क्या करें अगर देर रात अचानक नींद टूट जाए

अगस्त 4, 2018
हम आज इस बारे में बात करेंगे कि अगर देर रात अचानक आपकी नींद टूट जाए, तो ऐसा क्या करें कि इसके नेगेटिव नतीजों से बचे रहें।
इनसोम्निया (insomnia) या अनिद्रा का अनुभव हम कभी भी कर सकते हैं, ज़रूरी नहीं है कि ऐसा केवल सोने की कोशिश करते समय हो। ऐसा भी होता है कि कई बार हम रात को सोते से उठें और फिर वापस नींद न आए।

बीच रात नींद टूट जाए तो क्या करें?

सुबह के शुरुआती घंटों में ही जाग जाना एक बेहद थका देना वाला अनुभव होता है। हमें मालूम है कि सुबह के समय अलार्म तो अपने समय पर बज जाएगा। इसलिए हम सोना तो बहुत चाहते हैं लेकिन नींद ही नहीं आती।

आराम करने की कोशिश करने के बावजूद, नींद न पूरी होने के कारण हम अगले दिन एकदम निढ़ाल से हो जाते हैं।

बीच रात उठ जाना कई सारे कारणों का परिणाम हो सकता है;

  • बाहर से एकदम से शोर की आवाज़ सुनाई देना (जैसे आग बुझाने वाली गाड़ी का साईरन, एम्बुलेंस की आवाज़, या फिर कुछ भी)
  • बुरा सपना आना
  • बहुत ज़्यादा सर्दी या गर्मी लगना

एक बार जग जाने के बाद वापस सो पाना कोई आसान बात नहीं है।

कुछ लोग बार-बार उठकर अपनी स्लीपिंग पोज़िशन बदलते हैं। वहीं कुछ लोग उठकर अपने रोज़मर्रा के कामों को निपटाने में लग जाते हैं (कई लोग तो इस समय का उपयोग अपने कुछ ख़ास चुनिन्दा कामों को खत्म करने के लिए करने लग जाते हैं।)

हमारे शारीरिक और मानसिक सेहत के लिए रात की अच्छी नींद का आनंद लेना आवश्यक है।

यदि हमें क्वालिटी स्लीप नहीं मिलती है तो हम उदासी, चिड़चिड़ाहट का शिकार बनते हैं। साथ ही हम ज़्यादा सचेत भी नहीं होते हैं और नकारात्मक उर्जा भी हमें घेरना शुरू कर देती है।

इसके अलावा, जब हमें पूरा आराम नहीं मिलता है तो हमारे व्यक्तिगत और सामाजिक संबंध भी बिगड़ने लगते हैं।

क्या हमें समय से पहले जल्दी जागने के बारे में चिंतित होना चाहिए? अगर ऐसा हफ्ते में तीन बार से अधिक होता है, तो यह इस बात का संकेत हो सकता है कि हम बहुत तनावग्रस्त, चिंतित या घबराए हुए हैं।

नींद की तैयारी

नींद की तैयारी

अगर हम बीच रात जाग गए हैं, तो हम कुछ ऐसी कोशिश कर सकते हैं जिससे हम थोड़ा रिलैक्स हो सकें।

  • जैसे बिस्तर या कमरे से थोड़ी देर के लिए बाहर निकलना, कमरे में हल्की सी रोशनी करना और कोशिश करके 20 या 30 मिनट के लिए आराम देने वाली कोई एक्टिविटी करना।
  • इसके बाद, बिस्तर पर वापस जाएँ और सोने की कोशिश करें। हमें क्या चीज़ आराम पहुंचाती है ये हमारा व्यक्तिगत निर्णय हो सकता है। शायद हमें योग करना और ध्यान करने से आराम मिले, या फिर शायद कुछ पुरानी फोटो देखकर रिलैक्स हो सकें।
  • किसी भी सूरत में, हमें ऐसा कोई भी काम नहीं करना चाहिए जो हमारे नर्वस सिस्टम के साथ छेड़छाड़ करे। ऐसे में हमें कॉफी, शराब या तंबाकू से तो बिल्कुल दूरी बनाए रखनी चाहिए।
  • यदि हम सेलफोन का उपयोग करना चाहते हैं, तो हमें स्क्रीन पर चमकदार सफेद, हरी और नीली रोशनी लगाने से बचना चाहिए। ऐसी रौशनी मेलाटोनिन (melatonin )उत्पादन को रोकती है (मेलाटोनिन एक हार्मोन है जो सोने में हमारी मदद करता है)।
  • अगर हम टेलीविजन देखना चाहते हैं, तो ऐसा प्रोग्राम देखने का चयन करें जिससे सोने में आसानी हो। कोई भी हिंसक समाचार या तड़क भड़क वाले वीडियो देखने से भी बचें।

अगर आप वापस सो जाएँ लेकिन फिर से नींद टूट जाए, तो दोबारा से वही सब काम करें जो आपने पहले नींद खुलने के बाद किए थे।

हाँ, अगर आप अपने उठने के समय से 1 या 2 घंटे पहले ही जागें हैं तो बेहतर होगा कि थोड़ा जल्दी उठ जाएँ और अपने दिन की शुरुआत कर लें।

इसे भी पढ़ें: 11 टिप्स अच्छी नींद सोने और सवेरे तरोताज़ा महसूस करने के लिए

रात के दौरान जागने से कैसे बच सकते हैं

भले ही हम पिछली रात कितनी भी ख़राब नींद न सोए हों, लेकिन अगर हम उस नींद को केवल 3 घंटों की झपकी लेकर पूरा करना चाहें तो ये हमारी बहुत बड़ी गलती होगीऔर न ही हम अपनी बॉडी क्लॉक में बदलाव लाकर अगले दिन देर तक सो सकते हैं।

ऐसा करना इनसोम्निया की तकलीफ को बदतर ही करेगा और धीरे-धीरे यह एक गंभीर समस्या का रूप ले लेगा।

अनिद्रा की रात या अजीब घंटों में जागने के बाद, आपको जितनी जल्दी हो सके दोबारा आराम पाने की कोशिश करनी चाहिए। इससे आप अगले दिन तरोताज़ा महसूस करेंगे और अपने सभी रेगुलर कामों को ठीक से पूरा कर पाएँगे।

हमने यहाँ कुछ ऐसी सलाह दी है, जिससे आपको ऐसा करने में मदद मिलेगी:

1. विटामिन बी 12 का सेवन बढ़ाएं

नींद: विटामिन B12 का ज़्यादा सेवन करें

यदि आप पूरा आराम नहीं लेते हैं, तो आपका शरीर ज़्यादा विटामिन B की खपत करता जाता है।

  • विटामिन B हमारे शरीर में ऊर्जा का स्रोत होते हैं। 
  • यदि शरीर में इस पोषक तत्व की कमी हो जाए तो, यह आपको सुस्त और मूडी बना देंगे
  • साथ ही आपको कहीं भी ध्यान लगाने में दिक्कत महसूस होगी।

इस खोए विटामिन की कमी को पूरा करने के लिए आप नीचे दिए गए खाद्य पदार्थों में से किसी का भी सेवन कर सकते हैं:

  • क्लैम्ज़ यानी रोटी, ऑयस्टर, मसल (Clams, oysters, mussels)
  • मछली, ऑक्टोपस, स्क्विड (Fish, octopus, squid)
  • पनीर
  • अंडे

2. अदरक वाली चाय पियें

अदरक बहुत ही गुणकारी है और इसे नियमित उपयोग में लाना चाहिए। 

  • जब हम रात में जागने की परेशानी झेल रहे होते हैं, तब हार्मोन कोर्टिसोल बढ़ता है जिसके कारण शरीर में तनाव पैदा होता है
  • कोर्टिसोल के बढ़े स्तर ब्लड प्रेशर और चिंता को भी  बढ़ाते हैं
  • ऐसे में अदरक की चाय पीने से बहुत फ़ायदे मिल सकते हैं।

आप इसे इस तरह तैयार कर सकते हैं:

सामग्री

  • ¼ चम्मच घिसी हुई अदरक (2 ग्राम)
  • 1 कप पानी (250 मिलीलीटर)
  • 1 बड़ा चमचा शहद (20 ग्राम)
  • 1 ब्लैक टी बैग

तैयार करने का तरीका

  • कुछ पानी गरम करें और इसे एक मग में डाल दें।
  • अब इसमें टी बैग मिला कर 5 मिनट के लिए छोड़ दें।
  • बैग निकालें और अदरक मिलाएँ।
  • अब इसमें शहद मिलाएँ ताकि यह मीठी हो जाए।

इसे भी पढ़ें: विटामिन बी12 की कमी घातक हो सकती है, ये हैं इसके लक्षण

चीनी और फैट का सेवन कम करें

जिन खाद्य पदार्थों में भारी मात्रा में कार्बोहाइड्रेट, फैट और शुगर पाई जाती है, हम उनके सेवन की सलाह नहीं देते हैं। इसका मुख्य कारण है कि ऐसे खाने से आपकी शारीरिक उर्जा खत्म होती जाती है।

अगर आपको ऐसा लगता है कि चीनी से मिलने वाली एनर्जी आपको आधी रात को बेहतर महसूस करने में मदद कर सकती है, तो आप गलत हैं!

यह एनर्जी अस्थायी होती हैं। थोड़ी देर बाद आपको और अधिक थकान महसूस होने लगेगी।

इसके बजाय, प्रोटीन, फाइबर और नेचुरल फैट में समृद्ध स्वस्थ खाना खाएँ। ये आपको लंबे समय तक चलने वाली ऊर्जा प्रदान करेंगे।

तो इन कारगर नुस्खों को अपनाकर रात में बेवक्त जागने को अलविदा कहें!