9 टिप्स जल्द और सुरक्षित रूप से कानों की सफ़ाई के लिए

08 जुलाई, 2018
हालांकि यह सबसे अच्छा विकल्प नहीं हैं, पर कानों को साफ करने के लिए अगर आप कॉटन स्वॉब्स का इस्तेमाल करने का निर्णय लेते हैं, तो याद रखें, वे सिर्फ बाहरी उपयोग के लिए हैं, कानों के भीतर डालने के लिए नहीं।

क्या आप जानते हैं कि सुरक्षित रूप से कानों की सफ़ाई कैसे करनी चाहिये? कानों की स्वच्छता का विषय बहुत अहमियत रखता है। कानों को सुरक्षित तरीके से साफ करने के तरीके न जानने की वजह से बेहद नुकसान हो सकता है।

कानों की सफ़ाई की गलत आदतें

बहुत से लोग अपने कानों की सफ़ाई के लिए कान की नलिका में कॉटन स्वॉब्स, टूथपिक्स, क्रोशिया जैसी चीजें, यहाँ तक कि पेंसिल और चाबियां भी डालते हैं। वे सोचते हैं, इस तरह कान की वैक्स और अन्य तरह की गन्दगी हट जायेगी जिसके कारण कान बंद होने जैसा महसूस होता है।

इन चीजों का इस्तेमाल करने से उल्टा असर होता है। ये कानों को सुरक्षित तरीके से साफ नहीं करती हैं। बाहर से आने वाली वस्तुएं पीएच लेवल और फैटी एसिड की मात्रा को बदलती हैं, सारे वैक्स को हटाती हैं और कान की अपने को रोगाणुओं से बचाने की क्षमता को कम कर देती हैं। कानों में खुद को साफ करने की अपनी कुशल नेचुरल टेकनीक होती है। इसमें दखल नहीं देनी चाहिये। कोई भी अनुचित काम इस क्रियाविधि का क्रम-भंग कर सकता है, बड़ी समस्यायें पैदा कर सकता है। यहाँ तक कि इनसे हमारे बहरे होने की संभावना हो सकती है।

कान के कई भाग होते हैं। एक बाहर का हिस्सा, एक नलिका और पीछे एक टिम्पैनिक मेम्ब्रेन होती है। कान का वैक्स, जो कान की रक्षा करने का नेचुरल माध्यम है, नलिका में मौजूद होता है।

कानों का वैक्स क्या काम करता है?

कानों की सफ़ाई: ईयर वैक्स

  • बाहरी कान की सीमा को पार करके अंदर जाने वाले रोगाणुओं और गन्दगी को पकड़ता है।
  • संक्रमण को रोकता है।
  • पानी को कान के अंदर जाने से रोकता है।

लगातार कान के वैक्स को हटाने से कान का नेचुरल सुरक्षा तंत्र नष्ट हो जाता है। इसके अलावा, कान में नुकीली चीजों को डालने से कान के पर्दे में चोट लग सकती है जिसकी वजह से व्यक्ति बहरा हो सकता है।

सुरक्षित रूप से कानों की सफ़ाई कैसे करें

1. एक नमकीन घोल इस्तेमाल करें

घटक

  • 1/2 प्याला गुनगुना पानी (125 मिली.)
  • 1 बड़ा चम्मच बारीक नमक (10 ग्राम)

सामग्री

  • 1 रुई का गोला या ड्रॉपर

क्या करें

  • आधा प्याला गुनगुना पानी लें और उसमें 1 बड़ा चम्मच नमक डालें। उसे चलायें ताकि नमक अच्छी तरह मिल जाये।
  • रुई के गोले को इस घोल में भिगोयें और रुई को निचोड़कर कान में कुछ बूंदे डालें। आप चाहें तो इसकी जगह ड्रॉपर इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • अपने सिर को एक ओर हल्का सा झुकाये रहें और जिस कान का उपचार कर रहे हैं उसे ऊपर रखें।
  • कुछ क्षणों के बाद अपने सिर को दूसरी ओर झुकायें ताकि घोल बाहर बह जाये।

2. हाइड्रोजन पेरॉक्साइड

कानों की सफ़ाई के लिए हाइड्रोजन पेरॉक्साइड

  • उबला हुआ पानी और हाइड्रोजन पेरॉक्साइड बराबर मात्रा में मिलायें।
  • नमकीन घोल इस्तेमाल करने के लिए जो स्टेप्स बताई गयी हैं उन्हीं को अपनायें और मिश्रण को भीगे हुए रुई के गोले या ड्रॉपर से कान में डालें।

3. बेबी ऑयल, ऑलिव ऑइल या मिनरल ऑइल

अगर वैक्स की वजह से कान बंद हो जाये तो आप बेबी ऑयल, जैतून का तेल (ऑलिव ऑयल) या खनिज तेल (मिनरल ऑइ) का इस्तेमाल कर सकते हैं।

  • कान में तेल की कुछ बूंदें डालें ताकि वैक्स नरम हो जाये और उसे रात भर असर करने के लिए छोड़ दें।
  • अपने कान में एक रुई का गोला रखें ताकि तेल वैक्स तक पहुंचने से पहले ही बाहर न आ जाये।
  • सुबह रुई का गोला हटायें और अतिरिक्त तेल को साफ करें।

4. सफेद सिरका और अल्कोहल

कानों की सफ़ाई के लिए विनेगर और अल्कोहल

  • सिरका और अल्कोहल बराबर मात्रा में मिलायें।
  • अपने सिर को एक ओर हल्का सा झुकायें और कान में कुछ बूंदें डालें। कुछ क्षणों के लिए उन्हें रहने दें।
  • कुछ मिनटों के बाद सिर को दूसरी ओर झुकायें ताकि घोल बाहर बह जाये।

5. सिंचाई (Irrigation)

कान में एक पिचकारी से स्टरलाइज पानी डालना कान साफ करने का एक और अनुकूल उपाय है। इएनटी डॉक्टर इसका अक्सर उपयोगकरते देखे जाते हैं।

पानी को शरीर के तापमान के बराबर और हल्का सा गुनगुना होना चाहिये। अपने कान को सींचने के बाद उसे अच्छी तरह सुखायें।

6. रोजाना की गतिविधियां

कानों की सफ़ाई के लिए एक्टिविटी

अगर आपको लगता है कि आपके कान वैक्स की वजह से बंद हो सकते हैं तो आप नेचुरल तरीके से ब्लॉकेज को हटाने के लिए कुछ गतिविधियां आजमा सकते हैं।

इनके कुछ सबसे असरदार तरीके इस प्रकार हैं:

  • च्युइंग गम चबाना।
  • जबड़े को हिलाना।

7. अगर आप रुई के स्वॉब्स इस्तेमाल करते हैं

अगर आप सुरक्षित रूप से कानों की सफ़ाई के लिए गलती से कॉटन स्वॉब्स इस्तेमाल करते हैं तो इन बातों को ध्यान में रखना चाहिये जिससे कानों को नुकसान न हो।

  • उनको सिर्फ कान के बाहरी हिस्से को साफ करने के लिए इस्तेमाल करना चाहिये।
  • उनको सीधा कोण बनाते हुए अंदर डालना चाहिये।
  • यह बहुत जरूरी है – उनको वैक्स हटाने के लिए नहीं इस्तेमाल करना चाहिये, इसलिए उनको कान के मध्य भाग तक डालना सुरक्षित नहीं है।

कॉटन स्वॉब्स का अनुचित उपयोग नुकसानदेह हो सकता है। उनको इस्तेमाल करते वक्त वैक्स (और अन्य दूषित करने वाले पदार्थ जो मौजूद हो सकते हैं) को कान के बाहरी हिस्से से भीतरी भाग में धकेले जाने का डर होता है। इससे संक्रमण हो सकता है।

8. कानों को जरूरत से ज्यादा नहीं साफ करना चाहिये

कानों की सफ़ाई के लिए सावधानी

कानों को बहुत ज्यादा साफ करना अच्छा नहीं है। जैसा कि पहले बताया गया है, कानों का वैक्स एक प्राकृतिक सुरक्षा तंत्र है। चाहें आप कोई भी तरीका अपनायें, हम आपको अपने कानों को सिर्फ हफ्ते में एक बार साफ करने की सलाह देंगे।

9. संक्रमण हो तो क्या करें

अगर आपको बहुत ज्यादा दर्द, लाली और बुखार हो तो हमारी राय है कि आप किसी घरेलू उपाय का इस्तेमाल न करें। अपने डॉक्टर से उसी समय संपर्क करें।

नियमित रूप से अपने कान, नाक और गले के विशेषज्ञ से मिलना अच्छा होता है।

एक डॉक्टर खास उपकरणों की मदद से आपके कान के अंदर देख सकता है और यह बता सकता है कि आपके लिए कानों की सफ़ाई का सबसे अनुकूल तरीका कौन सा है।

Lee, L. M., Govindaraju, R., & Hon, S. K. (2005). Cotton bud and ear cleaning – A loose tip cotton bud? Medical Journal of Malaysia.