5 नुस्खे: नारियल तेल का इस्तेमाल करके स्ट्रेच मार्क्स और निशान को कम करने के लिए

दिसम्बर 28, 2018
नारियल के तेल में पाए जाने वाले फैटी एसिड और इसके इलाज के गुणों की वजह से यह स्ट्रेच मार्क्स और दूसरे चोट के निशानों को कम करने के लिए एक बहुत ही कारगर इलाज है।

हम सभी एक सुन्दर और मुलायम त्वचा पाने का सपना देखते हैं। हालांकि, जैसे उम्र बढती जाती है,  शरीर पर निशान पड़ते जाते हैं जो इस सपने को पूरा करने की उम्मीदों को खत्म कर देती हैं। अक्सर, जब प्रेगनेंसी या शरीर के वजन में कोई बड़ा बदलाव आता है तो स्किन में खिंचाव के कारण स्ट्रेच मार्क्स बन जाते हैं।

इन परेशानियों को ठीक करने के लिए नारियल तेल का नुस्खा बहुत ही पसंदीदा ईलाज है।

स्ट्रेच मार्क्स क्या है? (What are stretch marks?)

स्ट्रेच मार्क्स वे निशान हैं जो स्किन में खिंचाव की वजह से बनते हैं। आमतौर पर, इनके होने का कारण वजन का घटना या बढ़ना, या शरीर के कुछ हिस्सों का बढ़ना, जिसकी वजह से स्किन की झिल्ली फटने लगती है।

भले ही, सुंदरता के लिहाज से यह भद्दे दिख सकते हैं, लेकिन इनसे किसी भी तरह की स्वास्थ्य समस्या नहीं होती है।

नारियल का तेल फायदेमंद क्यों है?

नारियल का तेल रसोईघर और सुंदरता के अलावा बहुत सारे चीजों के लिये काम आने वाला प्रोडक्ट्स है।

अल्जाइमर के इलाज में भी इसका बहुत अच्छा असर देखा गया है।

5 नुस्खे: नारियल तेल का इस्तेमाल करके स्ट्रेच मार्क्स और चोट के निशान कम करने के लिए

जब सुंदरता के लिए इस प्रोडक्ट का इस्तेमाल करने की बात आती है, खासकर स्ट्रेच मार्क्स के इलाज के लिए, इसे बहुत ही असरदार माना जाता है।

यहां हम आपको नारियल तेल के 5 प्राकृतिक नुस्खे बताएंगे जिनके इस्तेमाल से आप इन दाग-धब्बों को कम या फिर उन्हें पूरी तरह खत्म कर सकते हैं।

इसे भी आजमायें: 6 बेहतरीन नेचुरल एक्सफोलिएंट

1. गरम नारियल तेल (Hot coconut oil)

नारियल तेल में पाए जाने वाले फैटी एसिड की वजह से, यह स्किन को हाइड्रेटेड और मुलायम बनाये रखने में बहुत कारगर है। इसका इस्तेमाल करने से स्ट्रेच मार्क्स दिखना कम हो जाते हैं और कुछ समय के बाद, वे पूरी तरह से खत्म हो जाते हैं।

नारियल तेल

जरूरी चीजें

  • 2 चम्मच नारियल का तेल ( 30 मिलीलीटर)

आपको क्या करना होगा?

  • सबसे पहले, नहाने का पानी गर्म करने की तकनीक का इस्तेमाल करते हुए नारियल तेल को गर्म करें।
  • जब तेल गर्म होने लगे तो आंच को बंद कर दें और स्टोव से हटा लें।
  • थोड़ा समय रुक कर तेल को ठंडा होने दें जिससे आपकी स्किन जल ना जाए, फिर इसे स्ट्रेच मार्क्स पर लगाएं। नहाने के बाद ही इसे लगाने की सलाह दी जाती है।
  • गोल-गोल तरीके से मालिश करें और हर रोज इसे दोहराएं।
  • तेल की मात्रा आपको आपके शरीर पर बने स्ट्रेच मार्क्स के हिसाब से लेनी होगी।

2. प्राकृतिक नारियल तेल (Natural coconut oil)

यह नुस्खा पहले वाले से काफी मिलता-जुलता है, लेकिन इसमें किचन का कोई काम नहीं है। इसमें नारियल तेल को बिना गर्म किए लगाया जाता है, ताकि यह आदमी के शरीर के तापमान के हिसाब से काम कर सके

जरूरी चीजें

  • दो चम्मच नारियल का तेल ( 30 मिलीलीटर)

आपको क्या करना होगा?

  • नहाने के बाद, आपको सलाह दी जाती है अपनी स्किन को गीला छोड़ दें ताकि आपकी स्किन नारियल तेल को अच्छे से सोख सके
  • अपनी हथेली पर एक चम्मच नारियल तेल लेकर उसे रगड़े जब तक वह पिघल ना जाए या पतला ना हो जाए।
  • फिर इसे उंगली से गोल-गोल घुमाते हुए स्ट्रेच मार्क्स पर लगाएं जिन्हें आप मिटाना चाहते हैं, इसके साथ ही उन हिस्सों पर जहां वे बहुत ज्यादा दिखते हैं ( जांघ, पेट, कमर, कुल्हे और दूसरे हिस्से)।

3. एलोवेरा और नारियल तेल (Aloe vera and coconut oil)

एलोवेरा अपने कई विटामिन और पोषक तत्वों के लिए जाना जाता है। जब इसे नारियल तेल के साथ मिलाया जाता है तो यह स्किन पर पड़े निशानों को कम करने का एक बहुत ही असरदार नुस्खे के रूप में सामने आता है।

जरूरी चीजें

  • ½ कप एलोवेरा (125 मिलीग्राम)
  • ½ कप नारियल तेल (125 मिलीग्राम)
  • 5 बूंदें गुलाब का तेल
  • 5 बूंदें ऑलिव ऑयल (जरुरी नहीं)

आपको क्या करना होगा?

  • एक बड़े कटोरे में,  एलोवेरा और नारियल तेल को कम से कम 5 मिनट तक या फिर तब तक मिलाएं जब तक एक चिकना पेस्ट तैयार ना हो जाए।
  • जरूरत के हिसाब से इसमें ऑलिव ऑयल की कुछ बूंदें मिलाएं।
  • थोड़ा गुलाब का तेल मिलाएं और इसे अच्छे से मिक्स करें।
  • स्ट्रेच मार्क्स पर इलाज के तौर पर इसे लगाने के लिए, नहाने के तुरंत बाद इसे अपनी स्किन पर लगा लें और अच्छे से मालिश करें।
  • तैयार होने से 15 मिनट पहले इसे लगाकर छोड़ दें।

इसे भी आजमायें: रोज़मेरी के असाधारण उपयोग और फ़ायदे आपको हैरान कर देंगे

4. नारियल तेल और कॉफी (Coconut oil and coffee)

कॉफी के छोटे-छोटे टुकड़े सरकुलेशन में सुधार करते हैं और, नारियल तेल के साथ मिल जाने पर हाइड्रेशन को भी बढ़ाते हैं। इसे लंबे समय तक इस्तेमाल करने से, स्किन के स्ट्रेच मार्क्स और दूसरे निशानों को कम करने में मदद मिलती है।

जरूरी चीजें

  • ½ पिसी हुयी कॉफ़ी (100 ग्राम)
  • 3 चम्मच नारियल तेल (45  मिलीग्राम)
  • ¼ कप एलोवेरा (50 मिलीग्राम)

आपको क्या करना होगा?

  • एक कटोरे में इन सभी चीजों को मिलाकर उसे एक लकड़ी के चम्मच की मदद से मिक्स करें, जब तक कि एक गाढ़ा पेस्ट ना बन जाए।
  • इतना पेस्ट कई बार लगाने के लिए काफी होगा, इसे अच्छे से पैक करके एक अंधेरी जगह पर रख सकते हैं।
  • नहाने के बाद, जरूरत के हिसाब से थोड़ा पेस्ट लेकर उससे अपनी स्किन पर 5 मिनट तक मालिश करें।
  • इसे 30 मिनट तक लगा रहने दें उसके बाद ठंडे पानी से धो लें।
  • इसे रोज दोहराएं।

5. विटामिन E और नारियल तेल (Coconut oil and vitamin E)

विटामिन E अपने मौस्चरायिज़िंग गुणों और स्किन को स्वस्थ रखने के लिए इससे होने वाले फायदों के लिये जाना जाता है। क्योंकि इसमें एंटीएजिंग गुण मौजूद होते हैं।

इसे नारियल तेल के साथ हर रोज लगाएं, और थोड़े ही समय में आप स्ट्रेच मार्क्स और स्किन पर बने निशानों में भारी बदलाव देखेंगे।

पीसी हुयी कॉफ़ी

जरूरी चीजें

  • 2 चम्मच नारियल तेल (30 मिलीग्राम)
  • 5 विटामिन E के कैप्सूल

 आपको क्या करना होगा?

  • जैसे पानी गर्म करते हैं उसी तरीके से नारियल तेल को गर्म करें जब तक ये बिल्कुल पिघल ना जाए।
  • विटामिन E के पांच कैप्सूल्स को खोलें और इसके अंदर की चीजों को नारियल तेल में मिला दें।
  • इस मिश्रण से अपनी स्किन पर मालिश करें।
  • 10 मिनट तक लगा रहने दें और फिर ठंडे पानी से धो लें।
  • 1 दिन में कम से कम  2 से 3 बार दोहराएं।

स्ट्रेच मार्क्स हटाने के लिए ऊपर बताये गये 5 नुस्खे बहुत ही असरदार हैं। फिर भी, आपकी स्किन के प्रकार, आकार और गहराई पर निर्भर के हिसाब से, आपको किसी खास इलाज की जरूरत भी हो सकती है। अगर ऐसा है, तो आपको किसी डर्मटालजिस्ट से मदद लेनी होगी।

  • Ortí, J. E. de la R., Álvarez, C. S., Sabater, P. S., Cayo, A. M. B., Castillo, S. S., Rochina, M. J., & Yang, I. H. (2017). Influencia del aceite de coco en enfermos de alzhéimer a nivel cognitive. Nutricion Hospitalaria. https://doi.org/10.20960/nh.780
  • FEDAPAL. (1987). Usos industriales de los aceites de palma y coco. Revista Palmas.
  • Klein, A. D., & Penneys, N. S. (1988). Aloe vera. Journal of the American Academy of Dermatology. https://doi.org/10.1016/S0190-9622(88)70095-X
  • Senet, P. (2008). Fisiología de la cicatrización cutánea. EMC – Dermatología. https://doi.org/10.1016/S1761-2896(08)70356-X