अंदर की ओर बढ़े पैर के नाखूनों के लिए 6 पुराने ट्रीटमेंट

07 नवम्बर, 2018
हालांकि ये उपचार दर्द से छुटकारा पाने में मदद कर सकते हैं एक डॉक्टर से सलाह लेना सबसे अच्छा है क्योंकि कभी-कभी अंदर की ओर बढ़े हुए पैर के नाखूनों के लिए सर्जरी करवाना एकमात्र समाधान होता है।

ऑनीकौक्रिप्टोसिस जो इनग्रोन टोनेल या अंदर की ओर बढ़े हुए पैर के नाखूनों के रूप में जाना जाता है, एक मेडिकल हालत है जो तब होती है जब पैर की उंगली का नाखून त्वचा के अंदर बढ़ जाता है।

यह एक आम परेशानी है, खास तौर से उन लोगों के लिए जो हवादार और लचीली मटेरियल से बने आरामदायक जूते नहीं पहनते हैं।

हालांकि यह हाथों में हो सकता है, ज्यादातर यह एक या दोनों पैरों के अंगूठे में दिखाई देता है।

यह आम तौर पर प्रभावित क्षेत्र में लाली और सूजन के साथ होता है। आगे चलकर होने वाली जटिलताओं से बचने के लिए इसका जल्द से जल्द इलाज करना चाहिए।

हालांकि यह आम तौर पर किसी अहम हेल्थ रिस्क को पैदा नहीं करता है यह जरुरी है कि आप संक्रमण के रिस्क को कम करने के लिए किसी प्रकार के उपाय का उपयोग करें।

क्योंकि हम जानते हैं कि बहुत से लोगों को यह नहीं मालूम है कि उनके बारे में क्या करना है, हम अंदर की ओर बढ़े हुए पैर के नाखूनों के इलाज के लिए छह पुराने, घर के बने समाधान शेयर करना चाहते हैं।

1. अंदर की ओर बढ़े हुए पैर के नाखूनों के लिए टी ट्री ऑयल

टी ट्री एसेंशियल ऑयल एक प्राकृतिक उत्पाद है जो सबसे अच्छे एंटीबायोटिक और एंटीफंगल में से एक के रूप में जाना जाता है।

नाखूनों के चारों ओर की त्वचा पर इसका उपयोग अंदर की ओर बढ़े हुए पैर के नाखूनों की जलन और लाली को शांत करने में मदद कर सकता है।

सामग्री

  • 6 बूंदें टी ट्री एसेंशियल ऑयल
  • 1 रुई का गोला
  • 1 पट्टी

आपको क्या करना चाहिये?

  • कॉटन स्वॉब या रुई के गोले का उपयोग करके त्वचा से अंदर की ओर बढ़े हुए नाखून को हटाने की कोशिश करें।
  • टी ट्री एसेंशियल ऑयल लगायें और उस क्षेत्र को पट्टी से ढकें।
  • इसे रात भर छोड़ दें और इस ट्रीटमेंट को तब तक दोहराएं जब तक कि आप पूरी तरह से ठीक नहीं हो जाते हैं।

2. लहसुन

लहसुन एक जड़ी बूटी है जो आपके भोजन को स्वादिष्ट बनाने के अलावा कई बीमारियों के लिए एक लाजवाब प्राकृतिक उपचार के रूप में पहचाना गया है।

इस बात को ध्यान में रखते हुए कि यह एक जोरदार एंटीबायोटिक है, यह सूजन से लड़ता है, और सुखदायक है, यह अंदर की ओर बढ़े हुए पैर के नाखूनों के लिए एक बेहतरीन समाधान है।

सामग्री

  • 1 कली लहसुन
  • 1 छोटा चम्मच जैतून का तेल (5 ग्राम)
  • 1 पट्टी

आपको क्या करना चाहिये?

  • लहसुन की कली को एक ऊखल या मोर्टार से मैश करें और जैतून का तेल डालकर मिलाएं जब तक एक पेस्ट बन जाये।
  • प्रभावित क्षेत्र पर पेस्ट को रब करें और एक पट्टी से ढकें ताकि वह कुछ घंटों तक कार्य कर सके।
  • यह सुनिश्चित करने के लिए कि आप अंदर की ओर बढ़े हुए पैर के नाखून से पूरी तरह से छुटकारा पा सकें इसे रोज दोहराएं।

इसे भी आजमायें: पैर पर लगे फंगस और घट्ठे को इस अद्भुत घरेलू ट्रीटमेंट से दूर करें

3. मधुमक्खी का शहद

शहद एंटीबायोटिक और एंटीवायरल गुणों वाला एक प्राकृतिक उत्पाद है जो सभी प्रकार के संक्रमणों के खिलाफ त्वचा की रक्षा करता है।

हालांकि यह अंदर की ओर बढ़े हुए पैर के नाखूनों को हटाने का कोई समाधान नहीं है यह स्वास्थ्य लाभ की गति को तेज करने के लिए एक अच्छा विकल्प है।

सामग्री

  • 1 बड़ा चमचा शहद (25 ग्राम)
  • 1 छोटा चम्मच नींबू का रस (5 मिलीलीटर)

आपको क्या करना चाहिये?

  • इन दो अवयवों के साथ एक चिकना पेस्ट तैयार करें और उसे प्रभावित क्षेत्र पर लगायें।
  • धोने से पहले 20 मिनट तक इंतजार करें।

4. एप्सोम नमक

एप्सोम नमक किसी भी तरह के पैर के विकार के लिए एक पोपुलर ट्रीटमेंट है।

उसमें एंटीफंगल, एंटीबैक्टीरियल और सूजन को रोकने के गुण होते हैं जो इस तरह की हालत में दर्द को कम करने में मदद करते हैं।

सामग्री

  • 1 बड़ा चम्मच एप्सोम नमक (10 ग्राम)
  • 1 कैप्सूल विटामिन ई

आपको क्या करना चाहिये?

  • विटामिन ई की कैप्सूल को एक चम्मच एप्सोम नमक के साथ मिलाएं और इस मिश्रण को अपने पैर के प्रभावित क्षेत्र को एक्सफोलिएट करने के लिए इस्तेमाल करें।
  • इसे 30 मिनट के लिए यूंही रहने दें फिर गुनगुने पानी से धोएं और उस क्षेत्र को अच्छी तरह से सुखाएं।
  • सप्ताह में कम से कम तीन बार इस उपचार को दोहराएं।

5. कैलेंडुला टिंक्चर

कैलेंडुला में एंटीऑक्सीडेंट, एंटीफंगल और सूजन को रोकने की खूबियां होती हैं जो अंदर की ओर बढ़े हुए पैर के नाखूनों के कारण होने वाली जलन और संक्रमण को शांत करती हैं।

सामग्री

  • 10 बूंदें कैलेंडुला का टिंक्चर
  • 1 लीटर गर्म पानी

आपको क्या करना चाहिये?

  • गर्म पानी को एक कटोरे में डालें और कैलेंडुला के टिंक्चर को जोड़ें।
  • जब वह ठंडा हो जाये और उसका तापमान आपकी त्वचा के लिए आरामदायक हो जाये तो अपने पैरों को उसमें 15 मिनट के लिए भिगोयें।
  • उन्हें सावधानी से रब करें और अच्छी तरह सुखाएं।
  • अंत में, अपने पैरों को नम रखने के लिए थोड़ी पेट्रोलियम जेली या लोशन लगायें।

6. सफेद सिरका और हाइड्रोजन पेरॉक्साइड

सफेद सिरका और हाइड्रोजन पेरॉक्साइड मिलाकर आपको एक एंटीफंगल और एंटीबैक्टीरियल उपचार प्राप्त होता है।

इसे लाली, दर्द, और संक्रमण की संभावना को कम करने के लिए इस्तेमाल करें।

सामग्री

  • 2 बड़े चम्मच सफेद सिरका (20 मिलीलीटर)
  • 2 बड़े चम्मच हाइड्रोजन पेरॉक्साइड (20 मिलीलीटर)
  • 1/2 कप गुनगुना पानी (125 मिलीलीटर)
  • 1 रुई का स्वॉब या गोला

आपको क्या करना चाहिये?

  • इन दो अवयवों को गुनगुने पानी में डालकर पतला करें और उन्हें कॉटन के स्वॉब या गोले का उपयोग करके जिस नाखून में दर्द है उस पर लगायें।
  • इसे 20 मिनट के लिए छोड़ दें और यदि आपको लगता है कि यह जरुरी है तो उपचार को दोहराएं।

क्या यह हालत अभी भी आपको परेशान कर रही है? यदि समस्या बनी रहती है और समय के साथ दर्द बढ़ता है तो अपने डॉक्टर से मुलाकात करें।

कभी-कभी अंदर की ओर बढ़े हुए पैर के नाखूनों से छुटकारा पाने के लिए सर्जरी करवाना जरुरी होता है।

  • Daniel, C. R., Iorizzo, M., Tosti, A., & Piraccini, B. M. (2006). Ingrown toenails. Cutis. https://doi.org/10.4103/0378-6323.95442
  • Zuber, T. J., & Pfenninger, J. L. (1995). Management of ingrown toenails. American Family Physician. https://doi.org/10.1111/j.1467-9868.2009.00728.x
  • Haneke, E. (2012). Controversies in the treatment of ingrown nails. Dermatology Research and Practice. https://doi.org/10.1155/2012/783924
  • Li G, Ma X, Deng L, Zhao X, Wei Y, Gao Z, et al. Fresh garlic extract enhances the antimicrobial activities of antibiotics on resistant strains in vitro. Jundishapur J Microbiol. 2015;
  • Preethia KC, Kuttanb G, Kuttan R. Anti-inflammatory activity of flower extract of Calendula officinalis Linn. and its possible mechanism of action. Indian J Exp Biol. 2009;