अपनी अंडरआर्म्स को डिटॉक्स करें, ब्रेस्ट कैंसर रोकें

09 अक्टूबर, 2018
बाज़ार में मिलने वाले ज्यादातर डिओडोरेंट में ख़तरनाक केमिकल होते हैं जो आपके शरीर के लिए हानिकारक हो सकते हैं। इसलिए टॉक्सिन यानी जहरीले वेस्ट से छुटकारा पाने और ब्रेस्ट कैंसर से बचने के लिए डिटॉक्सिंग यानी विषहरण करना बहुत ज़रूरी है।

आजकल दुनिया भर में लोग पर्सनल केयर के लिए डिओडोरेंट और एंटीएस्पिरेंट (antiperspirant) का इस्तेमाल आम तौर पर करते हैं।

इनके इस्तेमाल का उद्देश्य है, अत्यधिक पसीना न आने देना और बैक्टीरिया की ग्रोथ रोकना ताकि शरीर से दुर्गंध न आए।

एक बात जो अधिकतर लोग नहीं जानते हैं, वह यह कि इनमें कुछ टॉक्सिक पदार्थ होते हैं जो त्वचा के अंदर प्रवेश कर जाते हैं और इनके कारण गंभीर बीमारियां जैसे कि कैंसर और अल्ज़ाइमर रोग हो सकते हैं।

अगर आपको यब बात पढ़कर चिंता होने लगी है तो हम आपको बता दें, कुछ अध्ययनों में यह सामने आया है कि किसी स्थान विशेष पर लगाने पर पैराबेंस (Parabens), फथेलेट (Phthalates) और एलुमिनिम जैसे पदार्थ ब्रेस्ट कैंसर (स्तन कैंसर) का कारण बन सकते हैं।

ऐसा इसलिए होता है क्योंकि ये पदार्थ आपके शरीर की हार्मोन नियंत्रक गतिविधि में बाधा डाल देते हैं जिससे एस्ट्रोजन (estrogen) का स्तर असंतुलित हो जाता है।

स्थिति तब और बदतर हो जाती है जब ये पदार्थ आपकी अंडरआर्म के सूक्ष्म छिद्रों को ब्लॉक कर देते हैं और जिस कारण टॉक्सिन शरीर से बाहर नहीं निकल पाते हैं।

इसी कारण पिछले कुछ समय से प्राकृतिक चीज़ों से डिटॉक्स करने के कई तरीकों को परखा जा रहा है। ये तरीके अंडरआर्म्स से बैक्टीरिया और वहां एकत्र रासायनिक अवशेष हटाते हैं।

इन डिटॉक्स ट्रीटमेंट को घर में आसानी से बनाया जा सकता है। ये कमर्शियल उत्पादों के नुकसानदायक प्रभावों से बचाने और ब्रेस्ट कैंसर की रोकथाम में आपकी मदद करते हैं।

अंडरआर्म्स डिटॉक्स करना ज़रूरी क्यों?

अंडरआर्म्स डिटॉक्स करना ज़रूरी क्यों

अंडरआर्म क्षेत्र में कई स्वेद ग्रंथियां (Sweat Glands) होती हैं। ये पसीना बाहर निकालकर शरीर का तापमान नियमित करती हैं और टॉक्सिन हटाती हैं। साथ ही, शरीर में पानी की सही मात्रा बनाए रखने में आपकी मदद करती हैं।

आपकी प्राकृतिक pH में कोई गंध नहीं होती। हालांकि इसमें तब परिवर्तन हो जाता है जब बैक्टीरिया सड़न पैदा करना शुरू कर देते हैं और उन्हें अपनी संख्या बढ़ाने के लिए सही वातावरण मिल जाता है।

इसे भी पढ़ें:  अंडरआर्म फैट को ख़त्म करने के लिए एक्सरसाइज

इस अप्रिय गंध के कारण ही बहुत से लोग रासायनिक उत्पादों का इस्तेमाल दुर्गंध बेअसर करने और अंडरआर्म्स में ताज़गी का अहसास पाने के लिए करते हैं।

शायद आप न जानती हों पर इसमें एक समस्या है। अक्सर केमिकल त्वचा पर ही बचे रह जाते हैं और शरीर इन्हें सोख सकता है।

अगर इनका मात्रा अति अल्प हो तो कोई समस्या नहीं होती है। लेकिन लंबे समय तक इस्तेमाल से केमिकल त्वचा पर एकत्र हो सकते हैं और गंभीर बीमारियों की शुरुआत का कारण बनते हैं।

ऐसी स्थिति में डिटॉक्स की भूमिका महत्वपूर्ण हो जाती है। इसकी मदद से आप एकत्र हुए हानिकारक पदार्थों को हटाकर ब्रेस्ट कैंसर की रोकथाम कर सकती हैं।

यह डिटॉक्स तैयार करने के लिए आप जिस सामग्री का इस्तेमाल करती हैं, वह टॉक्सिन मुक्त होती है। इसमें एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं जिनका इस्तेमाल कमर्शियल हाइजीन प्रोडक्ट के स्थान पर किया जा सकता है।

यहां इसके इस्तेमाल का मुख्य उद्देश्य आपके शरीर से टॉक्सिन की सफ़ाई करना है। हालांकि आप इसका इस्तेमाल दुर्गंध दूर करने और pH में बदलाव पर नियंत्रण पाने के लिए भी कर सकती हैं।

अंडरआर्म्स को डिटॉक्स और ब्रेस्ट कैंसर की रोकथाम कैसे करें

अंडरआर्म्स डिटॉक्स और ब्रेस्ट कैंसर

अंडरआर्म्स क्षेत्र में अत्यधिक टॉक्सिन से जुड़े खतरों को देखते हुए इसे प्राकृतिक रूप से डिटॉक्स करने और ब्रेस्ट कैंसर की रोकथाम के लिए नीचे दिया सरल उपाय अपनाना समझदारी का काम है।

इसके लिए ज़रूरी सामग्री बाज़ार या हर्बल शॉप में आसानी से मिल जाती है। हालांकि आपको यह सुनिश्चित कर लेना चाहिए कि उत्पाद पूरी तरह ऑर्गेनिक हों।

इसे भी पढ़ें: स्तन कैंसर के 9 लक्षण जिन्हें सभी महिलाओं को जान लेना चाहिए

पहली सामग्री है सेब का सिरका (Apple Cider Vinegar)। इसमें नेचुरल एसिड होते हैं जो बैक्टीरिया, फंगस और टॉक्सिन की मौजूदगी घटाते हैं।

इसके अलावा कुछ एसेंशियल ऑयल हैं जो दुर्गंध छिपाने के साथ-साथ उसे पैदा करने वाले सूक्ष्मजीवों से छुटकारा दिलाते हैं।

यही नहीं, बेंटोनाइट क्ले (bentonite clay) मृत त्वचा कोशिकाएं हटाने में सहायता करती है। यह एकत्र टॉक्सिन को हटाने में शेष सामग्री की मदद भी करती है।

सामग्री

  • 1 चम्मच सेब का सिरका (10 मिलीलीटर)
  • 3 बूंदें रोज़मेरी एसेंशियल ऑयल की
  • 5 बूंदे कोरिएंडर एसेंशियल ऑयल की
  • 1 चम्मच बेंटोनाइट क्ले (10 ग्राम)

तैयारी

  • सेब का सिरका किसी कांच के कटोरे में डालें और इसमें बेंटोनाइट क्ले मिला दें।
  • जब ये दोनों अच्छी तरह मिल जाएं तो इसमें एसेंशियल ऑयल डालें और तब तक मिलाएं जब तक कि क्रीम न बन जाए।
  • इस्तेमाल करने से पहले इसे कुछ घंटे के लिए ऐसे ही छोड़ दें।

इसका इस्तेमाल कैसे करें

  • इस ट्रीटमेंट से पहले आप अपनी अंडरआर्म्स को अच्छी तरह साफ़ कर लें ताकि किसी भी कमर्शियल एंटीएस्पिरेंट के सूक्ष्म अवशेष हट जाएं।
  • इस प्रोडक्ट की एक पतली परत अपनी अंडरआर्म्स में धीरे-धीरे गोल-गोल घुमाकर मसाज करते हुए लगाएं।
  • इसे पांच मिनट तक लगा रहने दें और फिर ठंडे पानी से धो डालें।
  • दो से तीन हफ़्ते तक इसका रोज़ाना इस्तेमाल करें।
  • इस ट्रीटमेंट को ज्यादा असरदार बनाने के लिए खूब पानी पियें और प्रचुर मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट वाली चीज़ें खाएं।

यह तरीका न केवल अंडरआर्म्स क्षेत्र से टॉक्सिन की मौजूदगी कम करेगा बल्कि दुर्गंध और देखने में ख़राब लगने वाले गहरे दाग़ों से भी छुटकारा दिलाएगा।

अंडरआर्म्स क्षेत्र में टॉक्सिक पदार्थों का जमाव रोकने के लिए आपको पर्सनल हाइजीन प्रोडक्ट खरीदते समय सावधानी बरतनी चाहिए।

अगर आप लेबल अच्छी तरह पढ़ेंगी तो उन तत्वों या फार्मूलों की पहचान कर पाएंगी जो बहुत ज़्यादा हानिकारक नहीं हैं।

  • Meunier, A. (2005). Clays. In Clays. https://doi.org/10.1007/b138672
  • Johnston CS, Gaas CA. Vinegar: medicinal uses and antiglycemic effect. MedGenMed. 2006;8(2):61. Published 2006 May 30.
  • Erkan, N., Ayranci, G., & Ayranci, E. (2008). Antioxidant activities of rosemary (Rosmarinus Officinalis L.) extract, blackseed (Nigella sativa L.) essential oil, carnosic acid, rosmarinic acid and sesamol. Food Chemistry. https://doi.org/10.1016/j.foodchem.2008.01.058
  • Moosavi M. Bentonite Clay as a Natural Remedy: A Brief Review. Iran J Public Health. 2017;46(9):1176–1183.