हाई ब्लड शुगर के 6 लक्षण

अप्रैल 12, 2019
यह विरोधाभासी लग सकता है, लेकिन अगर आपको हाई ब्लड शुगर है, तो यह संभव है कि आप बिना किसी स्पष्ट कारण के ज्यादा तेजी से अपना वजन खोएंगे, क्योंकि आपका शरीर अधिक कैलोरी का उपयोग करेगा।

हमारा शरीर हमारी आशा से अधिक संकेत भेजता है, खासतौर से ‌उच्च कोलेस्ट्रॉल या हाई ब्लड शुगर से जुड़ी हुई कुछ समस्याओं से संबंधित। हम मधुमेह से उच्च रक्तशर्करा को जोड़ लेते हैं, लेकिन वास्तव में यही एकमात्र मुद्दा नहीं है।

हकीकत में, इस समस्या से ‌कोई भी ग्रस्त हो सकता है तथा इसकी शुरुआत का अंदाजा नहीं लगाया जा सकता। इसलिए आप अगर सोचते हैं कि आपके साथ भी कोई मामला हो सकता है, तो अपने शरीर के द्वारा भेजे जाने वाले संकेतों को ध्यान में रखें।

1. हमेशा भूख का अहसास होना

हालांकि हमारी ‌सोच के ‌विपरीत जब बड़े अनुपात में लोगों के साथ ऐसी घटना होने लगती है तब यह तय है कि हमेशा भूख लगना, कहीं कुछ ठीक नहीं चल रहा है इस बात का संकेत हो सकता है।

अगर हम हाई ब्लड शुगर से ग्रसित हैं तो यह हमारी कोशिकाओं से ग्लूकोज को मुक्त होने से रोकता है।

परिणामस्वरूप, शरीर को जितनी ऊर्जा चाहिए उतना नहीं मिल पाता और बार-बार भोजन के लिए बाध्य करते रहता है। यही कारण है कि हमेशा भूख की अनुभूति होती है।

हम आपको पढ़ने की सिफारिश करते हैं : 7 लक्षण जो बताते हैं, आपका ब्लड शुगर लेवल बहुत ऊँचा है

2. अधिक थकान होना

जब भी हम अपने को बहुत थका हुआ महसूस करते हैं, हमलोग इसके लिए हमेशा अत्यधिक काम को दोषी ठहराते हैं। ऐसा भी सोच लेते हैं कि यह एनिमिया आदि समस्याओं के कारण हो सकता है। हालांकि, वास्तव में यह उच्च रक्तशर्करा के कारण भी हो सकता है।

हमलोग जब इस समस्या से ग्रसित होते हैं, हमारा शरीर अधिक मात्रा में ग्लुकोज को संरक्षित और ग्रहण करने के योग्य नहीं रहता है।

अत: कुशलतापूर्वक ऊर्जा का उपयोग नहीं होता, शरीर की कोशिकाएं अपनी जरूरत के हिसाब से भोजन प्राप्त नहीं कर पातीं

फलस्वरूप, परिणाम यह होता है कि बिना किसी कारण के भी व्यक्ति थकान महसूस करता है।

3. बार-बार बाथरूम जाने की जरूरत

मधुमेह का दूसरा लक्षण है बार-बार पेशाब लगना

अगर हमारे रक्त में शर्करा की मात्रा अधिक है, तो किडनी प्रभावित हो जाती है‌ और रक्त तथा कोशिकाओं में ग्लुकोज की एकाग्रता का संतुलन की कोशिश होने लगती है।

यानी कि, अंततः शरीर खून को भंग करते हुए अंतःकोशिकीय द्रव तैयार करने लगता है।

इस तरह, यह खून में शर्करा की एकाग्रता वापस सामान्य स्तर पर लाने की कोशिश करता है। हम इसे बार‌-बार‌ बाथरूम जाने की जरूरत के रूप में अनुभव करते हैं।

4. वजन‌ तेजी से घटना

अगर‌ आप हाई ब्लड शुगर के ‌शिकार हैं, बहुत ही ‌कम समय में, बहुत तेजी से  आपका वजन गिरने लग सकता है। यह विचित्र सा लगता है। है कि नहीं?

आप यकीन करें या न करें, ऐसा घटित हो सकता है। चाहे‌ आप जितना भी अधिक भोजन करें और अधिक कैलोरी वाला भोजन ही क्यों न लें।

परिणामत: पेशाब करने के कारण अत्यधिक मात्रा में तरल पदार्थ बाहर निकल जाता है। आप तरल पदार्थ को रोक नहीं सकते, इस कारण आपका वजन कम होने लगेगा।

उच्च ग्लूकोज स्तर के साथ अधिक मात्रा में पेशाब होने के कारण शरीर को ज्यादा कैलोरी उपयोग करना पड़ता है।

अतः यह सब मिलकर आपके शरीर को अत्यधिक ग्लूकोज से छुटकारा दिलाने की कोशिश करेंगे।

यह भी कि अगर चयापचय के लिए इंसूलिन का‌ स्तर काफी अधिक मात्रा में नहीं है तो शरीर ‌वसा को जलाना शुरू कर देगा

5. धुंधली दृष्टि

अगर आपकी दृष्टि कभी-कभी धुंधली हो रही है, तो इसका भी कारण हाई ब्लड शुगर हो सकता है। इस मामले में, यह समस्या रक्त शर्करा में वृद्धि से होने वाले निर्जलीकरण का ही परिणाम है

जब‌ यह समस्या होती है, तो पूरा शरीर तो पीड़ित होता ही है साथ-साथ आपकी आंखों की कोशिकाएं भी प्रभावित होती हैं। इसके परिणामस्वरूप हालत बिगड़ती जाती है और साफ-साफ देखने की क्षमता में कमी आ जाती है।

इसे भी देखें : विजन लॉस से बचने के लिए लहसुन का अद्भुत उपयोग

6. चिड़चिड़ापन

यदि आप पहले से अधिक चिड़चिड़ापन महसूस करने लगे हैं और यह लक्षण दूसरे लक्षणों के साथ प्रकट होने लगा है तो हमने पहले भी कहा है कि यह खून में अत्यधिक शर्करा का परिणाम हो सकता है।

यही कारण है कि उच्च मधुमेह से ग्रसित व्यक्ति अधिक बेचैन और चिड़चिड़े होते हैं। यहाँ तक कि पहले से अधिक अवसादग्रस्त भी हो जाते हैं।

दिमाग को सही ढंग से काम करने के लिए पर्याप्त मात्रा में लगातार ग्लूकोज‌‌ की आपूर्ति चाहिए। इसकी आपूर्ति में तेज‌ बदलाव आ जाने से इसकी कार्यप्रणाली पर प्रभाव पड़ता है और अचानक ही हमारी मनोदशा बिगड़ने लगेगी

यह भी कि, मधुमेह क्रोमियम मनोदशा के लिए जिम्मेदार अन्य पोषक तत्वों के अवशोषण से संबंधित है।

इस तत्व के बिना हम अपने इंसूलिन स्तर को कायम नहीं रख सकते।