लहसुन से करें अन्दर की तरफ बढ़े पैर के नाखून में संक्रमण का इलाज

जुलाई 2, 2019
अन्दर की ओर बढ़े पैर के नाखून में होने वाले संक्रमण से लड़ने और घाव को भरने में लहसुन के औषधीय गुण मदद कर सकते हैं। इसका तरीका हम इस आर्टिकल में बताएंगे। 

लहसुन का पौधा एलियम परिवार (Allium family) का है। यह प्याज, छोटी प्याज यानी शैलॉट (shallot) और हरी प्याज ( leek) से बड़ा करीबी तौर पर जुड़ा है। अपने कीटाणुनाशक गुणों के कारण यह अन्दर की ओर बढ़े पैर के नाखून की असुविधाओं से लड़ने में मददगार हो सकता है।

लहसुन दुनिया भर में कई जगह उगता है। अपनी तेज गंध और स्वाद के कारण यह किचन की एक लोकप्रिय सामग्री है। पूरे इतिहास में इसका उपयोग इसके औषधीय गुणों के लिए किया जाता रहा है

अन्दर की ओर पैर के नाखून बढ़ने का कारण और लक्षण

लहसुन से करें नाखून में संक्रमण का इलाज

अन्दर की ओर बढ़ा पैर का नाखून (ingrown toenails) बहुत तकलीफ दे सकता है।

पैर का नाखून अन्दर की ओर बढ़ने की स्थिति तब आती है जब नाखून के एक या दोनों किनारों के नीचे का मांस संवेदनशील हो जाता है और नाखून के ज्यादा बढ़ने या मांस के दबाव से सूज जाता है

यह असुविधा अक्सर ऐसे जूते पहनने के कारण होती है जो बहुत छोटे या टाइट हों। ऊँची एड़ी से भी ऐसा हो सकता है।  ये देह के वजन को आगे की ओर शिफ्ट करते हैं और पैर की उंगलियों को जूते के सबसे निचले हिस्से में समाने के लिए मजबूर कर देते हैं।

अन्य मामलों में, जब आप अपने पैरों के नाखून को ठीक से नहीं काटते हैं तो इनग्रोन टोनेल की स्थिति आती है। आपको उन्हें स्क्वायर के आकार में काटना चाहिए और कोनों पर गोलाकार नहीं।अगर आप ऐसा न करें तो गोल कोनों के आसपास मांस बढ़ सकता है और जब नाखून सामान्य रूप से बढ़ते हैं तो वे मांस में घुस सकते हैं

अन्दर की ओर बढ़े पैर का नाखून काटने की टिप्स

लहसुन से नाखून में संक्रमण का इलाज

अपने नाखूनों को सही ढंग से काटना अन्दर की ओर बढ़ते पैर के नाखून को रोकने का पहला कदम है।

नीचे हम आपको एक इनग्रोन टोनेल को काटने के तरीके की जानकारी देते हैं। अन्दर की तरफ बढ़े हिस्से को खुद न काटें। इससे समस्या और बदतर हो सकती है।

  • इसे नरम करने के लिए गर्म पानी में अपने नाखून भिगोएँ।
  • फिर एक साफ और तेज नेल क्लिपर से इसके सिरों को बराबर काटें।
  • कोनों को गोल न करें, न ही उन्हें ज्यादा काटें।
  • इसके अलावा समस्या हल होने तक चौड़े जूते पहनने पर भी विचार करें।

नीचे हम लहसुन के गुणों की बात करेंगे जो इनग्रोन टोनेल को राहत देने में मदद कर सकते हैं। हम एक इलाज की भी जानकारी देंगे जिसमें यह मिला होता है।

इसे भी देखें: पैरों की उँगलियों में लगी फंगस के बारे में 7 तथ्य

लहसुन के गुण (The Properties of Garlic)

अन्दर की ओर बढ़े पैर के नाखून के लिए एक लहुसन एक अहम नेचुरल उपाय है।

पूरे इतिहास में इसका उपयोग इसके औषधीय गुणों के लिए किया गया है। लहसुन में एलिसिन (allicin) नाम का एक कम्पाउंड होता है जिसके कई फायदे हैंयह एक सल्फ्यूरिक कम्पाउंड है जो उस समय निकलता है जब लहसुन को काटा, कुचला या चबाया जाता है। यह लहसुन की विशिष्ट गंध के लिए जिम्मेदार है

लहसुन एक एंटीसेप्टिक और एक प्राकृतिक इलाज है, इसलिए इसका इस्तेमाल अन्दर की ओर बढ़े पैर के नाखून और उनके कारण होने वाली तकलीफ से राहत पाने में किया जा सकता है।

अन्दर की ओर बढ़े पैर के नाखून के लिए लहसुन ट्रीटमेंट

1. लहसुन और विक्स वेपोरब ट्रीटमेंट

विक्स वेपोरब मेंथोल युक्त मरहम है जो प्रभावित नाखूनों में होने वाली जलन और दर्द को शांत करता है। इसका असर बढ़ाने के लिए इसे लहसुन में मिलाएं।

सामग्री

  • 1 बड़ा चम्मच विक्स वेपोरब (20 ग्राम)
  • 1 लहसुन की कली
  • बैंडेज

तैयारी

  • मोटी पेस्ट बनने तक मरहम के साथ लहसुन को कुचल दें।
  • अपने अन्दर की ओर बढ़े पैर के नाखून पर लगाएं और एक पट्टी से ढकें।
  • रात भर के लिए छोड़ दें और लगातार पांच दिनों तक यह इलाज दोहराएं।

2. प्राकृतिक घरेलू ट्रीटमेंट

लहसुन अपने एंटीसेप्टिक और एंटीइन्फ्लेमेटरी असर के कारण पॉपुलर है, जिसका लाभ आप इस उपाय से उठा सकते हैं।

सामग्री

  • 4 कप पानी (1 लीटर)
  • 1 लहसुन की कली
  • कॉटन

तैयारी

  • पानी उबालें और एक कंटेनर में डालें।
  • ध्यान से अपने अन्दर की ओर बढ़े पैर के नाखून को गर्म पानी में कई बार भिगोएँ।
  • साफ कपड़े से सुखाएं।
  • फिर लहसुन को कुचल दें। लहसुन के पेस्ट में कुछ रुई भिगोकर संक्रमण ख़त्म करने के लिए इसे नाखून के नीचे रखें।
  • आपको इस इलाज को दिन में दो से तीन बार दोहराना चाहिए।

इसे भी पढ़ें : खाली पेट लहसुन और शहद लेने के लाभ

अन्य जानकारी

डायबिटीज, छोटे बच्चों, र्नव की क्षति (आमतौर पर पैरों में), खराब ब्लड सर्कुलेशन या नाखून के चारों ओर संक्रमण के मामले में डॉक्टर से सलाह लें। इस मामले में इलाज घर पर करने की कोशिश न करें।

आपका डॉक्टर आपके नाखून की जांच करेगा। इसके अलावा बेहतर इलाज करने के लिए वह आपके लक्षणों के बारे में पूछ सकता है।