इस नुस्खे को सीखकर कमर और जोड़ों के दर्द को अलविदा कहें

अक्टूबर 3, 2018

अपने शरीर पर दबाव डालना, चीजों पर उछालना और गलत आदतें आपकी हड्डियों और जोड़ों को कमजोर कर देती हैं। उन्हें अच्छी शेप में बनाये रखने और कमर दर्द और जोड़ों के दर्द से छुटकारा पाने के लिए, इस नुस्खे को आजमाएं।

आजकल कमर और जोड़ों के दर्द की समस्या बहुत आम है। दरअसल, यह लोगों के डॉक्टर के पास जाने के सबसे बड़ी वजहों में से एक है।

आमतौर पर ऐसा काम के दिनों में जरूरत से ज्यादा शारीरिक मेहनत के कारण होता है। हालाँकि यह चोट और बीमारी के कारण भी हो सकता है

ज्यादातर मामले छोटे-मोटे होते हैं और थोड़ा आराम, पेन किलर के उपयोग या एक्सरसाइज करने से ठीक हो जाते हैं।

हालांकि, यह बार-बार होने वाले और गठिया और ऑस्टियोआर्थराइटिस जैसी लम्बी बीमारियों की वजह भी हो सकता है।

सबसे ज्यादा दिक्कत वाली बात यह है कि हालात वक्त के साथ और भी बदतर हो सकते हैं,हमारे चलने-फिरने और रोजाना के कामों को करने की क्षमता को सीमित कर सकते हैं।

इसलिये अपने खाने की आदतों में सुधार करना और उसमें उन सभी पोषक तत्वों को शामिल करना जरूरी है जो आपकी हड्डियों और जोड़ों को मजबूत बनाये रखने के लिये चाहिये।

इसी वजह से आपके लिये यह जानना फायदेमंद होगा कि कुछ नेचुरल सप्लीमेंट्स हैं जिनमें मौजूद गुण आपके शरीर पर कोई भी बुरा असर किये बिना आपकी हड्डियों और जोड़ों को मजबूत करने में मदद करते हैं।

यह बात ग्रेनेटीना (Grenetina), यानी शुद्ध जिलेटिन (Natural gelatin) के लिए बिलकुल सही साबित होती है। यह कोलेजन से भरपूर है, जो स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होता है

नीचे, हम आपको घर पर ही इन फायदों को लेने के लिए एक आसान नुस्खे के अलावा, कमर और जोड़ों के दर्द के इलाज में इससे होने वाले फायदों के बारे में विस्तार से बताने वाले हैं।

तो चलिये, शुरू करते हैं!

ग्रेनेटीना (Grenetina) क्या है और यह दर्द को कम कैसे करता है?

जोड़ों का दर्द

ग्रेनेटीना को ज्यादातर जिलेटिन के रूप में जाना जाता है। यह एक नेचुरल प्रोडक्ट है जो सुअर और गाय के फैट को प्रोसेस करके बनाया जाता है। इस अद्भुत चीज को बनाने के लिये त्वचा और हड्डियों का इस्तेमाल किया जाता है, ये वे हिस्से हैं जिनमें ज्यादा गाढ़ा प्रोटीन होता है।

हो सकता है, यह प्रोसेस कई लोगों को अच्छा न लगे, लेकिन आपको यह समझना चाहिए कि यह कई चीजें बनाने के लिए बहुत उपयोगी होता है। अगर इतना काफी नहीं है, तो यह पोषक तत्वों का एक बहुत अच्छा स्रोत भी है।

कमर और जोड़ों के दर्द को कम करने के लिए फायदे

दर्द से मुकाबले में जिलेटिन से मिलने वाले सबसे महत्वपूर्ण फायदों की वजह इसका 90% से ज्यादा प्रोटीन, 2% मिनरल साल्ट और 8% पानी से बना होना है।

ये तत्व शरीर के कोलेजन सोखने और सूजन को कम करने की क्षमता में सुधार करते हैं

इसे भी पढ़ें: 4 योगासन कमर दर्द से छुटकारा पाने के लिए

इसमें आर्जिनिन (arginine) और ग्लाइसीन (glycine) जैसे एमिनो एसिड मौजूद होते हैं। जब ये शरीर के अंगों तक पहुंचते हैं, तो मांसपेशियों के विकास को बढ़ाते हैं और जोड़ों को मजबूत करते हैं।

दर्द

भले ही यह एक एनिमल प्रोडक्ट है लेकिन इसमें कोलेस्ट्रॉल नहीं होता है। जिलेटिन फैट-फ्री होता है और इसमें बहुत कम कैलोरी होती है।

बजाय इसके, यह अच्छे स्वास्थ्य का अहसास दिलाता है, मेटाबोलिज्म में सुधार करता है और पाचन से जुडी प्रक्रियाओं को ठीक से पूरा करने में मदद करता है।

लेकिन सबसे दिलचस्प बात यह है कि यह कार्टिलेज को मजबूत और लचीला बनाने, टूट-फूट को कम करने और गंभीर घावों को पैदा होने से रोकने के लिए बहुत ही कारगर है

इसके एक्टिव तत्व आपकी स्किन को स्वस्थ बनाते हैं, समय से पहले बढती उम्र के जोखिम को कम करते हैं और हड्डियों को मजबूत करते हैं।

कमर और जोड़ों के दर्द को दूर करने के लिए जिलेटिन रेसिपी

जिलेटिन रेसिपी

अपने जोड़ों को सुरक्षित रखने के प्रयास में हम आपको हर दिन 10 से 15 ग्राम नेचुरल जिलेटिन लेने की सलाह देते हैं। इसे पेस्ट्री, स्मूदी, नेचुरल जूस और दूसरे प्रोडक्ट में मिलाया जा सकता है, जो लेने में आसान होते हैं।

ज्यादा काम या किसी तरह की चोट की वजह से होने वाले दर्द को कम करने के लिए शुद्ध जिलेटिन के नुस्खे का इस्तेमाल करना भी फायदेमंद है

जरूरी चीजें

  • 1 छोटा चम्मच सादा जिलेटिन (10 ग्राम)
  • 1/2 गिलास ठंडा पानी (100 मिलीलीटर)
  • 1/2 गिलास गर्म पानी (100 मिलीलीटर)

बनाने का तरीका

  • एक छोटे चम्मच सादे जिलेटिन को ठंडे पानी में डालें और रात भर के लिये रखे रहने दें।
  • अगली सुबह, मिश्रण को एक बर्तन में डालें और एक डबल बॉयलर में आधा गिलास गर्म पानी डालें।
  • जब यह घुल जाये तो आंच से निकाल लें और परोस लें।
  • हर सुबह नाश्ते से पहले इसका सेवन करें, दिन के पहले खाने से कम से कम 30 मिनट पहले।
  • ज्यादा स्वादिष्ट और लेने में आसान बनाने के लिए आप इसे एक गिलास संतरे के जूस में भी मिला सकते हैं।

इस नुस्खे का लगातार सेवन आपको बार-बार होने वाले कमर और जोड़ों के दर्द के साथ-साथ जोड़ों के घिसाव से बचने में भी मदद कर सकता है।

हालांकि, नतीजे हर आदमी की अपनी लाइफ-स्टाइल पर निर्भर करते हैं, खासकर अगर बात करें डाइट की। अगर आपको पाचन या लीवर की समस्या है तो आप इसे बिलकुल न लें।

Liu, D., Nikoo, M., Boran, G., Zhou, P., & Regenstein, J. M. (2015). Collagen and Gelatin. Annual Review of Food Science and Technology. https://doi.org/10.1146/annurev-food-031414-111800

Moskowitz, R. W. (2000). Role of collagen hydrolysate in bone and joint disease. Seminars in Arthritis and Rheumatism. https://doi.org/10.1053/sarh.2000.9622