दर्द से राहत पाने के लिए अदरक और ऑलिव ऑयल सिरप

मई 8, 2019
अदरक और जैतून के तेल से बने इस सिरप को त्वचा पर लगाने पर या इसे पीने पर इसकी दर्द निवारक और सूजनरोधी खूबियाँ आपको अपने दर्द से राहत दिलाती हैं।

अपनी खूबियों की बदौलत आपके दर्द का नाश करने में अदरक और ऑलिव ऑयल से बना सिरप सबसे कमाल के घरेलू नुस्खों में से एक है। यह एक कारगर सूजनरोधी, पीड़ानाशक और मूत्रवर्धक इलाज है। इसके कई फायदों में रक्तसंचार में सुधार लाने और पाचन तंत्र की समस्याओं से राहत दिलाने वाली इसकी खूबियाँ अहम हैं।

अदरक की खासियत होती हैं उसकी रीजेनेरेटिव और कामोत्तेजक खूबियाँ। इस जड़ का इस्तेमाल कई तरह के पकवानों को स्वादिष्ट बनाने के लिए किया जाता है। साथ ही, अपनी शानदार खुशबू की वजह से इसका इस्तेमाल कभी-कभी किसी एयर फ्रेशनर के तौर पर भी किया जाता है।

मिनरल, विटामिन और जिंजेरोल

कैल्शियम, एसेंशियल ऑइल्स, एमिनो एसिड, फॉस्फोरस और विटामिन बी और सी से युक्त अदरक आपके इम्यून सिस्टम में मजबूती ले आती है। जिंजेरोल नाम के उसके सक्रिय तत्व की वजह से ओवेरियन और कोलन कैंसर की चपेट में आने का जोखिम कम हो जाता है। ब्रोंकाइटिस, दमा, बुखार और श्वास की अन्य बीमारियों के खिलाफ़ वह एक कमाल का एक्स्पेक्टोरैंट साबित होता है।

अगर आप पेनकिलर्स का इस्तेमाल बंद करना चाहते हैं तो अदरक और ऑलिव ऑयल का यह सिरप दर्द से राहत पाने के लिए एकदम सही विकल्प है। अपनी मूत्रवर्धक खूबियों की बदौलत यह जोड़ों में तरल पदार्थों की अतिरिक्त मात्रा को कम करके उनकी सूजन में कमी ले आता है।

अदरक: पेट और आँतों की बेहतरीन दोस्त

इसके अलावा, अपच, बादी, पेट में मरोड़ और बदहजमी के इलाज में भी अदरक बहुत उपयोगी होती है। पेट दर्द, आँतों के संक्रमण और बैक्टीरियल डिसेंट्री के लिए यह सिरप बिल्कुल सही है।

इसे भी आजमायें : चमत्कारिक घरेलू एंटीवायरल: अदरक वाली चाय ऐसे बनायें

दर्द से राहत पाने के लिए अदरक और ऑलिव ऑयल का सिरप

अदरक और जैतून के तेल वाला सिरप आपकी सेहत के लिए काफ़ी फायदेमंद होता है

सामग्री

  • एक कप ताजी अदरक (150 ग्राम)
  • एक कप जैतून का तेल (250 मिलीलीटर)

निर्देश

  • अदरक को अच्छे से धोकर दो घंटे के लिए उसे सूखने के लिए छोड़ दें।
  • उसके बाद ऑलिव ऑयल के तेल को बेकिंग पैन में डाल दें।
  • फिर अदरक को काटकर उसे पीस लें।
  • जैतून के तेल वाले बेकिंग पैन में अदरक डालकर उन्हें अच्छे से मिला लें
  • ओवन को 300° फ़ारेनहाइट पर गर्म करें।
  • फिर उस मिश्रण को दो घंटे तक बेक करें
  • उसके ठंडा हो जाने पर किसी कपड़े से उस मिश्रण को छानकर अदरक के टुकड़ों को हटा दें। ध्यान रहे कि छानने के बाद कपड़े पर तेल का कोई नामोनिशान नहीं रहना चाहिए।
  • बोतलों को किसी ठंडी, सूखी जगह पर रखें। इस सिरप का इस्तेमाल छह महीनों तक किया जा सकता है

अलग-अलग उपयोग

अपने दर्द से राहत पाने के लिए अदरक और जैतून के तेल वाले इस सिरप की मात्रा आपकी समस्या की तीव्रता पर निर्भर करेगी।

अदरक का तेल कई तरह की समस्याओं से राहत दिलाने में मददगार साबित हो सकता है। और तो और, उसकी गंध मच्छरों और बीमारी फैलाने वाले अन्य कीट-पतंगों को भी दूर भगा देती है।

इसे भी आजमायें : ऑलिव ऑयल और लहसुन से करें नसों की सूजन का नेचुरल ट्रीटमेंट

आर्थराइटिस और मांसपेशियों का दर्द

अदरक और जैतून के तेल वाले सिरप के करिश्माई लाभ

अपने तन और मन में नयी जान फूंकने के लिए आप दिन में इस सिरप की दो से तीन बूंदों का सेवन कर सकते हैं। अगर आप आर्थराइटिस या मांसपेशियों और पीठ दर्द से राहत पाना चाहते हैं तो इसकी दो या तीन बूँदें लेकर प्रभावित जगह की मालिश करें

यहाँ हम दिन में इसकी तीन बूंदों के सेवन का सुझाव भी आपको देना चाहेंगे।

बादी से लेकर ब्रोंकाइटिस तक

  • अगर आप दस्त या गैस से परेशान हैं तो इस सिरप की एक बूँद लेकर अपने पेट की मालिश करें
  • अगर आप गले की ख़राश या साइनसाइटिस से परेशान हैं तो हमारा सुझाव है किसी डिफ्यूज़र का इस्तेमाल कर इस सिरप की तीन बूंदों की गंध को अंदर खींचें। यह सिरप ब्रोंकाइटिस, दमे, डिस्पनिया और बुखार का मुकाबला करने में उपयोगी होता है। बलगम को आपके फेफड़ों और गले से निकाल बाहर करने में भी यह कारगर साबित हो सकता है।
  • बात जब आपकी खूबसूरती की आती है तो इसकी तीन बूंदों को प्रभावित जगहों पर लगाने से आपकी झुर्रियों और स्ट्रेच मार्क्स में कमी आ जाएगी। अदरक की रीजेनरेटिव खूबियाँ आपकी क्षतिग्रस्त त्वचा को दुरुस्त कर सकती हैं।

कोलेस्ट्रॉल और हाई ब्लड प्रेशर के खिलाफ़ कारगर

अदरक और जैतून के तेल वाले इस सिरप के सेवन से हाई ब्लड प्रेशर का खतरा कम हो जाता है। आपके खून में घातक कोलेस्ट्रॉल (एल. डी.एल.) का मुकाबला करने और खून के थक्के बनने व आर्टेरिओस्क्लेरोसिस के खतरे को कम करने में भी यह सिरप फायदेमंद होता है। दूसरे शब्दों में कहें तो दिल की बीमारियों से निपटने के लिए यह एकदम सही होता है।

लेकिन इसके और भी कई फायदे होते हैं। अदरक के तेल की रोज़ाना दो से चार बूंदों का सेवन करने की आदत डाल लेने से आपके किसी स्थायी रोग की चपेट में आ जाने का जोखिम कम हो सकता है।

अनगिनत फायदे

जैसाकि आप देख सकते हैं, अदरक के कई फायदे होते हैं। इस असरदार घरेलू उपाय का इस्तेमाल कई तरह की परेशानियों से निपटने के लिए किया जा सकता है। अदरक की जड़ में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट, विटामिन और मिनरल इसे आपकी सेहत का सबसे अच्छा दोस्त बनाते हैं।

दर्द से राहत दिलाने वाले अदरक और जैतून के तेल वाला यह घरेलू सिरप आपकी सेहत में सुधार ले आता है। अक्सर इस्तेमाल किए जाने वाले बर्तनों और आसानी से मिल जाने वाली सामग्री का इस्तेमाल कर आप इसे अपने घर पर ही बना सकते हैं।

  • Rhode, J., Fogoros, S., Zick, S., Wahl, H., Griffith, K. A., Huang, J., & Rebecca, J. R. (2007). Ginger inhibits cell growth and modulates angiogenic factors in ovarian cancer cells. BMC Complementary and Alternative Medicine. https://doi.org/10.1186/1472-6882-7-44
  • Jeong, C. H., Bode, A. M., Pugliese, A., Cho, Y. Y., Kim, H. G., Shim, J. H., … Dong, Z. (2009). [6]-Gingerol suppresses colon cancer growth by targeting leukotriene A 4 hydrolase. Cancer Research. https://doi.org/10.1158/0008-5472.CAN-09-0491