9 टिप्स धीमे मेटाबोलिज्म को बूस्ट करने के लिए

11 अक्टूबर, 2018
बैलेंस डाइट खाने के साथ नियमित एक्सरसाइज करना अपने मेटाबोलिज्म को तेज करने, सुरक्षित ढंग से वजन घटाने और उसे बनाये रखने का सबसे बढ़िया रास्ता है।

मेटाबोलिज्म उन प्रक्रियाओं का समूह है जिन्हें भोजन को ऊर्जा में बदलने के लिए आपका शरीर अंजाम देता है। यदि शरीर ये फंक्शन धीरे-धीरे करे, तो वह भोजन के कम पोषक तत्वों का उपयोग कर पाता है और वे फैट में बदल जाते हैं। इस तरह धीमे मेटाबोलिज्म से आपके शरीर का वजन बढ़ता है। आपका स्वास्थ्य खतरे में पड़ जाता है।

इस जोखिम को देखते हुए वजन कम करने का सबसे अच्छा तरीका धीमे मेटाबॉलिज्म को तेज करना है। इस लक्ष्य तक पहुंचने के लिए बहुत अनुशासन, प्रयास और प्रेरणा की जरूरत है। फिर भी धीमे मेटाबोलिज्म को बूस्ट करना काफी आसान रणनीति है।

धीमे मेटाबोलिज्म को चुस्त-दुरुस्त करने के सुझाव

1. मूल बात याद रखें, दिन में पांच बार भोजन करें

धीमे मेटाबोलिज्म को बूस्ट करें; पांच भार भोजन

आम तौर पर आप जो खाना खाते हैं, आपका पाचन तंत्र उसमें से कुछ भोजन बचाकर रखता है। इस तरह अगर आप लंबे समय तक नहीं खाते हैं तो आपके पास अतिरिक्त ऊर्जा उपलब्ध होती है।

बहुत पुराने समय में इवोल्यूशन की प्रक्रिया में आपके भीतर विकसित हुई इस विशेषता की ऐसे समाज में कोई ज़रूरत नहीं जहां भोजन की गारंटी है। इसलिए वह बचाया गया खाना फैट में बदल जाता है।

पर आपका शरीर एक दिन में पांच बार भोजन करने के लिए अभ्यस्त हो जाए तो वह सीख जायेगा कि उसे कुछ भी संग्रह करने, बचा कर रखने की जरूरत नहीं है। यह आपके धीमे मेटाबॉलिज्म को बदलने में मदद करेगा।

इस मामले में, कुछ मौकों पर अपने डाइट से ब्रेक लेना सबसे अच्छा है ताकि आपका शरीर इसका बहुत ज्यादा आदी न हो जाये। जैसा कि जीवन के किसी अन्य पहलूओं के साथ होता है, परिवर्तन आपको सक्रिय और चौकस रखता है।

इसे भी पढ़ें: वज़न घटाने का सबसे असरदार तरीका: अपना मेटाबोलिज्म तेज़ करें

2. क्लासिक्स का अनुसरण: धीमे मेटाबोलिज्म को बूस्ट करने के लिए एक्सरसाइज करें

एक्सरसाइज करने का मतलब है, आप उस ऊर्जा का उपयोग करेंगे जिसका आप अन्यथा उपयोग नहीं करते हैं। यह आपके मेटाबोलिक सिस्टम को तेज करने में योगदान देगा।

जैसा कि हमने पिछली टिप में बताया है, आपको अपनी ट्रेनिंग की तीव्रता में बदलाव करना चाहिए ताकि हमेशा समान ऊर्जा का प्रयोग न हो। जब आप ऐसा नहीं करेंगे तो आपका मेटाबोलिज्म फिर से धीमा हो जायेगा।

3. पानी पीना न भूलें

पानी पीकर धीमे मेटाबोलिज्म को बूस्ट करें

पानी आपके पेट को भरता है लेकिन इसमें कोई भी ऐसी चीज नहीं होती है जो आपके पाचन को धीमा करती है। इसका मतलब है, यह आपके धीमे मेटाबोलिज्म को तेज करेगा।

इस मायने में, आप जितना ज्यादा पानी पियेंगे उतनी ज्यादा तेजी से भोजन को पचाएंगे। लेकिन इस मामले में भी हमेशा हेल्दी लिमिट के अंदर रहें: दिन में दो से तीन लीटर।

4. नारियल के तेल को आजमायें

बहुत स्वादिष्ट होने के अलावा, यह तेल ऑलिव ऑयल (Olive Oil) से ज्यादा उत्तेजक है। दरअसल आप इसी तरह के अन्य घटकों की तुलना में इसके साथ तीन गुना अधिक कैलोरी भी जला सकते हैं।

ऐसा इसलिए होता है, क्योंकि नारियल का तेल केटोसिस (ketosis) नाम की स्थिति को ट्रिगर करता है जो ईंधन के रूप में शुगर के बजाय फैट का उपयोग करती है।

इसे इस्तेमाल करने के लिए बहुत सी रेसिपी और तरीके हैं। शुरुआत करने वालों के लिए भोजन से पहले एक छोटे चम्मच से शुरू करना या ऑलिव ऑयल के तेल के विकल्प के रूप में इसका उपयोग करना एक अच्छा आईडिया है।

5. दालचीनी से भोजन को लजीज बनायें

दाल्चीनी खाकर धीमे मेटाबोलिज्म को बूस्ट करें

यह एक अजीब बात है, यह मसाला आपको शुगर को बहुत तेजी से एब्जोर्ब करने में सक्षम बनाता है। रिसर्च से पता चला है, अवशोषण सामान्य से 20 गुना तेज हो सकता है।

बहुत सारे व्यंजन हैं जिनमें आप दालचीनी डाल सकते हैं लेकिन हम इसे कॉफी या चाय में एक नेचुरल स्वीटनर के रूप में उपयोग करने की सलाह देते हैं। आप बढ़िया स्वाद का त्याग किये बिना नुकसानदेह उत्पादों के उपयोग से छुटकारा पा जायेंगे।

इसे भी पढ़ें: दो डाइट प्लान जो आपका मेटाबोलिज़्म तेज़ करेंगे और घटाएंगे वजन

6. नाश्ते के साथ कॉफी लें

कैफीन न केवल आपको जगाता है यह आपकी हृदय गति को भी तेज करता है। हृदय को सक्रिय करना जरूरी है क्योंकि यह आपके बाकी शरीर को, आपके मेटाबोलिज्म सहित बूस्ट करता है।

7. अपने आहार में तैलीय मछली शामिल करें

तेल वाली मछली से धीमे मेटाबोलिज्म को बूस्ट करें

पहला लाभ आपको यह दिखाई देगा, आपका पेट ज्यादा जल्दी भरा हुआ महसूस होगा, इससे आप कम खायेंगे।

इसके अलावा, आपका शरीर केवल उन्हीं चीजों का उपयोग करेगा जिनकी उसे जरूरत है और बाकी को त्याग देगा।

8. चटपटा खाना खायें

चटपटा खाना आपके शरीर के तापमान में वृद्धि करता है। गरमाहट धीमे मेटाबोलिज्म को तेज करने में मदद करती है क्योंकि यह आपको सतर्क करती है। फिर आप पोषक तत्वों को ज्यादा तेजी से प्रोसेस करते हैं और जब हल्के भोजन को खाते हैं तो सब कुछ तेज हो जाता है।

9. अपने भोजन को व्यवस्थित करें

ऐसे धीमे मेटाबोलिज्म को बूस्ट करें

स्वाद में कमी न करें। अपनी पसंद के खाद्य पदार्थों को नये घटकों के साथ मिलायें ताकि आपको उन्हें तेजी से और बेहतर पचाने में मदद मिले।

इसके अलावा, मेज पर बैठकर ध्यान भटकाने वाली किसी बाधा के बिना भोजन करना एक अच्छा आईडिया है; जब आप खाते समय टीवी देखते हैं तो आम तौर पर ज्यादा खाते हैं।

आपको इन आदतों को अपने रूटीन में शामिल करने की जरूरत है।

यही कुंजी है: जब आप अपने धीमे मेटाबोलिज्म को बदलने की कोशिश करते हैं तो आपको डंटकर लगे रहना चाहिए। डाइट और एक्सरसाइज की तीव्रता में बदलाव लाना चाहिए।

क्या आप इन अद्भुत युक्तियों को आजमाने के लिए तैयार हैं? क्या आपके पास कोई और आईडिया है जो आपको लगता है, हमें हैरान कर सकता है?