पुदीना (spearmint) के उपयोग से बने घरेलू नुस्खे

29 अगस्त, 2018
पुदीना वैसे तो अपने पाचक गुणों के लिए जाना जाता है, लेकिन पुदीने की चाय दूसरी स्वास्थ्य समस्याओं में भी फ़ायदा पहुँचाती है।
 
पुदीना (spearmint) का वैज्ञानिक नाम मेंथा स्पिकाटा (Mentha spicata) हैं।  यह असल में एक हर्ब है जिसकी पत्तियों में औषधीय गुण होते हैं और  कई स्वास्थ्य समस्याओं में आराम देते हैं।
इसके अलावा, पेपरमिंट (peppermint) की तरह यह साँस की बदबू भी दूर करता है।

यह पौधा पाचन तंत्र की माँसपेशियों को आराम देकर पेट की समस्याओं को दूर करने में मदद करता है।

अवयव

  • ½ कप पुदीने की पत्तियाँ (100 ग्राम)
  • ½ कप ग्रीन टी (100 ग्राम)
  • 3 टेबलस्पून शहद (75 ग्राम)
  • 4 कप गर्म पानी (1 लीटर)

बर्तन

  • एक बड़ा ग्लास का जार

तैयारी

  • ग्लास जार में एक लीटर गर्म पानी डालें और उसमें पुदीने की पत्तियाँ और ग्रीन टी मिलाएं।
  • जार को ढक दें और एक घंटा रखें। उसके बाद इसे छान लें और उसमें शहद या आपकी पसंद का स्वीटनर डाल दें।
  • अच्छी तरह मिलाएं। फिर से छान लें, ढक्कन लगा कर हिलाएं।
  • 24 घंटे रखें।
  • रोज़ाना दो कप (50 से 75 मिलीलीटर) खाने के बाद एक महीने तक सेवन करें।

यह भी पढ़ें: 5 नेचुरल टी: पेट की गैस के अचूक इलाज़

साफ़ लीवर के लिए पुदीने का नुस्खा

पुदीना एक शक्तिशाली औषधीय पौधा है जिसमें शरीर के लिए तमाम फ़ायदे और गुण भरे पड़े हैं।

हमारे दूसरे नुस्खे में, हम आपको सिखाएंगे कि पुदीने को घर पर ही यकृत समस्याओं का प्राकृतिक रूप से इलाज करने के लिए कैसे इस्तेमाल करें।

यह आश्चर्यजनक प्राकृतिक नुस्खा आपके सामान्य स्वास्थ्य को बेहतर करने में भी मदद करता है। हमें पूरा विश्वास है कि एक बार इसके सारे फ़ायदों को जानने के बाद आप इस हर्ब को हमेशा अपने घर में रखा करेंगे।

साफ़ लीवर के लिए पुदीना

अवयव

  • ½ पुदीने की पत्तियाँ (100 ग्राम)
  • एक नींबू के छिलके के टुकड़े
  • 8 कप मिनरल वॉटर (2 लीटर)
  • 2 टेबलस्पून शहद (50 ग्राम)
  • 1 अपनी पसंद का साइट्रिक फल (नारंगी, अमरूद, नींबू आदि)

तैयारी

  • दो लीटर मिनरल वॉटर और ताज़े पुदीने (धुले हुए) को एक बर्तन में मिला लें।
 
  • उसके बाद, पानी में उबाल आने के बाद पाँच मिनट तक उबालें।
  • पाँच मिनट बाद उतार लें और ठंडा होने के लिए रख दें।
  • जब पानी ठंडा हो जाए, साइट्रिक फल का रस निकालकर मिश्रण में मिला दें।
  • नींबू के छिलके के टुकड़े डाल दें।
  • शहद मिला लें। चाय तैयार है।
  • इस चाय से लीवर को पूरा आराम मिले, इसके लिए एक हफ़्ते तक रोज़ सुबह खाली पेट एक कप पिएं। फिर, एक हफ़्ते का फासला रखकर फिर एक हफ़्ते पिएं।

पेट दर्द के लिए घर पर ही बनाएं पुदीने का नुस्खा

कफ़ के लिए पुदीना

पुदीने से बनने वाले घरेलू नुस्खे पेट में गैस,आँतों में दर्द और ऐसी ही पेट की दूसरी समस्याओं के लिए, जो हमारा चैन छीन लेतीं हैं, बहुत लाभकारी सिद्ध होते हैं।

अवयव

  • ¼ कप पुदीना (50 ग्राम)
  • 1 कप पानी (200 मिलीलीटर)
  • 1 चम्मच शहद (7.5 ग्राम)

तैयारी

  • पानी गर्म करें। जब उबलने लगे तो पुदीने की पत्तियाँ डाल दें।
  • आँच से उतार लें और पानी को 15 या 20 मिनट के लिए ठंडा होने के लिए रख दें।
  • चाय छान लें और पत्तियाँ निकाल दें।
  • एक चम्मच शहद मिला दें और इसका सीवान करें।
  • हमारी सलाह है, आप इसे हफ़्ते में दो या तीन दिन पिएं ( दिन में दो बार: एक बार खाली पेट और एक बार सोने से पहले)।

कफ़ के लिए पुदीना (Spearmint for cough)

फ़्लू, ठंड, एलर्जी और दूसरे वाइरल या बैक्टीरियल संक्रमण कफ़ और खाँसी के मुख्य कारण होते हैं, जो रूकते ही नहीं हैं।

हालाँकि ऐसी दवाइयां मिलती हैं जो कफ़ को अच्छी तरह रोक देती हैं, फिर भी उसके साथ पुदीने से बना घरेलू नुस्खा लेने से कफ़ से जल्दी आराम मिलता है।

अवयव

  • 5 बड़े चम्मच पुदीने की पत्तियाँ (75 ग्राम)
  • 1 कप मिनरल वॉटर (200 मिलीलीटर)

तैयारी

  • पुदीने की पत्तियाँ अच्छी तरह धो लें।
  • मिनरल वॉटर को उबालें और उसमें पुदीने की पत्तियाँ डाल दें।
  • आँच से उतार लें और 15 मिनट तक ठंडा होने के लिए रख दें।
  • छान लें और धीरे-धीरे पिएं।
  • हमारी सलाह है, आप कफ़ ठीक होने के बाद एक कप पिएं ताकि कफ़ फिर से न हो।
 

कानों में दर्द के लिए पुदीना (Spearmint remedy for earaches)

कानों में दर्द के लिए पुदीना

पुदीना न सिर्फ़ एक प्यारी, सुकून देने वाली खुशबू वाला पौधा है, बल्कि यह कान के दर्द में भी असरदार प्राकृतिक नुस्खा है।

इसके अलावा, पुदीना पारंपरिक दवाइयों के साथ भी अच्छा काम करता है और कान के दर्द को जल्दी ठीक करने में मदद करता है।

कभी-कभी यह दर्द बहुत परेशान करता है और अंदरूनी कान में मैल जमा हो जाने के कारण फ़्लू या ठंड के लक्षण पैदा करता है।

अवयव

  • ½ कप पुदीना (100 ग्राम)
  • 1 कॉटन बॉल
  • ½ कप पानी (100 ग्राम)

तैयारी

  • पानी में पुदीने की पत्तियां गर्म करें।
  • पानी जब उबलने लगे, तो आँच से उतार लें और 45 मिनट तक ठंडा होने दें।
  • कॉटन बॉल को पानी में डुबोएं।
  • दर्द वाले कान में 3 बूंदें डाल लें।

हमारी सलाह है कि इसे भी पढ़ लें: 9 टिप्स जल्द और सुरक्षित रूप से कानों की सफ़ाई के लिए

पुदीने से माइग्रेन में आराम (Relieve migraines with spearmint)

बहुत से लोग जो अक्सर होने वाले माइग्रेन के सिरदर्द से परेशान रहते हैं जानना चाहते हैं कि प्राकृतिक इलाज के ज़रिए दर्द से कैसे छुटकारा पाया जाए?

सौभाग्यवश, ऐसी बहुत सी जड़ी-बूटियाँ हैं जो माइग्रेन से होने वाली तकलीफ़ों से निज़ात दिलाती हैं। माइग्रेन से मितली, उल्टियां और रोशनी के प्रति संवेदनशीलता की कमी हो सकती है।

अवयव

  • ½ कप पुदीने की पत्तियां (100 ग्राम)
  • एक कप मिनरल वॉटर (200 मिलीलीटर)

तैयारी

  • पानी को उबालें और, जब उबल जाए, तो उसमें पत्तियाँ डाल दें और आँच से उतार लें।
  • मिश्रण को 15 या 20 मिनट ठंडा होने दें।
  • 15 या 20 मिनट बाद छान लें और धीरे-धीरे चुस्कियां लेकर पियें।

सामान्य स्वास्थ्य समस्याओं के लिए जब आप घरेलू नुस्खों का इस्तेमाल करना चाहें तो पुदीना लाजवाब मदद करता है, क्योंकि इस पौधे में आराम देने वाले एंटी-इन्फ़्लेमेटरी गुण भरपूर हैं।