फैट जलाने और अपना पॉस्चर सुधारने की शानदार एक्सरसाइज

मार्च 6, 2019
यह आपको एक आसान और स्टेटिक एक्सरसाइज लग सकती है, लेकिन फैट के जमाव से छुटकारा पाने और मांसपेशियों को ताकतवर बनाने के लिए प्लैंक आदर्श है। इस आर्टिकल में जानें, इसे कैसे करना है!

फैट गलाना हमेशा आसान नहीं होता है, और ज्यादातर समय यह कुछ एक्स्ट्रा एफर्ट की मांग करता है – जैसे कि फैट जलाने की कुछ एक्सरसाइज करना। लेकिन अगर ये एक्सरसाइज आपके पॉस्चर को बेहतर बनाने में मददगार हों, तो नतीजे और भी अच्छे हो सकते हैं।

यहाँ दी गयी एक्सरसाइज पर ध्यान दें जो आपको फैट जलाने और अपना पॉस्चर सुधारने की सहूलियत देंगे।

फैट जलाने के लिए इन्वर्टेड प्लैंक

फैट जलाने के लिए इन्वर्टेड प्लैंक

यह आम प्लैंक से थोड़ा अलग है जिससे इसके लाभ बढ़ जाते हैं। यह पहली बार में थोड़ा मुश्किल लगेगा, पर समय के साथ आप इस पोज में रहने का समय बढ़ा पाएंगे।

आपको क्या करना है?

  • सबसे पहले, फर्श पर बैठ जाएँ। बैठे-बैठे अपने पैरों को अपने सामने फैलाएं और हाथों को फर्श पर रखें, ताकि व्यायाम करते समय आपकी उंगलियां ज्यादा स्थिर रहें।
  • फिर, अपने धड़ (torso) को पीछे की ओर झुकाएं, जमीन से 45° के कोण पर।
  • अपने हाथों को नितंबों (buttocks) के ठीक पीछे रखें जिससे वे आपके कंधों की सीध में हों। अपने नितंबों को ऊपर उठाते हुए शरीर का वजन अपने हाथों और एड़ी पर टिकाना न भूलें।

अब आम प्लैंक एक्सरसाइज करें:

  • कुल मिलाकर आपको अपने धड़, पैर और ग्लूट्स को उठाना होगा, जब तक कि वे एक सीधी रेखा नहीं बना लेते
  • अब पेट की मांसपेशियों को कास लें और अपने धड़ को उठाते हुए उन्हें सिकोड़ें।
  • शरीर को इसी मुद्रा में 15 – 60 सेकंड के लिए रखें और फिर धीरे-धीरे वापस नीचे लायें।

यह भी पढ़ें: 4 चमत्कारिक तरीकों से एक हफ़्ते में अपनी कमर को ट्रिम करें

यह एक्सरसाइज आपके लिए कैसे फायदेमंद है?

यह आसान एक्सरसाइज जिसे आप घर पर कर सकते हैं, आपको फैट जलाने और अपने पॉस्चर ठीक करने में मदद करेगी। इसके अलावा यह एक्सरसाइज आपको कुछ दूसरे फायदे भी देगी।

  • ज्यादा टोंड ग्लूट्स और पिंडली हासिल करने में यह आपकी मदद करेगा
  • साथ ही, यह आपको निचली पीठ से जुड़े ज्यादा फायदे देगी जो आप रेगुलर प्लैंक से पाते हैं। क्योंकि यह अन्य प्लैंक एक्सरसाइज की तुलना में आपके ग्लूट्स और पैर की मांसपेशियों पर ज्यादा बोझ डालता है

हालाँकि इतनी ही पर्याप्त नहीं है। आइए इस एक्सरसाइज के कुछ शानदार लाभों पर एक नज़र डाल लें।

यह मेटाबोलिज्म को तंदरुस्त बनाने में मदद करता है

हालाँकि ऐसा लग सकता है कि विशिष्ट व्यायाम करने और अपने मेटाबोलिज्म सुधारने के बीच कोई सीधा आपसी संबंध नहीं है। लेकिन कुछ लोगों का कहना है कि यह संभव है।

प्लैंक की पोजीशन में रहने के दौरान आप डायनेमिक एक्सरसाइज के मुकाबले ज्यादा कैलोरी जलाते हैं। वास्तव में, इसका मतलब यह हुआ कि वे आपके मेटाबोलिज्म को ज्यादा कुशलता से एक्टिवेट कर सकते हैं।

इसे भी आजमायें : 7 एक्सरसाइज कुछ ही दिनों में कमर ट्रिम करने वाली

यह आपके पॉस्चर को बेहतर बना सकती है

फैट जलाने : पॉस्चर

जैसा कि हमने ऊपर कहा, यह व्यायाम आपके पॉस्चर को बेहतर बनाने के लिए आदर्श है।

इसका अभ्यास करते समय आप मांसपेशियों को मजबूत करते हैं जो कि आपकी पीठ को सीधी रखने में मदद करता है। यह बहुत अहम है, खासकर उन लोगों के लिए जो ऑफिस में काम करते हैं

आप अपनी पीठ का दर्द कम करेंगे

हफ़्ते में कम से कम तीन या चार बार इस एक्सरसाइज को करने से पीठ दर्द को कम किया जा सकता है

आप इनवर्टेड प्लैंक करें या नॉर्मल प्लैंक का, यह आपकी मांसपेशियों को अज्यादा सक्रिय करने में मदद करेगा।

इस आर्टिकल पर जाएँ: 7 स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज़: कमर दर्द से छुटकारा पाएं

आप कैलोरी बर्न करेंगे

फैट जलाने : कैलोरी बर्न करेंगे

हमने ऊपर जो बताया है, वे फायदे अगर पर्याप्त नहीं है, तो बता दें कि यह कैलोरी जलाने में आपकी जबरदस्त मदद कर सकता है।

इस एक्सरसाइज को करने से, आप पाएंगे कि आप :

  • अपने हिप्स को कम झुकायेंगे।
  • अपने सिर को पीछे नहीं झुकाएंगे।
  • अपनी पीठ को सीधी रखेंगे।

इनवर्टेड प्लैंक के मामले में आप अपने शोल्डर मसल्स की स्ट्रेचिंग करते हुए अपनी बाहों, पेट और पैरों की मांसपेशियों को भी मजबूत करेंगे

कुल मिलाकर अगर आप इस शानदार एक्सरसाइज को अजमाने का फैसला करते हैं, तो आप ताकत बढ़ाएंगे, अपनी मुद्रा सुधारेंगे, अपने मेटाबोलिज्म को उत्तेजित करेंगे, कई मसल्स ग्रुप को एक्टिवेट करेंगे और चोट लगने से बच पायेंगे

प्लैंक करने के लिए कुछ सुझाव

फैट जलाने वाले प्लैंक करने के लिए कुछ सुझाव

अगर आपका वजन ज्यादा है या आपको पीठ में कोई समस्या है, तो यह वर्कआउट शुरू करने से पहले अपने फिजिकल ट्रेनर से बातचीत कर लेनी चाहिए।

वे आपको सलाह दे सकते हैं कि यह आपके लिए ठीक है या नहीं। इस तथ्य को ध्यान में रखें, कि यह एक स्टेटिक एक्सरसाइज है। लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि इसमें जोखिम नहीं है या यह बहुत आसान है

याद रखें कि, चोट से बचने के लिए इसे सही मुद्रा में करना ज़रूरी है। यदि आपको कोई संदेह है कि यह एक्सरसाइज आपके लिए ठीक है या नहीं, पहले अपने डॉक्टर से बात कर लेना सबसे अच्छा है।