क्या आप जानते हैं, हाइपरटेंशन में किन चीजों से परहेज़ करनी है?

04 फ़रवरी, 2019
अगर आपको हाइपरटेंशन की शिकायत है, तो ऐसा लग सकता है कि अपने पसंद की चीज़ें अब नहीं खा पायेंगे। लेकिन यह दरअसल ज्यादा हेल्दी गुणकारी खाद्यों के चुनाव का मामला है। इस आर्टिकल में इनके बारे में जान लीजिये।

धमनियों में उच्च रक्तचाप यानी आर्टेरियल हाइपरटेंशन (Arterial hypertension) सबसे आम कार्डियोवैस्कुलर गड़बड़ी है।  यह तब होती है जब आपके हृदय को शरीर में रक्त पहुँचाने में मुश्किल पेश आती है

यह आपकी रक्तवाहिकाओं के संकरे हो जाने पर या उनमें रुकावट आने पर होता है। इससे खून के बाहव में मुश्किल आने लगती है, जिससे आपके हृदय को कड़ी मशक्कत करनी पड़ती है।

दशकों से इसे “खामोश हत्यारे” के रूप में जाना जाता है। इसका कारण यह है कि जब तक यह एक गंभीर समस्या नहीं बन जाता, इसका कोई भी लक्षण दिखाई नहीं देता है

सबसे चिंताजनक बात है कि यह दूसरी शारीरिक क्रियाओं में रुकावट डालता है। समय के साथ यह बदलाव आपके जीवन की गुणवत्ता  पर असर डालता है।

इस कारण नियमित मेडिकल जाँच कराना निहायत जरूरी है। विशेष रूप से, यदि हाइपरटेंशन का आपका पारिवारिक इतिहास रहा है, या इस जोखिम के दूसरे कारण हैं।

इसके अलावा, यदि आपको हाइपरटेंशन है तो इसकी डायग्नोसिस हो जाने पर कुछ चीज़ों को खाना कम कर देना चाहिए। कुछ चीज़ों का सेवन इस गंभीर कार्डियोवैस्कुलर गड़बड़ी में ज्यादा जटिलताएँ पैदा कर सकता है।

यहाँ हम उन 8 खाद्यों के बारे में विस्तार से बताना चाहते हैं जिनसे आपको बचना चाहिए। इन्हें फायदेमंद विकल्पों से बदल लेना चाहिए।

ये क्या हैं, यहाँ पढ़िए!

1. ब्रेड (Bread)

हाइपरटेंशन में परहेज : ब्रेड

ब्रेड और दूसरे बेक्ड खाद्यों में सोडियम और सैचुरेटेड फैट की मात्राएं बहुत ज्यादा होती है। शरीर द्वारा सोख लिए जाने पर ये आर्टेरियल ब्लड प्रेशर बढ़ा देते हैं।

ब्रेड की सिर्फ एक सर्विंग में 230 मिलीग्राम सोडियम मौजूद होता है। दूसरे शब्दों में आपके शरीर के लिए आवश्यक बताई जाने वाली मात्रा की यह 15% है।

यदि इसे ज्यादा खा लिया जाए तो ब्रेड में मौजूद रिफाइन्ड आटे से आपकी समस्या और भी बिगड़ सकती है। यह अनियंत्रित मोटापे, डायबिटीज़ और हाई ब्लड प्रेशर की ओर ले जाता है।

इसे भी पढ़ें : हाइपरटेंशन को नियंत्रित रखने के लिए 5 नेचुरल खाद्य पदार्थ

2. कैफीन वाले पेय (Caffeinated beverages)

कॉफी और सोडा जैसे पेय जरूरत से ज्यादा पीने पर ब्लड प्रेशर बढ़ता है। विशेष रूप से, यदि आपको हाइपरटेंशन है और इसकी डायग्नोसिस हो चुकी है।

सभी कैफीन वाले पेय उत्तेजक हैं और अनिवार्य रूप से आपका ब्लडप्रेशर बढ़ाते हैं

3. सलाद ड्रेसिंग और सॉस (Salad dressings and sauces)

हाइपरटेंशन में परहेज : सलाद ड्रेसिंग और सॉस

ज्यादातर कमर्शियल सलाद ड्रेसिंग में सोडियम की मात्रा ज्यादा होती है। पहले हमने बताया है, इससे रक्तवाहिकाओं की सेहत खराब होती है

मेयोनेज, केचअप या इस तरह के सॉस में कई केमिकल मिलाए जाते हैं। ये खाद्य को भले ही स्वादिष्ट बनाते हों, लेकिन लंबे अरसे के उपयोग से इनसे मेटाबोलिक समस्यायें पैदा होती हैं।

4. मक्खन और मार्जरीन (Butter and margarine)

मक्खन और इसके नकली रूप मार्जरीन, दोनों में सोडियम और फैट ज्यादा मात्रा में मौजूद हैं। नियमित खाया जाये तो ये रक्तवाहिकाओं के पर बुरा असर डालते हैं।

इन वसायुक्त खाद्यों को खाने पर खराब कोलेस्ट्रॉल (LDL) बढ़ जाता है। यह एक कठोर प्लैक बनकर आपकी आर्टरीज में  सही रक्तप्रवाह पर रोक लगाता है।

इसके अलावा, ये पदार्थ आपकी मेटाबोलिक क्रिया को धीमा कर देते हैं और वजन बढ़ने में मदद करते हैं।

5. चीज़ (Cheese)

हाइपरटेंशन में परहेज : चीज़

परंपरागत चीज़ में बहुत ज्यादा नमक और सैचुरेटेड फैट शामिल रहते हैं। ये ब्लड प्रेशर बढ़ाते हैं।

सोडियम के कारण आपके टिशू में फ्लूइड रूक जाते हैं। इसके साथ-साथ सोडियम ब्लड प्रेशर और सूजन बढ़ाता है।

सैचुरेटेड फैट आपकी रक्तवाहिकाओं पर असर डालते हैं। ये उन्हें कठोर बना देेते हैं और इस तरह रक्त संचार में बाधा डालते हैं

यदि आपको हाइपरटेंशन है तो चीज़ से बचना चाहिए और इसे किसी शाकाहारी विकल्प से बदल लेना चाहिए।

इसे भी जानें : 8 लक्षण: महिलाओं को इन्हें नज़रंदाज़ नहीं करना चाहिए

6. पका हुआ ठंडा गोश्त (Cold cuts)

ऐसा लगता है कि लंच के लिए मांस एक बढ़िया विकल्प है, विशेष रूप से अगर आप व्यस्त हैं। लेकिन हकीकत इससे उलट है।

हाल ही में, रिसर्च ने प्रमाणित किया है कि प्रोसेस्ड मीट से बचना चाहिए। इनमें सैचुरैटेड फैट और दूसरे केमिकल कंपाउंड की भारी मात्रा होती है जो आपके स्वास्थ्य परबुरा असर डालते हैं

इसमें मौजूद नमक की मात्रा, कैलरी और मिलाए गए प्रिजर्वेटिव्स इकट्ठे मिलकर आपकी रक्त वाहिकाओं में रक्त संचार को सीमित करते हैं।

समय बीतने पर मांस और मांस के दूसरे प्रोसेस्ड प्रोडक्ट मेटाबोलिक समस्याओं का कारण भी बन सकते हैं। इनमें मोटापा और डायबिटीज़ शामिल हैं।

7. मिठाइयाँ (Sweets)

हाइपरटेंशन में परहेज : मिठाइयों से बचें

मिठाइयाँ और रिफाइन्ड चीनी ज्यादा लत लगाने वाली चीजें हैं। दुर्भाग्यवश ये आपके स्वास्थ्य के लिए बहुत ही बुरी हैं।

यदि आपको हाइपरटेंशन है, तो निश्चित रूप से इनसे बचना चाहिए। यह साबित किया जा चुका है कि उनसे जरूरत से ज्यादा वजन बढ़ता है और डायबेटीज़ होती है

फिर भी, आप डार्क चॉकलेट की थोड़ी सी मात्रा खा सकते हैं जिसमें कम से कम 60% कोको मौजूद हो। डार्क चॉकलेट में मिल्क चॉकलेट के मुकाबले चीनी कम होती है। इसमें हेल्दी ऐंटीऑक्सिडेंट होते हैं।

8. अचार (Pickles)

दुकानों में मिलने वाले अचार में नमक की भारी मात्रा मौजूद रहती हैइससे आर्टेरियल हाइपरटेंशन का खतरा बढ़ जाता है

यदि अचार आपके नियमित आहार का अंश है, तो इससे सामान्यतः फ्लुइड रिटेंशन होता है। इससे किडनी और कार्डियोवैस्कुलर हेल्थ पर बुरा असर होता है।

क्या आप ये चीजें खाते हैं? यदि ऐसा है तो इन्हें ज्यादा गुणकारी विकल्पों से बदलने की कोशिश कीजिए।  इससे आपका ब्लड प्रेशर नियंत्रण में रहेगा।

यदि आपको हाइपरटेंशन है, तो इन 8 खाद्यों के बदले ज्यादा फल और सब्जियां खाइए। हाइपरटेंशन से निपटने के लिए इन्हें ज्यादा खाने की सलाह दी जाती है।

  • OMS, O. M. de la S. (2013). Información general sobre la hipertensión en el mundo. Oms. https://doi.org/WHO/DCO/WHD/2013.2
  • Ponce-Martínez X, Colin-Ramirez E, Sánchez-Puerto P, et al. Bread Consumption Is Associated with Elevated Blood Pressure among Adults Living in Mexico City⁻A Sub-Analysis of the Tlalpan 2020 Study. Nutrients. 2018;10(12):1969. Published 2018 Dec 13. doi:10.3390/nu10121969
  • Ndanuko RN, Tapsell LC, Charlton KE, Neale EP, Batterham MJ. Dietary Patterns and Blood Pressure in Adults: A Systematic Review and Meta-Analysis of Randomized Controlled Trials. Adv Nutr. 2016;7(1):76–89. Published 2016 Jan 15. doi:10.3945/an.115.009753
  • Martínez-Vila, E., Murie Fernández, M., Pagola, I., & Irimia, P. (2010). Enfermedades cardiovasculares. Anales de Patología Vascular. https://doi.org/10.1590/S1020-49892000000100012
  • ENSANUT. (2012). Encuesta Nacional de Salud y Nutrición 2012. 2012. https://doi.org/10.1017/CBO9781107415324.004
  • Micha R, Mozaffarian D. Trans fatty acids: effects on cardiometabolic health and implications for policy. Prostaglandins Leukot Essent Fatty Acids. 2008;79(3-5):147–152. doi:10.1016/j.plefa.2008.09.008
  • Sathyanarayana Rao TS, Yeragani VK. Hypertensive crisis and cheese. Indian J Psychiatry. 2009;51(1):65–66. doi:10.4103/0019-5545.44910
  • van den Brandt, P. A. (2019). Red meat, processed meat, and other dietary protein sources and risk of overall and cause-specific mortality in The Netherlands Cohort Study. European Journal of Epidemiology, 34(4), 351–369. https://doi.org/10.1007/s10654-019-00483-9
  • Rouhani MH, Agh F, Azadbakht L. Pickle Consumption is Associated with Body Mass Index and Blood Pressure among Iranian Female College Students: a Cross-Sectional Study. Clin Nutr Res. 2018;7(4):256–265. doi:10.7762/cnr.2018.7.4.256