7 फायदें रोजाना वाकिंग करने के

20 जून, 2020
क्या आप जानते हैं, पैदल चलना न सिर्फ आपकी शारीरिक सेहत को सपोर्ट करता है बल्कि आपकी मनोवैज्ञानिक सेहत और तनाव से लड़ने में भी मदद करता है? आपको बस दिन में 30 मिनट चाहिए।
 

हम हर दिन एक जगह से दूसरी जगह जाने के लिए वाकिंग करते हैं। दरअसल कई लोगों को यह भी नहीं मालूम कि यह प्रैक्टिस कितनी सेहतमंद है।

सच्चाई यह है कि यह सबसे आसान और सबसे अच्छी एक्सरसाइज है। यह आपके शरीर में कई शारीरिक और रासायनिक प्रक्रियाओं को एक्टिवेट करता है जो आपकी सेहत को बेहतर बनाने में मदद करता है।

जब आप चलते हैं, तो अपने जोड़ों और हड्डियों को मजबूत करते हैं। इसके अलावा आपका मेटाबॉलिज्म उत्तेजित होता है और आप अधिक कैलोरी जलाते हैं।

इसलिए हम इसे हर दिन कम से कम 30 मिनट तक करने की सलाह देते हैं, खासकर तब जब आप कोई दूसरी फिजिकल एक्टिविटी नहीं कर रहे हों।

चूंकि बहुत से लोग अभी भी निष्क्रिय हैं, इसलिए हम हर दिन चलने पर आपके शरीर में होने वाली 7 अच्छी बातों की जानकारी शेयर करना चाहते हैं।

1. वाकिंग करने से आपका एनर्जी लेवल ऊपर जाता है

वाकिंग करने से आपका एनर्जी लेवल ऊपर जाता है

क्या आप थकावट महसूस कर रहे हैं? क्या आपको एकाग्रचित होने में परेशानी हो रही है? शायद आपमें ऊर्जा का स्तर नीचे है।

यदि हां, तो हर दिन एक छोटी सैर करना आपकी शारीरिक और मानसिक प्रोडक्टिविटी को बेहतर बनाने का काम कर सकती है।

  • जब आप टहलने जाते हैं, तो आपका ब्लड सर्कुलेशन अनुकूलित होता है और इसलिए आप जो काम करते हैं, उसके लिए आपको पर्याप्त ऑक्सीजन मिलता है।
  • यह व्यायाम आपके जोड़ों और मांसपेशियों में होने वाली कठोरता और तनाव को भी दूर करता है, जो आपकी डेली एक्टिविटी के दौरान दर्द को रोकता है।

और अधिक जानना चाहते हैं? पढ़ें: वज़न घटाने के लिए कितना पैदल चलें?

2. यह आपके कार्डियोवैस्कुलर सेहत में सुधार लाता है

चलना एक ऐसी एक्टिविटी है जो आपके ब्लड सर्कुलेशन को बेहतर बनाने में मदद करती है और कैलोरी को जलाती है। इसलिए चलना आपके हृदय की सेहत के लिए बहुत ही फायदेमंद है।

  • रोजाना ब्रिस्क वॉक से आपके हृदय गति में सुधार होता है जिससे यह बिना किसी परेशानी के आपके शरीर में खून पंप कर सके। यह ब्लड प्रेशर को बढ़ने से रोकने में मदद करेगा।
 
  • यह आपके खराब कोलेस्ट्रॉल (LDL) और ट्राइग्लिसराइड्स को कम करने में मदद करते हुए आपके अच्छे कोलेस्ट्रॉल (HDL) के स्तर को बढ़ाने का एक शानदार तरीका है।
  • यह हार्ट अटैक, स्ट्रोक और आर्टरी के रोग का जोखिम कम करता है।

3. वाकिंग वजन कम करने में मदद करती है

वाकिंग वजन कम करने में मदद करती है

सभी कार्डिओ एक्सरसाइज की तरह वाकिंग पर जाना ज्यादा कैलोरी जलाने और एक्सट्रा वजन या मोटापे से लड़ने का एक शानदार तरीका है।

हालांकि यह रातोरात वजन काम करने का कोई चमत्कारी नुस्खा तो नहीं है, लेकिन रोजाना वाकिंग करने से कैलोरी जलाने की दर में बढ़ोतरी और बॉडी मास इंडेक्स कम होगा।

यह आपकी सुस्त जीवन शैली को पीछे छोड़ने के लिए आदर्श है। इसे करने के लिए किसी जिम या बहुत सारी कोशिशों की आवश्यकता नहीं होती है।

जितनी तेजी से आप चलेंगे, उतनी ही ज्यादा फाइट जलने में मदद करेगी।

4. यह पैर और ग्लूट्स को टोन करती है

यदि आप अपने पैरों और ग्लूट्स को टोंड रखने की कोशिश कर रहे हैं, तो टहलने जाना बहुत उपयोगी हो सकता है।

यह शरीर के निचले हिस्से में मौजूद मसल्स की वर्कआउट कराती हैं। धीरे-धीरे आपके ग्लूट्सऔर क्वाड्रिसेप्स मजबूत हो जाएंगे।

अगर आप पहाड़ियों की तरह झुकाव वाली जगह पर चलें तो आप एक ही समय में अपने ग्लूट्स को एक्टिवेट कर रहे हैं, उन्हें उठा रहे हैं और उन्हें मजबूती दे रहे हैं।

5. यह हड्डियों की तंदरुस्ती बढ़ाती है

 

रोजाना चलने से आपकी हड्डियों को आपके दैनिक चलने से बहुत कुछ मिलता है।

  • यह एक्टिविटी आपकी हड्डियों को मजबूत करती है, उनके घनत्व कम होने से रोकती है जो की ऑस्टियोपोरोसिस का मुख्य कारण है।
  • साथ ही, यह आपके टिशू में सूजन घटाती है, पुराने ऑस्टियोआर्थराइटिस जैसी गड़बड़ियों को दूर रखती है।
  • यदि आप दिन में बाहर टहलते हैं, तो आपके विटामिन डी का लेवल बढ़ जाएगा और इसलिए शरीर में कैल्शियम बेहतर ढंग से बनेगा।

6. यह वेरीकोस और स्पाइडर विंस बनने से रोकता है

वेरीकोस और स्पाइडर इस की अहम संकेत हैं की आपके शरीर के निचले हिस्से में ब्लूस सर्कुलेशन की समस्या है।

चलना आपके सर्कुलेशन में मदद करता है, इसलिए इसे नियमित रूप से करना इस तरह की समस्या को रोकने का काम करता है।

व्यायाम आपके पैरों की वर्कआउट करता है, आपके टिशू में सूजन को रोकता है और खून को दिल में वापस लाना आसान बनाता है।

यह आपकी कैपिलरी को भी सुडौल बनाता है और वाटर रिटेंशन का जोखिम कम करता है।

और अधिक जानना चाहते हैं? पढ़ें: अपनायें ये 8 सिद्धांत, वेरीकोस वेंस को ठीक करने के लिए

7. यह स्ट्रेस और एंग्जायटी को दूर रखती है

मॉडरेट एक्सरसाइज ऐसी स्वस्थ आदत है जो आपके इमोशनल हेल्थ को बेहतर बनाने में मदद करती है, जिससे चिंता और तनाव के एपिसोड काम होते हैं।

  • जब आप चलते हैं, तो निश्चित मात्रा में सेरोटोनिन और एंडोर्फिन आपके खून में आते हैं, जिससे आप बेहतर महसूस करते हैं।
  • यह ब्रेन में होनेवाले ऑक्सीडेशन का भी अनुकूलन करता है, घूमना भी ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस के नेगेटिव असर का मुकाबला करने के लिए अच्छा है, जो की डिप्रेशन और चिड़चिड़ेपन से जुड़े फैक्टर हैं।

क्या आप अभी भी सुस्त लाइफ स्टाइल में फंस गए हैं? यदि आप अभी तक अपने शरीर को आगे नहीं बढ़ा रहे हैं, तो दिन में 30 मिनट चलने का टारगेट बनाएं और देखें कि आपके शरीर में सभी तरह के पॉजिटिव बदलाव को लाना कितना अच्छा है।

 

चलना तो बहुत अच्छा होता ही है, लेकिन याद रखें कि अगर आप एक एक्सरसाइज के रूप में तेज गति से वाकिंग करते हैं तो यह सबसे अच्छा है।