5 टिप्स : अंडरआर्म फैट से ऐसे पीछा छुड़ायें

कई कारणों से बाँहों के नीचे फैट इकठ्ठा सकता है, लेकिन सही डाइट और एक्सरसाइज से आप इसे घटा सकती हैं।
5 टिप्स : अंडरआर्म फैट से ऐसे पीछा छुड़ायें

आखिरी अपडेट: 04 मार्च, 2019

किसी दिन आप अपनी ब्रा पहनती हैं और अचानक आपको कुछ असहज महसूस होने लगता है। मिरर में देखते ही आपके डर की पुष्टि हो जाती है, आपकी बगलों में बाँहों के नीचे कुछ अतिरिक्त अंडरआर्म फैट जमा हो गया है

आपको मालूम होना चाहिए कि यह महिलाओं के लिए बहुत ही आम समस्या है, भले ही उनका वजन या उम्र इस समय जो भी हो

यह देह का एक विशेष हिस्सा है जहां ज्यादा फैट जमा होने की प्रवृत्ति होती है। यह हमेशा भुजाओं के नीचे फैट तक सीमित नहीं होता और आपकी पीठ तक फैल सकता है। जो भी है, यह खिझाने वाले बल पैदा करता है जो तंग कपड़े पहनने पर साफ़ दिखता है

आप क्या कर सकती हैं? यह जानने के लिए एक दिलचस्प तथ्य यह है कि कई महिलाएं इस समस्या के लिए सर्जरी कराना चाहती हैं। फिर भी अक्सर यह फिर से वापस आ जाता है। यह कोई अभिशाप नहीं है। यह सिर्फ आनुवांशिकी कारणों से है

क्या इसका मतलब यह है कि अपने कंधों और छाती के बीच उन बल पैदा करने वाले उभारों से हार मान लेने और उन्हें स्वीकार कर लेने के अलावा कोई रास्ता नहीं है?

बिलकुल नही!

अपनी सेहत की कुंजी हमेशा आपके अपने शरीर को स्वीकार करने में है। हालाँकि, इसका मतलब यह नहीं है कि अपने शरीर के रंग-रूप में सुधार करने का आपको कोई अधिकार नहीं है।

यदि इन पांच अहम सुझावों का पालन करें, तो आप फैट के इस जमाव को कम कर सकती हैं और इसे इतना कम कर सकती हैं कि इसकी नोटिस न ली जाए।

सबसे पहले, हम बताएंगे कि इस असुविधा का क्या कारण है और इसके प्रभाव को कैसे कम किया जाए।

बाजुओं के नीचे फैट क्यों उभरता है?

अंडरआर्म फैट क्यों उभरता है

इस पर ऑब्सेस होने का कोई कारण नहीं है। जैसा कि हमने पहले ही बताया है कि यह महिलाओं की एक आम समस्या है।

यदि इस हिस्से में फैट ज्यादा है और आपको कुछ खास किस्म के कपड़े पहनने से रोकता है, तो बहुत देर नहीं हुई है। आप कुछ आसान स्टेप उठा सकती हैं जो अपने को देखने के तरीके में सुधार लाएगा।

आइए अब बाजुओं के नीचे फैट के इस जमाव के सबसे आम कारणों की पड़ताल करें:

  • अतिरिक्त स्तन टिशू इसका सबसे आम कारण हैं। वास्तव में, यह एक मेडिकल कंडीशन जिसके कई नाम हैं: पोलीमैस्टिया, मल्टीपल साइनस सिंड्रोम या सूपर्नूमरेरी ब्रेस्ट।
  • आपकी बांहों की मसल्स बढ़ती उम्र या एक्सरसाइज के अभाव में अपनी सख्ती खो देती हैं
  • बेशक, यह समस्या फैट के अत्यधिक निर्माण के कारण भी हो सकती है।
  • बहुत ही दुर्लभ मामलों में, यह एक लाइपोमा (lipoma) के कारण हो सकता है। यह एक नॉन-कैंसरस हानिरहित स्थिति है। इसे हटाया जा सकता है और इससे कोई बड़ी समस्या नहीं होगी।

जिस तरह आप इसे पेट, कूल्हों, नितंबों, जाँघों या पिंडलियों में जमा कर लेती हैं, वैसे ही फैट पीठ, छाती और अंडरआर्म क्षेत्र में जमा हो सकता है। इसका कारण लगभग हमेशा आनुवंशिक होता है, जैसा कि हमने ऊपर बताया है।

यह भी ध्यान दें कि यदि इस प्रकार की फैट रातोंरात दिखाई दे और नोड्यूल्स या गांठों से बनी हुई लगे तो आपको तुरंत अपने डॉक्टर को बताना चाहिए: यह सूजी हुई लिम्फ नोड हो सकती है

अंडरआर्म फैट घटाने की स्ट्रेट्जी

1. अपने भोजन पर ध्यान दें

अंडरआर्म फैट घटाने की स्ट्रेट्जी

सबसे पहले, आपको ज्यादा हेल्दी फ़ूड खाना चाहिए। इसमें शामिल हैं:

  • साबुत अनाज वाले कार्बोहाइड्रेट (ओट्स, चावल और साबुत गेहूं का पास्ता, राई की रोटी)
  • सब्जियां (पालक, ब्रसेल्स स्प्राउट्स, मटर, गाजर, आर्टीचोक, सेलरी, खीरा)
  • लेग्युम (दाल, छोले)
  • खट्टे फल (संतरा, नींबू)
  • अंडे
  • एवोकैडो
  • केले
  • जामुन (Berries)
  • चिकन या टर्की
  • ऑलिव ऑयल
  • चिया सीड्स

2. फैट गलाने वाले ड्रिंक आजमायें

सामग्री

  • 2 आर्टीचोक
  • 1 लीटर पानी
  • अनन्नास के 3 स्लाइस (pineapple)
  • 1 नींबू का जूस
  • 5 कटे हुए बादाम (almond)

तैयारी

  • सबसे पहले, पानी में आर्टीचोक को उबाल लें।
  • नींबू जूस और कटे हुए बादाम के साथ अनन्नास को ब्लेंड करें।
  • आगे अनन्नास, नींबू जूस, और बादाम ब्लेंड में आर्टीचोक वाटर डालें।
  • इसे हफ़्ते में दो बार खाना खाने से एक घंटा पहले पिएं।

3. बाजुओं को मजबूत बनाने के लिए एक एक्सरसाइज रूटीन आजमायें

अंडरआर्म फैट घटाने की स्ट्रेट्जी : स्ट्रेट्जी

आपको एक्सरसाइज करने और बांहों को टोन करने के लिए दिन में लगभग 30 मिनट डेडिकेट करना होगा। आपके पास बस हैंड वेट या डम्बल और कुछ आरामदेह कपड़े होने चाहिए।

  • पेट के बल लेटकर शुरू करें और फिर केवल अपनी बाहों की टेक लेकर धड़ को उठाएं।
  • अपना रेजिस्टेंस बढ़ाने के लिए इसे 20 बार दोहरायें।
  • इसके बाद, पीठ के बल लेट जाएँ और डंबल्स को लगभग 20 बार उठाएं।
  • इस साइकल को आधे घंटे के लिए दोहराएं।

4. प्लैंक आजमायें

प्लैंक की प्रैक्टिस करना कोई आसान काम नहीं है, क्योंकि इसमें बहुत सहनशक्ति और कौशल चाहिए

यदि आप इस एक्सरसाइज को 15 मिनट रोज की रूटीन में बदल पायें, तो आप आखिरकार इसका नतीजा देखेंगे।

  • सबसे पहले अपने पेट के बल लेट जाएं।
  • अब केवल एक हाथ और अपने पैर की उंगलियों के सहारे अपने शरीर को उठाएं।
  • एक मिनट के लिए इसी स्थिति में बने रहें और फिर दूसरे हाथ से इस प्रक्रिया को दोहरायें।

5. बाजुओं के नीचे मौजूद फैट को छिपाने का एक असरदार तरीका: एक अच्छी ब्रा

अंडरआर्म फैट घटाने की स्ट्रेट्जी : ब्रा

यह बहुत आसान है। जब आपका वजन सामान्य हो, और सेहत अच्छी हो, लेकिन फिर भी आप अपनी भुजाओं के नीचे भद्दा फैट देखती हैं, तो चिंता न करें: बस एक अच्छी ब्रा चुनें

छोटे कप वाले ब्रा से बचें। आपकी सेहत के लिए खराब होने के अलावा, यह मांस में बल ला देता है और आपके कपड़ों के नीचे ज्यादा उभर कर दिखाई देता है।

ऐसी ख़ास ब्रा चुनें जो फुल कवर करे। उनमें बड़े कप्स और चौड़े स्ट्रैप होंगे

इन सरल बदलावों की बदौलत आपके ब्रेस्ट उन फैट रोल को पूरी तरह कवर कर लेंगे। आपके कपड़े फैन्टास्टिक खिलेंगे।

यह आपकी रुचि हो सकती है ...
अंडरआर्म फैट को ख़त्म करने के लिए एक्सरसाइज
स्वास्थ्य की ओर
इसमें पढ़ें स्वास्थ्य की ओर
अंडरआर्म फैट को ख़त्म करने के लिए एक्सरसाइज

हमारे अंडरआर्म हिस्से में जमने वाला फैट दिक्कत देनेवाला और भद्दा हो सकता है। अंडरआर्म फैट से निपटने के लिए हम आपके साथ कुछ एक्सरसाइज की जानकारी शेय...



    • Charifa A, Azmat CE, Badri T. (2021). Lipoma Pathology. In: StatPearls. Treasure Island (FL): StatPearls Publishing. Available from: https://www.ncbi.nlm.nih.gov/books/NBK482343/
    • López Ejeda, N. (2018). Predisposición genética a la obesidad y conductas de prevención en edad temprana. Análisis comparativo en escolares españoles y mexicanos. Madrid: Universidad Complutense.
    • Slavin, J. L. (2005). Dietary fiber and body weight. Nutrition. Elsevier Inc. https://doi.org/10.1016/j.nut.2004.08.018
    • Rodríguez Pino, Martha, Guerrón Revelo, Daniela, Cárdenas Rodríguez, Carlos, & Conde Cueto, Taimi. (2014). Mama supernumeraria bilateral. Presentación de un caso. MediSur, 12(2), 416-420.
    • Ferreira, Cynthia de Souza, Fomes, Lucilia de Fátima de Sousa, Silva, Gilze Espirito Santo da, & Rosa, Glorimar. (2015). Effect of chia seed (Salvia hispanica L.) consumption on cardiovascular risk factors in humans: a systematic review. Nutrición Hospitalaria, 32(5), 1909-1918.
    • Zamora Ardoy, M. A., Báñez Sánchez, F., Báñez Sánchez, C., & Alaminos García, P.. (2004). Aceite de oliva: influencia y beneficios sobre algunas patologías. Anales de Medicina Interna, 21(3), 50-54.
    • Londoño L, Julián, Montoya P, Guillermo, Guerrero M, Karina, Aristizabal, Leidy, & Arango A, Gabriel J.. (2006). Los jugos de cítricos inhiben la oxidación de lipoproteínas de baja densidad: relación entre actividad captadora de radicales libres y movilidad electroforética. Revista chilena de nutrición, 33(3), 544-551.
    • Rubio del Peral, José Andrés, & Gracia Josa, M.ª Sonia. (2018). Ejercicios de resistencia en el tratamiento y prevención de la sarcopenia en ancianos. Revisión sistemática. Gerokomos, 29(3), 133-137.
    • Jin Lee, Kwanghyun Jeong, Hyuna Lee, et al. (2016). Comparison of three different surface plank exercises on core muscle activity. Phys Ther Rehabil Sci, 5: 29-33. https://doi.org/10.14474/ptrs.2016.5.1.29
    • U.S. Department Of Health And Human Services. (1996). Physical Activity and Health: A Report of the Surgeon GeneralU.S. Department of Health and Human Services, Centers for Disease Control and Prevention, National Center for Chronic Disease Prevention and Health Promotion (Vol. 60, p. 1996). Atlanta, GA. https://doi.org/10.1080/01635580903441295