6 पुराने पारंपरिक घरेलू नुस्ख़े आजमाकर लेटते ही नींद पायें

फ़रवरी 5, 2019
हमारे शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य के लिए नींद काफ़ी अहमियत रखती है। क्या आपकी नींद पूरी हो पा रही है? झट से सो पाने के इन उपायों के बारे में जानने के लिए पढ़ें हमारा यह लेख! ये नुस्ख़े बहुत पुराने हैं, और पारंपरिक रूप से घरों में अमल में लाये जाते हैं।

दिन में कम से कम 8 घंटे की अच्छी नींद लेना एक ऐसी आदत है, जो हमारे तन और मन को स्वस्थ बनाए रखती है। भले ही हम यह न जानते हों कि सोते वक़्त हमारे आसपास क्या होता है, लेकिन हमारा शरीर ऐसे कई ज़रूरी काम करना जारी रखता है, जिन्हें दिन के बाकी समय पूरा नहीं किया जा सकता। इसीलिए हमारी नींद इतनी अहमियत रखती है।

दरअसल पर्याप्त नींद मिलने का संबंध कुछ हॉर्मोन की रचना, हमारे दिमाग की गतिविधियों व हमारे मेटाबोलिक रेट से होता है।

इसीलिए अपने आराम में आपको हरगिज़ कटौती नहीं करनी चाहिए। हालांकि कभी-कभी इंसॉम्निया (अनिद्रा) आपकी नाक में दम कर सकती है, उससे निपटने के विकल्पों को आपको खोज निकालना चाहिए।

खुशकिस्मती से, प्राकृतिक तत्वों से भरपूर दादी-माँ के ज़माने के ऐसे कई घरेलू नुस्खे हैं, जिनकी मदद से साइड इफेक्ट के बगैर आप इस समस्या का समाधान कर सकते हैं

इस आर्टिकल में अच्छी नींद प्राप्त करने के ऐसे ही 6 पारंपरिक उपायों को हम आपके साथ साझा करना चाहेंगे।

1. एप्पल साइडर विनेगर और शहद (Apple cider vinegar and honey)

चैन से सोने के लिए सेब साइडर सिरके का सेवन करें

एपल साइडर सिरके और शहद वाले उपाय की मदद से चैन की नींद हासिल करने से रोकने वाली बेचैनी का हम मुकाबला कर सकते हैं

सामग्री

  • दो चम्मच सेब साइडर सिरका (20 मिलीलीटर)
  • एक चम्मच शहद (25 ग्राम)
  • एक कप पानी (250 मिलीलीटर)

बनाने व सेवन की विधि

  • सेब साइडर सिरके और शहद को एक कप गर्म पानी में मिलाकर उस मिश्रण को सोने से आधे घंटा पहले पिएं

इसे भी आजमायें : 5 एक्यूप्रेशर पॉइंट अपने चेहरे पर आजमाएं और शानदार नतीजे पायें

2. केले के छिलके (Banana peels)

केले के छिलकों से बनी चाय में ट्रिप्टोफैन (tryptophan) के उच्च स्तर होते हैं। मेलाटोनिन के हमारे स्तरों में इज़ाफा करने में यह पदार्थ मददगार साबित होता है।

उसके सेडेटिव और सूजनरोधी प्रभाव हमें तनाव और थकान से राहत दिलाते हैं। सोने की हमारी परेशानियों के पीछे आखिर इन्हीं दो कारणों का तो हाथ होता है।

सामग्री

  • एक केले का छिलका
  • एक कप पानी (250 मिलीलीटर)
  • आधा चम्मच दालचीनी (2 ग्राम)

बनाने व सेवन की विधि

  • केले के छिलके को पानी में डालकर उसे कम आंच पर पांच मिनट तक उबलने दें
  • पांच मिनट के बाद उसमें दालचीनी डालकर उस मिश्रण को पंद्रह मिनट के लिए छोड़ दें
  • पीने लायक गर्म हो जाने पर उसे छानकर सोने से पहले पी लें

3. वैलेरियन चाय (Valerian tea)

वैलेरियन चाय की मदद से चैन की नींद लें

वैलेरियन चाय हमारी मांसपेशियों में आए खिंचाव से हमें राहत दिलाने वाला एक सेडेटिव और सूजनरोधी औषधीय नुस्खा होता है।

सामग्री

  • एक कप पानी (250 मिलीलीटर)
  • एक चम्मच वैलेरियन चाय (10 ग्राम)
  • शहद

बनाने व सेवन की विधि

  • एक चम्मच वैलेरियन चाय पत्ती को उबलते पानी में डाल दें।
  • पत्ती के सतह पर बैठ जाने के बाद उसे छानकर अपने स्वादानुसार उसमें शहद डाल दें।
  • सोने से 20 मिनट पहले उसे पिएं

इसे भी जानें : 7 लक्षण जो बताते हैं, आपको तुरंत पानी पीना चाहिए

4. लेटिष वाली चाय (Lettuce tea)

सलाद के पत्तों से बनने वाली यह नेचुरल ड्रिंक बेहतर नींद पाने के दादी-माँ के नुस्खों में से एक है।

इस चाय की खूबियाँ हमें चिंता और तनाव से आराम दिलाकर मन को शांत करती हैं ताकि हम चैन की नींद सो सकें।

सामग्री

  • सलाद (लेटिष) के तीन पत्ते
  • एक कप पानी (250 मिलीलीटर)
  • एक चम्मच शहद (25 ग्राम)

बनाने व सेवन की विधि

  • सलाद के पत्तों को काटकर उन्हें एक कप पानी में उबाल लें।
  • उबल जाने पर आंच को बंद कर उन्हें दस मिनट के लिए छोड़ दें
  • किसी छलनी से उस तरल को छान लें। फिर उसमें एक चम्मच शहद डालकर सोने से पहले उसे पी लें

5. कैमोमाइल चाय (Chamomile tea)

बेहतर नींद प्राप्त करने के लिए कैमोमाइल टी को आज़माकर देखें

इंसॉम्निया और नींद की परेशानियों से निपटने का कैमोमाइल टी आज भी एक प्राकृतिक समाधान है।

उसकी सूजनरोधी, सेडेटिव और आरामदेह खूबियाँ सोने से पहले हमारी मांसपेशियों और मन को रिलैक्स कर देती हैं

सामग्री

  • एक चम्मच कैमोमाइल के फूल (10 ग्राम)
  • एक कप पानी (250 मिलीलीटर)

बनाने व सेवन की विधि

  • एक कप उबलते पानी में कैमोमाइल के फूल डाल दें।
  • उस मिश्रण के बैठ जाने पर उसे छानकर पी लें
  • रोज़ रात को सोने से पहले उसका उसी मात्रा में सेवन करें।

6. सोने के लिए जायफल और दूध (Nutmeg and milk)

जायफल (नटमैग) और दूध से बनी इस ड्रिंक में ट्रिप्टोफैन के उच्च स्तर होते हैं।

इसमें मौजूद एसेंशियल एमिनो एसिड प्राकृतिक ढंग से सोने में मददगार न्यूरोट्रांसमिटरों के हमारे स्तर में बढ़ोतरी ला सकता है

सामग्री

  • एक चम्मच जायफल (5 ग्राम)
  • एक कप दूध (250 मिलीलीटर)

बनाने व सेवन की विधि

  • एक कप जायफल को एक कप गर्म दूध में डालकर इस ड्रिंक को सोने से पहले पिएं
  • इस ड्रिंक को रोज़ रात  तब तक पीते रहें, जब तक कि आपका इंसॉम्निया आपके काबू में नहीं आ जाता।

क्या आपको भी सोने में परेशानी होती है? उपर्युक्त किसी भी ड्रिंक को बनाकर रोज़ रात चैन से अपनी नींद पूरी करने के लिए उसे पिएं।

 

  • Bent S, Padula A, Moore D, Patterson M, Mehling W. Valerian for sleep: a systematic review and meta-analysis. Am J Med 2006;119(12):1005-12.
  • Jacobs BP, Bent S, Tice JA, Blackwell T, Cummings SR. An internet-based randomized, placebo-controlled
    trial of kava and valerian for anxiety and insomnia. Medicine (Baltimore) 2005;84(4):197-207.
  • Medina Ortiz, Oscar, Sánchez-Mora, Nora, Fraguas Herraez, David, & Arango López, Celso. (2008). Valeriana en el tratamiento a largo plazo del insomnio. Revista Colombiana de Psiquiatría37(4), 614-626.
  • Fundación Española de Nutrición. Nuez moscada. 2010 fen.org.es/mercadoFen/pdfs/nuezmoscada.pdf