6 लक्षण सर्वाइकल कैंसर के जिनकी जानकारी आपको होनी चाहिए

सर्वाइकल कैंसर अपने उच्च मृत्यु दर के कारण सबसे डरावने प्रकार के कैंसर में से एक है।
6 लक्षण सर्वाइकल कैंसर के जिनकी जानकारी आपको होनी चाहिए

आखिरी अपडेट: 10 दिसम्बर, 2018

अमेरिकन कैंसर सोसाइटी ने अनुमान लगाया है कि इस वर्ष सर्वाइकल कैंसर से लगभग 4120 महिलाओं की मृत्यु होगी।

मुमकिन है कि यह बहुत बड़ी संख्या है लेकिन सच्चाई यह है कि पिछले 30 वर्षों में इस बीमारी का मृत्यु दर 50% गिर गया है।

इसके बहुत सारे अलग-अलग कारण हैं। स्पेशलिस्ट नैदानिक ​​परीक्षणों या डायग्नोस्टिक टेस्ट को विकसित करने और बीमारी के कारणों के साथ-साथ इसके लक्षणों के बारे में ज्यादा जानकारी पाने पर फोकस रहे हैं।

इसके लिए धन्यवाद, महिलाओं के पास अपनी निगरानी करने के लिए और ज्यादा टूल्स हैं। ये उन्हें अपने स्वास्थ्य में किसी भी बदलाव का पता लगते ही अपने डॉक्टर के पास जाने में मदद करेंगे।

इसलिए, यदि पब्लिक इन खुद अपना मूल्यांकन करने या सेल्फ असेसमेंट के तरीकों का पालन करे तो आंकड़े भिन्न हो सकते हैं।

इस तरह का कैंसर आम तौर पर बड़ी उम्र में दिखाई देता है लेकिन अपनी या परिवार के किसी सदस्य की मदद करने के  खातिर यह जानने के लिए कभी भी बहुत जल्दी नहीं है कि सर्वाइकल कैंसर के लक्षणों की तलाश कहां से शुरू करनी चाहिए।

जानकारी होना एक ताकत है, जो न केवल अपने जीवन को ज्यादा अच्छी तरह से नियंत्रित करने बल्कि जब दूसरों को इसकी ज़रूरत हो तब इस्तेमाल करने के लिए भी काम आती है।

सर्वाइकल कैंसर के सबसे अहम लक्षण (Cervical Cancer Symptoms)

1. मस्से (Warts)

ह्यूमन पैपिलोमा वायरस (एचपीवी) खास तौर से योनि क्षेत्र में मस्सों के रूप में दिखाई देता है।

यह सर्वाइकल कैंसर के लिए एक अहम ट्रिगर है। ऐसे एचपीवी का मतलब यह नहीं है कि एक महिला को इस तरह का कैंसर होगा लेकिन जब यह एचपीवी मौजूद होता है तो इसकी ज्यादा संभावना होती है।

अब जब आप यह जानती हैं, अगर आपको अपने शरीर पर कोई नया मस्सा दिखाई दे तो अपने स्वास्थ्य की जांच करवाने के लिए डॉक्टर से मुलाकात करने में संकोच न करें।

2. विचित्र डिस्चार्ज (Bizarre discharge)

गर्भाशय की दीवारों को नष्ट करना बीमारी के पहले कार्यों में से एक है। इसका नतीजा यह होता है कि योनि के माध्यम से अपशिष्ट को हटाया जाता है।

हर महिला के स्वस्थ डिस्चार्ज का अलग रूप और अलग गंध  होती है। यह उनके मासिक धर्म चक्र के चरण के आधार पर भी बदलता है। लेकिन हर कोई जानता है कि उनके लिए क्या नॉर्मल है।

इसलिए, यदि आप देखें कि आपके डिस्चार्ज में बदलाव हैं तो हमारी राय है कि आप एक स्पेशलिस्ट के पास जाएं। ध्यान रखें कि यह हालत आम तौर पर एक चेतावनी देने का संकेत है कि आपके शरीर में कोई चीज ठीक से काम नहीं कर रही है।

3. असामान्य दर्द और ब्लीडिंग (Unusual pain and bleeding)

जैसा कि हमने बताया, यह बीमारी गर्भाशय की दीवारों को नष्ट कर देती है। अगर सर्वाइकल कैंसर बहुत आक्रामकता के साथ प्रकट होता है तो आपके गर्भाशय क्षेत्र में जोर से दर्द होना एक सामान्य बात है।

गर्भाशय के में घाव होने की वजह से खून भी निकल सकता है। कई ऐसे मामले होते हैं जिनमें ब्लैडर और रेक्टम में खून दिखाई देता है।

नतीजतन, यूरिन और अन्य उत्सर्जन में खून हो सकता है।

4. एनीमिया (Anemia)

एनीमिया ऊपर बताये गए सर्वाइकल कैंसर के लक्षणों के परिणामस्वरूप महिलाओं में विकसित होने वाली सबसे आम जटिलताओं में से एक है।

इसके साथ थकान और क्षिप्रहृदयता या टैकीकार्डिया भी होते हैं। चाहे आप कुछ करने के लिए बहुत ज्यादा मेहनत न करें तब भी ये नज़र आते हैं।

उदाहरण के लिए, अगर कुछ सीढियों, जिनको चढ़ने की आपको आदत है, को चढ़ते समय आपके हृदय की गति तेज हो जाती है तो यह एक संकेत है कि आपको अपने आयरन के लेवल की जांच करनी चाहिए।

5. यूरिन की समस्याएं (Urination problems) सर्वाइकल कैंसर के लक्षणों में सम्मिलित हैं

जब गर्भाशय सूज जाता है तो यह अपने आसपास के अंगों, खास तौर से किडनी और ब्लैडर को दबाता है। यह देखते हुए कि यूरिन पास करने के लिए ये दोनों ज़रूरी अंग हैं, उनकी बाधा की वजह से टॉयलेट करना मुश्किल हो जाता है।

इसलिए दर्द महसूस करने के अलावा, टॉयलेट जाने के बाद आप कभी भी संतुष्ट नहीं होती हैं क्योंकि आपका ब्लैडर पूरी तरह से खाली नहीं होता है। यदि आपके साथ ऐसा होता है तो यह एक संकेत है कि आपको डॉक्टर के पास जाना चाहिए।

आपको याद रखना चाहिए कि उत्सर्जन प्रणाली या एक्सक्रेटरी सिस्टम हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत अहम है। अगर हमारे शरीर के अंदर अपशिष्ट रखा रहता है तो वह हमारे खून में चला जाता है और फिर हमारे पूरे शरीर में वितरित होता है।

6. वजन कम होना (Weight Loss)

जब आप अपनी खाने की आदतों या अपनी जीवनशैली को बदले बिना वजन कम करना शुरू करती हैं तो खुद से यह पूछना अच्छा होता है कि यह क्यों हो रहा है।

हम पहले से ही जानते हैं कि हम पतले होना चाहते हैं, लेकिन कुछ किलो कम होने का हमेशा कोई कारण होता है। दूसरे शब्दों में, वजन कभी भी अपने आप से नहीं घटता है।

सर्वाइकल कैंसर के साथ आम तौर पर भूख की कमी भी होती है, एक मुद्दा जिसके बारे में भी हमें चिंता करनी चाहिए।

ये सर्वाइकल कैंसर के अहम लक्षण हैं। आपको क्या पता लग सकता है इसके डर से मेडिकल चेकअप को न टालें।

इनमें से कई लक्षण अन्य मामूली स्थितियों के संकेत हैं जिनका भी इलाज होना चाहिए। डरें नहीं।

किसी भी स्थिति में, जब स्वास्थ्य की बात आती है तो समय हमारा मित्र होता है। जितनी जल्दी हम जानते हैं कि हमारे शरीर के साथ क्या हो रहा है, उतनी जल्दी हम हमला करने वाली चीज के खिलाफ लड़ सकते हैं।

यह आपकी रुचि हो सकती है ...
ओवेरियन कैंसर के 7 लक्षण जिनके बारे में हर महिला को पता होना चाहिए
स्वास्थ्य की ओरइसमें पढ़ें स्वास्थ्य की ओर
ओवेरियन कैंसर के 7 लक्षण जिनके बारे में हर महिला को पता होना चाहिए

ओवेरियन कैंसर के लक्षणों पर ध्यान देना इसलिए ज़रूरी होता है कि वह स्त्री जननांग की एक स्थाई बीमारी होती है। चुपचाप विकसित होने की वजह से इसे "साइलें...