समय से फड़क रही है तो हमारी आपको यही सलाह है कि आप आँखों के किसी डॉक्टर से अपनी आँखों की जांच करवाएं।

1. तनाव

इस प्रकार आँख फड़कने के प्रमुख कारणों में से एक होता है तनाव। इसीलिए हमारी नाक में दम कर देने वाली इस समस्या से निपटने के लिए हमें अपने तनाव का मुकाबला तो करना ही चाहिए।

आपको क्या करना चाहिए?

तनाव से बचने की हरसंभव कोशिश करने के लिए आपको अच्छे से सोना व आराम करना चाहिए। अगर आप अपने तनाव पर लगाम लगाना सीख लें तो आपका शरीर कई समस्याओं पर अपने आप ही लगाम लगा देगा।

इसे भी पढ़ें : इस नेचुरल नाइट क्रीम से आँखों की बाहरी कोर वाली झुर्रियां (क्रो’ज फूट) घटाएं

2. नींद की कमी

नींद की कमी की वजह से भी आपकी आँख फड़क सकती है

नींद की कमी भी तनाव से कुछ कम घातक नहीं होती। आपकी फड़कती आँख के लिए भी नींद उतनी ही अहम होती है।

भले ही सुनने में यह कोई मामूली-सी बात लगे, पर नींद की कमी की वजह से आपकी पलकें फड़कने लग सकती हैं।

आपको क्या करना चाहिए?

ऐसे में इस समस्या का एक आसन-सा उपाय होता है। रोज़ाना कुछ घंटे का आराम और रातभर चैन की नींद ले लेने से आपकी यह परेशानी हल हो जाती है।

हमारा सुझाव है कि आप 8 घंटे की बेरोकटोक नींद लें।

3. आँखों का सूखापन (Dry eyes)

कई बार आपकी आँख फड़कने के पीछे उसके सूखेपन का हाथ होता है। कंप्यूटर के सामने काफी वक़्त बिताने वाले या फ़िर चश्मा पहनने वाले लोगों की आँख फड़कने के यह सबसे आम कारणों में से एक होता है।

आपको क्या करना चाहिए?

अगर आपकी आँख में सूखापन है व वह फड़क रही है, तो घबराएं नहीं। इसका भी एक समाधान है। इस परेशानी से छुटकारा पाने के लिए आपको हाइड्रेटिंग ड्रॉप्स या आर्टिफीशियल टियर ड्रॉप्स का इस्तेमाल करना चाहिए

4. आँखों की थकान

अगर आपको अपनी आँखों में थकान महसूस होती है तो हो सकता है कि आपके लिए अपना चश्मा बदलवाने का वक़्त आ गया हो। सच तो यह है कि नज़र की छोटी से छोटी समस्या के भी अपने परिणाम होते हैं। आपकी आँखों पर ज़ोर डालकर वे कई परेशानियां पैदा कर सकती हैं।

उन परेशानियों का सिलसिला शुरू होता है आपकी आँख के फड़कने से।

आपको क्या करना चाहिए?

अगर आपको लगता है कि आपकी परेशानी का कारण यही है तो सबसे पहले तो आपको अपनी आँखों की जांच करवा लेनी चाहिए

साथ ही, इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों के अत्यधिक इस्तेमाल से भी आपकी आँखों पर दबाव पड़ सकता है।

इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों का इस्तेमाल करते समय 20 मिनट वाले नियम का पालन करने की कोशिश करें। हर 20 मिनट बाद स्क्रीन से अपनी नज़र हटाकर अपनी आँखों को थोड़ा आराम दें।

इसे भी पढ़ें : डिमेंशिया के 8 लक्षण जो सबको पता होने चाहिए

5. कैफीन का अतिरेक

कैफीन का हद से ज़्यादा सेवन भी आँख फड़कने के लिए ज़िम्मेदार हो सकता है।

आपको क्या करना चाहिए?

इस परेशानी से निपटने का एक कारगर तरीका होता है एक-दो हफ्ते के लिए कॉफ़ी के अपने सेवन को कम कर देना। उसके बाद आपको देखना चाहिए कि आपकी आँख फड़कनी बंद हुई या नहीं।

वैसे भी, कैफीन का संयम के साथ सेवन करने में ही आपकी भलाई होती है

6. शराब

आँख फड़कने के लिए शराब का सेवन भी ज़िम्मेदार हो सकता है

कॉफ़ी ही की भांति, शराब आदि के अतिरेक से भी आपकी फड़कती आँख आपके लिए परेशानी का सबब बन सकती है

आपको क्या करना चाहिए?

ऐसे में आपको कुछ समय के लिए शराब व अन्य अल्कोहलिक ड्रिंक्स से परहेज़ करना चाहिए

जैसाकि हमने आपको अभी-अभी बताया, आँख फड़कने के पीछे शराब का भी हाथ हो सकता है। उसे अपनी डाइट से हटाकर अपनी हालत में सुधार आपको ज़रूर दिखाई देगा।

7. अपौष्टिक आहार

आप जानते ही होंगे कि हमारा शरीर हमारे आहार की एक झलक होता है। इसीलिए एक खराब आहार आपकी आँख को फड़कने के लिए मजबूर कर सकता है।

आपको क्या करना चाहिए?

ध्यान रखें कि मैग्नीशियम जैसे कई पौष्टिक तत्वों की कमी की वजह से आपकी आँख फड़कने लग सकती है

नतीजतन आपको एक संतुलित आहार व स्वस्थ जीवन-शैली को अपना लेना चाहिए। ऐसा करके आप अपने अंगों को भला-चंगा बनाए रख सकते हैं।

अपने शरीर के संकेतों को नज़रंदाज़ न करें। फड़कती पलकों जैसे उनमें से कुछ संकेत इस समस्या के कारणों में से एक हो सकते हैं।

Bisker, E. R., McClelland, C. M., Brown, L. W., & Liu, G. T. (2014). The long-term outcomes of ocular tics in a pediatric neuro-ophthalmology practice. Journal of AAPOS. https://doi.org/10.1016/j.jaapos.2013.11.007

Hayes, P. C., Weber, C. L., Gallagher, M. B., & Drouillard, G. J. (2016). Attenuation of Apparent New-Onset Ocular Tics with Successful Treatment of PTSD. CNS Spectrums. https://doi.org/10.1017/s109285290002023x