विजन लॉस से बचने के लिए लहसुन का अद्भुत उपयोग

09 नवम्बर, 2018
क्या आप जानते हैं, लहसुन में मौजूद सल्फर कम्पाउंड हाई ब्लड प्रेशर और कोलेस्ट्रॉल के लेवल दोनों को नियंत्रित करने में मददगार हैं। इन दोनों की ऊँची मात्रा विजन लॉस से जुड़ी है।

विजन लॉस यानी दृष्टि हानि एक ऐसी स्वास्थ्य समस्या है जो अक्सर उम्र के साथ आती है। हालांकि यह हर किसी के लिए एक ही तरह से नहीं होती। एक बड़ी आबादी का एक उच्च प्रतिशत बुढ़ापे से जुड़ी किसी प्रकार की कठिनाई से ग्रस्त है।

समस्या यह है कि कुछ लोग इसे अनदेखा करते हैं और केवल तब ध्यान देना शुरू करते हैं जब हालात गंभीर और लगभग अपरिवर्तनीय स्टेज तक पहुँच जाते हैं।

इसलिए डॉक्टर और स्पेशलिस्ट सलाह देते हैं कि आप लाइफस्टाइल हैबिट को सुधारें, खासकर जब आपके खाने-पीने की बात आती है।

अपेक्षित प्रदर्शन और हालात बिगड़ने से रोकने के लिए आपकी आंखों को जरूरी फैटी एसिड, विटामिन और एंटीऑक्सीडेंट की जरूरत होती है।

आपको अपनी खाने-पीने की आदतों को अच्छी तरह से देखना चाहिए और उन खाद्य पदार्थों को भी शामिल करना चाहिए जो आपकी आंखों को सीधे लाभ पहुंचाते हैं।

हर दिन लहसुन खाने से मैक्यूलर डिजनरेशन (macular degeneration) को रोकने में मदद मिल सकती है।

यह उसमें मौजूद सल्फर कम्पाउंड और एसेंशियल मिनरल की उच्च मात्रा के कारण है जो आपकी आंखों की झिल्लियों की रक्षा करते हैं।

मैक्यूलर डिजेनरेशन क्या है?

मैक्यूलर डिजनरेशन आँखों की बीमारी है जिसमें धीरे-धीरे आपकी आँखों की केन्द्रीय और तीक्ष्ण दृष्टि का क्षय होता जाता है। इसके कारण चीजों के बारीक ब्यौरों को देखने या पढ़ पाने में मुश्किल पेश आती है।

यह 60 साल से ऊपर वाले लोगों में ज्यादा आम है हालांकि युवा लोगों में भी इसके मामले देखे गए हैं।

ऐसा तब होता है जब मैक्यूला, जो रेटिना पर एक छोटा सा क्षेत्र है, नष्ट हो जाता है या किसी प्रकार के नुकसान का शिकार होता है। यह आम तौर पर उम्र बढ़ने की नेचुरल प्रक्रिया के हिस्से के रूप में होता है। लेकिन गलत आदतों के निरंतर अभ्यास और कुछ बीमारियों से इस प्रक्रिया में तेजी आ सकती है।

जिन मरीजों को यह बीमारी होती है उनकी नज़र में धुंधलापण, या केंद्रीय दृष्टि में काले धब्बे या डिसटॉर्शन और कभी-कभी इस हिस्से की स्थायी क्षति की समस्या का सामना करना पड़ता है।

इसे भी पढ़ें: घर पर खुद लहसुन कैसे उगाएं

लहसुन मैक्यूलर डिजनरेशन और विजन लॉस से पीड़ित मरीजों की कैसे मदद कर सकता है?

लहसुन में मौजूद पोषक तत्वों की उच्च मात्रा और अन्य फायदेमंद गुणों को धन्यवाद जिनकी बदौलत यह नज़र की देखभाल के लिए सबसे अच्छे खाद्य पदार्थों में से एक है।

सल्फर से प्राप्त यौगिक, साथ ही सेलेनियम और अन्य विटामिन मैक्यूलर डिजनरेशन के लक्षणों को कम करने का काम करते हैं।

इसकी जबरदस्त एंटीऑक्सीडेंट और सूजन रोकने वाली क्रिया आंख की कोशिकाओं की रक्षा करती है और फ्री रेडिकल्स के असर से होने वाली क्षति को रोकती है।

इसके अलावा, यह हाई ब्लड प्रेशर और कोलेस्ट्रॉल के लेवल को नियंत्रित करने में असरदार है। इनका सम्बन्ध आंखों के नुकसान और दृष्टि हानि से है।

ब्लड प्रेशर और आपकी आँखों से इसका सम्बंध

जिन मरीजों को हाई ब्लड प्रेशर होता है उनको बाकी लोगों के मुकाबले आँखों के नुकसान या आँखों की समस्याएं होने की ज्यादा संभावना होती है।

यह उनमें रक्त प्रवाह पर मौजूद दबाव के कारण होता है, जिसका आपके रेटिना के काम पर नेगेटिव असर होता है।

आपकी आंख का यह हिस्सा अच्छे प्रदर्शन के लिए ऑक्सीजन के लेवल पर निर्भर करता है। इसलिए एक प्रतिबंधित रक्त प्रवाह का आपके विजन हेल्थ या विजुअल हेल्थ पर बुरा असर पड़ता है।

लहसुन उचित रक्त प्रवाह को बढ़ावा देता है और आपके सिस्टोलिक ब्लड प्रेशर को कम करके स्थिर लेवल पर लाता है।

कोलेस्ट्रॉल और आंखों का स्वास्थ्य

आपके रक्त प्रवाह में बहुत ज्यादा कोलेस्ट्रॉल न केवल कार्डियोवैस्कुलर लेवल पर अस्वास्थ्यकर रिएक्शन शुरू करता है बल्कि रेटिना के पीछे फैटी डिपॉज़िट बनने के साथ जुड़ा हुआ है।

ये लिपिड आपकी दृष्टि को कम कर सकते हैं और लंबे समय में विजन लॉस का कारण बन सकते हैं।

लहसुन में सल्फर और जोरदार एंटीऑक्सिडेंट मौजूद हैं जो खराब और कुल कोलेस्ट्रॉल दोनों की सिंथेसिस को रोकते हैं।

इसे भी पढ़ें: ऑलिव ऑयल और लहसुन से करें नसों की सूजन का नेचुरल ट्रीटमेंट

अपनी नज़रों के लिए लहसुन को कैसे तैयार करें?

आपको गार्लिक प्रेस नाम के किचन के बर्तन की जरूरत होगी। यह लहसुन की कली को छोटे छेदों की एक चेन में दबाकर क्रश करने के लिए डिज़ाइन किया गया है। इसमें एक छोटा सा लीवर होता है जो कली को दबाकर एक गाढ़ा पेस्ट बनाता है।

बेशक, यदि आपके पास यह टूल नहीं है तो आप कटिंग बोर्ड या ओखल और मूसल जैसे अन्य विकल्प चुन सकते हैं।

विजन लॉस से बचने के लिए लहसुन खाने का तरीका

  • रोज लहसुन खाने के इन फायदों को पाने के लिए हम एक या दो कली लेने की सलाह देते हैं।
  • आपको हमेशा इसे कच्चा खाना चाहिए। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि जब आप लहसुन को पकाते हैं तो यह अपने 90% लाभों को खो देता है।
  • आप इसे थोड़े से नींबू के रस और ओलिव ऑयल के तेल के साथ भी मिला सकते हैं।

आपको इसे अपने डाइट में कितनी बार शामिल करना चाहिए? अब जब आप जानते हैं, यह आपकी नज़र के लिए कितना अच्छा हो सकता है, तो बहाने बनाना बंद करें और इसे नियमित आजमायें।

  • García-Montalvo, I.A., and Matías-Pérez, D. (2015). Componentes nutricionales y degeneración macular relacionada con la edad. Nutricion Hospitalaria 32, 50–54.
  • Gómez, L.J.G., and Sánchez-Muniz, F.J. (2000). Revisión: Efectos cardiovasculares del ajo (Allium sativum). Archivos Latinoamericanos de Nutricion 50, 219–229.
  • Ramírez, H.R., Castro, L.N., and Martínez, E. (2016). Efectos Terapéuticos del Ajo (Allium Sativum). Salud y Administración 3, 39–47.
  • American Academy of Ophthalmology. Dieta y nutrición. https://www.aao.org/salud-ocular/consejos/dieta-nutricion
  • Revista Archivo Médico de Camagüey, versión On-line ISSN 1025-0255. AMC v.12 n.2 Camagüey mar.-abr. 2008. Degeneración macular relacionada con la edad. http://scielo.sld.cu/scielo.php?script=sci_arttext&pid=S1025-02552008000200016
  • MedlinePlus. Degeneración Macular. https://medlineplus.gov/spanish/maculardegeneration.html
  • USDA. Garlic. https://fdc.nal.usda.gov/fdc-app.html#/food-details/169230/nutrients
  • Food Sci Biotechnol. 2018 Feb; 27(1): 219–225. Published online 2017 Dec 12. Antioxidant and antimicrobial activities of fresh garlic and aged garlic by-products extracted with different solvents. doi: 10.1007/s10068-017-0246-4
  • Anales de medicina interna. Ajo y riesgo cardiovascular. http://scielo.isciii.es/pdf/ami/v25n5/revision1.pdf
  • El Sevier. Vol. 29. Núm. 3. Páginas 96-105 (Julio – Septiembre 2012). Ocular manifestations of hypertension. https://www.elsevier.es/es-revista-hipertension-riesgo-vascular-67-articulo-ocular-manifestations-hypertension-S1889183712000475
  • International Journal of Epidemiology. (2017). HDL-cholesterol levels and risk of age-related macular degeneration: a multiethnic genetic study using Mendelian randomization.https://academic.oup.com/ije/article/46/6/1891/4157381
  • L Jacinto Garcia Gomez; Francisco Sanchez Muniz. Revision: efectos cardiovasculares del ajo (allium sativum). https://www.worldcat.org/title/revision-efectos-cardiovasculares-del-ajo-allium-sativum/oclc/71154589
  • Prog Retin Eye Res. Author manuscript; available in PMC 2015 Jul 1. Published in final edited form as: Prog Retin Eye Res. 2014 Jul; 0: 64–89. Published online 2014 Apr 4. Cholesterol in the retina: the best is yet to come. doi: 10.1016/j.preteyeres.2014.03.002