6 हर्बल ट्रीटमेंट जो घटाएंगे हाई कोलेस्ट्रॉल

जून 23, 2019
हर दिन आपको हाई कोलेस्ट्रॉल कम करने में मदद पाने के लिए स्वस्थ आहार, शारीरिक व्यायाम और स्ट्रेस मैनेजमेंट के साथ-साथ जड़ी-बूटियों का उपयोग करना चाहिए।

यदि आप हाई कोलेस्ट्रॉल से पीड़ित हैं, तो आपको इसे हल्के में नहीं लेना चाहिए और इस बारे में कुछ करना चाहिए। सही कार्डियोवैस्कुलर सेहत के लिए कोलेस्ट्रॉल का स्तर संतुलित होना चाहिए। इसलिए आप उच्च कोलेस्ट्रॉल को कम करने के लिए इन प्राकृतिक उपचारों का उपयोग कर सकते हैं।

इस पोस्ट में हाई कोलेस्ट्रॉल को कम करने वाली छह बहुत असरदार औषधीय जड़ी-बूटियों के बारे में पढ़ सकते हैं। इन औषधीय जड़ी बूटियों के अलावा, आपको रोजाना स्वस्थ आहार, शारीरिक व्यायाम, अच्छी आदतें और स्वस्थ मनोभाव बनाए रखना चाहिए।

हाई कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मददगार ट्रीटमेंट

हाई कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मददगार ट्रीटमेंट

कुछ औषधीय जड़ी-बूटी आपकी सेहत पर किसी भी दुष्प्रभाव के बिना स्वाभाविक रूप से कोलेस्ट्रॉल कम करने में मदद कर सकती हैं। हालांकि, एक ही समय में आपको पशु प्रोडक्ट से अपने भोजन की मात्रा को नियंत्रित करने और सब्जी का सेवन बढ़ाने के महत्व पर विचार करना चाहिए।

ट्रांस फैट की अपनी खपत कम करने के लिए यह बहुत महत्वपूर्ण है। इनमें सभी प्रकार के प्रोसेस्ड प्रोडक्ट जैसे मार्जरीन, सॉस, क्रीम, आइसक्रीम, चिप्स आदि में बहुत आम हैं।

इसी तरह नर्वस सिस्टम पर उनके प्रभाव पर गौर करना अहम है। इस मम्मले में तनाव एक फैक्टर है क्योंकि इसका आपके लीवर के कामकाज पर बहुत नकारात्मक असर पड़ता है जो आपके कोलेस्ट्रॉल को बढ़ा सकता है।

1. ग्रीन टी

ग्रीन टी एक प्राचीन पेय है। कई संस्कृतियों में यह पी जाती है क्योंकि इसमें बेहतरीन औषधीय लाभ छिपे हैं। इसकी उच्च एंटीऑक्सीडेंट उम्र बढ़ने का असर रोकने में इसे एक उत्कृष्ट पेय बनाती है। इसके अलावा, इसकी कैटेचिन (catechin) आपके कोलेस्ट्रॉल (एलडीएल) को कम करने में मदद करती है।

प्रत्येक दिन एक या दो कप ग्रीन टी लेने की सलाह दी जाती है

हालाँकि, भोजन के बाहर ऐसा करना सबसे अच्छा है। क्योंकि यह शरीर को भोजन से आयरन को सोखने से रोक सकता है। इसी तरह, चाय में कैफीन होता है, हालांकि काली चाय में यह कम होता है।

इस लेख को भी पढ़ें: इस अद्भुत नेचुरल सिरप से कोलेस्ट्रॉल और जोड़ों का दर्द कम करें

2. अर्टिचोक के पत्ते (Artichokes leaves)

हाई कोलेस्ट्रॉल : अर्टिचोक के पत्ते (Artichokes leaves)

आर्टिचोक एक सब्जी है जो लिवर के लिए बहुत ही स्वस्थ और फायदेमंद है। इसकी पत्तियों का अर्क एक तगड़े स्वाद वाला उपचार है जो कड़वा होता है। हालांकि, यह हाई कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने के लिए बहुत प्रभावी है

इसी तरह, यह अर्क पूरे जठरांत्र (gastrointestinal function) में सुधार और विषाक्त पदार्थों को शरीर को साफ करने के लिए एक अच्छा इलाज है। इस अर्क का उपयोग करके आप अपने स्वास्थ्य में सुधार कर सकते हैं और पुरानी बीमारियों को रोक सकते हैं।

3. अदरक (Ginger)

अदरक को स्वस्थ आहार से अलग नहीं किया जाना चाहिए क्योंकि आपकी सेहत को इससे बहुत लाभ होगा। कोलेस्ट्रॉल कम करने के अलावा, यह पाचन की सुविधा भी देती है, वाटर रिटेंशन रोकती है और वजन घटाने में आपकी मदद कर सकती है।

आप अर्क बनाने के लिए या इसे सभी प्रकार के मीठे और नमकीन व्यंजनों में डालने के लिए ताजी या सूखी अदरक का उपयोग कर सकते हैं। इसका परिणाम किसी भी डिश में जायके को बढ़ाएगा।

आप डिहाइड्रेटेड या कैंडी जिंजर भी प्राप्त कर सकते हैं। इस तरह आप जब चाहें इसे इस्तेमाल कर सकते हैं।

4. डंडेलियन (Dandelion)

डंडेलियन एक औषधीय पौधा है जिसमें भारी मात्रा में शुद्धिकारक डिटॉक्सिफाइंग शक्तियां हैं जो लीवर और किडनी के लिए अच्छी हैं।

इसलिए यह आपके शरीर को साफ करने और किसी भी गड़बड़ी को रोकने के लिए एक आदर्श विकल्प है।

इस पौधे में इनोसिटोल (inositol) होता है, यह ऐसा तत्व है जो न सिर्फ हाई कोलेस्ट्रॉल कम करता है, बल्कि धमनियों पर इसके नकारात्मक प्रभाव को भी रोकता है। आप इसे अर्क में पीने या तेल के रूप में भी सेवन कर लाभ उठा सकते हैं – उदाहरण के लिए, सलाद में।

इस लेख को भी देखें: डंडेलियन ड्रिंक: हड्डियों की देखभाल के लिए एक घरेलू नुस्खा

5. केसर (Saffron)

हाई कोलेस्ट्रॉल : केसर (Saffron)

केसर एक बहुत प्रसिद्ध पौधा है जो उतना ही प्रभावी है। यह पौधा एक फूड डाई के रूप में बहुत लोकप्रिय है जो एक सुनहरे पीला रंग प्रदान करता है। हालांकि इसका अर्क आपके हाई कोलेस्ट्रॉल को कम करने में भी मदद कर सकता है।

इसकी उपचार क्षमता इसके पिगमेंट से आती है जिसमें क्रोकेटिन (crocetin) होता है। रोज इसका सेवन करके आप अपनी रक्त केशिकाओं का पोषण कर सकते हैं और एथेरोस्क्लेरोसिस (atherosclerosis) को रोक सकते हैं।

इसलिए इस जड़ी-बूटी के सेवन से अपने हृदय की सेहत की अच्छी देखभाल की जा सकती है।

6. मिल्क थिज्ल (Milk Thistle)

हमारी लिस्ट के आख़िरी उपाय में हाई कोलेस्ट्रॉल को कम करने वाला मिल्क थिज्ल है। यह औषधीय जड़ी-बूटी लीवर के लिए सबसे अच्छे ट्रीटमेंट में से एक है, क्योंकि यह इसके कामकाज को ठीक करती है। सिरोसिस, हेपेटाइटिस, फैटी लिवर आदि के मामलों में यह पौधा इसे दोबारा रिजेनेरेट करने में मदद करता है।

अर्क या सप्लीमेंट के रूप में दूमिल्क थिज्ल का सेवन भी रक्त के ट्राइग्लिसराइड को नियंत्रित और सूजन को कम करता है। अपने रक्त को शुद्ध करने और सभी प्रकार की स्वास्थ्य गडबडियों को रोकने के लिए इसे तीन महीने तक साल में एक या दो बार लेना बहुत फायदेमंद होता है।

  • Lawes, C. M. M., Hoorn, S. Vander, Law, M. R., & Rodgers, A. (2004). High cholesterol. In Comparitive Quantification of Health Risks. https://doi.org/10.1007/s11356-012-1164-x
  • Chacko, S. M., Thambi, P. T., Kuttan, R., & Nishigaki, I. (2010). Beneficial effects of green tea: A literature review. Chinese Medicine. https://doi.org/10.1186/1749-8546-5-13
  • Hartley, L., Flowers, N., Holmes, J., Clarke, A., Stranges, S., Hooper, L., & Rees, K. (2013). Green and black tea for the primary prevention of cardiovascular disease. Cochrane Database of Systematic Reviews. https://doi.org/10.1002/14651858.CD009934.pub2
  • Gebhardt, R. (1998). Inhibition of Cholesterol Biosynthesis in Primary Cultured Rat Hepatocytes by Artichoke (Cynara scolymus L.) Extracts . Journal of Pharmacology and Experimental Therapeutics .
  • Bundy, R., Walker, A. F., Middleton, R. W., Wallis, C., & Simpson, H. C. R. (2008). Artichoke leaf extract (Cynara scolymus) reduces plasma cholesterol in otherwise healthy hypercholesterolemic adults: A randomized, double blind placebo controlled trial. Phytomedicine. https://doi.org/10.1016/j.phymed.2008.03.001
  • Thomson, M., Al-Qattan, K. K., Al-Sawan, S. M., Alnaqeeb, M. A., Khan, I., & Ali, M. (2002). The use of ginger (Zingiber officinale Rosc.) as a potential anti-inflammatory and antithrombotic agent. Prostaglandins Leukotrienes and Essential Fatty Acids. https://doi.org/10.1054/plef.2002.0441
  • Jafarnejad, S., Keshavarz, S. A., Mahbubi, S., Saremi, S., Arab, A., Abbasi, S., & Djafarian, K. (2017). Effect of ginger (Zingiber officinale) on blood glucose and lipid concentrations in diabetic and hyperlipidemic subjects: A meta-analysis of randomized controlled trials. Journal of Functional Foods. https://doi.org/10.1016/j.jff.2016.12.006
  • Choi, U. K., Lee, O. H., Yim, J. H., Cho, C. W., Rhee, Y. K., Lim, S. Il, & Kim, Y. C. (2010). Hypolipidemic and antioxidant effects of dandelion (Taraxacum officinale) root and leaf on cholesterol-fed rabbits. International Journal of Molecular Sciences. https://doi.org/10.3390/ijms11010067
  • Derosa, G., Bonaventura, A., Bianchi, L., Romano, D., D’Angelo, A., Fogari, E., & Maffioli, P. (2013). Berberis aristata / Silybum marianum fixed combination on lipid profile and insulin secretion in dyslipidemic patients. Expert Opinion on Biological Therapy. https://doi.org/10.1517/14712598.2013.832751