दो डाइट प्लान जो आपका मेटाबोलिज़्म तेज़ करेंगे और घटाएंगे वजन

17 अगस्त, 2018
अगर आप अपना मेटाबोलिज़्म तेज़ करना चाहते हैं तो लो-फैट डाइट अपनाने के साथ-साथ नियमित रूप से एक्सरसाइज करना भी बहुत महत्वपूर्ण है। इन दोनों के मेल से शानदार नजीते मिलते हैं।

किसी भी स्वस्थ खानपान योजना का एक उद्देश्य मेटाबोलिज़्म तेज़ करके वजन नियंत्रण में रखना होता है। दरअसल, मेटाबोलिज़्म की प्रक्रिया पोषक तत्वों को ऊर्जा के स्रोतों के रूप में बदल देती है जिससे शरीर के अंग सुचारूढंग से कार्य कर पाते हैं।

उम्र और जीवनशैली के अनुसार हर एक व्यक्ति में मेटाबोलिज़्म की गति अलग-अलग होती है। जहां कुछ लोगों को कोई परेशानी नहीं होती है, वहीं कुछ को इसकी गति ‘तेज़’ करने के उपाय करने पड़ते हैं और इसे वजन और स्वास्थ्य में अड़चन पैदा करने से रोकना होता है।

सौभाग्य से आज कई ऐसी हेल्दी डाइट उपलब्ध हैं जो बिना किसी विशेष परेशानी के वजन कम करने की इच्छा पैदा करती हैं। कई कड़े नियमों वाले प्लान की मौजूदगी के बीच कुछ ऐसे संतुलित विकल्प भी हैं जो दिलचस्प नतीजे देते हैं।

इस पोस्ट में हम दो प्रभावी मॉडल प्रस्तुत कर रहे हैं, जिन्हें आप हफ्ते में एक बार अपनी डाइट में शामिल कर सकते हैं। तो तैयार हो जाइए, इन्हें आजमाने और इनके बारे में और जानने के लिए!

मेटाबोलिज़्म तेज़ करने के लिए लो-फैट डाइट

मेटाबोलिज़्म तेज़ करने के लिए लो-फैट डाइट

मोटापे का मुकाबला करने में फैट के कम सेवन की सबसे महत्वपूर्ण भूमिका होती है। वैसे डाइट से सभी फैट स्रोतों को हटाना ठीक नहीं रहता है लेकिन कम फैट सेवन से वजन घटाने में कई फ़ायदे मिलते हैं

मेटाबोलिज़्म तेज़ करने वाली इस तरह की डाइट का सबसे बड़ा फ़ायदा यह है कि इसे खाने से कम कैलोरी मिलती हैं। इसके साथ एक्सरसाइज करने से अतिरिक्त वजन से छुटकारा पाने के कई विकल्प उपलब्ध हो जाते हैं।

इसे भी पढ़ें: वज़न घटाने का सबसे असरदार तरीका: अपना मेटाबोलिज्म तेज़ करें

ब्रेकफास्ट विकल्प

  • तीन बादाम, एक ग्लास संतरे का जूस (200 मिली.) और होल वीट ब्रेड की एक स्लाइस।
  • ताज़े टमाटर के साथ होल व्हीट ब्रेड की एक स्लाइस, एक कप चाय (250 मिली.) और एक उबला हुआ अंडा।
  • एक कटोरा ताज़े कटे हुए फल, एक ग्लास बिना मलाई वाले या वनस्पतिक दूध में ओटमील (200 मिली.)।

मिड-मॉर्निग विकल्प

  • हैम या टर्की के साथ होल वीट ब्रेड की एक स्लाइस।
  • लाल फलों और हरी सब्जियों की स्मूदी।
  • थोड़ा खाने वाला जिलेटिन

लंच विकल्प

  • एक कटोरा सब्जियों का सूप या चिकन या मछली का शोरबा (100 ग्राम) और स्टीम्ड सब्जियां।
  • लेट्यूस या टमाटर का ताज़ा सलाद, चिकन ब्रेस्ट का एक हिस्सा (150 ग्राम) और एक सेब या नाशपाती।
  • ग्रीन सलाद, थोड़े से ब्राउन राइस (50 ग्राम) और भुनी हुई मछली।

मिड-आफ्टरनून स्नैक

  • चिया के बीजों के साथ हरी सब्जी वाली स्मूदी।
  • प्राकृतिक एवोकैडों सॉस और एक कप चाय के साथ एक पूरा टोस्ट।
  • होल वीट ब्रेड और टर्की की एक स्लाइस के साथ एक ग्लास वनस्पतिक दूध (200 मिली.)

डिनर विकल्प

  • लेट्यूस और टमाटर के सलाद के साथ एक अंडे का आमलेट।
  • भुनी हुई सब्जियों के साथ रोस्टेड ब्रेस्ट (150 ग्राम)।
  • एक कटोरा बेजिटेबल क्रीम।

इसे भी पढ़ें: सुडौल-सपाट पेट चाहिए? तो रात को इन 9 चीज़ों का सेवन करें

मेटाबोलिज़्म तेज़ करने और वजन घटाने की हेल्दी डाइट

जब वजन घटाने में मुश्किल हो रही हो तो महीने में एक बार मेटाबोलिज़्म तेज़ करने के लिए शरीर का शुद्धिकरण (डिटॉक्सीफिकेशन) करने वाले इस प्लान पर अमल किया जा सकता है। इसमें विशेष गुण होते हैं और इस कारण इसे बिना सलाह ज़्यादा लंबे समय तक नहीं खाना चाहिए। 

मेटाबोलिज्म तेज़ करेंगे ये खाद्य

ब्रेकफास्ट विकल्प

  • एक कटोरा कटा हुआ तरबूज, एक उबला हुआ अंडा और होल वीट ब्रेड की एक स्लाइस।
  • एक कप चाय (250 मिली.) और ताज़े टमाटर और होल वीट ब्रेड से बना सैंडविच।
  • एक ग्लास ग्रीन स्मूदी (200 मिली.) और ओलिव ऑयल के साथ होल वीट ब्रेड की दो स्लाइस।

मिड-मॉर्निग विकल्प

  • एक ग्लास वनस्पतिक दूध में पकाई गई ओटमीट (200 मिली.) और मुट्ठीभर मेवे (30 ग्राम)।
  • कटे हुए एवोकैडो के साथ टॉर्टिला।
  • एक ग्लास अनन्नास का जूस (200 मिली.)

लंच विकल्प

  • ग्रीन सलाद के साथ रोस्टेड चिकन ब्रेस्ट का एक हिस्सा (200 ग्राम)।
  • एक प्लेट टुना सलाद, एवोकैडो के साथ।
  • ग्रिल्ड सामन (100 ग्राम) के साथ मिक्स्ड सलाद।

मिड-आफ्टरनून स्नैक

  • गाजर और सेलेरी।
  • एक चम्मच शहद के साथ थोड़े मेवे (30 ग्राम)।
  • एक ग्लास पार्सले और ग्रीन एप्पल स्मूदी (200 मिली.)।

डिनर विकल्प

  • एक ग्लास अनन्नास का जूस (200 मिली.) और बेक्ड चिकन ब्रेस्ट (100 ग्राम)।
  • एक कटोरा सब्जियों का सूप बिना फैट के।
  • थोड़ा लेमन सामन (150 ग्राम) और ताज़ा सलाद।

अंत में, इन बातों का रखें ख़ास ध्यान

  • मेटाबोलिज़्म तेज़ रखने या उसे अपनी ‘सही गति’ में रखने के लिए डाइट में हर तरीके से सुधार करना ज़रूरी होता है। केवल एक या दो हफ्ते नहीं बल्कि हमेशा एक संतुलित डाइट अपनानी चाहिए।
  • इस डाइट का सेवन करने के प्रभाव तब ज़्यादा नज़र आते हैं जब साथ में नियमित रूप से एक्सरसाइज की जाए। इसलिए, अगर आपका उद्देश्य वजन कम करना है तो कार्डियोवैस्कुलर औ मज़बूती देने वाली एक्सरसाइज का ट्रेनिंग प्लान अपनाना अच्छा रहता है।
  • इसके अलावा, हम दिन में पांच या छह बार शांत स्थान में खाने की सलाह देंगे। खाने के दौरान ध्यान भंग होने पर मुख्य भोजन के बाद बेचैनी बढ़ जाती है

तो क्या अब आप ये डाइट आजमाने के लिए तैयार हैं! ध्यान रखें कि बताए गए प्लान स्वस्थ खानपान के मॉडल हैं और आप इनमें अपनी पसंद के अनुसार कुछ बदलाव कर सकते हैं। बस इतना याद रखें कि कैलोरी की मात्रा न बढ़ने पाए।

  • García Luna, P. P., & López Gallardo, G. (2007). Evaluación de la absorción y metabolismo intestinal. Nutricion Hospitalaria22(SUPPL. 2), 5–13. https://doi.org/10.1016/j.neuropharm.2014.09.011
  • McArdle, W. D., Katch, F. I., & Katch, V. L. (2004). Transferencia energética durante el ejercicio en el ser humano. In Fundamentos de fisiología del ejercicio (pp. 128–146). Mc Graw Hill – interamericana.
  • Troncoso, H. (2001). Metabolismo de lípidos. Revista Electrónica de Veterinaria 4(2), 52–60.
  • Galgani J, Ravussin E. Energy metabolism, fuel selection and body weight regulation. Int J Obes (Lond). 2008;32 Suppl 7(Suppl 7):S109–S119. doi:10.1038/ijo.2008.246
  • Mathur U, Stevenson RJ. Television and eating: repetition enhances food intake. Front Psychol. 2015;6:1657. Published 2015 Nov 3. doi:10.3389/fpsyg.2015.01657