3 चीज़ें जो धमनियों की सफ़ाई में चमत्कारी हैं

जनवरी 30, 2019
ख़राब पोषण वाले आहार, सुस्त लाइफस्टाइल और स्ट्रेस का हमारी आर्टरीज़ की सेहत पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। जानिये, इन तीनों सामग्रियों से आप अपने कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड  लेवल को कैसे घटा सकते हैं।

ख़राब पोषण वाले आहार हमारी धमनियों की सेहत पर नेगेटिव असर पड़ता है। इन तीन सामग्रियों का मिश्रण रक्त संचालन को बेहतर बनाने के लिए धमनियों की सफ़ाई में अद्भुत मददगार हो सकता है। 

धमनियों की सफ़ाई में चमत्कारी हैं garlic-lemon-honey

धमनियों की सफ़ाई करने का मतलब है, आपके कॉलेस्ट्रोल और ट्राइग्लिसराइड के स्तर को नीचे रखना।

ऐसे लिपिड का संचय उम्र बढ़ने के साथ-साथ ज्यादा हो सकता है जो हमारे स्वास्थ्य के लिए खतरनाक हो सकता है।

अनुचित खानपान और अस्वस्थकर लाइफस्टाइल हैबिट, जैसे सुस्ती, निष्क्रियता या भयानक तनाव झेलने की आदत आदि अन्ततः हाइपरकोलेस्ट्रॉलेमिया (hypercholesterolemia) के विकसित होने में सहायक हैं।

हालांकि कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड के मामले में मुश्किल यह है कि इनका कोई ठोस लक्षण नहीं दिखता

इसे आप सिर्फ खून की जांच में पहचान सकते हैं अगर कोलेस्ट्रॉल अपनी मानक मात्रा 200 एमजी/डी एल या ट्राइग्लिसराइड 150 एमजी/डी एल से ऊपर हो जाए।

संभवतः आपके डॉक्टर ही बता देंगे कि इसके लिए आपको दवा लेनी चाहिए या नहीं। फिर भी, सबसे पहला काम आपको यह करना चाहिए कि आपको अपने आहार में सुधार कर लेना चाहिए।

कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड के स्तर को कम करने के लिए कुछ आसान से उपचार अपने आहार में शामिल कर लेने की हम आपसे सिफारिश करते हैं।

धमनियों की सफ़ाई कैसे करें (How to clean the arteries)

1. अदरक : कोलेस्ट्रॉल घटाने में असरदार

कई शोधों से पता चला है कि अदरक की जड़ धमनियों में कोलेस्ट्रॉल के स्तर कम करने में उपयोगी है। 

क्योंकि अदरक की जड़ में उच्च स्तर का एंटीऑक्सीडेंट है।

कुछ अन्य लाभ ये हैं :

  • अदरक में बी एच ए (BHA), और बी एच टी (BHT) जैसे एंटीऑक्सिडेंट मौजूद हैं। ये दोनों ही धमनियों में बनने वाले लिपिड पेरॉक्सिडेशन के ट्रीटमेंट में बहुत प्रभावी हैं।
  • वैसे ही, कोशिका की क्षति रोकने में अदरक अच्छा काम करती है। इससे कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड दोनों पर नियंत्रण होता है।
  • यह धमनियों की दीवार पर पट्टिका (plaque) को जमने से रोकती है। जबकि पूरे कॉरोनरी प्रणाली में रक्त संचालन को समुचित सहयोग देता है।

इस संबंध में जानें:  हाई ब्लड प्रेशर के इलाज़ के लिए 5 प्राकृतिक नुस्खे

2. लहसुन : कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड का कुदरती दुश्मन

धमनियों की सफ़ाई में चमत्कारी हैं अदरक और लसुन

व्यापक रूप से उपयोग होने वाला यह एक हर्बल एक सप्लीमेंट है जो कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड्स को कम करने में प्रयुक्त होता है।

याद रखें, हालांकि लहसुन संचयी प्रभाव प्रदान करता है। दूसरे शब्दों में कहें तो, इसका प्रयोग तीन सप्ताह तक करने के बाद प्रभावी ढंग से यह कोलेस्ट्रॉल और ट्रग्लिसराइड्स को कम करना शुरू करता है।

लहसुन में पाया जाने वाला विशेष यौगिक है एलिसिन (allicin)। केवल यह विशेष सुगंध और स्वाद ही नहीं देता है, धमनियों की दीवार पर बनने वाले कोलेस्ट्रॉल को भी रोकता है।

इसके अतिरिक्त, हृदय को स्वस्थ रखने के लिए भी लहसुन में निश्चित रूप से कुछ फायदे हैं। यह एक प्राकृतिक और बेहद प्रभावी जीवाणुरोधक है। इसमें मूत्र वर्द्धक औषधि, आंतरिक शुद्धिकारक और रोगाणुरोधक गुण भी हैं।

3. नींबू : अचूक प्राकृतिक औषधि

नींबू : धमनियों की सफ़ाई में अचूक प्राकृतिक औषधि

विटामिन सी का उपयोग प्रभावशाली ढंग से खराब कोलेस्ट्रॉल (एल डी एल) को बढ़ने से रोकता है वैसे ही ट्राइग्लिसराइड का इलाज भी करता है।

यह नियमित आपके आहार में शामिल करने लायक है। लहसुन, अदरक और नींबू से बढ़कर कौन सी औषधि हो सकती है?

यहाँ इस खट्टे फल के कुछ अद्भुत फायदे देखें :

  • प्राकृतिक नींबू के रस से हमें विटामिन C ही नहीं, इससे कुछ ज्यादा ही प्राप्त होता है। इसमें उपस्थित फाइबर का महत्वपूर्ण स्तर हमारी धमनियों से हानिकारक प्लेक को अच्छी तरह साफ करने में सहायक है।
  • नींबू का घुलनशील फाइबर पाचन तंत्र से पानी को सोख लेता है। इस प्रकार एक घना सा पदार्थ का गठन होता है। कोलेस्ट्रॉल से भरा हुआ पित्त इस पदार्थ में अटक जाता है और हमारे शरीर से दूर हो जाता है।
  • हम नींबू के छिलके में उपस्थित फ्लेवोनॉइड्स को नजरअंदाज नहीं कर सकते। कोलेस्ट्रॉल के स्तर को घटाने में इसकी शक्ति असाधारण है।

अब हम यह समझ लेंगे कि कैसे इन तीनों पावरफुल चीजों को मिलाकर धमनियों की सफ़ाई के लिए एक महत्वपूर्ण औषधि बनती है।

इसे भी पढ़े : ये 9 खाद्य खाकर प्राकृतिक तरीके से अपनी धमनियों की सफ़ाई करें

धमनियों की सफ़ाई का अचूक नुस्खा कैसे बनाएं

धमनियों की सफ़ाई का अचूक नुस्खा कैसे बनाएं

सामग्री

  • एक कप नींबू का रस (250 एम एल)
  • लहसुन की एक गांठ
  • एक छोटी चम्मच ताजा अदरक का रस (2 ग्राम)
  • एक छोटी चम्मच शहद (7.5 ग्राम)

तैयार करने की विधि

  • सबसे महत्वपूर्ण है कि आप ऑर्गेनिक लहसुन, नींबू और अदरक का उपयोग करें। इससे आप अत्यधिक मात्रा में विटामिन और खनिज प्राप्त कर सकते हैं।
  • एक कप नींबू का रस निचोड़ लें।
  • इसके बाद इसमें लहसुन की गांठ, ताजी अदरक और एक चम्मच शहद को मिक्सी में नींबू के रस के साथ डाल दें।
  • अच्छी तरह घुल जाने तक मिलाएं। लहसुन और अदरक बहुत बारीक कटी होनी चाहिए।

विटामिन और एंटीऑक्सिडेंट से भरपूर इस औषधि का सेवन सुबह खाली पेट करें।

आप इस उपचार को लगातार 15 दिनों तक कर सकते हैं। फिर एक सप्ताह छोड़ देने के बाद इसे दोबारा करें

ध्यान रखें कि आप कैसा अनुभव करते हैं। इसके बाद इस औषधि को नियमित रूप से अपने आहार का एक हिस्सा बना लें।

नियमित रूप से धमनियों की सफ़ाई करते हुए इन्हें स्वस्थ रखना न भूलें। आपकी धमनियां भी आपका शुक्रगुजार रहेंगी।

  • Matsumoto, S., Nakanishi, R., Li, D., Alani, A., Rezaeian, P., Prabhu, S., … Budoff, M. J. (2016). Aged Garlic Extract Reduces Low Attenuation Plaque in Coronary Arteries of Patients with Metabolic Syndrome in a Prospective Randomized Double-Blind Study. The Journal of Nutrition. https://doi.org/10.3945/jn.114.202424
  • DeBoer, L. W. V, & Folts, J. D. (1989). Garlic extract prevents acute platelet thrombus formation in stenosed canine coronary arteries. American Heart Journal. https://doi.org/10.1016/0002-8703(89)90641-8