9 संकेत ओवेरियन सिस्ट के, जिनकी अधिकांश महिलाएँ अनदेखी करती हैं

अक्टूबर 30, 2018
ओवेरियन सिस्ट (डिम्बग्रंथी में गाँठ) का पता लगाना इसके ट्रीटमेंट के लिए ज़रूरी है। पर कभी-कभी इसके लक्षण आसानी से दिखाई नहीं देते। आइए हम देखते हैं कि ये क्या हैं।

आज स्त्रियों की आबादी का एक बड़ा हिस्सा पॉलीसिस्टिक ओवेरियन सिंड्रोम का शिकार है। इसका अर्थ है, उन्हें ओवेरियन सिस्ट है, जो अक्सर हानिकारक नहीं होते। ओवेरियन सिस्ट विभिन्न आकार के होते हैं।

ओवेरियन सिस्ट लिक्विड से भरी छोटी-छोटी थैलियाँ हैं जो ओवेरीज़ की सतह के अंदर या ऊपर रहती हैं। औसतन उनका कारण हॉर्मोन का उतार-चढ़ाव है और यह आपकी प्रजनन आयु के दौरान किसी भी समय विकसित हो सकते हैं।

हालांकि वे गंभीर स्वास्थ्य समस्या नहीं हैं, उन्हें और बढ़ने से रोकने के लिए सही समय पर उनका पता लागाना आवश्यक है।

इसका पता लगाने के लिए कई प्रमुख शारीरिक लक्षण हैं, पर दूसरे लक्षण भी जो ओवेरियन सिस्ट की मौजूदगी के बारे में सूचित कर सकते हैं।

1. मूत्रत्याग में बदलाव (Changes in urination)

ओवेरियन सिस्ट के लक्षण

आपकी पेशाब संबंधी आदतों में कोई भी बदलाव इसका चिह्न हो सकता है कि आपको विभिन्न स्वास्थ्य समस्याएँ हैं।

यदि आपको अचानक पेशाब करने की जरूरत महसूस होती है और आप इसे नियंत्रित नहीं कर सकतीं, तब इसे ध्यान में रखें क्योंकि यह ओवेरियन सिस्ट के कारण भी हो सकता है।

यह लक्षण, और साथ-साथ पेशाब के बाद जलन होना, सूचित करते हैं कि आपके पेल्विक फ्लोर की मांसपेशियाँ कमजोर या संक्रमण का शिकार हो गई हैं।

यदि यह समस्या दो दिनों से अधिक बनी रहती है, तब इसकी डायग्नोसिस के लिए अपने डॉक्टर से सलाह लेना सबसे बढ़िया रहेगा।

इसे भी पढ़िए: उम्र के 50वें पड़ाव में हैं, यह औरतों के जीवन का शानदार समय होता है

2. असामान्य रक्तस्राव (Abnormal bleeding)

हॉर्मोन की समस्याओं का एक सबसे प्रत्यक्ष लक्षण है आपके सामान्य पीरियड्स के बीच रक्त की बूंदें आना।

हालांकि अधिकांश महिलाओं को समय-समय पर इसका अनुभव होना एक सामान्य बात है, पर यदि यह नियमित आधार पर होता है तब अपने गाइनेकोलॉजिस्ट के पास जाना सबसे अच्छा रहेगा।

3. संभोग के दौरान दर्द

ओवेरियन सिस्टके लक्षण: संभोग के दौरान दर्द

योनि इन्फेक्शन और सूजन प्राथमिक कारण हैं जिनसे कुछ स्त्रियाँ यौन संभोग के दौरान दर्द अनुभव करती हैं।

पर यदि यह समस्या इतनी स्थायी बन जाती है कि आपके सामान्य यौन जीवन को प्रभावित करती है, तब दूसरी संभावनाओं को खारिज करने के लिए आपको किसी विशेषज्ञ से मिलने की ज़रूरत है।

4. उल्टी होना और उबकाई आना

उल्टी आना और उबकाई आना वे लक्षण नहीं हैं जिन्हें केवल गर्भवती महिलाएँ अनुभव करती हैं। हॉर्मोन असंतुलन, जो ओवेरियन सिस्ट का कारण है, उन महिलाओं में भी ये लक्षण पैदा कर सकता है जो गर्भवती नहीं हैं।

5. पेट फूलना (Abdominal swelling)

यह एक ऐसा लक्षण है जिसकी अक्सर अनदेखी की जाती है क्योंकि यह साधारणतः दूसरे कारणों द्वारा सक्रिय किया जाता है।

उदर-स्थल का बढ़ना या फूलना निराशाजनक है और इसके साथ दर्द भी हो सकता है।

यदि आप नियमित आधार पर इसे भुगत रही हैं और कुछ ही दिनों में आपको राहत नहीं मिलती है तब यह इसका संकेत है कि कुछ गड़बड़ है।

6. पीठ के निचले हिस्से में दर्द (Pain in the lower back)

ओवेरियन सिस्ट के लक्षण: लोअर बैक पेन

निचली पीठ में खिंचाव हमेशा यह संकेत नहीं करता कि आपकी मांसपेशियों में कोई समस्या है। कभी-कभी इस कारण को गहराई से निर्धारित करने की जरूरत होती है। क्योंकि यह किडनी इन्फेक्शन हो सकता है या प्रजनन प्रणाली में कोई गड़बड़ी हो सकती है।

7. अचानक वजन का बढ़ना या घटना

अचानक वजन घटना किसी अधिक वजनदार या मोटे व्यक्ति को वरदान के समान लग सकता है। पर यदि आप इसके लिए कोशिश नहीं कर रहे हैं तब इस पर सावधानी से विचार करना अच्छा है क्योंकि कुछ गलत हो सकता है।

यही चीज अचानक वजन बढ़ने पर भी लागू होती है। विशेष रूप से यदि आप उस समय एक स्वस्थ जीवन शैली और आहार को अपना रहे हैं।

चिंता के कारण भूख नहीं लगना या ज्यादा खाना वे चिह्न हैं जिन पर किसी रोग के संभावित सूचक के रूप में सावधानी से विचार करना चाहिए।

8. निरंतर थकावट

ओवेरियन सिस्ट के लक्षण: थकावट

स्ट्रेस, घटिया आहार लेना और बहुत ज्यादा मेहनत करना सबसे सामान्य कारण हैं जो थकावट के दौर की शुरुआत करते हैं। फिर भी, हॉर्मोन का असंतुलन भी लगातार और स्थायी थकावट पैदा कर सकता है।

यदि आपको लगता है, आपमें एनर्जी नहीं है, आप थक गई हैं, और आपको ध्यान देने में कठिनाई होती है, तब आपको ओवेरियन सिस्ट की संभावना पर विचार करना चाहिए।

इसे भी पढ़ें: 9 चेतावनी देने वाले संकेत, आपके लीवर में जमे टॉक्सिन की

9. पेड़ू का दर्द (Pelvic pain)

पेड़ू के भाग में दर्द पॉलीसिस्टिक ओवेरियन सिंड्रोम का एक बहुत महत्वपूर्ण चिह्न हो सकता है। यदि यह आपके सामान्य पीरियड से बाहर हो रहा है तब यह आपको अपने डॉक्टर को बताने के लिए एक अच्छा कारण है।

स्थिति पर निर्भर करते हुए, ये सभी लक्षण जिन्हें हमने ऊपर सूचीबद्ध किया है, अलग-अलग कारणों से हो सकते हैं।

यदि पॉलीसिस्टिक ओवेरियन किसी परेशानी का कारण नहीं भी हो, तब भी उनका पता लगाना और अच्छी तरह से परीक्षण कराना एक अच्छी धारणा हो सकती है ताकि यह स्थिति एक समस्या न बन जाए।

इसके अतिरिक्त, आप विभिन्न प्राकृतिक उपचार भी अजमा सकती हैं जो ओवैरियन सिस्ट के लिए नियमित मेडिकल चिकित्सा के पूरक होंगे। निश्चित रूप से इनमें से प्रत्येक की सिफारिश की गई खुराक और अंतर्विरोध (contraindications) की जाँच-पड़ताल कर लीजिए।

इनमें से कुछ हैं:

  • मुलैठी (Licorice)
  • चेस्टबेरी (Chasteberry)
  • कुकरौँधा (Dandelion)
  • ब्लैक कोहौश (Black cohosh)
  • Bulun SE. Physiology and pathology of the female reproductive axis. In: Melmed S, Polonsky KS, Larsen PR, Kronenberg HM, eds. Williams Textbook of Endocrinology. 13th ed. Philadelphia, PA: Elsevier; 2016:chap 17.
  • Dolan MS, Hill C, Valea FA. Benign gynecologic lesions: vulva, vagina, cervix, uterus, oviduct, ovary, ultrasound imaging of pelvic structures. In: Lobo RA, Gershenson DM, Lentz GM, Valea FA, eds. Comprehensive Gynecology. 7th ed. Philadelphia, PA: Elsevier; 2017:chap 18.
  • Bailey C, Ueland F, Land G, Depriest P, Gallion H, Kryscio R, et al. The malignant potential of small cystic ovarian tumors in women over 50 years of age. Gynecol Oncol 1998;69:3-7.
  • De Wilde R, Bordt J, Hesseling M. Ovarian cystotomy. Acta Obstet Gynecol Scand 1989;68:363-4.