4 मेंटल एक्सरसाइज : वृद्धावस्था में दिमागी हालत दुरुस्त रखने के लिए

अप्रैल 6, 2019
बुढ़ापा आपके दिमाग को धीमा कर सकता है और सबकुछ को थोड़ा उलझा सकता है। इसलिए अपने दिमाग को सक्रिय और व्यस्त रखना ज़रूरी है। मेंटल एक्सरसाइज यानी मानसिक व्यायाम ऐसा करने का शानदार माध्यम होते हैं।

जैसे ही आप बुढ़ापे की ओर‌ बढ़ते हैं स्वयं को आत्मनिर्भर रखने के लिए आपका मानसिक स्वास्थ्य और दिमागी तत्परता बनी रहना जरूरी हो जाता है ताकि आप सामान्य रूप से स्वस्थ अनुभव करें। इसका अच्छा उपाय यह है कि दिमागी हालत दुरुस्त बनाए रखने के लिए आप मेंटल एक्सरसाइज करें। ये चार उपाय आपके दिमाग को तेज बनाने में सहयोगी होंगे, यहाँ तक कि आपके बुढ़ापे में भी।

दिमागी हालत दुरुस्त रखने के लिए चार व्यायाम

1. स्ट्रूप प्रभाव को चुनौती दें (Challenge the Stroop effect)

विभिन्न रंगों से क्रमवार लिखे हुए शब्दों की तस्वीर आपने शायद देखी होगी। उदाहरण के तौर पर, ‘नीला’ शब्द वास्तव में हरे में लिखा जा सकता है, और ‘काला’ शब्द पीले में, इत्यादि। यह तस्वीर एक मनोवैज्ञानिक सिद्धांत पर आधारित होती है जिसे स्ट्रूप प्रभाव कहते हैं।

मानसिक स्पष्टता बनाए रखने के लिए हमारा पहला अभ्यास है इन चार्टों में एक चार्ट की तलाश में जुटना (‘स्ट्रूप प्रभाव’ लिखकर ढूंढना ही काफी होगा)। इसके बाद उन शब्दों को पढ़ना शुरू करें जो अगल-अलग गहरे रंगों में लिखे हैं। हर शब्द को पढ़ने तक ऐसा करते रहें फिर वापस लौटें, और अंतिम शब्द से शुरू करें।

यह मस्तिष्क के दोनों गोलार्द्धों के लिए शानदार व्यायाम होगा, क्योंकि ये दोनों ही विषय और रंग की अनुभूति के लिए जिम्मेवार हैं।

शुरुआत में यह आपको कठिन लग सकता है, लेकिन इसका नियमित अभ्यास करें तो अल्जाइमर जैसे रोग से बचने में भी सहायक हो सकता है। यह आपके लिए इनमें भी लाभदायक हो सकता है :

  • आपके मस्तिष्क के दोनों गोलार्द्धों के बीच नए संबंध कायम करता है।
  • एकाग्रता और ध्यान जैसी योग्यताएं नए रूप में हासिल करने के लिए अपने को तैयार करें।

आगे पढें : जानिए कि हल्दी कैंसर‌ का‌ प्रतिरोध ‌कैसे करती है

2. शुल्ट तालिका (Schulte table)

4 मेंटल एक्सरसाइज : शुल्ट तालिका (Schulte table)

शुल्ट तालिका की प्रैक्टिस करने के लिए आपको सबसे बीच में लिखी संख्या पर ध्यान केंद्रित करना होगा।

केंद्र में स्थित संख्या 19 (तालिका में) पर ध्यान केंद्रित करने के साथ ही दूसरा लक्ष्य है संख्या 1 को ढूंढना और फिर लगातार बढ़ते क्रम में सभी संख्याओं को ढूंढ़ते जाना। लेकिन ‌आपको हमेशा अपना ध्यान केंद्र में स्थित संख्या पर‌ ही रखना है।

यह मेंटल एक्सरसाइज आपकी बौद्धिक संपन्नता को कायम रख सकती है क्योंकि यह आपकी इनफार्मेशन प्रोसेसिंग स्पीड को बढ़ाता है और परिधीय दृष्टि (peripheral vision) के विकास में सहायक है

3. उंगली के संकेत

4 मेंटल एक्सरसाइज : finger signs

आप अपनी ‌उंगलियों के सहारे ‌एक‌ सरल सी मेंटल एक्सरसाइज भी कर सकते हैं। अपने दाहिने हाथ की मदद से एक शांति सूचक संकेत बनाएँ।

एक ही साथ अपने बाएँ हाथ की उँगलियों से ओके संकेत बनाएँ। फिर इसे उल्टे तरीके से बनाएँ और पूरी एक्सरसाइज कई बार दोहराएँ।

आपको दोनों हाथों से इसे करना होगा, दोनों हाथों से एक ही साथ ये संकेत बनाने होंगे और बारी-बारी से संकेतों की अदला-बदली एक-हाथ से दूसरे हाथ में करनी होगी।

ऐसा करके आप ;

  • एकाग्रता की अपनी क्षमता को बढ़ाएँगे और खिद को इसके लिए प्रशिक्षित करेंगे।
  • अपना ध्यान बढ़ाएंगे और साथ ही कार्य से दूसरे कार्य में तेजी से जाने की योग्यता का विकास करेंगे।

यह‌ जितना आसान लगता है उतना है नहीं, क्योंकि इस तरह से आपके शरीर को एक साथ गति देना बहुत कठिन हो सकता है।

4. एक ही समय साथ-साथ लेखन

4 मेंटल एक्सरसाइज : साथ-साथ लेखन

दिमागी तंदरुस्ती कायम रखने के लिए यह अंतिम अभ्यास है जिसकी आज हम बातें कर रहे हैं। अगर आप अपनी याददाश्त को सक्रिय रखना चाहते हैं तो एक ही वक्त साथ-साथ लेखन आपको बहुत मदद कर सकता है।

इसे करने के लिए आपको कागज के दो पन्ने और दोनों हाथों में एक-एक कलम की जरूरत है।

  • सबसे पहले दोनों हाथों से एक ही समय में विभिन्न ज्यामितिक चित्रकारी से शुरुआत करें
  • आप एक‌ ही लंबाई के अक्षर या शब्द लिख सकते हैं।
  • एक साथ लेखन ही इसकी कुंजी है, अन्यथा यह एक्सरसाइज काम नहीं करेगी।

इस मेंटल एक्सरसाइज का लाभ यह है कि यह दोनों गोलार्द्धों को सक्रिय करते हुए दिमाग को एक ही समय में कई कार्य करना सिखाती है।

आप इसे भी पसंद कर सकते हैं: 5 बेहतरीन मेमोरी एक्सरसाइज से तेज़ करें याददाश्त

अन्य सलाह

यह एक अच्छा विचार है कि अपने अप्रभावी हाथ को भी तैयार करें

दूसरे शब्दों में, अगर आप अपने दांत हमेशा दाहिने हाथ से मंजन करते हैं तो अब बाएँ हाथ से भी करने की कोशिश करें‌ अथवा बाएँ से करते हैं तो दाहिने से करें। इस तरह आपका मस्तिष्क आदेश देना सीखता है और कार्यों के अनुसार विभिन्न क्रिया करता है।

आप शावर भी कर सकते हैं और अपनी आंखें बंद करके अपने अन्य‌ दैनिक कार्य भी

जब आप काम पर जा रहे हैं या समुद्र के किनारे या फिर ऐसी जगह जहां प्रायः जाते हैं, अपनी याददाश्त ताजा करने के लिए नियम में बदलाव कर लें।

हमेशा याद रखें कि अच्छा भोजन करना है

दिमागी तंदरुस्ती बनाए रखने के लिए मेंटल एक्सरसाइज करना वाकई महत्वपूर्ण है, लेकिन इसके लिए अच्छा भोजन चाहिए। अंततः भोजन आपकी याददाश्त को मजबूत करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

कुछ ‌विशिष्ट पौष्टिक खाद्य पदार्थ हैं जो आपके मस्तिष्क की सक्रियता बनाए रखने में मददगार होंगे।

फॉस्फोरस से समृद्ध खाद्य पदार्थों को अपने भोजन में शामिल करें। उदाहरण के लिए :

  • कोको चूर्ण
  • अंडे की जर्दी
  • तैलीय मछली
  • बादाम (almonds)
  • डेयरी उत्पाद

आपको पोटैशियम युक्त भोजन भी करना चाहिए, जैसे :

  • एवोकैडो
  • केला
  • गेहूं का अंकुर
  • नारंगी

अंततः अपने भोजन में मैग्नीशियम से भरपूर तत्वों को शामिल करना न भूलें :

  • सूर्यमुखी के बीज
  • मूंगफली
  • सोया
  • साबूत अनाज

आपके मस्तिष्क को पर्याप्त मात्रा में शुगर की खुराक भी आवश्यक है। आखिरकार शर्करा हमारे मस्तिष्क का मोटर है। उन स्रोतों का चुनाव करने की कोशिश करें जो धीरे-धीरे अवशोषित होते हैं।

दिमागी सेहत कायम रखने के लिए अच्छे भोजन के साथ इन मेंटल एक्सरसाइज को भी शामिल कर लें। इससे आप अपने मस्तिष्क को ताजा और स्वस्थ रखने की ओर एक बड़ा कदम बढ़ाएंगे।

मुख्य ‌चित्र wikiHow.com के सौजन्य से।