सेल्युलाईट से पाएं छुटकारा, जानें कैसे बनता है एल्कोहल और रोजमेरी ट्रीटमेंट

सितम्बर 25, 2018
आप चाहें तो सेल्युलाइट से छुटकारा पाने के लिए एल्कोहल और रोजमेरी ट्रीटमेंट को बना-बनाया खरीद सकती हैं। हालांकि, शुद्धता और गुणवत्ता सुनिश्चित करने के लिए इसे घर पर तैयार करना ही सबसे अच्छा रहेगा।

सेल्युलाईट एक आम समस्या है। यह तब होती है जब रक्त संचार या लिंफैटिक प्रणाली में समस्या के कारण कोमल ऊतक सूज जाते हैं।

इसमें त्वचा की सतह के नीचे फैट की गांठें बन जाती हैं जिससे त्वचा पर छोटे-छोटे गड्ढे बन जाते हैं या फिर वह संतरे के छिलके की तरह दिखती है।

हार्मोन में निरंतर बदलाव, अधिक वजन या फिर लगातार एक्सरसाइज न करने से 90 प्रतिशत से ज़्यादा महिलाओं में यह समस्या विकसित हो जाती है।

पुरुष भी इससे ग्रस्त होते हैं लेकिन महिलाओं में यह सबसे ज़्यादा पाई जाती है। भले ही उनका वजन कम हो या ज़्यादा।

अभी तक इसके दिखने के सही कारण का पता नहीं लगाया जा सका है। हालांकि यह साबित किया जा चुका है कि कुछ बुरी आदतों से इसका संबंध ज़रूर है। इसीलिए, इसका उपचार करना कठिन है।

सौभाग्यवश, कई ऐसे कॉस्मेटिक उत्पाद और थेरेपी हैं जो सेल्युलाइट का मुकाबला करके आपकी त्वचा सुडौल और चिकनी बनाए रखती हैं।

हालांकि इन उत्पादों के साथ एक बड़ी समस्या यह है कि ये महंगे हैं और इस कारण हर जरूरतमंद व्यक्ति की पहुंच के अंदर नहीं हैं।

अच्छी ख़बर यह है कि कई 100% प्राकृतिक और किफायती विकल्प उपलब्ध हैं जो नियमित रूप से इस्तेमाल किए जाने पर शानदार नतीजे देते हैं।

हम बात कर रहे हैं लोकप्रिय एल्कोहल और रोजमेरी ट्रीटमेंट की। यह एक ऐसा उत्पाद है जिसे शरीर पर बाहर से इस्तेमाल करने से सेल्युलाइट की समस्या से काफी हद तक छुटकारा मिल सकता है।

आज हम आपको इसके गुणों और रेसिपी के बारे में बताएंगे। इस उपचार को आप घर पर आसानी से तैयार कर सकती हैं।

तो और जानकारी के लिए तैयार हो जाएं!

एल्कोहल और रोजमेरी ट्रीटमेंट का ही इस्तेमाल क्यों?

रोजमेरी एल्कोहल सबसे अच्छे संयोजनों में से हैं क्योंकि इसमें त्वचा इस हर्ब के गुणकारी तत्वों को आसानी से सोख लेती है।

इसके लाभकारी होने का मुख्य कारण इसका शक्तिशाली एंटी-इंफ्लामेटरी एक्शन है जो रक्त संचार सुधारता है, शरीर में द्रव एकत्र होने की रोकथाम और ऊतकों की सूजन कम करता है।

इसे एक नेचुरल टोनर भी माना जाता है जो आपकी त्वचा सुडौल रखते हुए उसे लटकने से रोकता है।

इसे भी पढ़ें: इन आसान और प्रभावी घरेलू उपचारों से पायें सेल्युलाईट से छुटकारा

इसके इन्हीं गुणों के कारण महिलाएं अपने ब्यूटी रुटीन में पिछले कुछ समय से रोजमेरी का इस्तेमाल सेल्युलाइट का मुकाबला करने के लिए कर रही हैं।

हालांकि इससे पहले कि आप इस उत्पाद का इस्तेमाल करना शुरू करें, हम स्पष्ट कर देना चाहते हैं कि यह कोई चमत्कारी उत्पाद नहीं है।

जहां तक सेल्युलाइट की बात है तो रोजमेरी एल्कोहल ट्रीटमेंट के कई लाभ साबित किए जा चुके हैं। हालांकि आपको यह अपेक्षा नहीं रखनी चाहिए कि केवल इसके इस्तेमाल से ही हर जगह की सेल्युलाइट समस्या से मुक्ति मिल जाएगी। आपको अपनी आदतों में भी सुधार करना होगा।

इसका अर्थ है कि समस्या का मुकाबला करने के लिए आपको अपनी डाइट सुधारनी होगी, ख़ूब एक्सरसाइज करनी होगी और फैट घटाने वाली अन्य अच्छी आदतें अपनानी होंगी।

एल्कोहल रोजमेरी ट्रीटमेंट की रेसिपी

उपचार में कई तरह से इस्तेमाल होने के कारण रोजमेरी एल्कोहल दवाइयों की दुकानों और हेल्थ फूड स्टोर पर कॉमर्शियल रूप से बना-बनाया उपलब्ध है।

हालांकि हम आपको इसे घर पर बनाने के लिए कहेंगे ताकि आपका उत्पाद 100% ऑर्गेनिक हो।

इसे भी पढ़ें: रोज़मेरी के असाधारण उपयोग और फ़ायदे आपको हैरान कर देंगे

सामग्री

  • 5 टहनियां ताज़ी रोजमेरी की
  • ¾ कप रबिंग एल्कोहल (150 मिली)
  • 1 हवाबंद कांच की बोतल

तैयारी

  • ताज़ी रोजमेरी महीन टुकड़ों में काट लें और उन्हें कांच की बोतल में डालें।
  • इसमें इतना इथाइल एल्कोहल डालें कि रोजमेरी पूरी तरह उसमें डूब जाए।
  • बोतल कसकर बंद कर दें और इसे किसी अंधेरे स्थान में 15 दिन के लिए रख दें।
  • 15 दिन बाद साफ़ कपड़े का इस्तेमाल करके रोजमेरी से एल्कोहल फिल्टर कर लें।

इसका इस्तेमाल कैसे करें

  • सबसे पहले आप उस स्थान के आसपास की त्वचा एक्सफोलिएट करें जिसका आप उपचार करना चाहती हैं। इससे त्वचा की हर्ब सोखने की क्षमता बढ़ जाएगी।
  • इसके बाद, वह स्थान सुखा लें। फिर, एक सूती कपड़े को रोजमेरी एल्कोहल में डुबोएं और धीरे-धीरे मालिश करते हुए इसे त्वचा पर रगड़ें।
  • इसे नीचे से ऊपर की ओर लगाएं। घुटनों से शुरुआत करें और फिर धीरे-धीरे जांघों और कूल्हों की ओर मालिश करती जाएं।
  • अपनी टांगों के पीछे, नितंबों के ठीक नीचे के स्थान पर फोकस करें। यही वह स्थान है जहां सेल्युलाइट की समस्या अक्सर नज़र आती है।
  • एल्कोहल रोजमेरी को त्वचा को 15 मिनट तक सोखने दें और उसके बाद ठंडे पानी से धो डालें।
  • सर्वश्रेष्ठ नतीजे के लिए उपचार के बाद कोई त्वचा सुडौल करने वाली (स्किन फर्मिंग) क्रीम लगाएं।
  • इसका रोज़ाना इस्तेमाल करें। विशेष रूप से समस्या ग्रस्त क्षेत्रों पर ध्यान दें।

ध्यान रखें कि इसका प्रभाव तत्काल नज़र नहीं आएगा। इसके फ़ायदे तभी मिलेंगे जब आप लगातार इसका इस्तेमाल करेंगी। धैर्य रखें और मनचाहे नतीजे पाने के लिए हमारी सलाह का पालन करें।

अधिकतम लाभ प्राप्त करने के लिए सभी चीज़ें अपने आसपास के हर्बल स्टोर से खरीदें और यह रेसिपी घर पर ही तैयार करें।

  • Merino, J., & Noriega, M. (2011). La piel: Estructura y Funciones. Universidad de Cantabria.
  • Llagostera Pagès, M. (2006). Cuidados de la piel. Atencion Primaria. https://doi.org/10.1157/13094777
  • Manuel Moreno, G. (2012). Definición y clasificación de la obesidad. Revista Médica Clínica Las Condes. https://doi.org/10.1016/S0716-8640(12)70288-2
  • Godínez Gutiérrez, S. A., Marmolejo Orozco, G. E., Márquez Rodríguez, E., Siordia Vázquez, J. de J., & Baeza Camacho, R. (2002). La grasa visceral y su importancia en obesidad. Revista de Endocrinología y Nutrición.