हाइटल हर्निया: कारण और इसके इलाज के प्राकृतिक नुस्खे

27 मार्च, 2019
 

क्या आपको अपने पेट में जलन महसूस होती है? क्या आपको निगलने में कठिनाई होती है? क्या आपको नॉसिया की शिकायत होती है? यह संकेत हो सकता है कि आपको हाइटल हर्निया की समस्या है। यह एक बहुत ही गंभीर मामला है, जिसमें ऑपरेशन की आवश्यकता हो सकती है।

इस आर्टिकल में हम आपको इसके कारणों के बारे में बतायेंगे, साथ ही कुछ प्राकृतिक नुस्खे भी बतायेंगे जिनका इस्तेमाल करके आप इसका उपचार कर सकते हैं।

हाइटल हर्निया क्या होता है और इसके लक्षण क्या हैं? (What is a Hiatal Hernia and What are the Symptoms?)

हाइटल हर्निया तब होता है जब पेट का हिस्सा डायाफ्राम के ऊपर अपनी जगह से खिसक जाता है। परिणामस्वरूप पेट का अम्ल (Stomach acid) आसानी से भोजन नली में ऊपर की ओर उठने लगता है, जिससे यह अक्सर गैस्ट्रिक रिफ्लक्स होने का भ्रम पैदा करता है। हालांकि, लगातार रीफ्लक्स का होना इस समस्या का ही लक्षण हो यह भी जरूरी नहीं है।

हाइटल हर्निया एक बहुत ही आम समस्या है जो आमतौर पर 50 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों में पायी जाती है। ऐसा कहा जाता है कि लोगों की एक बहुत बड़ी आबादी इस समस्या से पीड़ित है, मगर बहुत से लोगों में इसके कोई लक्षण नहीं दिखाई देते हैं।

लक्षण

इसके सबसे सामान्य लक्षणों में शामिल हैं:

  • हार्ट-बर्न या पेट में जलन
  • सीने में दर्द
  • निगलने में कठिनाई
  • सांसों की बदबू
  • पेट फूलना
  • खाने के बाद भी तेज़ भूख लगना
  • खून की उल्टी
  • काले रंग का मल (Dark stool)

उल्टी और गहरे रंग का मल केवल सबसे ज्यादा गंभीर मामलों में ही होता है। इसके अलावा, कुछ लोगों में यह स्थिति लक्षणों के बिना भी हो सकती है, जिससे इसकी पहचान कर पाना काफी मुश्किल हो जाता है।

इसके कारण क्या हैं?

इसके कारणों में शामिल हैं:

  • कमजोर डायाफ्राम मसल्स
  • खांसी, उल्टी या शौच के दौरान पेट पर दबाव का बढ़ना।
  • धूम्रपान
  • मोटापा

इसे भी पढ़ें : 10 कारण जो आपके शरीर के दाईं ओर दर्द से जुड़े हो सकते हैं

हाइटल हर्निया के इलाज के लिए प्राकृतिक नुस्खे (Natural Remedies for Treating Hiatal Hernia)

हाइटल हर्निया के इलाज के लिए प्राकृतिक नुस्खे
 

हाइटल हर्निया को ठीक करने के लिए कई प्राकृतिक नुस्खे हैं। वे इसके लक्षणों को काफी हद तक कम कर देंगे और साथ ही आपकी दवाइयों के लिये एक कॉम्प्लीमेंट के रूप में भी काम कर सकते हैं।

मैरीगोल्ड टी (Marigold Tea)

मैरीगोल्ड में एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटी-ऑक्सीडेंट गुण मौजूद होते हैं। इसलिए, इस पौधे से बनी एक चाय पाचन  को बेहतर बनाने और हार्ट-बर्न से मुकाबला करने में मदद करेगी।

हम आपको हर भोजन के बाद इसे एक कप पीने की सलाह देते हैं।

ज़रुरी चीजें:

  • 1 चम्मच मैरीगोल्ड (गेंदा) के फूल (5 ग्राम)
  • 1 कप पानी (250 मिली)
  • शहद (स्वाद के लिए)

बनाने का तरीका:

  • मैरीगोल्ड के फूलों को 10 मिनट तक पानी में उबालें।
  • इसे 10 मिनट और ठंडा होने के लिए छोड़ दें और फिर छान लें।
  • उसके बाद, अपने स्वाद के अनुसार थोड़ा शहद मिलाकर चाय को मीठा कर लें और पी लें।

सेब का सिरका (Apple Cider Vinegar)

सेब का सिरका हाइटल हर्निया के इलाज के लिए सबसे असरदार प्राकृतिक नुस्खों में से एक है। यह गैस्ट्रोइन्टेस्टनल संबंधी दूसरी समस्याओं में भी फ़ायदेमंद साबित हो सकता है।

हम आपको हर भोजन के बाद इसे पीने की सलाह देते हैं।

जरूरी चीजें:

  • 1 बड़ा चम्मच सेब का सिरका (15 मिली)
  • 1 गिलास पानी (250 मिली)

बनाने का तरीका:

  • सेब के सिरके को पानी में मिलायें।
  • अच्छी तरह से घोलें और पी लें।

एलोवेरा जूस (Aloe Vera Juice)

एलोवेरा एक पौधा है जिसमें कई सारे औषधीय गुण होते हैं। यह कब्ज से लड़ने में मदद करता है, घावों को भरने में बहुत कारगर है, और हाइटल हर्निया के लक्षणों से भी राहत देता है।

हम आपको दिन में एक बार इसे पीने की सलाह देते हैं

ज़रूरी चीजें:

  • 1 एलोवेरा का डंठल
  • 1 गिलास आपकी पसंद के सिट्रिक (खट्टे) फलों का रस (200 मिली)
  • शहद (स्वाद के लिए)

बनाने का तरीका:

  • सबसे पहले एलोवेरा को काटें, इसे छीलें और इसका जेल निकालने के लिए इसे अच्छी तरह धो लें।
  • इससे निकलने वाले पीले रंग के स्राव को अलग करना न भूलें, नहीं तो, यह ड्रिंक को कड़वा कर देगा और यहां तक कि डायरिया भी हो सकता है।
  • उसके बाद, एक ब्लेंडर में फलों के रस और एलोवेरा जेल को एक साथ मिलायें और ब्लेंड करें।
  • अपने स्वाद के अनुसार शहद मिलायें और मीठा कर दें।

इसे भी पढ़ें : ये हैं खट्टी डकारें आने से छुटकारा दिलाने वाले सबसे कारगर प्राकृतिक नुस्ख़े

कैमोमाइल इन्फ्यूश़न (Chamomile Infusion)

कैमोमाइल इन्फ्यूश़न में आरामदेह (soothing) और एंटी-इन्फ्लेमेटरी गुण होते हैं। यह पेट दर्द से राहत देने के लिए एक शानदार ड्रिंक है।

 

ज़रूरी चीजें:

  • 2 बड़े चम्मच सूखे कैमोमाइल के फूल (30 ग्राम)
  • 1 कप पानी (250 मिली)

बनाने का तरीका:

  • एक बर्तन लें और पानी को कुछ मिनटों तक उबालें।
  • फिर, एक गिलास में पानी और कैमोमाइल को मिलाएं।
  • आखिर में, इसे कुछ मिनट के लिए ठंडा होने के लिए छोड़ दें और फिर पी लें।
हाइटल हर्निया के लिए प्राकृतिक नुस्खे : कैमोमाइल इन्फ्यूश़न

तेजपत्ता का काढ़ा (Bay Leaf Infusion)

तेजपत्ता पाचन को बेहतर बनाता है और आंतों की ऐंठन को दूर करता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि उनमें यूजेनॉल (eugenol) होता है, जिसमें कार्मिनेटिव (carminative) और अल्सर-नाशक गुण पाये जाते हैं।

हाइटल हर्निया के लक्षणों से राहत पाने के लिए इस इन्फ्यूश़न के एक या दो कप पिएं

जरूरी चीजें:

  • 2 तेज़पत्ते की पत्तियाँ
  • 1 कप पानी (250 मिली)

बनाने का तरीका:

  • पानी गर्म करें और एक बार जब यह एक उबलने लगे तो इसमें तेजपत्ते की दो पत्तियाँ डालें और ठंडा होने के लिये छोड़ दें।
  • उसके बाद, इन्फ्यूश़न को छानें और पी लें।

हाइटल हर्निया एक ऐसी चीज है जिसे कंट्रोल किया जा सकता है, लेकिन आपको इस समस्या को बढ़ने से रोकने या सर्जरी से बचने के लिए जल्द से जल्द इसका इलाज करना होगा। ये प्राकृतिक नुस्खे इसके लक्षणों को ख़त्म करने और आपके जीवन की गुणवत्ता में सुधार करने में मदद करेंगे।

इन नुस्खों को प्रयोग में लाने के साथ-साथ, यह भी सुनिश्चित करें कि आप एक स्वस्थ डाइट का सेवन कर रहे हों। इसके अलावा, ध्यान रखें कि धूम्रपान इस स्थिति को और भी बदतर बना देता है। अंत में, अगर आपके मन में किसी भी तरह के शंका है तो किसी स्पेशलिस्ट के पास जाना सुनिश्चित करें।

 
  • Roman, S., & Kahrilas, P. J. (2013). Hiatal hernia. In Principles of Deglutition: A Multidisciplinary Text for Swallowing and its Disorders. https://doi.org/10.1007/978-1-4614-3794-9_51
  • Hyun, J. J., & Bak, Y. T. (2011). Clinical significance of hiatal hernia. Gut and Liver. https://doi.org/10.5009/gnl.2011.5.3.267