लीवर को डिटॉक्स करने के बेहतरीन प्राकृतिक नुस्खे

जून 27, 2019

एक अस्वस्थ लीवर आपके शरीर में फैट मेटाबोलिज्म को धीमा कर वज़न घटाने की प्रक्रिया को भी धीमा बना देता है। इसलिए संभावित समस्याओं की ओर ध्यान देकर अपने लीवर को डिटॉक्स करना बेहद ज़रूरी होता है।

अपने लीवर को डिटॉक्स करने का यह प्राकृतिक इलाज करते वक़्त शराब या फ़ास्ट फ़ूड जैसे किसी भी हानिकारिक पदार्थ का सेवन करने से बचना बेहद ज़रूरी है।

अगर आपको एक-दो दिन तक थकान, चिड़चिड़ापन या असुविधा महसूस होती है तो हो सकता है यह अकारण ही हो। लेकिन अगर आपके साथ ऐसा अक्सर होता है तो आप समझ लीजिए कि आपके लिए अपनी आदतें बदलकर अपने शरीर को डिटॉक्स करने का वक़्त आ गया है।

अपने शरीर से विषैले तत्वों को निकाल बाहर करने का इकलौता तरीका डिटॉक्सिफिकेशन ही होता है।

साल में एकाध बार अपने लीवर को डिटॉक्स कर लेना कोई इतना बुरा ख्याल भी नहीं है, भले ही आपको लीवर की समस्याएं हों या नहीं। आखिर इससे हमारी सेहत को काफ़ी फायदा जो पहुँचता है।

कई लोग हमेशा थका-थका महसूस करते हैं। इस थकावट का कारण आपके लीवर में छिपी कोई समस्या भी हो सकती है।

लीवर के संभावित असंतुलन के ये संकेत भी हो सकते हैं:

  • त्वचा अस्वस्थ पीले रंग की हो जाती है, जो बेशक उसका प्राकृतिक रंग नहीं है।
  • पेशाब काफ़ी गहरे रंग का हो जाता है। ध्यान दें कि यह रंग ज़्यादा पानी न पीने पर होने वाले पेशाब के गहरे रंग से ज़्यादा गहरा होता है।
  • आपका मल बेहद गहरे, तारकोल जैसे रंग का, पीला-सा या खून के धब्बों वाला हो सकता है।

लीवर की सफाई करने वाले अजमोद के गुण

अजमोद की चाय

अजमोद (पार्सले) औषधीय खूबियों वाली एक जड़ी-बूटी है। आमतौर पर इसका इस्तेमाल हद से ज़्यादा शराब पीने या जलन पैदा करने वाले फैटी फूड्स का सेवन करने से उत्पन्न होने वाली लीवर की बीमारियों के इलाज में किया जाता है।

अपने मूत्रवर्धक गुणों की वजह से अजमोद का व्यापक रूप से प्रयोग किया जाता है। यह लीवर की सफाई कर प्राकृतिक रीजेनरेशन की प्रक्रिया में मदद करता है।

इसलिए यह ज़हरीले पदार्थों को हटाकर शरीर में पानी के अतिरेक को मूत्र के रूप में निकालकर उसकी सफाई कर देता है।

सामग्री

  • एक चम्मच अजमोद (5 ग्राम)
  • एक गिलास पानी (200 मिलीलीटर)

बनाने की विधि

  • पानी को गरम कर उसमें अजमोद डाल दें।
  • उसे पंद्रह मिनट तक उबलने दें। फिर उसकी भाप को निकाल दें।
  • मिश्रण को बीस मिनट तक बैठ जाने दें और फिर उसे पी लें।
  • इस पेय का पूरा फायदा उठाने के लिए एक हफ्ते तक रोज़ाना एक गिलास पिएं

इसे भी पढ़ें: फैटी लीवर से मुकाबले के अविश्वसनीय प्राकृतिक नुस्ख़े

लीवर में सुधार लाने के लिए औषधीय अजमोद और सेलरी का जूस

सेलरी जूस की मदद से अपने लीवर को डीटॉक्स करें

हमें नियमित रूप से अपने लीवर को डिटॉक्स करते रहना चाहिए ताकि वह अच्छे से काम करता रहे। ऐसा करने से आप अपने शरीर में फैट के तोड़े जाने की प्रक्रिया को तेज़ कर सभी अंगों और तंत्रों के कामकाज में सुधार ले आएंगे।

इस नुस्खे की मदद से अपने लीवर के प्राकृतिक कार्यों को आप 5 दिनों के अंदर बहाल कर देंगे।

सामग्री

  • दो कप पानी (500 मिलीलीटर)
  • दो नींबूओं का रस
  • ताज़े अजमोद का एक गुच्छा
  • सेलरी के तीन डंठल

बनाने की विधि

  • सबसे पहले तो सभी चीज़ों को अच्छी तरह से धो लें।
  • फिर सारी सामग्री को ब्लेंडर में डाल दें।
  • तीन मिनट तक ब्लेंडर में प्रोसेस करने के बाद उसे परोसें।
  • इसे दिन में दो बार पिएं – पहली बार सुबह खाली पेट और दूसरी बार रात को सोने से पहले।

इसे भी आज़माएं: 7 फायदे जो आप 20 दिन की सेलरी डाइट प्लान के ज़रिये उठा सकते हैं

लीवर को डीटॉक्स करने के लिए कच्चा सेब और सेलरी शेक

कच्चे सेब और सेलरी शेक से अपने लीवर को डीटॉक्स करें

अपनी डिटॉक्स करने वाली खूबियों की वजह से सेहतमंद हरे शेक्स काफ़ी मशहूर हो गए हैं।

रोगों से बचाने, घातक कोलेस्ट्रॉल (एल.डी.एल.) को कम करने, खून में शुगर के स्तर को नियंत्रण में रखने, तृप्ति का एहसास दिलाने और शरीर को ज़रूरी विटामिन और मिनरल प्रदान करने के लिए ये हमारे शरीर की सफाई कर उसे डिटॉक्स करते हैं

हरी सब्ज़ियों से बने हरे शेक लीवर की सफाई करने का सबसे अच्छा विकल्प होते हैं।

कई शेक अपनी जबरदस्त खूबियों को मिलाकर लीवर की समस्याओं समेत कई बीमारियों का इलाज कर आपके शरीर को ज़्यादा स्वस्थ बना देते हैं।

आप दिन में कितने सेब खाते हैं?

डॉक्टर रोज़ाना नाश्ते में एक हरा सेब खाने की सलाह देते हैं।

हरे सेब सर्वोत्तम विकल्प इसलिए होते हैं कि वे हमारे ब्लड शुगर लेवल को कम कर हमारी सेहत के लिए बेहद फायदेमंद होते हैं। इसके अलावा, एंटीऑक्सीडेंट्स के अपने कमाल के स्तर की वजह से लीवर को डिटॉक्स कर उसकी सफाई करने के लिए भी अक्सर उनका इस्तेमाल करने को कहा जाता है

सेब के अंदर लीवर और किडनी में पथरी बनने से रोकने वाले मैलिक एसिड होते हैं।

सामग्री

  • चार टुकड़ों में कटा एक सेब
  • सेलरी के चार डंठल
  • तीन कप पानी (750 मिलीलीटर)

बनाने की विधि

  • किसी ब्लेंडर में सभी चीज़ों को डालकर उन्हें तीन मिनट तक प्रोसेस करें
  • भोजन से पहले इस स्वादिष्ट शेक का एक गिलास पिएं।

एक ख़ास सलाह: इस लीवर डिटॉक्स डाइट का पालन करते समय जंक फ़ूड, फैटी फूड और शराब जैसी चीज़ों के सेवन से एक हफ्ते तक परहेज़ करें

  • Klein, A. V., & Kiat, H. (2015). Detox diets for toxin elimination and weight management: A critical review of the evidence. Journal of Human Nutrition and Dietetics. https://doi.org/10.1111/jhn.12286
  • Ishibashi, H., Nakamura, M., Komori, A., Migita, K., & Shimoda, S. (2009). Liver architecture, cell function, and disease. Seminars in Immunopathology. https://doi.org/10.1007/s00281-009-0155-6
  • Jakovljevic, V., Raskovic, A., Popovic, M., & Sabo, J. (2002). The effect of celery and parsley juices on pharmacodynamic activity of drugs involving cytochrome P450 in their metabolism. European Journal of Drug Metabolism and Pharmacokinetics. https://doi.org/10.1007/BF03190450