एक दिन एक वाक का सिद्धांत रखेगा आपको सही शेप में

यदि आप अच्छी शेप में नहीं हैं, तो बहुत ज्यादा जोर-आजमाईश के बिना छोटी वाक से शुरुआत करना महत्वपूर्ण है जिससे आपका शरीर आपकी नई रूटीन का आदी हो सके।
एक दिन एक वाक का सिद्धांत रखेगा आपको सही शेप में

आखिरी अपडेट: 29 दिसम्बर, 2020

सही शेप में बने रहने के लिए ज़ोरदार एक्सरसाइज करना जरूरी नहीं है। आपको तंदरुस्त रखने और अच्छे फिगर को बनाए रखने के लिए दिन में वाक करना पर्याप्त है।

इसके अलावा यह बात अलग है कि इस रूटीन के मनोवैज्ञानिक फायदे भी बहुत हैं।

सुस्त-गतिहीन होना एक गंभीर समस्या बन गई है। ज्यादातर लोग बैठे-बैठे अपना दिन बिताते हैं। इससे सेहत से जुड़ी कई स्वास्थ्य समस्याएं पैदा हुई हैं।

उनमें से सबसे गंभीर मोटापा होता है, जो दूसरी कई बीमारियों का भी कारण बनता है।

इस समय कार्डियोवैस्कुलर समस्याएं दुनिया भर में मौतों की सबसे बड़ी वजह हैं।

  • सौभाग्य से यह दिखाया गया है कि फिजिकल एक्सरसाइज आसानी से एक तेज मायोकार्डियम हार्ट अटैक की संभावना को कम कर सकती है।
  • दूसरी ओर, जो लोग पूरे दिन बैठे रहते हैं, उनके पीड़ित होने का जोखिम दो गुना बढ़ जाता है।

शेप में रहना


सही शेप में बने रहना सीधे तौर पर आपकी लाइफस्टाइल पर निर्भर करता है। एक्सरसाइज करना या न करना एक आदत से ज्यादा कुछ नहीं है।

वर्क आउट करने के लिए आपको बहुत अधिक धन या बहुत वक्त की जरूरत नहीं है। सिर्फ एक चीज जो आपको चाहिए वह है जागरूकता।

शेप में बने रहने के लिए सबसे अच्छी चीजें हल्के, निरंतर और नियमित एक्सरसाइज हैं। इसका अर्थ है कि इसकी सिफारिश नहीं की जाती है कि आप हर बार एक कड़ी मशक्कत वाले वर्कआउट के साथ एक सुस्त लाइफ स्टाइल को जोड़ें। इन बदलावों से फायदे से ज्यादा नुकसान होगा।

हम जो सलाह देते हैं वह दिन में 30 मिनट के लिए वाक करना। यह शेप में रहने के लिए उत्कृष्ट थेरेपी है। साथ ही यह हाई ब्लडप्रेशर और डायबिटीज से पीड़ित लोगों के लिए मददगार भी दिखाया गया है। यह समय से पहले बूढ़ा होने से रोकने में भी मदद करता है।

इसे भी पढ़ें : 7 फायदें रोजाना वाकिंग करने के

हर दिन वाक करने के फायदे

हर दिन वाक करने के फायदे

30 मिनट की पैदल वाक अपने साथ कई फायदे लेकर आती है। पहला यह कि यह आपके दिल को मजबूत करता है।

यह सुस्त हृदय को ज्यादा कुशलता से खून को पंप करने में मदद करती है। धमनियां एक्सरसाइज से फैलती हैं और इससे ब्लड सर्कुलेशन में सुधार होता है। आपका पूरा शरीर इससे लाभान्वित होता है।

यदि आपका लक्ष्य शेप में रहना है, तो दिन में 30 मिनट चलना पर्याप्त है। यदि आप अपना वजन कम करना चाहते हैं, तो इसके लिए थोड़ा और समय चाहिए।

  • 20 से 25 मिनट की फिजिकल एक्टिविटी के बाद शरीर में जमा फैट जलने लगता है।
  • इसका मतलब है कि अपने स्टैट्स में बदलाव देखने के लिए आपको एक दिन में लगभग 45 मिनट चलने की जरूरत होगी।

वाकिंग का एक और लाभ यह है कि यह आपकी मानसिक सेहत में सुधार करता है। सामान्य रूप से एक्सरसाइज स्ट्रेस से छुटकारा पाने में मदद करती है। यह आपके मूड को बेहतर बनाने का काम भी करता है।

साथ ही मस्तिष्क में ऑक्सीकरण बेहतर होता है और यह कुशलता से संज्ञानात्मक कामकाज को बढ़ाता है।

इसे भी पढ़ें : वजन घटाने के लिए हर दिन कितना चलना चाहिए?

टिप्स


पहली चीज जो आपको करनी है, वह यह है कि जीवन की गुणवत्ता में सुधार लाने के लिए और शारीरिक और मानसिक दोनों रूप से स्वस्थ रहना कितना महत्वपूर्ण है, इसके प्रति सचेत रहना।

आपको यह समझना चाहिए कि रोजाना वाक करना आपकी सेहत में काफी सुधार लाएगा।

इस बारे में सोचने के बाद हम सिफारिश करते हैं कि आप अपनी वाक रूटीन में शामिल करने के लिए कुछ टिप्स का पालन करें:

  • अपनी डेली वाक के लिए एक वक्त चुनें। सबसे अच्छा समय सुबह या दोपहर बाद होता है, लेकिन कभी भी उस समय नहीं जब सूरज अपने चरम पर हो।
  • आदर्श रूप से आप एक पार्टनर के साथ चलना चाहते हैं। यह आपको ज्यादा प्रेरित करेगा और कसरत को अधिक मनोरंजक बना देगा।
  • सही फुटवियर पहनें। इसमें एक अच्छा कुशनिंग सिस्टम होना चाहिए और डिज़ाइन ऐसी होनी चाहिए जिससे पसीने से छुटकारा मिले।
  • पर्याप्त सुरक्षा का उपयोग करें। यदि बाहर धूप है, तो आपको हमेशा सन स्क्रीन लगाना चाहिए। यदि ठंडा है, और आवश्यक हो तो एक जैकेट पहनें।
  • वाक शुरू करने से पहले आपको चोट से बचने के लिए थोड़ी स्ट्रेचिंग और वार्म अप होनी चाहिए।
  • सबसे अच्छी बात यह है कि अपने वॉक को स्टेज में बाँट लें। धीरे-धीरे बढ़ाना शुरू करें और अपनी गति बढ़ाएं। आखिरी पांच मिनट के दौरान आपको अपने शरीर को ठंडा करने के लिए धीमी गति से चलना चाहिए।
  • वाकिंग ख़त्सम करने के बाद अपनी मांसपेशियों और हड्डियों की सुरक्षा के लिए स्ट्रेचिंग करना भी अच्छा है। यह सिफारिश की जाती है कि अपने शरीर को धीरे-धीरे कंडीशन करें। छोटी वाक से शुरू करें और फिर समय और कठिनाई के लेवल को बढ़ाएं।

वाक करने और रोजाना चलने की गति आपकी सामान्य गति से थोड़ी तेज़ होनी चाहिए। नहीं तो इससे जुड़े कार्डियो वाले लाभ बहुत ज्यादा नहीं मिलेंगे।

शुरुआत में डेली रिदम बनाए रखना महत्वपूर्ण है। इस तरह आपका शरीर और मस्तिष्क दिनचर्या के आदी हो जाएंगे और यह एक आदत में बदल जाएगा।

यह आपकी रुचि हो सकती है ...
हार्ट अटैक के 7 लक्षण जिन्हें अक्सर महिलायें नजरअंदाज कर देती हैं
स्वास्थ्य की ओरइसमें पढ़ें स्वास्थ्य की ओर
हार्ट अटैक के 7 लक्षण जिन्हें अक्सर महिलायें नजरअंदाज कर देती हैं

हाल के वर्षों में हार्ट अटैक पीड़ित महिलाओं की संख्या बढ़ी है। हालांकि हार्ट अटैक के लक्षणों के उभरने से पहले डायग्नोसिस तय करने में अभी भी कई समस्य...