स्तन कैंसर के 9 लक्षण जिन्हें सभी महिलाओं को जान लेना चाहिए

स्तन कैंसर को शुरुआत में ही पकड़ लेने और प्रभावी ट्रीटमेंट पा लेने के लिए इसके संभावित संकेतों और लक्षणों को जानना महत्वपूर्ण है। 
स्तन कैंसर के 9 लक्षण जिन्हें सभी महिलाओं को जान लेना चाहिए

आखिरी अपडेट: 11 जुलाई, 2018

स्तन कैंसर महिलाओं में सबसे आम प्रकार के कैंसर में से एक है। वास्तव में, यह पूरी आबादी में मौत का दूसरा सबसे बड़ा कारण है।
हालांकि इसकी पहचान के तरीके बहुत उन्नत हो चुके हैं, लेकिन फिर भी आसानी से फ़ैल जाने की वजह से यह सबसे आक्रामक तरह का कैंसर है।
इसमें घातक कोशिकाएं कैपिलरी और लिम्फैटिक सिस्टम के माध्यम से यात्रा करके शरीर के चारों ओर घूमने में सक्षम होती हैं। इसलिए ये शरीर के दूसरे हिस्सों को भी प्रभावित करती हैं।
इस कारण से, यह जानना ज़रूरी है कि यह रोग अपने शुरुआती स्टेज में खुद को कैसे व्यक्त करता है, और कब मेडिकल सलाह लेना और पेशेवर चिकित्सक के टेस्ट कराना ज़रूरी हो जाता है।
इस लेख में, हम 9 लक्षणों की बात करना चाहते हैं जिन्हें स्तन कैंसर के संभावित संकेतों के रूप में खारिज नहीं किया जाना चाहिए।
आइये उनके बारे में विस्तार में जानते हैं!

1. स्तन कैंसर में गांठ होना (Breast Lumps)

स्तन कैंसर के लक्षण

आपके स्तनों और कांख (armpits) में पिंड या छोटी गांठों का अचानक से होना एक लक्षण है जिसे डॉक्टर की मदद से जाँचना चाहिए।
स्तन कैंसर वाले मरीजों में यह लक्षण आम है। ऐसा इसलिए है क्योंकि यह रोग सूजन प्रक्रियाओं और लिम्फैटिक सिस्टम की एक्टिविटी को प्रभावित करता है।
हालांकि, सौभाग्य से, कई बार वे संक्रमण या सिस्ट के कारण बने नोड्युल होते हैं।

2. स्तन कैंसर में असामान्य रक्तस्राव

हार्मोनल असंतुलन से पीड़ित लोगों में असामान्य रक्तस्राव एक बहुत ही आम लक्षण है। इसके बावजूद, इसके बारे में जागरूक होना चाहिए, खासकर अगर यह सामान्य नहीं है।
स्तन कैंसर के मामले में, कई महिलाओं को एक या दोनों निपल्स में थोड़ा खून बहता है।
यदि ऐसा है, तो चिकित्सक से जांच करवाना सबसे अच्छी बात है।
इसे भी पढ़ें:

3. स्तन की त्वचा में परिवर्तन

स्तन कैंसर: त्वचा में परिवर्तन

जब स्तन कैंसर गंभीरता से ग्रोथ करना शुरू कर देता है, तो स्तन को ढकने वाली त्वचा कुछ बदलाव दिखाती है, जो चेतावनी सूचक संकेत के रूप में कार्य करती है।
डॉक्टर से परामर्श करना महत्वपूर्ण है, यदि:
  • स्तन पर त्वचा लाल दिखाई देती है,
  • त्वचा के रंग में अल्सर दिखाई देते हैं या असामान्य परिवर्तन प्रकट होते हैं,
  • सेल्युलाईट या “ऑरेंज पील” जैसे आकार बनने लगते हैं।

4. धंसे हुए निपल्स

सभी महिलाओं को नियमित रूप से अपने स्तनों पर निगरानी रखनी चाहिए और सावधानीपूर्वक उनका ऑब्जरवेशन करना चाहिए। इसके अलावा, मौजूद किसी भी असामान्यता के लिए निपल्स की जांच की जानी चाहिए।
एक या दोनों निपल्स का पीछे हटना या धंसना अक्सर ब्रैस्ट ट्यूमर का एक स्पष्ट लक्षण होता है।

5. दर्द और कोमलता

स्तन कैंसर: दर्द

इस प्रकार के कैंसर के शुरुआती चरणों में स्तनों को छूते समय दर्द या कोमलता का होना बहुत दुर्लभ होता है।
चूंकि कैंसर कोशिकाएं बढ़ती रहती हैं, इसलिए यह लक्षण बार-बार प्रकट होता है।
  • आपको यह भी ध्यान में रखना चाहिए कि यह प्रीमेनस्ट्रल सिंड्रोम, मास्टिटिस और अचानक होने वाले हार्मोनल परिवर्तनों का एक आम लक्षण भी है।
  • फिर भी, आपको कैंसर से संबंधित अपनी चिंता को खारिज करने में जल्दबाज़ी नहीं दिखानी चाहिए। इस मामले में, अपने शरीर को जानना महत्वपूर्ण है।\

6. असामान्य स्राव

स्तन से हो रहे स्राव ब्रैस्टफीडिंग के समय या निप्पल संक्रमण से भी हो सकते हैं।
लेकिन बीमारी की प्रगति होने पर इस प्रकार के कैंसर वाले रोगियों की एक बड़ी संख्या इस लक्षण को अनुभव करती है।
इन मामलों में, आप एक सफेद या पीले रंग के पारदर्शी स्राव को देख सकते हैं जो अक्सर एक अप्रिय गंध के साथ होता है।

7. स्तन के आकार में परिवर्तन

स्तन कैंसर: स्तन के आकार में परिवर्तन

स्तन टिश्यू में असामान्य कोशिकाओं की वृद्धि एक या दोनों स्तनों के आकार में परिवर्तन कर सकती है।
स्तन में सूजन या सामान्य से अलग आकार का होना ही मेडिकल सलाह लेना अनिवार्य बना देता है।

8. अचानक वजन घटना

महिलाएं जिनका अचानक और बिना किसी कारण के वजन कम हो जाता हैं, उन्हें सावधानीपूर्वक ध्यान देना चाहिए।
हालांकि कुछ लोगों को यह एक आशीर्वाद लग सकता है, पर इसके पीछे एक गंभीर विकार हो सकता है जिसे समझना आवश्यक है।
घातक कोशिकाओं की उपस्थिति शरीर की मेटाबोलिज्म एक्टिविटी को प्रभावित करती है, जो पोषक तत्वों की कमी और वजन कम होने का कारण बनता है।

9. कमजोरी और थकान

कमजोरी और थकान का एहसास उन लोगों के लिए सामान्य होता है जो कई घंटों तक काम करते हैं, या भारी फिजिकल एक्टिविटी करते हैं।
स्वस्थ जीवनशैली को बनाए रखने के बावजूद जब यह अचानक और बार-बार होता है, तब यह सामान्य बात नहीं होती।
जब यह तय हो जाए, यह एक संकेत है, शरीर में कुछ सही नहीं है, और बीमारी से लड़ने के लिए इसकी ऊर्जा का अधिकतर उपयोग किया जा रहा है।
क्या आप इनमें से किसी भी लक्षण को पहचानते हैं? यदि ऐसा है, तो जल्द से जल्द पर्याप्त ध्यान दिए जाने के लिए डॉक्टर से सलाह लें। याद रखें, जितनी जल्दी डायग्नोसिस होगी, उतने अधिक जीवित रहने का मौका है।