इस नेचुरल नाइट क्रीम से आँखों की बाहरी कोर वाली झुर्रियां (क्रो'ज फूट) घटाएं

आँखों के बाहरी किनारे पर जो बारीक रेखाओं का झुंड बनता है उन्हें क्रो’ज फूट कहते हैं। इनके बनने का कारण चहरे की अभिव्यक्ति, उम्र और सूरज की धूप हैं। क्या आप इन बारीक झुर्रियों से उब गयी हैं? इस नेचुरल नाइट क्रीम को आजमायें!
इस नेचुरल नाइट क्रीम से आँखों की बाहरी कोर वाली झुर्रियां (क्रो'ज फूट) घटाएं

आखिरी अपडेट: 08 जनवरी, 2019

क्रो’ज फूट के उभरने से रोकने या इन्हें कम करने के लिए धूप से प्रोटेक्शन के साथ-साथ त्वचा को रिन्यू करने वाले गुणों से भरपूर इन्ग्रेडिएंट वाली क्रीम का इस्तेमाल करना ज़रूरी है।

तथाकथित क्रो’ज फूट या कौवा के पैर आँखों के बाहरी छोर पर बनी बारीक रेखाएं हैं। ये लगातार चेहरे के भावों और कोलेजन और इलास्टिन के लेवल में कमी आने से त्वचा के थकने से बनते हैं।

ये उम्र बढ़ने की प्रक्रिया के एक स्वाभाविक अंग के रूप में दिखाई देते हैं। हालांकि ये धूप और फ्री रेडिकल्स के नेगेटिव प्रभावों का नतीजा भी हो सकते हैं।

यह भी साबित हो गया है कि तनाव, कुपोषण, धूम्रपान और शराब पीने जैसी आदतें उनके समय से पहले उभरने से जुड़ी हो सकती हैं।

सौभाग्य से, कई कॉस्मेटिक प्रोडक्ट और ट्रीटमेंट हैं जो पोषक तत्वों का उपयोग करते हैं। ये चेहरे के तमाम हिस्सों की सुरक्षा करते हैं और झुर्रियाँ घटाते हैं।

इनमें से एक ऐसी नाइट क्रीम है, जो सिर्फ 3 चीजों से बनी है। अपने ख़ास गुणों के कारण यह नाजुक त्वचा की मरम्मत करती है और इसे नया दिखने में मदद करती है।

आगे हम आपको बताएंगे, यह क्या है और महज कुछ आसान स्टेप में इसे कैसे बना सकते हैं।

नोट कर लीजिये!

क्रो’ज फूट को कम करने वाली शानदार नाइट क्रीम

रात की यह फेसिअल क्रीम स्वास्थ्यवर्धक सामग्री से तैयार की जाती है जिसमें अंगूर के बीज का तेल (grapeseed oil), विटामिन E कैप्सूल और शीया बटर (shea butter) हैं।

यह एक 100% ऑर्गनिक प्रोडक्ट है, जो वाणिज्यिक विकल्पों के विपरीत बहुत खर्चीला नहीं है और न ही इसके कोई अवांछनीय साइड इफेक्ट हैं।

इसके सबसे प्रमुख फायदों का श्रेय इसमें मौजूद प्रचुर आवश्यक फैटी एसिड और एंटीऑक्सिडेंट को जाता है। एक बार त्वचा में अवशोषित हो जाने पर ये कोलेजन और इलास्टिन के स्तर को बढ़ाते हैं और त्वचा की मरम्मत की प्रक्रिया को बढ़ावा देते हैं।

इसका रोजाना इस्तेमाल करने से फ्री रेडिकल्स से होने वाले नुकसान कम होते हैं और साथ ही, ढीली त्वचा में कसावट आती है।

क्रो’ज फूट के लिए अंगूर के बीज के तेल ( grapeseed oil) के फायदे

क्रो'ज फूट : अंगूर के बीज के तेल ( grapeseed oil) के फायदे

त्वचा की देखभाल और इसके कायाकल्प की बात आये तो अंगूर का तेल एक बहुत लोकप्रिय उत्पाद है। इसके कई उत्कृष्ट फायदे हैं:

  • इसमें लिनोलिक एसिड (linoleic acid) की प्रचुर मात्रा है। यह प्राकृतिक तत्व त्वचा का रंग-रूप सुधारने के लिए कोशिकाओं की झिल्ली यानी सेल मेम्ब्रेन को मजबूत करता है
  • इसके एंटीऑक्सिडेंट सेल के क्षतिग्रस्त होने के कारण क्युटेनियस टूटन की घटना और असमय आने वाली झुर्रियों में कमी लाते हैं।
  • इसमें ज्वलनरोधी प्रभाव (anti-inflammatory effect) है जो अंडर-आई बैग और सूजी हुई पलकें के आकार को घटाता है।
  • यह क्रीम कसावट लाने वाले नेचुरल कम्पाउंड के रूप में काम करती है, जो त्वचा को सुघड़, सुडौल और कांतिमय बनाने के लिए जहाँ आदर्श है वहीं असमय आने वाली झुर्रियों को रोकने में समर्थ है

इसे नियमित रूप से चेहरे पर लगाना भद्दे दाग-धब्बों और अंडर आई बैग्स के ट्रीटमेंट का बेहतरीन उपाय है।

क्रो’ज फूट के लिए विटामिन E के लाभ

कई खाद्यों और सप्लिमेंट में पाया जाने वाला विटामिन E एक नेचुरल एंटीऑक्सिडेंट है जो निशान, दाग-धब्बे और बारीक रेखाओं के उभरने की घटना में कमी लाता है। इसके साथ:

  • इसके नियमित उपयोग से सूरज की हानिकारक किरणों से बचाव होता है।
  • कोलेजन और इलास्टिन के नुकसान को यह कम करता है।
  • यह त्वचा के लिए कायाकल्प करने वाले एजेंट का काम करता है।

‘कौवा के पैर’ को कम करने और असमय उम्र ढलने के दूसरे संकेतों में कमी लाने में विटामिन E की खूब सिफारिश की जाती है।

शीया बटर के फायदे (The benefits of shea butter)

क्रो'ज फूट : शीया बटर के फायदे

शिया बटर एक वेजीटेबल फैट है। इसमें एंटीऑक्सिडेंट और एंटी-इन्फ्लेमेटरी गुण होते हैं। ब्यूटी प्रोडक्ट में इसे लंबे समय से इस्तेमाल किया जाता रहा है।

कुछ लोग इसे त्वचा की सर्वोत्तम कुदरती री-जेनेरेटर मानते हैं। क्योंकि यह त्वचा की बहुत गहराई में जाकर मुस्कान की रेखाओं और दाग-धब्बों के विरुद्ध प्रचुर पोषण देता है।

यह मुलायम और पुनर्जीवित करने वाले एजेंटों से बना होता है जो त्वचा को स्वस्थ, सुडौल और झुर्री मुक्त बनाते हैं।

शिया बटर में विटामिन E, एंटीऑक्सीडेंट कैटेचिन (catechin) और लिनोलेइक एसिड (linoleic acid) होता है। इकट्ठे तौर पर ये सेल एक्टिविटी को उत्तेजित करके चेहरे को तरोताजा और नयापन देते हैं।

क्रो’ज फूट को रोकने वाला नाइट क्रीम कैसे बनायें

क्रो'ज फूट : नाइट क्रीम को बनाने की विधि

क्रो’ज फूट को रोकने वाले इस नाइट क्रीम के वांछित नतीजे का रहस्य इसमें इस्तेमाल होने वाली उच्चतम गुणवत्ता वाली ऑर्गनिक सामग्री में है।

विटामिन E, शीया बटर, और अंगूर का तेल आमतौर पर दवा की दुकानों और कॉस्मेटिक बुटीक में आसानी से मिल जाते हैं।

सामग्री

  • 5 1/2 बड़ा चम्मच शिया बटर (70 ग्राम)
  • विटामिन E के 2 कैप्सूल
  • 2 चम्मच अंगूर का तेल (30 ग्राम)
  • 1 एयरटाइट ग्लास कंटेनर

तैयारी

  • शिया बटर को डबल बॉयलर में पिघलाएं। जब यह तरल हो जाए तो विटामिन E के दो कैप्सूल और ग्रेपसीड ऑयल इसमें मिलाएं।
  • आँच से हटायें, कुछ मिनट ऐसे ही छोड़ दें, और इसके जमने से पहले एक एयरटाइट ग्लास कंटेनर में डालें।

कैसे लगाएं

  • सोने से पहले अपनी आंखों के चारों ओर क्रीम की आवश्यक मात्रा लगाएं।
  • हर रात, या सप्ताह में कम से कम 3 बार इसे लगाएं।

ध्यान रखें कि क्रो’ज फूट के इस ट्रीटमेंट की शुरुआत के बाद कुछ हफ्तों के भीतर नतीजे दिखना शुरू हो जाते हैं और इस ट्रीटमेंट के साथ रोज सनस्क्रीन लगाया जाना चाहिए

यह आपकी रुचि हो सकती है ...
5 नेचुरल आई क्रीम आँखों के आसपास की त्वचा की देखभाल के लिए
स्वास्थ्य की ओरइसमें पढ़ें स्वास्थ्य की ओर
5 नेचुरल आई क्रीम आँखों के आसपास की त्वचा की देखभाल के लिए

कॉस्मेटिक इंडस्ट्री ने आई क्रीम की बड़ी खेप विकसित की है। वजह बेहद ही सीधी सी है। आँखों के इर्द-गिर्द की त्वचा बहुत नाज़ुक होती है और बढ़ती उम्र सबसे ...



  • Roca, P. (2014). Arrugas. In Arrugas.
  • Gac, H. (2000). Algunos cambios asociados al envejecimiento. Boletin Escuela de Medicina.
  • Alvarez Fontanet, E. (1995). Consecuencias del estrés oxidativo de la piel por radiaciones ultravioleta. Revista Cubana de Investigaciones Biomédicas.
  • Palomar-Llatas, F., Fornes-Pujalte, B., Arantón-Areosa, L., & Rumbo-Prieto, J. (2013). Envejecimiento cutáneo y dermatoporosis. Enfermeria Dermatologica.
  • Consalvo, L., Dabhar, M., Santiesteban, M. M., Stengel, F. M., & Femando, D. (2006). Envejecimiento cutáneo ¡La expectativa de vida no deja de aumentar… el envejecimiento tampoco! Arch Argent Dermatol. https://doi.org/10.1007/s10032-005-0147-6
  • Kapoor, S., & Saraf, S. (2010). Assessment of viscoelasticity and hydration effect of herbal moisturizers using bioengineering techniques. Pharmacognosy magazine6(24), 298–304. https://doi.org/10.4103/0973-1296.71797
  • Rizvi, S., Raza, S. T., Ahmed, F., Ahmad, A., Abbas, S., & Mahdi, F. (2014). The role of vitamin e in human health and some diseases. Sultan Qaboos University medical journal14(2), e157–e165.
  • Lin, T. K., Zhong, L., & Santiago, J. L. (2017). Anti-Inflammatory and Skin Barrier Repair Effects of Topical Application of Some Plant Oils. International journal of molecular sciences19(1), 70. https://doi.org/10.3390/ijms19010070