थ्रोम्बोसिस और स्ट्रोक को रोकने में मददगार 9 तरह के खाद्य-पदार्थ

खून के थक्के बनने से रोकना और थ्रोम्बोसिस, ये दो चीजें आपके स्वास्थ्य के लिए अत्यंत घातक हैं। आपको ऐसा भोजन करना चाहिए जो आपके कोलेस्ट्राल को नियंत्रित कर सके और रक्त संचालन को बेहतर रखे।
थ्रोम्बोसिस और स्ट्रोक को रोकने में मददगार 9 तरह के खाद्य-पदार्थ

आखिरी अपडेट: 21 जनवरी, 2019

थ्रोम्बोसिस (Thrombosis) यानी घनास्रता और एम्बोलिज्म (embolisms) रक्तवाहिका या शिराओं में होने वाली रुकावट से संबंधित है, जो मृत्यु का कारण बन सकती हैं।

थ्रोम्बोसिस की उत्पत्ति नसों और धमनियों में होती है। एम्बोलिज्म खून के थक्के का वास्तविक स्थानांतरण रक्त संचार प्रणाली के द्वारा करता है। यह एक ऐसा जोखिम है जिससे बहुत से लोग पीड़ित हैं, खासतौर से वेरीकोस वेंस (varicose veins) से ग्रसित लोग।

आप इस गंभीर समस्या से कैसे निपट सकते हैं? यह तय है कि आप शत-प्रतिशत इस परिस्थिति से नहीं उबर सकते। पर आप इस रोग का शिकार होने की संभावना को किसी हद तक कम करके जरूर एक स्वस्थ जीवन शैली अपना सकते हैं।

आप अपनी जीवन शैली की आदतें बदल सकते हैं जो आपकी पहुँच में हैं। अगर आपके खानदान में किसी को कोई थ्रोम्बोसिस रोग है और आनुवांशिक रूप में आपको हो सकता है तो यह सही समय है सतर्क हो जाने का। आपको अपने आहार के बारे में सोचना पड़ेगा ताकि आप ज्यादा सक्रिय जीवन जी सकें।

आज हम आपको इस जरूरी विषय पर कुछ बताना चाहते हैं और कुछ चमत्कारी खाद्य-पदार्थ को अपने आहार में शामिल कर लेने की सलाह देना चाहते हैं।

थ्रोम्बोसिस और एम्बोलिज्म जैसी बीमारी क्यों होती है

थ्रोम्बोसिस और एम्बोलिज्म : आनुवंशिकता के कारण भी

इन स्थितियों में केवल किसी एक की उत्पत्ति नहीं होती। साधारणत: इन दोनों का ही आधार ऐसे कारक तत्व होते हैं जिनका संबंध आपकी जीवन शैली, आनुवंशिकता या दूसरे सहायक रोगों से होता है।

  •  कोलेस्ट्राल और ट्राईग्लिसराइड स्तर का अधिक होना
  •  देर तक बैठे रहने की आदतें
  • गर्भ निरोधक पिल्स खाना या एस्ट्रोजेन हार्मोंन्स लेना ( खास तौर से धूम्रपान करने वाली महिलाओं के लिए)
  • हाल में किसी प्रकार की सर्जरी हुई हो
  • गर्भावस्था
  • मोटापा
  • हृदय या किडनी की समस्या
  • आनुवंशिक तौर पर होने की संभावना

आपने देखा कि कितने कारणों से खतरा बना रह सकता है। इनकी अनदेखी भी नहीं की जा सकती। पर केवल गर्भावस्था या उच्च कोलेस्ट्राल के कारण ही आप ब्लड क्लॉट्स से ग्रस्त हो जाएंगे, ऐसी बात भी नहीं है।

आप पर खतरा बना रहेगा, पर यह जरूरी नहीं कि यही कारण हो और इसका ही प्रभाव पड़े।

आइए जानें कि थ्रोम्बोसिस किस तरह एम्बोलिज्म से अलग है;

  • थ्रोम्बोसिस : थक्के के कारण नस या धमनियों में खून का इकट्ठा हो जाना। रक्तवाहिका (blood vessel) में परिवर्तन आ जाना या धमनियों की दीवार का फट जाना।
  • एम्बोलिज्म :  यह थ्रोम्बोसिस का परिणाम हो सकता है या चरबी बनने अथवा एमनियोटिक फ्लुड्स या कार्बन डाइऑक्साइड के बुलबुले कारण हो सकता है। (श्वसनयंत्र धारी (scuba divers) या बिना किसी यंत्र के गोताखोरी करने वाले को)
  • एम्बोलिज्म शरीर के किसी भी अंग की धमनियों में होने वाली बाधा है। फेफड़े का उदाहरण हम ले सकते हैं।

थ्रोम्बोसिस और स्ट्रोक से बचने के लिए क्या खाएँ?

थ्रोम्बोसिस और स्ट्रोक : नींबू खाएं

1. नींबू (lemons)

हम आपको नींबू के फायदे बता चुके हैं। आप अच्छी तरह जानते हैं, यह आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करता है, विषाक्त चीजों को निकाल देता है और बाहरी संक्रमण से रोकता है।

  • लेकिन क्या आपको मालूम है, नींबू आपके रक्तसंचालन और लाल रक्त कोशिकाओं को बढ़ाने में अत्यधिक मददगार है?

नींबू पानी पीना एक दिन के लिए भी न भूलें या अपने सलाद में इसकी कुछ बूंदें अवश्य मिलाएँ।

2. जैतून का तेल (Olive Oil)

  • अतिरिक्त शुद्ध जैतून का तेल एक प्राकृतिक उपहार है, जिसमें ओमेगा-6 फैटी एसिड होने के कारण यह खून के कण में हानिकारक कोलेस्ट्राल (LDL) स्तर को कम करता है।
  • जैतून के तेल की कृपा से आप अपनी धमनियों को लचीला बनाए रख सकते हैं। इससे रक्त के बहाव में बाधक थ्रोम्बोसिस के खतरे को बढ़ाने वाले थक्कों के निर्माण को कम कर सकते हैं।

3. एवोकैडो (Avocado)

  • एवोकैडो संतुलित रूप में खाएँ तो इससे मेद नहीं बढ़ता और जैतून के तेल जितना अथवा उससे अधिक स्वास्थ्य वर्धक सिद्ध हो सकता है।
  • सप्ताह में तीन बार आधे-आधे एवोकैडो का आनंद अपने नाश्ते के साथ लें। आपके स्वास्थ्य की कृपा आप पर बनी रहेगी।

4. प्रतिदिन लहसुन की एक कली

4-garlic

  •  दिन में कम से कम एक बार लहसुन की एक कली खाएँ।
  • लहसुन में उपस्थित एलिसिन एक औषधीय एंजाइम है जो आपके हृदय को निरोग रखता है। आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता को दुरुस्त रखता है। इसमें एंटी-कोआगुलेंट होने के कारण यह रक्त संचालन को स्वाभाविक रखता है।

5. आर्टिचोक (Artichokes)

पकाए हुए चुकंदर के साथ थोड़ा सिरका, जैतून का तेल और नींबू का रस मिलाकर इसे अपने रात के भोजन में शामिल करें। यह आपके लिए एक स्वस्थ चुनाव होगा- अश्चर्यजनक लाभ देख पाएंगे।

थ्रोम्बोसिस और एम्बोलिज्म को रोकने के लिए यह सब्जी आपका श्रेष्ठ चुनाव होगा।

6. सेलरी (Celery)

सेलरी एंटीऑक्सीडेंट, विटामिन और फाइटोएलिमेंट (Phytoelements) से परिपूर्ण है और आपके ब्लडप्रेशर को नियंत्रित करती है।

  • रक्तप्रवाह में कोर्टिसोल (cortisol)  के स्तर को कम करने में भी यह सब्जी सहायक है। यह तनाव पैदा करने वाले हॉर्मोन के स्तर को भी नियंत्रित रखती है। इसके कारण हृदय या रक्तवाहिकाओं (cardiovascular) की सेहत पर बुरा प्रभाव नहीं पड़ता है।
  • नियमित रूप से सेलरी का उपभोग कच्चा या रस निचोड़ कर करें। इससे आपकी धमनियाँ अधिक लचीली, साफ-सुथरी और कम पट्टिका (plaque) वाली बनी रहेंगी।

7. क्रैनबेरी (करौंदे) जूस

  • रक्तसंचालन को बेहतर बनाने के लिए क्रैनबेरी प्राकृतिक विकल्पों में श्रेष्ठ विकल्प है।
  • इस फल का जमावरोधी (anti-coagulant) गुण आपके रक्तसंचालन को बेहतर करता है। इसलिए आप इसका धन्यवाद अदा करेंगे। यह वाकई चमत्कार से भरा है।

क्रैनबेरी जूस पीते रहें और अगर इसका मौसम न हो तो सूखा हुआ या फ्रोजेन भी खरीद सकते हैं।

8. रेड वाइन

थ्रोम्बोसिस और एम्बोलिज्म : शक्तिशाली अंतिओक्सीडेंट

एक गिलास रेड वाइन का सेवन प्रतिदिन किया जाए तो इससे हार्ट अटैक या स्टोक की संभावना कम हो जाती है।

  • अंगूर से तैयार यह पेय शक्तिशाली एंटीआक्सीडेंट से समृद्ध है, साथ ही इसमें इथॉनल होने के कारण यह आपके गंदे कोलेस्ट्रॉल के स्तर को नियंत्रित करता है।
  • रेड वाइन आपकी धमनियों में चकत्ता (plaque) यथासंभव बनने नहीं देती और आपके रक्त संचालन को बेहतर करती है।

संतुलित ढंग से रेड वाइन का सेवन करें और इसके असंख्य गुणों से फायदा उठाएँ।

9 . गाजर (Carrots)

  •  गाजर सभी पसंद करते हैं। यह तरोताजा करने वाली है, खाने में आसान है । आप इसे हर चीज के साथ इस्तेमाल कर सकते हैं। थ्रोम्बोसिस और एम्बोलिज्म को रोकने में भी यह उत्कृष्ट है।
  • क्योंकि यह बीटा-कैरोटिना तत्व का अच्छा स्रोत है, जो हार्ट अटैक की घटना को  कम करता है और कोलेस्ट्राल के स्तर को संतुलित रखता है।

अब आप इन 9 खाद्य-पदार्थों को अपने भोजन में शामिल करने की बात जरूर सोच रहे होंगे, है न? इसे अमल में लाइए। यह आपके स्वास्थ्य के लिए मूल्यवान है।

यह आपकी रुचि हो सकती है ...
रक्त के थक्के: इन 8 संकेतों के प्रति सतर्क रहें
स्वास्थ्य की ओरइसमें पढ़ें स्वास्थ्य की ओर
रक्त के थक्के: इन 8 संकेतों के प्रति सतर्क रहें

जब रक्त वाहिकाओं में रक्त के थक्के बनते हैं तो यह स्वास्थ्य के लिए एक बड़ी ही जोखिम भरी बात होती है। आइये इसके बारे में विस्तार से जानें।



  • Stanford Health Care. Causes of Thrombosis.
  • Personal de Clínica Mayo. Trombosis venosa profunda (TVP)
  • Deep vein thrombosis (Trombosis venosa profunda). Instituto Nacional del Corazón, los Pulmones y la Sangre (National Heart, Lung, and Blood Institute).
  • Micallef M. Lexis L. Lewandowski P. licensee BioMed Central Ltd. 2007. Red wine consumption increases antioxidant status and decreases oxidative stress in the circulation of both young and old humans. Nutrition Journal.
  • Lawenda B. IntegrativeOncology-Essentials. Reduce Your Risk Of Blood Clots Without A Prescription. (2013).