5 घरेलू नुस्खे जो आंतों के पैरासाइट दूर करते हैं

07 मार्च, 2019
दूषित खाद्य, पानी या कीड़ों के संपर्क में आने पर आंतों के पैरासाइट्स आपके शरीर में आ सकते हैं। इस लेख में आप सीखेंगे कि उनसे कुदरती तौर पर कैसे लड़ सकते हैं।

आंतों के पैरासाइट या कृमि (worms) वे जीव हैं जो आपकी आंतों में पकड़ बना लेने पर बहुत सी स्वास्थ्य समस्याएं खड़ी कर सकते हैं।

साधारणतः ये गार्डिया (Guardia) की तरह प्रोटोजोइक (protozoic) हैं। फिर भी, आंतो के पैरासाइट कृमि के समान भी हो सकते हैं, जैसे कि टीनिया (Taenias)।

बहुत से लोग सोचते हैं कि आंतों के पैरासाइट का इन्फेक्शन गरीब लोगों में ही ज्यादा होता है। फिर भी, सच्चाई यह है कि हर व्यक्ति को इससे संक्रमित होने का खतरा है। दूषित खाद्य, पानी या कुछ तरह के कीड़ों के संपर्क में आने पर आंतों के पैरासाइट आपके शरीर में जा सकते हैं

आपको संक्रमण करने के बाद ये पेट में दर्द पैदा कर सकते हैं। ये बार-बार होने वाली थकावट और आपके गुदा वाले भाग में खुजली भी पैदा कर सकते हैं।

फिर भी, कुछ प्राकृतिक सामग्रियों के जरिये हम उनके लिए एक बुरा माहौल बना सकते हैं। आप अपने शरीर में पोषक तत्त्व भी पहुँचा रहे होंगे जो इस तरह की समस्याओं से निपटने में मदद कर सकते हैं

इस लेख में, हम आपको पाँच अच्छे विकल्प बताएँगे। इन्फेक्शन का कोई भी चिह्न दिखाई देने से पहले यदि ये विकल्प आप आजमायें तो सबसे अच्छा है। यह आपके शरीर को मजबूत बना देगा जिससे इस पर किसी भी इन्फेक्शन की कठोरता कम हो जाएगी।

1. आंतों के पैरासाइट के लिए नींबू और पुदीना

आंतों के पैरासाइट्स के लिए पुदीना

इसमें पुदीना के पाचक गुणों का नींबू के ऐंटी-पैरासाइटिक गुणों के साथ मेल किया गया है। यह इसे पैरासाइट के कारण होने वाली किसी भी असुविधा के लिए एक अच्छा समाधान बनाता है

इनके अनिवार्य पोषक तत्त्व इन जीवों के कारण होने वाली कमियों का प्रतिकार करते हैं। वे आंतों के पैरासाइट को हटाने में भी मदद करते हैं।

सामग्री

  • 2 बड़े चम्मच पुदीना
  • 1 कप पानी
  • 1 नींबू का रस
  • नमक (वैकल्पिक)

तैयारी

  • पुदीना गरम पानी में मिला दीजिए और 8-10 मिनट के लिए वैसे ही रहने दीजिए।
  • तरल को छान लीजिए। तब नींबू का जूस और एक चुटकी नमक मिला दीजिए।
  • जरूरत के अनुसार दिन में दो बार पीजिए।

इसे भी पढ़ें : 6 समस्याएं जो बताती हैं, आपकी आंतों के बैक्टीरिया नियंत्रण से बाहर हो गए हैं

2. नारियल

नारियल और इसके डेरिवेटिव में एंटी-पैरासाइटिक गुण मौजूद हैं। ये पाचक सेहत बेहतर करने में भी मदद करते हैं। पैरासाइट्स से हुए इन्फेक्शन का सामना करते समय यह विशेष अहमियत रखता है।

उनके एंटीबायोटिक गुण आपके इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाते हैं। ये सूजन और दर्द के खिलाफ आपकी सुरक्षा में भी मदद करते हैं।

सामग्री

  • 1 कप नारियल पानी
  • एक टुकड़ा नारियल, ग्रेट किया हुआ।

तैयारी

  • नारियल पानी ग्रेट किए गए नारियल के साथ ब्लेंडर में मिला लें।
  • एक सम तरल बन जाने तक मिलाइए। इसे दिन में दो या तीन बार पीजिए।

3. कैस्टर ऑयल और दूध

आंतों के पैरासाइट्स से लड़ने के लिए

कैस्टर ऑयल और दूध एक पुराना नुस्खा है जो आपकी आँतों में रहने वाले मल से छुटकारा दिलाना ज्यादा आसान करता है।

इनके लैक्जेटिव और एंटी-इन्फ्लैमेटरी गुण आपकी आंतों के कामकाज में मदद करते हैं।

सामग्री

  • एक कप दूध
  • 1 बड़ा चम्मच कैस्टर ऑयल

तैयारी

  • दूध को कैस्टर ऑयल के साथ गर्म करें।
  • इसे एक सप्ताह के लिए रोज एक बार पीजिए।

इसे भी पढ़िए : आपके नाखूनों को सख्त बनाने के लिए लहसुन

4. टमाटर, नमक और गोलमिर्च के साथ

नमक और गोल मिर्च के साथ टमाटर स्वादिष्ट लगते हैं। पर ज्यादा अहम चीज यह है, कि उनमें असरदार एंटी-पैरासाइटिक गुण मौजूद हैं जो आपका पाचन स्वास्थ्य सुधारते हैं।

ये मिलजुलकर पेट की सूजन कम करते हैं, जो इन पीड़ादायक संक्रमण के लिए जिम्मेदार सूक्ष्म-जीवाणुओं के कारण हो सकते हैं।

यह आपके आंतों के स्वास्थ्य के लिए भी बढ़िया है। इसका कारण यह है कि ये सोखने के लिए पोषक तत्त्वों की संख्या बढ़ा देते हैं।

सामग्री

  • 2 पके टमाटर
  • 1/2 कप पानी
  • नमक और गोलमिर्च (स्वाद के अनुसार)

तैयारी

  • सभी सामग्रियों को अपने ब्लेंडर में डाल दीजिए। एक सम तरल बन जाने तक ब्लेंड कीजिए।
  • जितने दिन जरूरी हो, रोज इसे ब्रेकफास्ट के समय पीजिए।

5. लहसुन और शहद

आंतों के पैरासाइट्स से रक्षा - लहसुन-शहद

कई दूसरी जगहों पर यह “गार्लिक हनी” के रूप में जाना जाता है। यह एक वैकल्पिक इलाज है जिसका लक्ष्य जमा हो गए मल से निजात पाना है।

लहसुन एक एंटीटीबैक्टीरियल और एंटीफंगल एजेंट के रूप में मशहूर है। इसकी बनावट के कारण, विशेषज्ञ इसे बहुत से रोगों के इलाज में मदद के लिए सलाह देते हैं

एलिसिन (Alicin) लहसुन का एक सक्रिय अंश है। यह आंतों की सूजन से लड़ता है। यह बैक्टीरियल फ्लोरा की गतिविधि भी बढ़ा देता है, जो हानिकारक सूक्ष्म-जीवाणुओं से आपकी रक्षा करते हैं।

शहद के हल्के लैक्जेटिव असर के साथ लहसुन का मेल, इस मिश्रण को एक आदर्श मिश्रण बना देता है। क्योंकि, यह आपके स्वास्थ्य पर बुरा असर करने वाले रोगाणुओं से निपटता है।

सामग्री

  • 6 फलियाँ लहसुन की
  • 1/2 कप शहद

तैयारी

  • लहसुन पतले स्लाइसेज में काट लीजिए, या इसे खरल और मूसल से पीस दीजिए।
  • इसे एक काँच के जार में रख दीजिए और इसे शहद से ढक दीजिए।
  • इसे तीन दिनों के लिए रहने दीजिए और तब इसका इस्तेमाल कीजिए।
  • अपने पैरासाइटिक इन्फेक्शन से लड़ने के लिए इसके  दो या तीन बड़े चम्मच प्रतिदिन खाइए।

आंतों के पैरासाइट से लड़ने वाले सभी नुस्खे हर व्यक्ति के लिए अलग तरीकों से काम करते हैं। यह आपके इम्यून सिस्टम के जवाब और आपके सामान्य स्वास्थ्य पर निर्भर करता है।

उत्तेजक खाद्य आंतों के पैरासाइट के इन्फेक्शन के खराब असरों को नियंत्रित करने में मदद करेंगे। इस श्रेणी के कुछ खाद्य हैं, रिफाइन्ड शुगर्स, मैदा और फैट।