5 कुदरती उपाय : इनसे अपनी गर्दन की झुर्रियाँ हटायें

07 मार्च, 2019
गर्दन में बहुत कम सिबेशस ग्रंथियाँ पाई जाती हैं। इस बात को ध्यान में रखते हुए अपनी गर्दन को ठीक से मॉइस्चराइज करना बहुत ज़रूरी है। ऐसा न करने पर आपकी गर्दन की त्वचा अपनी नमी खो सकती है और आसानी से झुर्रियाँ दिखाई देनें लगती हैं। इस लेख में इस बारे में और अधिक जानें!

क्या आप अपनी गर्दन पर दिखती अनचाही झुर्रियों से छुटकारा पाना चाहेंगी? हो सकता है, बढ़ती उम्र की ओर इशारा करती झुर्रियाँ आपको इतना परेशान न करती हों। लेकिन अगर आपको इनके दिखने से परेशानी महसूस होती है, तो यहाँ दिए गए इन उपायों को ज़रूर आजमाएँ।

हमारी गर्दन पर क्यों होती हैं झुर्रियाँ?

ऐसे कई कारक हैं, जो गर्दन और शरीर के अन्य हिस्सों पर झुर्रियां होने की वजह बनते हैं। इनमें ये शामिल हैं:

  • बढ़ती उम्र
  • गलत खानपान
  • त्वचा की अनुचित देखभाल
  • पर्यावरण में मौजूद अशुद्धियाँ

इन सभी कारणों से आपकी त्वचा लगातार रूखी और पतली होती जाती है। नतीजन, ये अशुद्धियों या खामियों के प्रति कम प्रतिरोधी हो जाती हैं और इस पर झुर्रियाँ दिखने का ख़तरा बढ़ जाता है।

कई बार समय से पहले त्वचा पर हल्की लकीरों का दिखना शुरू हो जाता है।

आपको मालूम नहीं पड़ेगा, लेकिन इन लकीरों के उभरने की वजह आदतन या असचेत रूप से आपके हँसने, नाक-भौं चढ़ाने, तरह-तरह के चेहरे बनाने से भी जुड़ी हो सकती है।

लेकिन फिर भी, गर्दन की झुर्रियों से छुटकारा पाने के कुछ तरीके हैं।

1. खमीर और दही का पेस्ट

खमीर यानी यीस्ट में कोलेजन को विकसित करने और झुर्रियों को कम करने की खूबियाँ पाई जाती हैं। दही, प्रोटीन और कैल्शियम से समृद्ध होने के कारण आपकी त्वचा को नमी पहुँचाता है।

इन दोनों इन्ग्रेडिएंट को मिलाकर आप गर्दन पर होने वाली झुर्रियों से छुटकारा पा सकते हैं। इस उपाय की मदद से आप और ज़्यादा झुरियाँ विकसित होने से भी बच सकती हैं।

सामग्री

  • 2 बड़े चम्मच दही (24 ग्राम)
  • खमीर का 1 बड़ा चमचा (10 ग्राम)
  • वीट जर्म आयल का 1 बड़ा चमचा (15 ग्राम)

बनाने की विधि

  • सभी इन्ग्रेडिएंट को मिलकर एक सामान्य पेस्ट तैयार कर लें।
  • इसे अपनी गर्दन की त्वचा पर लगाएँ और 15 मिनट के लिए लगा रहने दें ताकि यह ठीक से सूख जाए।
  • गुनगुने पानी से अपनी गर्दन धो लें।

इस उपाय के अच्छे परिणाम पाने के लिए, इस प्रक्रिया को कम से कम हफ्ते में 3 बार दोहराएँ।

इसे भी आजमायें : इस होममेड क्रीम से मुंह के आसपास झुर्रियां घटाएं

2. अंडें की सफेदी

अंडें के अन्दर अच्छी मात्रा में पाया जाने वाला पोषण आपको एक अच्छी डाइट के अलावा और भी बहुत कुछ दे सकता है।

इसे किसी भी हाइड्रेटिंग मास्क में एक मुख्य सामग्री के तौर पर इस्तेमाल किया जाता है। इसके मदद से आप गर्दन की झुर्रियों से छुटकारा पा सकती हैं। इसके अलावा ये आपकी त्वचा से अशुद्धियाँ निकालने का भी एक आदर्श तरीका हैं।

सामग्री

  • एक अंडे की सफेदी

बनाने की विधि

  • एक बर्तन में अंडें की सफेदी को अच्छे से फेंटकर अपनी गर्दन पर लगा लें।
  • इसे 15 मिनट के लिए लगा रहने दें।
  • फ़िर, इसे पानी से धो लें और इस प्रक्रिया को हफ्ते में दो बार दोहराएँ।

3. एप्पल साइडर विनेगर

एप्पल साइडर विनेगर अल्फा हाइड्रॉक्सी एसिड से समृद्ध होता है। इसके भीतर पाए जाने वाले अवयय त्वचा की कायाकल्प कर सकती हैं। 

इसी वजह से यह गर्दन पर होने वाली झुर्रियों से छुटकारा दिलाने का एक बेहतरीन तरीका है।

सामग्री

  • 1 अंडें का पीला भाग या उसकी ज़रदी
  • विटामिन E का कैप्सूल
  • 1 चम्मच एप्पल साइडर विनेगर  (10 मिलीलीटर)

बनाने की विधि

  • सभी चीज़ों को पूरी तरह से ठीक से मिक्स होने तक मिला लें।
  • रुई की मदद से इस पेस्ट को अपनी गर्दन पर लगाएं। फ़िर अपने हाथों को ऊपर की ओर फेरते हुए अपनी गर्दन की मालिश करें।
  • इसे 20 मिनट के लिए लगा रहने दें।
  • इसके बाद इसे गुनगुने पानी से धो लें।

रात में सोने जाने से पहले इस प्रक्रिया को हफ्ते में 3 बार दोहराएँ। इससे आपकी त्वचा को नमी के साथ साथ लचीलापन  मिलेगा जिससे आप गर्दन की झुर्रियों से छुटकारा पा सकेंगी।

इसे भी आजमायें : 6 फायदे पैरों को सिरका में भिगोने के

4. एवोकैडो ऑयल

एवोकैडो में विटामिन और मिनरल जैसे पोषक तत्व अच्छी मात्रा में पाए जाते हैं।

क्योंकि यह ओमेगा 3 से समृद्ध होता है। यह एक एसेंशियल फैटी एसिड है। एवोकैडो त्वचा की मरम्मत और उसे फ़िर से  जीवंत करता है। यह गर्दन की झुर्रियों और चेहरे की झुर्रियों से छुटकारा पाने में भी मदद करता है।

सामग्री

  • एवोकैडो ऑयल के 2 चम्मच (10 ग्राम)

बनाने की विधि

  • एक रुई के इस्तेमाल से एवोकैडो ऑयल को अपनी गर्दन पर लगते हुए हल्के हाथ से मसाज करें।
  • इसे 15 मिनट के लिए लगे रहने दें औए फ़िर गुनगुने पानी से धो लें।

5. एलोवेरा 

यह पौधा अनेक तरह की स्थितियों में अपने उपचार सम्बंधित गुणों के लिए जाना जाता है। इसे खांसी से लेकर घाव और जलने तक की समस्याओं के उपचार में इस्तेमाल में लाया जाता है।

स्किन केयर से जुड़े अपने सभी फ़ायदों के लिए एलोवेरा एक बहुत ही जाना-माना विकल्प है। यह देखते हुए कि यह एक प्राकृतिक मॉइस्चराइज़र है, एलो वेरा आपको गर्दन की झुर्रियों से छुटकारा पाने में मदद कर सकता है।

इसके एंटीसेप्टिक गुणों का शुक्रिया, जिनकी बदौलत आप एक्ने जैसी समस्या के उपचार में भी इसका उपयोग कर सकती हैं।

सामग्री

  • एलोवेरा की 1 पत्ती

बनाने की विधि

  • एलोवेरा की पत्ती से उसका अर्क निकाल लें।
  • इसे सीधे अपनी त्वचा पर लगाएं।
  • फ़िर इसे 30 मिनट के लिए यूँ ही लगा रहने दें और बाद में गुनगुने पानी से धो लें।

गर्दन की झुर्रियों से छुटकारा पाने के अन्य कारगर उपाय

हमने आपसे आज जिन प्राकृतिक उपचारों के बारे में बात की वे सभी बढ़ती उम्र के लक्षणों का मुकाबला करने के कारगर तरीके हो सकते हैं।

लेकिन आपको अपनी गर्दन की त्वचा के बारे में कई और चीज़ों का जानना इसलिए ज़रूरी है, ताकि आप यह बेहतर ढंग से समझ सकें कि झुर्रियाँ क्यों दिखाई देती हैं और उनसे कैसे बचें।

अपनी त्वचा को हाइड्रेटेड रखें

आपकी गर्दन की त्वचा पर बहुत कम सेबेशस ग्रंथियां होती हैं । यह त्वचा के नमी खोने और झुर्रियों के उभरने का मुख्य कारण बनती है।

यही वजह है कि आपका एक डेली मॉइस्चराइजिंग रूटीन ज़रूर होना चाहिए।

इसके अलावा, आपको अपने शरीर को हाइड्रेट करने के लिए दिन में कम से कम 8 गिलास पानी पीना चाहिए।

अपनी त्वचा को धूप से बचाना सुनिश्चित करें

झुर्रियों से बचने का सबसे अच्छा तरीका सनस्क्रीन का उपयोग करना भी है। भले ही बदल घिरें हो, लेकिन घर से निकलते समय अपनी गर्दन पर सनस्क्रीन लगाने से आप झुर्रियों से बच सकती हैं।

लम्बे समय तक सूरज की किरणों के संपर्क में रहने से त्वचा की एजिंग प्रक्रिया में तेज़ी आती है। 

अपनी डाइट की ओर ध्यान दें

सब्जियाँ, फल और नेचुरल स्मूदी से तैयार आहार का सेवन झुर्रियों के विकास को रोकने का एक असरदार तरीका है।

रेड मीट और मैदे के ज़्यादा सेवन से बचें, क्योंकि इनमें भारी मात्रा में टॉक्सिन पाए जाते हैं जो शरीर में जमा होते हैं और उसे नुकसान पहुंचाते हैं।

आप इस बात को समझ सकती हैं कि यदि झुर्रियाँ होने से पहले ही आप उनसे बचाव के तरीकों को अपनाती हैं, तो झुर्रियों के खिलाफ आपकी लड़ाई आसान हो सकती है।

  • Rajeswari, R., , M. Umadevi, C. S. R., & , S. Selvavenkadesh, K. P. Sampath Kumar, D. B. (2012). Aloe vera: The Miracle Plant Its Medicinal and Traditional Uses in India. Journal of Pharmacognosy and Phytochemistry.
  • Lin, T.-K., Zhong, L., & Santiago, J. (2017). Anti-Inflammatory and Skin Barrier Repair Effects of Topical Application of Some Plant Oils. International Journal of Molecular Sciences. https://doi.org/10.3390/ijms19010070
  • Wong, M., Requejo-Jackman, C., & Woolf, A. (2010). What is unrefined, extra virgin cold-pressed avocado oil? INFORM – International News on Fats, Oils and Related Materials.